News That Matters

Tag: नुकसान

आतंकी संगठन जैश का दावा- भारतीय एयर स्ट्राइक से कोई नुकसान नहीं, सभी जिंदा

आतंकी संगठन जैश का दावा- भारतीय एयर स्ट्राइक से कोई नुकसान नहीं, सभी जिंदा

India
इस्लामाबाद. जैश-ए-मोहम्मद के साप्ताहिक अखबार अल-कलाम में मसूद अजहर ने यह दावा किया कि भारतीय एयर स्ट्राइक में जैश के आतंकियोंकोकिसी तरह का कोई नुकसान नहीं पहुंचा। जैश प्रमुख को लेकर फैलाई जा रही खबरेंझूठी और भ्रामक हैं। ऐसा कुछ नहीं हुआ। हालांकि, इस लेख मेंयह स्पष्ट नहीं कि मसूद अजहर ने ही ये तमाम बातें लिखी। मगर यह तय है कि अल-कालमजैशका मुखपत्र माना जाता है। यह सादी, अजहर के कॉलम के रूप में चर्चित है। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें JeM claims, No damage done in strike, Dainik Bhaskar
जाट समुदाय की भाजपा को अंजाम भुगतने की चेतावनी, 13 राज्यों की 70 लोकसभा सीटों पर होगा नुकसान

जाट समुदाय की भाजपा को अंजाम भुगतने की चेतावनी, 13 राज्यों की 70 लोकसभा सीटों पर होगा नुकसान

Haryana
रोहतक.अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष यशपाल मलिक ने भाजपा को लोकसभा चुनाव में नुकसान भुगतने के लिए तैयार रहने की चेतावनी दी है। शनिवार को रोहतक मेंहरियाणा प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक मेंउन्होंने कहा कि जाट समुदाय की नाराजगी के चलते भाजपा कोउत्तर भारत के 13 राज्यों में नुकसान उठाना पड़ेगा। 70 सीटें, जोपंजाब, राजस्थान, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड व मध्य प्रदेश में हैं, पर भाजपा हार का मुंह देखने के लिए तैयार रहे।मलिक की मानें तो समाज के उच्च शिक्षित व सेवानिवृत्त अधिकारियों की सलाह व मार्गदर्शन में दीनबन्धु छोटूराम कोचिंग संस्थान की शुरुआत रोहतक में इसलिए की गई थी कि जब तक छोटूराम धाम-जसिया का निमार्ण कार्य पूरा हो, तब तक उसे रोहतक शहर में शुरू कर लिया जाए। इससे समाज के 2 लाख से ज्यादा युवाओं को कम कीमत में ऊंचे दर्जे की शिक्षा दिलाने का उद्देश्
शुगर लेवल बढ़ने-घटने से भी किडनी को नुकसान

शुगर लेवल बढ़ने-घटने से भी किडनी को नुकसान

Health
किडनी शरीर का अहम अंग है जिसे फंक्शन यूनिट भी कहते हैं। शरीर में दो किडनी (गुर्दे) होती है। किडनी ब्लड प्रेशर नियंत्रित, सोडियम और पोटैशियम को संतुलित रखती है। अचानक समस्या होनाकिडनी में दो तरह की बीमारियां होती हैं। पहला एक्यूट किडनी डिजीज जो अचानक होती है। इसमें किडनी की कार्यक्षमता तेजी से घटने लगती है। यह शरीर में किसी तरह का संक्रमण (सेप्सिस), उल्टी-दस्त, मलेरिया, एचआइवी संक्रमण, अत्यधिक दर्द निवारक दवाएं लेने, ब्लड प्रेशर व डायबिटीज की बीमारी में शुगर के बार-बार उतार-चढ़ाव के कारण होती है। एक्यूट किडनी डिजीज की समय पर पहचान व इलाज से मरीज पूरी तरह से ठीक हो सकता है। बीमारी का बढऩाक्रॉनिक किडनी डिजीज ठीक नहीं होने वाली बीमारी है। शुरुआत में इसके कोई लक्षण नहीं दिखते हैं। रक्त यूरिया, सिरम क्रिएटिनिन बढऩे लगता है। बीमारी की स्थिति अनुसार इलाज करते हैं। दवाओं से रोगी की किडनी में बढऩे व
‘आप’ के कार्यालय में मुख्यमंत्री केजरीवाल की पीसी, बोले- भारत-पाक मामले से भाजपा को नुकसान होगा

‘आप’ के कार्यालय में मुख्यमंत्री केजरीवाल की पीसी, बोले- भारत-पाक मामले से भाजपा को नुकसान होगा

