News That Matters

Tag: नुस्खे

बालों के लिए भी जरूरी है सनस्क्रीन, आजमाएं ये 8 घरेलू नुस्खे

बालों के लिए भी जरूरी है सनस्क्रीन, आजमाएं ये 8 घरेलू नुस्खे

Health
वैसे तो बाजार में कई तरह की हेयर सनस्क्रीन उपलब्ध हैं, पर कुछ ऐसे प्राकृतिक उत्पाद भी हैं, जो आपके बालों पर बहुत ही बेहतरीन काम करेंगे और उन्हें सदा सुरक्षित रखेंगे। तिल का तेल अपनी... Live Hindustan Rss feed
किडनी स्टोन से बचाते ये खास नुस्खे

किडनी स्टोन से बचाते ये खास नुस्खे

Health
ऑक्जलेट की मात्रा कम करके किडनी स्टोन से बच सकते हैंशोधकर्ता कहते हैं कि डाइट में ऑक्जलेट की मात्रा कम करके किडनी स्टोन से बच सकते हैं। ऑक्जलेट युक्त चीजें जैसे पालक, चुकंदर, बींस और आलू को खाने से बचें। कई खाद्य पदार्थ जैसे नट्स, सीड्स, अनाज और फली में नेचरल सॉल्ट है, जो हमारे शरीर के लिए फायदेमंद हैं। खाने में अत्यधिक नमक लेना किडनी स्टोन के खतरे को बढ़ाता है। अतिरिक्त सोडियम से यूरिन में कैल्शियम की मात्रा बढ़ती है जिससे पथरी की समस्या होती है। शोधकर्ता कहते हैं कि एक दिन में 3 ग्राम से ज्यादा नमक नहीं लेना चाहिए।रिफाइंड और पैक्ड फूड का चलन बढ़ गया है पर इनमें सोडियम होता है जिसका पता भी नहीं चलता। फास्ट फूड्स में मौजूद सोडियम भी नुकसानदेय है। 12 गिलास पानी पीने से स्टोन का खतरा घटता हैप्यूरिन एक नेचुरल केमिकल है। शरीर में इसकी अधिकता से यूरिक एसिड बनता है। यूरिक एसिड क्रिस्टल्स के रूप
आयुर्वेदिक नुस्खे बढ़ाते इम्युनिटी

आयुर्वेदिक नुस्खे बढ़ाते इम्युनिटी

Health
बीमारियों से छुटकारा पाया जा सकता हैआयुर्वेदिक दवाओं से कई तरह की बीमारियों से छुटकारा पाया जा सकता है। डेंगू, मलेरिया, स्क्रब टायफस व डायरिया हो तो आयुर्वेदिक नुस्खों से अपनाकर बचा जा सकता है। डेंगू में 1-2 चम्मच महादर्शन क्वाथ सुबह-शाम खाने के बाद पीने से बुखार घटता है।मलेरिया में 5 तुलसी के पत्ते, छोटा टुकड़ा अदरक व दो काली मिर्च, एक गिलास पानी में 1/4 होने तक उबालें। गुनगुना सुबह-शाम पीएं, बुखार कम होगा। स्क्रब टायफस में सहजन के 20 पत्तों को एक गिलास पानी में 1/3 होने तक उबालें। सुबह-रात पीएं।डायरिया में दो चम्मच दही व एक चम्मच ईसबगोल की भूसी को मिलाकर 4-4 घंटे के अंतराल में मरीज को दें। यदि मरीज को डायबिटीज नहीं है तो एक केले को आधा चम्मच ईसबगोल की भूसी के साथ मैश कर लें। इसे सुबह, दोपहर व शाम को दे सकते हैं। चिकनगुनिया होने पर हरसिंगार के 5 पत्तों को एक चौथाई चम्मच अजवाइन के साथ एक ग
थायरॉइड की समस्या से एेसे पाएं छुटकारा, जानें ये खास नुस्खे

थायरॉइड की समस्या से एेसे पाएं छुटकारा, जानें ये खास नुस्खे

Health
शारीरिक गतिविधियों का अभाव, खानपान में गड़बड़ी और पानी में क्लोरीन की अधिक मात्रा के चलते थायरॉइड की समस्या आम होती जा रही है। इसके 50 प्रतिशत से भी अधिक मामले महिलाओं में ज्यादा होते हैं। आयुर्वेद के अनुसार फास्टफूड में प्रयोग होने वाले मसालों में एंटीऑक्सीडेंट्स तत्त्वों की कमी और नमक की अधिकता थायरॉइड हार्मोन के निर्माण प्रभावित करती है। इसके कारण अचानक वजन बढ़ने या कम होने, शरीर में सूजन, बेहद नींद आने आदि लक्षण दिखाई देते हैं। रसोई में मौजूद मसाले थायरॉइड के प्रभाव को कम करने में सहायक साबित हो सकते हैं। खास मसाले जैसे हल्दी, जीरा, धनिया और कच्चा नारियल हार्माेन के निर्माण को बढ़ाकर लाभ देते हैं। साथ ही ये शरीर की अन्य दिक्कतों को भी दूर करते हैं। जानते हैं इनके बारे में- आयुर्वेद से -कच्चा नारियल - इसे रेशेवाला आहार माना जाता है जो वजन को नियंत्रित रखता है।ऐसे लें : चटनी के अलावा नार
गर्मियों में होने वाली त्वचा संबंधी समस्याओं के लिए जानें ये खास घरेलू नुस्खे

