News That Matters

Tag: पड़

सोशल मीडिया पर 1.14 सेकेंड का वीडियो वायरल होना रसूखजादे पर पड़ गया भारी

सोशल मीडिया पर 1.14 सेकेंड का वीडियो वायरल होना रसूखजादे पर पड़ गया भारी

Delhi
नीरज आर्या,नई दिल्ली.पूर्व बसपा सांसद राकेश पांडे के बेटे आशीष की दबंगई का वीडियो वायरल होने के बाद आरके पुरम पुलिस एक्टिव मोड में आ गई। वायरल वीडियो में हयात होटल के मेन गेट पर गुलाबी रंग की पैंट और काले रंग की शर्ट पहने आरोपी आशीष पांडे हाथ में पिस्टल लिए साफ नजर आता है। यह वीडियो एक मिनट चौदह सेकंड का है। इसे आरोपी की बीएमडब्ल्यू में बैठी एक महिला ने बनाया था।पीड़ित और होटल की ओर से से शिकायत नहीं देने की वजह से यह मामला कई दिन तक दबा रहा, लेकिन 1.14 सेकेंड का वीडियो वायरल होने के बाद आरोपी के लिए आफत बन गया। इस मामले में मंगलवार को पुलिस ने पीड़ित और होटल स्टाफ का बयान लिया। आरोपी की तलाश में दिल्ली पुलिस लखनऊ में दबिश दे रही है।होटल कर्मी ने बताई यह कहानीहोटल हयात में असिस्टेंट सिक्योरटी मैनेजर सावन कुमार ने बताया कि तड़के 3.40 पर उसके पास कॉल आया। उसे बताया गया पी ल
वारदातः 1700 की फोर्स पर भारी पड़ गए 5 बदमाश

वारदातः 1700 की फोर्स पर भारी पड़ गए 5 बदमाश

Haryana
पानीपत. शहर में पुलिस की लचर कार्यशैली का 5 बदमाश भरपूर फायदा उठा रहे हैं। खुलेआम एक ही इलाके में, एक ही तरीके से 17 दिन के भीतर 4 व्यापारियों को लूट चुके हैं। चौथी वारदात रविवार शाम करीब 4:00 बजे अमर भवन चौक के पास हुई। इस बार भी नकली पुलिस बनकर। पुलिस अफसरों के लिए यह शर्मनाक है कि पहचान का दावा करने के बाद भी बदमाशों को नहीं पकड़ पा रहे। सीआईए के भी पल्ले कुछ नहीं हैं। पांच बदमाश जिले के करीब 1700 पुलिसकर्मियों पर भारी पड़ रहे हैं। व्यापारी की शिकायत पर किला थाना पुलिस ने लूट और ठगी का केस दर्ज किया है। चार वारदात में 3.16 लाख रुपए लेकर बदमाश जा चुके हैं। तीन वारदात एक ही इलाके में हुईं। पुलिस की सादा वर्दी में तैनाती और गश्त बढ़ाने के दावे सिर्फ दावे रह गए।एमपी से कंबल खरीदने आए थेएमपी के मंदसौर जिले केलक्ष्मीनारायण शर्मा ने बताया कि वह एमपी और तमिलनाडु के रानीमेठ में
सबक : 72 साल के बुजुर्ग को हॉस्पिटल में एडमिट किया तो डॉक्टरों ने झूठ बोलकर परिजनों को डरा दिया, कहा इन्हें गंभीर बीमारी हो गई है, जबकि ऐसा था नहीं, इसके बाद परिजनों ने सिखाया ऐसा सबक की डॉक्टर और हॉस्पिटल दोनों को पड़ गया भारी

सबक : 72 साल के बुजुर्ग को हॉस्पिटल में एडमिट किया तो डॉक्टरों ने झूठ बोलकर परिजनों को डरा दिया, कहा इन्हें गंभीर बीमारी हो गई है, जबकि ऐसा था नहीं, इसके बाद परिजनों ने सिखाया ऐसा सबक की डॉक्टर और हॉस्पिटल दोनों को पड़ गया भारी

India
न्यूज डेस्क। मुंबई के अस्पताल ने फरवरी 2016 में एक मरीज की सामान्य बीमारी को जानलेवा बता दिया था। इसे लेकर मुंबई के उपभोक्ता कोर्ट ने अस्पताल और स्कैनिंग सेंटर पर 60 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है।क्या था मामला72 साल के बच्चु राव को छाले की बीमारी थी लेकिन अस्पताल ने उसे धमनियों की गंभीर बीमारी बता दिया। साथ ही ये भी कहा कि मरीज के पास सिर्फ 24 घंटे का समय है। इसके बाद मरीज के परिजन दूसरे अस्पताल में इलाज के लिए बुजुर्ग को ले गए। वहां पता चला कि कोई गंभीर बीमारी नहीं है। वहां उन्हें पेट में अल्सर होने की बात सामने आई। इलाज के बाद वे पूरी तरह से ठीक भी हो गए। इसके बाद खुद बुजुर्ग ने उन्हें और उनके परिजनों से झूठ बोलने और डराने के चलते हॉस्पिटल और स्कैनिंग सेंटर की शिकायत उपभोक्ता फोरम में की। हालांकि इस केस के चलने के दौरान ही वे नहीं रहे। बाद में परिजनों ने केस लड़ा और
हमारी स्वतंत्र नीति, अमेरिकी चुनौती का सामना करना पड़ सकता है: आर्मी चीफ