Delhi
नई दिल्ली.कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व की ओर से आम आदमी पार्टी के साथ दिल्ली में कोई गठबंधन न किए जाने के स्पष्ट इशारे के बाद आप ने अपने दम पर चुनाव लड़ने की तैयारियां तेज कर दी हैं। मंगलवार को आप संयोजक और सीएम अरविंद केजरीवाल, डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया और रोजगार मंत्री गोपाल राय ने एक प्रेस कान्फ्रेंस विपक्ष पर निशाना साधा। पीसी पंडित दीन दयाल उपाध्याय मार्ग स्थित पार्टी के नए कार्यालय में की। सीएम केजरीवाल ने पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा देश में दो तरह के लोग हैं। एक वो जो पीएम को जिताना चाहते हैं और दूसरे वो जो हराना चाहते हैं। दूसरे तरह के लोगों की संख्या ज्यादा है।कांग्रेस से गठबंधन के सवाल पर केजरीवाल ने कहा, हमारे पास उनकी तरफ से कोई संदेश नहीं है। हमें उनकी तरफ से दो ही संकेत थे। पहला, शरद पवार के घर मीटिंग में राहुल गांधी ने साफ-साफ मना कर दिया। दू
बादलों ने सिखों का बड़ा नुकसान किया : ब्रह्मपुरा

बादलों ने सिखों का बड़ा नुकसान किया : ब्रह्मपुरा

Punjab
शिअद टकसाली के प्रधान और सांसद रणजीत सिंह ब्रह्मपुरा की ओर से कस्बा गोइंदवाल साहिब में बैठक की। इस में शिअद टकसाली के लोक सभा हल्का खडूर साहिब से उम्मीदवार जरनल जोगिंदर जसवंत सिंह और साबका विधायक रविंदर सिंह ब्रह्मपुरा के साथ अन्य वर्कर मौजूद थे। ब्रह्मपुरा ने कहा कि बादल परिवार ने सिक्ख कौम के साथ कभी न पूरा होने वाला बड़ा नुकसान किया है। बादल परिवार ने चंद वोटों की खातिर डेरा मुखी राम रहीम को अकाल तख्त साहिब के जत्थेदारों से माफी दिलाकर यह साबित कर दिया था कि वह वोटों की खातिर सिक्ख कौम को बड़ा धोखा दे सकते हैं। उन्होंने कांग्रेस सरकार पर निशाना लगाते हुए कहा कि यह सरकार पिछले दो साल से पूरी तरह फेल साहिब हुई है। किसानों की आत्महत्याओं की घटनाएं और बेरोजगारों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। उन्होंने लोगों से अपील करते कहा कि इस बार लोकसभा हल्का खडूर साहिब से शिअद टकसा
एयरफोर्स ने दागे फ्रांस निर्मित लेजर गाइडेड बम, लक्ष्य के अलावा किसी को नहीं पहुंचाते नुकसान

एयरफोर्स ने दागे फ्रांस निर्मित लेजर गाइडेड बम, लक्ष्य के अलावा किसी को नहीं पहुंचाते नुकसान

Rajasthan
जोधपुर.भारतीय वायुसेना नेमंगलवार तड़के पाक अधिकृत कश्मीर और पाकिस्तान स्थितआतंकी कैंपोंपर हमला किया। पहले से निर्धारित लक्ष्यों पर सटीक प्रहार करने के लिए वायुसेना ने लेजर गाइडेड बमों काइस्तेमाल किया। सूत्रों ने बताया किवायुसेना नेपाक पर एयर स्ट्राइक के लिएफ्रांस निर्मित एक-एक हजार किलोग्राम के माटरा (Matra) बम का इस्तेमालकिया।मुश्किल लक्ष्यों पर एकदम सटीक प्रहार करने के लिए इस तरह के बमोंका इस्तेमाल किया जाता है।इनकी सबसे बड़ी खास बात यह है किलक्ष्य के अलावा नजदीक की किसी बिल्डिंग तक को यह बमकिसी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचातेहैं। यानी, यह बम सिर्फ टारगेटको ही ध्वस्त करते हैं।सीमित क्षेत्र को नष्ट करने में होता है इस्तेमाललेजर गाइडेड बमोंका इस्तेमाल बहुत सीमित क्षेत्र को नष्ट करने के लिए किया जाता है। इस तरह के हमलों में फाइटर जेट पहले से निर्धारित अपने लक्ष्य की पहचान क
इन कारणों से भी हो सकता है आंखों को नुकसान

इन कारणों से भी हो सकता है आंखों को नुकसान

Health
अगर आप स्वीमिंग करना पसंद करते हैं। यह अच्छा व्यायाम है लेकिन इस दौरान आंखों का खयाल रखना जरूरी होता है। स्वीमिंग पूल की सफाई - पूल में कई लोग एक साथ तैरते हैं जिससे संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। इसके अलावा पूल में क्लोरीन भी डाली जाती है। इन दोनों का प्रभाव सबसे पहले आंखों पर पड़ता है। इसलिए जरूरी है कि पूल के पानी की नियमित साफ-सफाई की जाए। लालिमा आने पर - बैक्टीरियल इंफेक्शन होने पर आंखों में चुभन या जलन होने लगती है और आंखें लाल हो जाती हैं। कई बार उनमें से गंदा पानी भी आने लगता है जिससे कंजक्टिवाइटिस रोग हो जाता है। यदि समय रहते डॉक्टर को न दिखाया जाए तो आंखों की रोशनी पर असर पड़ सकता है। इसलिए तकलीफ होने पर फौरन नेत्र रोग विशेषज्ञ को दिखाएं। ग्लासेज पहनें - बीमारी की रोकथाम उसके उपचार से बेहतर मानी जाती है। स्वीमिंग पूल में जाने से पहले ग्लासेज पहन लें, यह आपकी आंखों को न सिर्फ संक्रम
इन कारणों से भी हो सकता है आंखों को नुकसान