गर्मियों में होने वाली त्वचा संबंधी समस्याओं के लिए जानें ये खास घरेलू नुस्खे

Health
गर्मियों में धूप, धूल-मिट्टी, वातावरण में मौजूद जहरीली गैस, धुएं आदि से सबसे ज्यादा नुकसान त्वचा को होता है। ऐसे में चेहरे, पीठ, गले और हाथ-पैरों पर छोटी-छोटी फुंसियां, फोड़े व लाल चकत्ते होने लगते हैं। इनमें धीरे-धीरे जलन, खुजली व गंभीर अवस्था में दर्द भी होता है जिसके लिए कुछ घरेलू उपायों को अपनाकर आराम पाया जा सकता है- 10 नीम के पत्ते, एक चम्मच हल्दी और दो चम्मच मुल्तानी मिट्टी को गुलाबजल में पीस लें। इस पेस्ट को फोड़े-फुंसी, खुजली पर लेप की तरह लगाएं, आराम मिलेगा। मंजीठ, नीम की पत्ती व छाल, हल्दी व लाल चंदन को समान मात्रा में लेकर पानी में घिस लें। लेप की तरह इसे प्रभावित हिस्से पर लगाएं। इसके अलावा इनके मिश्रण से तैयार पाउडर की 2-4 ग्राम की मात्रा को एक माह तक खा भी सकते हैं। त्वचा पर खुजली, जलन और रेशेज में लाभ होगा। कुछ आयुर्वेदिक औषधियां जैसे रसमाणिक्य, आरोग्यवर्धनी, पंचतिक्तघृत गु
एसिडिटी की दिक्कत दूर करेंगे ये नुस्खे

एसिडिटी की दिक्कत दूर करेंगे ये नुस्खे

Health
एसिडिटी की दिक्कत दूर करेंगे ये नुस्खेअसंतुलित खान-पान के कारण कई साइड इफेक्ट होते हैंखाना किसे नहीं पसंद लेकिन परेशानी उस समय होती है जब खाने के लिए यह चाह कब्ज, गैस, अफारा जैसी परेशानियों में बदल जाती है। ये वो परेशानियां हैं, जो सुनने में तो बड़ी ही छोटी लगती हैं, लेकिन जब इनका सामना करना पड़ता है, तो अच्छे अच्छों के पसीने छूट जाते हैं। गलत खान-पान की वजह से पेट से जुड़ी कई परेशानियां बढ़ जाती हैं। असल में असंतुलित खान-पान के कारण कई साइड इफेक्ट होते हैं।क्षारीय प्रकृति एसिड को न्यूट्रिलाइज कर देती हैजब गले और सीने में जलन महसूस हो और एसिडिटी की समस्या हो तो कुछ आसान नुस्खे अपनाकर इसे शांत किया जा सकता है। बिना चीनी का ठंडा दूध पीएं। इसकी क्षारीय प्रकृति एसिड को न्यूट्रिलाइज कर देती है।प्रतिदिन शहद को डाइट का हिस्सा बनाएं। यह एंटीबैक्टीरियल होता है और पेट के लिए फायदेमंद है। दही, घी, लस
डेंगू लक्षण और उसके इलाज के नुस्खे बताए

डेंगू लक्षण और उसके इलाज के नुस्खे बताए

Punjabi Politics
डेंगू बुखार पर करवाए जागरूकता कार्यक्रम में हिस्सा लेते लोग। -भास्कर भास्कर संवाददाता | परमानंद तारागढ़ की मिनी पीएचसी में डॉ. विकास मन्हास के नेतृत्व में डेंगू दिवस मनाया गया। इसमें आस पास के गांवों के सरपंच पांच, आशा वर्कर व लोगों ने भाग लेकर डेंगू जैसी खतरनाक बीमारी से बचाव और उसके लक्षणों की जानकारी दी गई। इस मौके डॉ. विकास ने डेंगू संबंधित जानकारी देते बताया कि डेंगू बीमारी मच्छर के काटने से होती हैं और यह मच्छर हमेशा दिन के समय काटता है। इसलिए हमेशा अपने आसपास सफाई रखे और पानी इकट्ठा न होने दें। उन्होंने बताया कि अपने शरीर को साफ सुथरा और ढक कर रखें। जुराबें पहन कर अपने पैरों को ढक कर रखें, क्योंकि यह मच्छर हमेशा पैरों पर काटता है। इससे डेंगू होने का पूरा खतरा बना रहता है। उन्होंने कहा कि डेंगू के लक्षणों की जानकारी देते बताया कि तेज बुखार, ठंड लगना, भूख न लगना, श
इन बीमारियों के लिए जान लें ये घरेलू नुस्खे, तुरंत होगा फायदा

