News That Matters

Tag: नुकसान

जानिए लीची खाने के फायदे और नुकसान

जानिए लीची खाने के फायदे और नुकसान

Health
गर्मी के मौसम में खाई जाने वाली लीची मीठी और रसीली होने के साथ सेहत के लिए भी फायदेमंद है। इसको खाने से अस्थमा समेत कई रोगों से बचाव होता है। रोजाना लीची खाने से चेहरे पर निखार आने के साथ बढ़ती उम्र का असर कम नजर आता है। लीची खाते समय इस बात का ध्यान रखें कि ज्यादा न खाएं। अधिक खाने से खुजली, सूजन जैसी दिक्कतें हो सकती हैं। जानें लीची खाने के फायदे- बीटा कैरोटीन से भरपूर लीची दिल को स्वस्थ रखती है। इसको खाने से हृदय रोगों का खतरा कम होता है।कैंसर कोशिकाओं को बढ़ने से रोकने में लीची खास मददगार है।अधिक ठंड लग गई है तो लीची खाएं, फायदा होगा।कब्ज से राहत व मोटापा घटाने के लिए भी इसका इस्तेमाल करना फायदेमंद है।ये शरीर के रोग प्रतिरोधक तंत्र को दुरुस्त करने का काम भी करती है।कफ की शिकायत रहती है तो लीची खाना फायदेमंद है। Patrika : India's Leading Hindi News Portal
नकली सामान से भारत को सालाना एक लाख करोड़ रु. का नुकसान

नकली सामान से भारत को सालाना एक लाख करोड़ रु. का नुकसान

Delhi
कई सेक्टर में नकली उत्पादों से देश को हर साल कुल एक लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान होता है। ऐसे में इसके बारे में पर्याप्त जागरुकता फैलाने, निगरानी करने और इसके खिलाफ समाधान विकसित करने की जरूरत है। यह बात प्रमाणन उद्योग संगठन एएसपीए ने कही। इस संगठन के 60 सदस्य हैं। संघ ने ब्रांड, आय और दस्तावेजों की सुरक्षा के लिए सर्टिफिकेशन टेक्नोलॉजी और समाधान अपनाने पर जोर दिया। एएसपीए के अध्यक्ष नकुल पासरिचा ने कहा, ‘मौजूदा समय में नकली उत्पादों से देश को हर साल करीब 1.05 लाख करोड़ रुपए का नुकसान होता है। सर्टिफिकेशन सॉल्यूशन, जागरुकता और निगरानी का सही तरीके से पालन करके यदि नकली उत्पादों पर 50 फीसदी भी रोक लगा दी जाए जो देश को हर साल 50 हजार करोड़ रुपए की बचत हो सकती है।’ नकली उत्पादों का नुकसान झेलने वालों में दवा क्षेत्र प्रमुख है। इस बारे में पासरिचा ने कहा कि सरकार को
लीगल एंपावरमेंट एंड अवेयरनेस फोरम ने शहर में नुकसान के जांच को उठाई आवाज

लीगल एंपावरमेंट एंड अवेयरनेस फोरम ने शहर में नुकसान के जांच को उठाई आवाज

Punjab
बठिंडा| लीगल एंपावरमेंट एंड अवेयरनेस फोरम के प्रधान साधुराम कुसला ने शहर में सीवरेज जाम होने के लिए नगर निगम, सीवरेज विभाग तथा त्रिवेणी को जिम्मेदार ठहराते हुए लोकल निकाय मंत्री ब्रह्म मोहिंदरा ने जांच की मांग की है। कुसला ने कहा कि 16 जुलाई को हुई बरसात कोई प्रकृतिक आपदा ना होकर नगर निगम, सीवरेज तथा त्रिवेणी की नाकामी का परिणाम है। उन्होंने इसकी मांग सीबीआई से करवाने की मांग की। साधुराम कुसला ने कहा कि एसटीपी से 12.5 किलोमीटर लंबाई की राइजिंग मेन लसाड़ा ड्रेन तक 2015 से दिसंबर 2017 तक डाली जानी थी, लेकिन अभी तक वह काम कंपनी पूरा नहीं कर सकी है। उसी दिन स्लज कैरियर टूटने से करीब 22 घंटों तक बिजली मोटरें बंद रखी गईं। नगर निगम ने स्लज कैरियर का रखरखाव सही ढंग से नहीं किया तथा रखरखाव के जाली बिल डाले गए। संजय नगर 2007 में 13 एकड़ था, जो इस समय कम होकर 7 एकड़ रह गया। डीएवी का
बाढ़ से हुए फसली नुकसान में प्रभावित किसानों को मदद देगी एआईसी