हमारी स्वतंत्र नीति, अमेरिकी चुनौती का सामना करना पड़ सकता है: आर्मी चीफ

Delhi
रूस से रक्षा प्रणाली सौदे पर अमेरिकी प्रतिबंध की अाशंकाओं के बीच सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा है कि भारत अभी रूस से कामोव हेलीकॉप्टर, अन्य हथियार प्रणाली और तकनीक खरीदेगा। उन्हाेंने कहा कि रक्षा खरीदी को लेकर हमारी स्वतंत्र नीति है। सेना प्रमुख ने कहा- रूस भारतीय सेना आैर रक्षा बलों के साथ सहयोग बढ़ाने को इच्छुक है, क्योंकि उन्हें पता है कि भारतीय सेना मजबूत है। वह समझ सकती है कि हमारे लिए क्या सही है। रूस की छह दिन की यात्रा से लौटे सेना प्रमुख ने बताया- मुझसे रूसी नाैसैनिक ने पूछा था कि भारत, अमेरिका से करीबी बढ़ा रहा है, जिसने रूस पर प्रतिबंध लगा रखे हैं। एस-400 डिफेंस सिस्टम डील को लेकर भारत पर भी बैन लगाने की धमकी दी है। इसके जवाब में मैंने कहा, आप प्रतिबंधों पर सवाल कर रहे हैं। हमें पता है कि भविष्य में हमें अमेरिकी चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है, इस तथ्
पीएम ने बोला- सीएम के पास समय कम पड़ गया… अब बताओ- 5 साल आपने किया क्या?

पीएम ने बोला- सीएम के पास समय कम पड़ गया… अब बताओ- 5 साल आपने किया क्या?

Rajasthan
जयपुर। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ने प्रधानमंत्री की अजमेर में आयोजित सभा को प्रदेश की जनता के लिए निराशाजनक बताया। पायलट बोले - प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जनसभा में कह दिया कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को पूरा समय नहीं मिला, इसलिए वह और ज्यादा काम नहीं कर सकीं।....इसका मतलब क्या? यानी भाजपा वाले खुद मान रहे हैं कि 5 साल में वे अपने निजी हितों की पूर्ति में लगे रहे। जनता के काम करने के लिए इनके लिए पांच साल की अवधि कम है।प्रधानमंत्री जुलाई में वादा करके गए थे, अब याद नहीं रहापायलट ने सवाल दागा है- जुलाई में प्रधानमंत्री आए थे तो उन्होंने पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना की आस बंधाई थी, लेकिन तीन महीने बाद आज इस बारे में बात ही नहीं की। आश्वासन नहीं दे पाए। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today प्रदेश कांग्रेस
करनाल-पंचकूला से ज्यादा यहां के सेक्टरों में कलेक्टर रेट, प्रॉपर्टी खरीद को देनी पड़ रही ज्यादा स्टांप ड्यूटी

करनाल-पंचकूला से ज्यादा यहां के सेक्टरों में कलेक्टर रेट, प्रॉपर्टी खरीद को देनी पड़ रही ज्यादा स्टांप ड्यूटी

Haryana
शहर में सेक्टरों में जमीन के रिहायशी कलेक्टर रेट सीएम सिटी करनाल और पंचकूला से भी ज्यादा हैं। प्रदेश के सभी जिलों की साइट पर डाली गई 2018-19 के सेकेंड टर्म की कलेक्टर रेट की प्रस्तावित सूची से तैयार की तुलनात्मक रिपोर्ट में इस बात का जिक्र है। इसके अलावा साढ़े चार साल में जिले में कई जगह मार्केट वेल्यू 50 प्रतिशत कम हो गई है, लेकिन कलेक्टर रेट कम नहीं हुए। इस बार सेकेंड टर्म के लिए जारी प्रस्तावित सूची में कई जगह के कलेक्टर रेट कम करने के बजाए कई जगह बढ़ाने की तैयारी है। प्रशासन की अनदेखी से क्रेता और विक्रेता दोनों को न केवल तय प्रॉपर्टी से ज्यादा स्टांप ड्यूटी का भुगतान करना पड़ेगा वहीं, इन्कम टैक्स की भी मार पड़ रही है। एस्टेट ब्रोकर एंड इंवेस्टर एसोसिएशन का आरोप है कि बिना प्रॉपर्टी का वेल्यूएशन करवाए अधिकारी कलेक्टर रेट कर रहे हैं। एसोसिएशन दूसरे जिलों व अपने जिले
सरकार बदल चुकी है इंश्योरेंस नियम : 100CC इंजन वाली टू-व्हीलर के इंश्योरेंस के लिए अब इतने पैसे देने पड़ रहे, कोई 1 रु. भी मांगे एक्स्ट्रा तो यहां करें शिकायत, जानिए कितने CC के इंजन की गाड़ी के लिए अब कितने पैसे लिए जा सकते हैं