इन कारणों से भी हो सकता है आंखों को नुकसान

Health
अगर आप स्वीमिंग करना पसंद करते हैं। यह अच्छा व्यायाम है लेकिन इस दौरान आंखों का खयाल रखना जरूरी होता है। स्वीमिंग पूल की सफाई - पूल में कई लोग एक साथ तैरते हैं जिससे संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। इसके अलावा पूल में क्लोरीन भी डाली जाती है। इन दोनों का प्रभाव सबसे पहले आंखों पर पड़ता है। इसलिए जरूरी है कि पूल के पानी की नियमित साफ-सफाई की जाए। लालिमा आने पर - बैक्टीरियल इंफेक्शन होने पर आंखों में चुभन या जलन होने लगती है और आंखें लाल हो जाती हैं। कई बार उनमें से गंदा पानी भी आने लगता है जिससे कंजक्टिवाइटिस रोग हो जाता है। यदि समय रहते डॉक्टर को न दिखाया जाए तो आंखों की रोशनी पर असर पड़ सकता है। इसलिए तकलीफ होने पर फौरन नेत्र रोग विशेषज्ञ को दिखाएं। ग्लासेज पहनें - बीमारी की रोकथाम उसके उपचार से बेहतर मानी जाती है। स्वीमिंग पूल में जाने से पहले ग्लासेज पहन लें, यह आपकी आंखों को न सिर्फ संक्रम
वंदे भारत एक्सप्रेस की खिड़कियां टूटी, पत्थरों के उछलने से हुआ नुकसान

वंदे भारत एक्सप्रेस की खिड़कियां टूटी, पत्थरों के उछलने से हुआ नुकसान

India
नई दिल्ली. वाराणसी से नई दिल्ली की यात्रा के दौरान वंदे भारत एक्सप्रेस में पत्थरों के चलते टूट-फूट हुई। इसके चलते न सिर्फ मुख्य ड्रायवर की स्क्रीन बल्कि साइड की खिड़कियां भी टूट गई। तकनीकी स्टॉफ ने टूट-फूट को ठीक कर ट्रेन को गंतव्य के लिए रवाना किया। उत्तर भारतीय रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी ने बताया, 'शनिवार को उत्तर प्रदेश के आचलदा के पास से जब डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस गुजरी तो इसके नीचे एक मवेशी आ गया। नतीजतन वंदे भारत एक्सप्रेस पर पत्थरों की मार पड़ी।' राजधानी के गुजरने से उछले पत्थरों से न सिर्फ ड्रायवर की स्क्रीन बल्कि साइड कोचेस की खिड़कियां भी टूट गईं। इनमें सी4, सी6, सी7, सी8, सी13 शामिल हैं जबकि सी12 के दो कांच भी टूट गए। तकनीकी स्टॉफ ने टूट-फूट की मरम्मत करने के बाद ट्रेन को रवाना किया। हालांकि ट्रेन को सामान्य गति से गंतव्य तक ले जाया गया। ट्रेन नई दिल
बहुत सेहतमंद है पपीता, लेकिन इन चीजाें के साथ करता है नुकसान

बहुत सेहतमंद है पपीता, लेकिन इन चीजाें के साथ करता है नुकसान

Health
वनौषधि पत्रिका 'रत्नाकर' के अनुसार पपीते को एक विशेष प्रकार का फल माना गया है जो किसी भी रोग में लाभकारी है। इस फल में 89 प्रतिशत पानी, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, आयरन, विटामिन-ए, बी व सी प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। इसे किसी भी मौसम में रोजाना 300 ग्राम की मात्रा में खा सकते हैं लेकिन गर्भवती इससे परहेज करें। पपीते को दही, नारंगी या किसी भी खट्टी चीज के साथ न खाएं वर्ना एसिडिटी हो सकती है। दूध के साथ इसका शेक बनाकर पी सकते हैं। पपीते को पचने में समय लगता है इसलिए इसे डिनर के बाद या सोने से आधे घंटे पहले ही खा लेना चाहिए। फायदे हैं कईपपीता स्वाद में मीठा व हल्का होता है जो एसिडिटी की परेशानी नहीं होने देता। यह लिवर, किडनी और आंतों की कार्यप्रणाली को सुचारू रूप से चलाने का काम करता है। इसमें मौजूद पेप्सिन पाचनतंत्र की गड़बड़ी को सुधारता है और त्वचा व आंखों से जुड़ी समस्याओं को दूर करता है।