इन बीमारियों के लिए जान लें ये घरेलू नुस्खे, तुरंत होगा फायदा

Health
सर्दी में जुकाम-खांसी व जोड़ों में दर्द जैसी समस्याएं अक्सर परेशान करती हैं। वहीं व्यस्त दिनचर्या के कारण डॉक्टर के चक्कर काटना मुमकिन नहीं हो पाता। इन नुस्खों को अपनाकर राहत मिल सकती है। खांसी-जुकाम व अस्थमा : तुलसी की 7 पत्तियां, 2 काली मिर्च व छोटा अदरक का टुकड़ा, 1 गिलास पानी में उबालें। आधा रहने पर छानकर गुनगुना पिएं। इसे दोपहर व शाम में खाना खाने के एक घंटे बाद लें। इसके अलावा 1 चम्मच अदरक के रस में डेढ़ चम्मच शहद मिलाकर दिन में 2 बार लेने से भी आराम मिलता है। जोड़ों में दर्द : सहजन की 25-30 पत्तियां 1 गिलास पानी में उबालें। आधा बचने पर छानकर रोजाना सोते समय गुनगुना पिएं। नाक बंद होने पर : नीलगिरि के तेल या पत्तों को पानी के साथ उबालकर उसकी भाप लें। भाप लेते समय सांस लंबी लें जिससे यह फेफड़ों तक पहुंचे। इसके बाद बादामरोगन या गाय के घी की 1-1 बूंद नाक में डालेंं। रूखी त्वचा व फटे होंठ
घरेलू नुस्खे: घी लगाने से त्वचा को ये मिलता फायदा

घरेलू नुस्खे: घी लगाने से त्वचा को ये मिलता फायदा

Health
ड्राई स्किन: इस समस्या से राहत पाने के लिए घी की कुछ बूंदों से स्किन पर कुछ मिनटों तक मालिश करें। इससे स्किन सॉफ्ट और कोमल बनेगी। झुर्रियां: घी में विटामिन ई पाया जाता है, जो स्किन की झुर्रियों को दूर करता है। डार्क सर्कल्स: आखों के नीचे घी की 1-2 बूंदें लेकर मसाज करें। इससे डार्क सर्कल कम होंगे होंठ: घी लिप बाम की तरह काम करता है। इससे होंठ सॉफ्ट रहते हैं।मॉइश्चराइजर की जगह घी: नहाने के बाद मॉइश्चराइजर की जगह घी से मालिश कर सकते हैं। इससे स्किन मुलायम होगी। रूसी में लाभ: यदि बालों में रूसी हो गई है तो बालों की जड़ों में घी और बादाम के तेल की मसाज करने से जल्द ही रूसी से छुटकारा मिल जाएगा। इससे सिर की त्वचा में रूखापन भी नहीं आता है। यदि बाल पोषण की कमी से ये दोमुंहे हो रहे हैं तो घी की मसाज फायदेमंद हो सकती है। ये बालों को मुलायम बनाकर उनके उलझने की समस्या से भी मुक्त कर देगी। Patrika :
सर्दी, जुकाम व खांसी में कारगर हैं ये घरेलू नुस्खे

सर्दी, जुकाम व खांसी में कारगर हैं ये घरेलू नुस्खे

Health
बदलते मौसम में थोड़ी सी लापरवाही से आप खांसी-जुकाम की चपेट में आ जाते हैं। ऐसे में कुछ घरेलू नुस्खों को अपनाकर आप इन मौसमी बीमारियों से राहत पा सकते हैं- इलाइची : इलाइची को पीसकर रुमाल पर लगाकर सूंघने से जुकाम और खांसी में आराम मिलता है।अदरक : अदरक को गर्म पानी में उबालकर एक चौथाई रह जाने पर छान लें। इसे खांड (गुड़ का बूरा) मिले एक कप गर्म दूध में मिलाकर सुबह-शाम पीने से खांसी, जुकाम और सिरदर्द में राहत मिलती है। मेथी: मेथी की पत्तियों की सब्जी सुबह-शाम खाने और बीजों को एक चम्मच मात्रा में गर्म दूध के साथ लेना सर्दी-जुकाम में लाभकारी है।जायफल: जायफल पिसा हुआ एक चुटकी मात्रा में लेकर दूध में मिलाकर लेने से सर्दी का असर कम हो जाता है। कर्पूर: इसका छोटा टुकड़ा रुमाल में लपेटकर थोड़ी-थोड़ी देर में सूंघने से बंद नाक खुल जाती है।केसर: इसे दूध में उबालकर दिन में तीन बार नियमित रूप से पीने से सर्द