सरकार बदल चुकी है इंश्योरेंस नियम : 100CC इंजन वाली टू-व्हीलर के इंश्योरेंस के लिए अब इतने पैसे देने पड़ रहे, कोई 1 रु. भी मांगे एक्स्ट्रा तो यहां करें शिकायत, जानिए कितने CC के इंजन की गाड़ी के लिए अब कितने पैसे लिए जा सकते हैं

India
न्यूज डेस्क। बीमा नियामक इरडा (इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी) इंश्योरेंस को लेकर नए नियम लागू कर चुकी है। इसके बाद कार या टू-व्हीलर खरीदते समय ही 3 या 5 साल के लॉन्ग टर्म थर्ड पार्टी इंश्योरेंस को लेना अनिवार्य कर दिया गया है। इससे अब व्हीकल खरीदते समय वाहन मालिक को ज्यादा पैसा चुकाना होगा। कई बार एजेंट कस्टमर को गलत जानकारी देकर पॉलिसी बेच देते हैं। आपको कोई गलत जानकारी दे या एक्स्ट्रा पैसे ले तो आप उसकी सीधे इरडा में शिकायत कर सकते हैं। आज हम बता रहे हैं थर्ड पार्टी इंश्योरेंस क्या होता है और अब नई गाड़ी खरीदते वक्त आपको कितने रुपए इसके लिए देना ही होंगे। साथ ही आप शिकायत कैसे कर सकते हैं यह भी जानिए।क्या होता है थर्ड पार्टी इंश्योरेंस- थर्ड पार्टी इंश्योरेंस में बीमा कराने वाला फर्स्ट पार्टी होता है। बीमा कंपनी दूसरी पार्टी होती है। तीसरी पार्टी वह होती
जॉब, आय, जीवन स्तर पर नहीं पड़ रहा जीडीपी बढ़ने का असर

जॉब, आय, जीवन स्तर पर नहीं पड़ रहा जीडीपी बढ़ने का असर

Delhi
एसके सिंह/धर्मेन्द्र सिंह भदौरिया | नई दिल्ली उस समय डॉ. बिमल जालान रिजर्व बैंक के गवर्नर हुआ करते थे। पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम ने जालान से पूछा, ‘ये जीडीपी क्या है? कभी बढ़ती है, कभी घटती है?’ जालान बोले, ‘अगर आप कामवाली बाई रखते हैं और उसे सैलरी देते हैं तो जीडीपी बढ़ जाएगी। लेकिन अगर बाई से शादी कर ली और उसे सैलरी देना बंद कर दिया तो जीडीपी घट जाएगी।’ जीडीपी बेहद पेचीदा मामला है। इन दिनों देश की जीडीपी ग्रोथ को लेकर भी खूब चर्चा हो रही है। आमतौर पर माना जाता है कि जीडीपी बढ़ती है तो आम आदमी पर भी इसका सकारात्मक असर पड़ता है। भास्कर ने इसकी पड़ताल की तो पता चला कि जीडीपी तो बढ़ रही है, लेकिन हमारे जीवन स्तर पर इसका सकारात्मक असर नहीं पड़ रहा है। अप्रैल-जून 2018 तिमाही में जीडीपी ग्रोथ 8.2 फीसदी दर्ज हुई, लेकिन नई नौकरियां केवल 8 लाख ही आईं। दूसरी तरफ जीडीपी बढ़ र

आधार पर SC के फैसले के बाद रिलायंस Jio और Paytm के eKYC पर पड़ सकता है असर

Indian Technology
सुप्रीम कोर्ट के 26 सिंतबर को आए फैसले की वजह से रिलायंस जियो को eKYC के अलावा अन्य वेरिफिकेशन तरीकों का इस्तेमाल करना होगा Jagran Hindi News - technology:tech-news

विंडीज सीरीज से पहले विराट को देना हो पड़ सकता है यो-यो टेस्ट

Indian Sports
नई दिल्ली। एशिया कप से बाहर रहकर विश्राम कर रहे भारतीय कप्तान विराट कोहली को विंडीज के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज से पहले अपनी फिटनेस साबित करने के लिए यो-यो टेस्ट से गुज़रना पड़ सकता है। खेल-संसार