बाढ़ से हुए फसली नुकसान में प्रभावित किसानों को मदद देगी एआईसी

Delhi
बाढ़ से हुए फसली नुकसान में प्रभावित किसानों को मदद देगी एआईसी नई दिल्ली | एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी ऑफ इंडिया (एआईसी), देश की सबसे बड़ी सरकारी फसल बीमा कंपनी है, जो प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) को देश के अधिकांश राज्यों में लागू कर रही है। पिछले कुछ दिनों में विभिन्न क्षेत्रों में अधिक वर्षा के कारण फसल नुकसान की सूचनाएं प्राप्त हो रही हैं। इसके मद्देनजर एआईसी स्थिति पर पूरी तरह से नजर रखे हुए है। एआईसी इस मुश्किल घड़ी में किसानों के साथ खड़ी है। पीएमएफबीवाई के इस विषय में प्रावधानों के अनुसार नुकसान आंकलन के लिए तैयार है। ज्ञातव्य है कि विभिन्न क्षेत्रों में खरीफ़ की फसल की बुआई हाल ही में हुई है और पीएमएफबीवाई में प्रावधान है िक अगर व्यापक रूप से फसल उगने में अड़चन आती है या बाड़ के कारण किसान फसल की बुआई नहीं कर पाते हैं, ऐसे में राज्य एवं जिला प्रशासन को

बाढ़ से खेती को होने वाले नुकसान पर सरकार की नजर, धान की रोपाई हुई पीछे

India
मानसून की झमाझम बारिश से खरीफ की बुवाई व रोपाई ने रफ्तार तो पकड़ ली है कई राज्यों में भीषण बाढ़ आ गई है। इससे खेती को होने वाले नुकसान पर सरकार नजर रख रही है। Jagran Hindi News - news:national
हेयर ड्रायर से बालों को नुकसान, ऐसे रोकें झड़ना

हेयर ड्रायर से बालों को नुकसान, ऐसे रोकें झड़ना

Health
लोगों में बालों का झड़ना आम समस्या हो गई है, ज्यादातर व्यक्ति इससे परेशान है। बालों के झड़ने के कुछ मुख्य कारण हैं। इसमें पहला कारण बढ़ती उम्र, सही मात्रा में पोषक तत्वों का न मिलना, डैंड्रफ और फंगल इंफेक्शन होता है। कुछ सावधानियां व आयुर्वेद में ऐसे कई उपचार हैं जिनकी मदद से बालों के झड़ने की समस्या को रोका जा सकता है। जानते हैं बालों को बचाने के लिए क्या किया जाना चाहिए।बालों को ड्रायर आदि से न सुखाएं। इसे नेचुरल तरीके से सुखाएं। जब तक बाल गीले हैं उसमें न कंघी चलाएं और न ही तेल आदि लगाएं। गीले बालों में तेल लगाने से फंगल इंफेक्शन हो सकता है। इससे बचने के लिए जो भी हेयर ऑयल प्रयोग करते हैं उसे गुनगुना कर कपूर मिला लें। उससे बालों की मालिश करें। इसके लिए नारियल तेल, सरसों व बादाम तेल का प्रयोग कर सकते हैं। यदि डैंड्रफ हुआ है तो नीम, अरंड का तेल प्रयोग करें। मैंथी रात में भिगो दें। सुबह इसे प
अब भूलकर भी न पीएं इस तरह की चाय, होता है ये नुकसान

अब भूलकर भी न पीएं इस तरह की चाय, होता है ये नुकसान

Health
आमताैर पर लाेग अपने दिन कि शुरूआत चाय से करते हैं। माना जाता है कि चाय पीने से आलस दूर हाेता आैर चुस्ती फुर्ती आती है आैर हर काेर्इ अपनी पंसद के हिसाब से चाय बनाता है। काेर्इ हिसाब से चाय पीता है, काेर्इ बेहिसाब चाय पीता है।पर क्या कभी आपने चाय से हाेने वाले नुकसान ( Disadvantages of Tea ) के बारे में साेचा है। यदि नहीं ताे यह जानकारी है आपके लिए :- आयुर्वेद के अनुसार ज्यादा चाय पीना शरीर में पित्त बढ़ाता है। सुबह उठते ही हमारा पेट खाली होता है जिस दौरान बैड टी पीने से चाय में मौजून टैनिन का असर सीधे पेट की झिल्ली पर होता है। वहीं ज्यादा पत्ती व देर तक उबली चाय से पाचन खराब हो जाता है। इनसे कब्ज, अनिद्रा, बेचैनी, थकान, पेट के अल्सर तक हो जाते हैं। सुबह खाली पेट गुनगुने पानी में नींबू या शहद डाल कर पीएं। एलोवेरा या आंवला जूस, हर्बल टी, अर्जुन छाल की चाय या तांबे के बर्तन में रात का रखा बास
एयरटेल को 14 साल में पहली बार घाटा, अप्रैल-जून तिमाही में 2,886 करोड़ का नुकसान

एयरटेल को 14 साल में पहली बार घाटा, अप्रैल-जून तिमाही में 2,886 करोड़ का नुकसान

Delhi
टेलीकॉम ऑपरेटर भारती एयरटेल ने वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही में 2,886 करोड़ रुपए का घाटा दर्ज कराया है। कंपनी को 14 साल में पहली बार नुकसान हुआ है। कंपनी को यह घाटा टेलीकॉम बाजार में रिलायंस जियो से मिल रही कड़ी टक्कर के चलते हुआ है। पिछले साल इसी दौरान कंपनी ने 97 करोड़ रुपए का शुद्ध मुनाफा कमाया था। पिछले वित्त वर्ष में मई-जून तिमाही में कंपनी का रेवेन्यू 19,799 रुपए था, जो चालू वित्त वर्ष की जून तिमाही में 4.7 फीसदी बढ़कर 20,738 करोड़ रुपए हो गया। कंपनी का ऐवरेज रेवेन्यू पर यूजर (एआरपीयू) जून तिमाही में 129 रुपए हो गया। मार्च में खत्म हुई तिमाही में एआरपीयू 123 रुपए था। भारत में कंपनी के मोबाइल ग्राहक आधार में भी गिरावट का रुख बना हुआ है। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
तेज आवाज से प्रभावित नींद पहुंचाती है कानों को नुकसान, जानें इसके बारे में

तेज आवाज से प्रभावित नींद पहुंचाती है कानों को नुकसान, जानें इसके बारे में

Health
सुबह पार्क में टहलने के दौरान सुहावने मौसम में लोगों और चिडिय़ों की चहचहाती आवाज बचपन के दिनों की याद दिला रही थी। अचानक एक चीखती हुई सीटी की आवाज आई व शांत माहौल को खराब करने लगी। यह आवाज जाती ट्रेन के बारे में लोगों का सतर्क रखने के लिए बजाई जाने वाली सीटी की थी जो लगभग डेढ़ मील की दूरी से आ रही थी। 10-15 मिनट बाद यह आवाज गायब तो हो गई। लेकिन कुछ समय बाद तक उसका अहसास कान में था। अक्सर हम दिनभर में ऐसी कई आवाजें सुनते हैं जिससे कानों को नुकसान पहुंचता है। इस नॉइज पॉल्यूशन के दुष्प्रभाव को समझने के लिए पहले कान की संरचना को जानना जरूरी है। हमारा बाहरी कान साउंड कलेक्टर के रूप में काम करता है। यहां से आवाज जाने पर कान में डेढ़ से दो सेंमी. पर मौजूद मैम्ब्रेन वाइब्रेट होता है। इस कंपन को कान के मध्य स्थित तीन छोटी हड्डियां महसूस कर कान के अंदरुनी हिस्से यानी कोक्लिया तक पहुंचाती हैं। यहां म
बांध टूटने से नुकसान का जायजा लिया

बांध टूटने से नुकसान का जायजा लिया

Rajasthan
धोलाखेड़ा में झाड़ूहाला एनिकट टूटने से किसानों को हुए नुकसान के एवज में राहत दिलवाने की मांग करते हुए ग्रामीणों ने शनिवार को एसडीओ को ज्ञापन दिया है। जानकारी के अनुसार ग्रामीणों ने एसडीओ को ज्ञापन देकर बताया कि एनिकट टूटने से सरकारी स्कूल सहित कई घरों में पानी चला गया जिससे लोगों को काफी नुकसान हो गया है। किसानों की फसलें खराब हो गई तथा लोगों की तारबंदी टूटकर बह गई। इसके लिए किसानों व पीड़ितों को मुआवजा दिलवाया जाए। ज्ञापन देने वालों में सुरेंद्र खैरवा, मनोज खैरवा, नत्थूराम मीणा, हरलाल खैरवा शामिल थे। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar