News That Matters

Tag: परिवार….

युवक का परिवार से झगड़ा हुआ तो वे थाने गए, पीछे से उसने फंदा लगाया

युवक का परिवार से झगड़ा हुआ तो वे थाने गए, पीछे से उसने फंदा लगाया

Punjab
नशे की आदत के चलते एक 22 वर्षीय युवक ने पारिवारिक झगड़े के बाद परिवार की अनुपस्थिति में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। थाना अजीतवाल के एएसआई कुलदीप सिंह ने बताया कि गांव कोकरी बुटरां निवासी कुलदीप कौर ने पुलिस को बयान दिया है कि उसका 22 साल का बेटा सुखबीर सिंह उर्फ हैप्पी नशा करने का आदी होने के चलते आए दिन किसी न किसी बात पर उनसे झगड़ा करता रहता था। 24 मार्च को वह परिवार के लोगों के साथ विवाद कर रहा था। उन्होंने उसे नशा करने का विरोध किया तो वह झगड़ा करने लगा। इसके बाद वह लोग थाना अजीतवाल में बेटे के नशे की आदत की शिकायत करने के लिए गए थे। लेकिन कुछ देर बाद वापस घर पहुंचे तो देखा कि घर का दरवाजा खुला था। कमरे में जाकर देखा तो पंखे से बेटे सुखबीर का शव लटक रहा था। शराब पीने के आदी व्यक्ति ने नहर में कूद की आत्महत्या मोगा | शराब पीने के आदी व्यक्ति से पांच दिन पहले नहर मे
शहीद हरि भाकर के परिवार के मान और सम्मान में कोई कमी नहीं आने देगी राज्य सरकार : प्रतापसिंह खाचरियावास

शहीद हरि भाकर के परिवार के मान और सम्मान में कोई कमी नहीं आने देगी राज्य सरकार : प्रतापसिंह खाचरियावास

Rajasthan
जयपुर। पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से कभी भी बाज नहीं आता है। पाकिस्तान लगातार सीजफायर उल्लंघन कर रहता है। जिसका इंडियन आर्मी हमेशा मुंहतोड़ जवाब देती है। हाल ही में कश्मीर में पाकिस्तान की गोलीबारी में राजस्थान के नागौर जिले के जूसरी गांव के निवासी हरी भाकर शहीद हो गए। जिस पर राजस्थान के परिवहन और सैनिक कल्याण मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास ने कहा है कि शहीद हरि भाकर के परिवार को राज्य सरकार की ओर से 50 लाख रुपये, परिवार के एक सदस्य को नौकरी और बच्चों को 3600 रुपये की छात्रवृत्ति के साथ ही परिजनों को रोडवेज की बसों में निशुल्क यात्रा की सुविधा दी जायेगी। आपको बता दें की मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास कल मकराना में शहीद हरि भाकर के अंतिम संस्कार में शामिल हुए। इस अवसर पर उन्होंने राज्य सरकार की ओर से हरि भाकर को श्रृद्धांजलि अर्पित करते हुये कहा कि शहीद परिवारों के मान और सम्मान में
2 साल से लापता बदमाश घनश्यामपुरिया के भाई ने परिवार के साथ मिलकर एक युवक पर चलाई गोलियां

2 साल से लापता बदमाश घनश्यामपुरिया के भाई ने परिवार के साथ मिलकर एक युवक पर चलाई गोलियां

Punjabi Politics
अमृतसर. लगभग दो साल से लापता कुख्यात गैंगस्टर गोपी घनश्यामपुरिया के भाई मनप्रीत सिंह ने परिवार के सदस्यों के साथ मिलकर गोलियां चलाकर एक व्यक्ति को जख्मी कर दिया। इसके बाद सभी फरार हो गए। एसएसपी परमपाल सिंह, एसपी डी हरपाल सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। एसपी हरपाल सिंह ने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापामारी की जा रही है। उधर घायल हुए जुगराज सिंह को निजी अस्पताल में दाखिल करवाया गया है, जहां उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है।घनश्यामपुरा गांव निवासी अमृतपाल सिंह ने मेहता थाने की पुलिस को बताया कि कुख्यात गैंगस्टर गोपी घनश्यामपुरिया और उसका भाई मनप्रीत सिंह उनके परिवार के साथ रंजिश रखता है। शनिवार को वह भाई जुगराज सिंह के साथ कार में मनप्रीत सिंह के घर के बाहर से गुजर रहे थे। वहां मनप्रीत सिंह, उसका साथ दिलबाग सिह, बंटी, चरणजीत सिंह की पत्नी गुरमीत कौर और गुरप्
परिवार के लोग घर में सोए थे चोर कैश और ज्वैलरी ले गए

परिवार के लोग घर में सोए थे चोर कैश और ज्वैलरी ले गए

Haryana
चोरों ने 18-19 मार्च की रात को त्यागी गार्डन में एक घर में चोरी की वारदात की। चोर घर से हजारों रुपए का कैश और ज्वैलरी ले गए। परिवार के लोग घर में ही थे। पुलिस ने शिकायत पर जांच के बाद केस दर्ज कर लिया है। त्यागी गार्डन निवासी इस्जैक कर्मी अरुण कुमार ने बताया कि चोर रात के समय उनके घर से कोलकाता से आई उसकी बेटी का पर्स चोरी कर ले गए। पर्स में 35 हजार रुपए कैश, दो सोने के टॉप्स, दो गोल्ड रिंग, एक गोल्ड चेन, अन्य दस्तावेज थे। वहीं घर से तीन अन्य पर्स चोरी हुए हैं। उनमें भी 75 हजार रुपए का कैश और अन्य सामान था। पुलिस का कहना है कि ये मामला गंभीर है। इसकी गहनता से जांच की जा रही है। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
‘रुक जा भाई, हमारे छोटे-छोटे बच्चे हैं’, परिवार मांगता रहा रहम की भीख; ‘PAK चले जाओ’ कहकर घर में घुसे और बेरहमी से सबको पीटा, दबंगों ने महिलाओं को भी नहीं बख्शा

‘रुक जा भाई, हमारे छोटे-छोटे बच्चे हैं’, परिवार मांगता रहा रहम की भीख; ‘PAK चले जाओ’ कहकर घर में घुसे और बेरहमी से सबको पीटा, दबंगों ने महिलाओं को भी नहीं बख्शा

Haryana
गुरुग्राम (हरियाणा). गुरुग्राम के भोंडसी से गुंडागर्दी की जो तस्वीरें सामने आई हैं, वो रोंगटे खड़े कर देने वाली है। यहां क्रिकेट खेलने के दौरान हुई कहासुनी खूनी संघर्ष में बदल गई। पहले दोनों गुटों कीओर से जमकर पत्थरबाजी हुई। फिरदबंगों ने पीड़ित के घर हमला बोल दिया। पूरे परिवार की लाठी-डंडों से बेरहमी से पिटाई कर दी। दिल दहला देने वाली यह घटना होली के दिन की है।इस जानलेवा मारपीट का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। मारपीट में 13 लोग बुरी तरह जख्मी हुए हैं। एक आरोपी को गिरफ्तार किए जाने की खबर है।वीडियो में क्या ?वायरल हो रहे वीडियो क्लिप में एक बिल्डिंग के नीचे खड़े दर्जनों लोग उस पर पत्थर बरसाते नजर आ रहे हैं। ऊपर से भी पत्थर फेंके जा रहे हैं। तभी बिल्डिंग से एक शख्स गुहार लगाता है, ओ भाईरुक जा, हाथ जोड़ रहे हैं थारे। फिर एक महिला की आवाज आती है, ओ भाई घर में क्यों घुस रह
घर पर एटीएम कार्ड छोड़कर परिवार संग घूमने गई थी टीचर, फिर भी खाते से 90 हजार निकले

घर पर एटीएम कार्ड छोड़कर परिवार संग घूमने गई थी टीचर, फिर भी खाते से 90 हजार निकले

Haryana
सेक्टर 9-11 निवासी निजी स्कूल टीचर संगीता के बैंक खाते से अज्ञात ने 90 हजार रुपए निकाल लिए। हैरत की बात यह कि टीचर अपना एटीएम कार्ड घर छोड़कर परिवार संग घूमने राजस्थान गई थी। अपने साथ हुई ठगी का पता चलने पर कार्ड बंद करवाकर बैंक प्रबंधन को शिकायत दी। इसके बाद पुलिस को मामले की शिकायत देकर अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज करवाया है। ऐसे में उक्त ठगी के मामले में क्लोनिंग के जरिए कार्ड बनाकर घटना की है। पहले भी इस तरह की घटनाएं हो चुकी हैं। पुलिस को दी शिकायत में स्कूल टीचर संगीता ने बताया कि रेड स्क्वेयर स्थित आईसीआईसीआई बैंक में खाता है। अपना एटीएम कार्ड घर पर छोड़कर परिवार के साथ घूमने राजस्थान के पिलानी गई थी। वहां से घर लौटते वक्त रास्ते में मोबाइल नंबर पर मैसेज आने लगे। उन्हें देखा हैरानी हुई। बैंक खाते से ट्रांजक्शन हो रही थी। 9 बार खाते से 10-10 हजार यानी 90 हजार रुपये न
सरयू नदी में एक ही परिवार के 5 छात्रों की डूबकर मौत, सभी होली मनाने घर आए थे

सरयू नदी में एक ही परिवार के 5 छात्रों की डूबकर मौत, सभी होली मनाने घर आए थे

India
गोरखपुर. यहां केबेलघाट इलाके में सरयू नदी में बुधवार शाम नहाने पांच छात्रों की डूबकर मौत हो गई।देर रात तक सभी शव बरामद कर लिए गए। सभी छात्र होली मनाने के लिए घर आए थे।ये भी पढ़ेंहादसे के बाद राहत बचाव काम में जुटे सिपाही समेत पांच को रोडवेस बस ने रौंदा, मौतबेइली खुर्द गांव निवासी कृष्णमुरारी शुक्लका 14 वर्षीय बेटा सत्यम 8वीं का छात्र था। उनके भाई मदन मुरारी शुक्लका 19 वर्षीय बेटा बीएससी का छात्र था। दोनों गोरखपुर से तीन दिन पहले होली की छुट्टी पर घर आए थे। गांव के ही ध्रुवनारायण शुक्ला का 16 वर्षीय बेटा नितेश भी होली पर ही गांव गया था। ध्रुवनारायण के भाई दिनेश शुक्ल का बेटा 17 वर्षीय बेटा अमन बेलघाट में इंटरमीडिएट का छात्र था। उरुवा थाना क्षेत्र स्थित परसा तिवारी निवासी सूर्यपति त्रिपाठी का 18 वर्षीय बेटा आदर्श मुंबई में मेडिकल का छात्र था। दो दिन पहले वह भी अपने ननिहाल
भेड़ चराने से लेकर फैक्ट्री में मजदूरी कर परिवार पाला; किताबें उधार लेकर की पढ़ाई, कुछ बनने के जूनून ने दिलाई सरकारी नौकरी

भेड़ चराने से लेकर फैक्ट्री में मजदूरी कर परिवार पाला; किताबें उधार लेकर की पढ़ाई, कुछ बनने के जूनून ने दिलाई सरकारी नौकरी

Rajasthan
पाली (राजस्थान). कभी भेड़-बकरी चराकर गुजारा करने वाले मादड़ी गांव निवासी मांगीलाल देवासी अब सरकारी टीचर हैं। कोचिंग के लिए पैसे नहीं थे, तो दोस्तों से किताबें उधार लेकर पढ़ाई कीं। पिछले साल अक्टूबर में जब उनका अपॉइंटमेंट लेटर आया था, तब खुशी से गांववालों ने उन्हें कंधों पर उठा लिया था। मांगीलाल का कहना है, उन्होंने बेहद करीब से गरीबी देखी है। माता-पिता दोनों मजदूर हैं। उनका सपना था कि बेटा भी औरों की तरह काबिल बने। आज नतीजा सबके सामने है।6 साल में दी 20 प्रतियोगी परीक्षाएंमांगीलाल अपने गांव ढाणी में देवासी समाज के 50 परिवारों के साथ रहते हैं। वो बताते हैं कि उनके परिवार की कई पीढ़ियों से सरकारी सेवा में तो दूर, किसी ने कॉलेज का मुंह तक नहीं देखा। मांगीलाल संस्कृत और सोशल सब्जेक्ट में सेकंड ग्रेड टीचर हैं। वे बताते हैं किबीएड करने के बाद भी जब नौकरी नहीं मिली, तबउन्होंने
गांगुली और पोंटिंग; एक समृद्ध परिवार में जन्मा, दूसरे के माता-पिता भी थे खिलाड़ी

गांगुली और पोंटिंग; एक समृद्ध परिवार में जन्मा, दूसरे के माता-पिता भी थे खिलाड़ी

Indian Sports
खेल डेस्क. विश्व क्रिकेट के दो महान कप्तान सौरव गांगुली और रिकी पोंटिंग हमेशा कट्‌टर प्रतिद्वंद्वी रहे। अब आईपीएल में सौरव दिल्ली कैपिटल्स के सलाहकार बनाए गए हैं। इस नई भूमिका में कोच रिकी पोंटिंग के साथ काम करेंगे। गांगुली भारतीय क्रिकेट के सर्वकालिक रूप से महान कप्तान हैं। उन्होंने अपनी बल्लेबाजी और गेंदबाजी के साथ ही कुशल क्रिकेट रणनीति से टीम इंडिया को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया।गांगुली का शुरुआती जीवनगांगुली का पूरा नाम सौरव चंडीदास गांगुली है। कोलकाता के एक संभ्रांत बंगाली परिवार में सौरव का जन्म हुआ। उनके पिता चंडीदास गांगुली की गिनती कोलकाता के रईस लोगों में होती थी। सौरव की जीवनशैली ऐसा थी कि लोग उन्हें 'महाराजा' के नाम से पुकारते थे।गांगुली ने 1996 में इंग्लैंड दौरे पर लगातार दो शतक लगाएसौरव उस समय सुर्खियों में आए, जब वे 1996 में भारत-इंग्लैंड दौरे पर थे। इस दौर
परिवार सो रहा था चोर घर में घुसकर 47 हजार रुपए ले गए

परिवार सो रहा था चोर घर में घुसकर 47 हजार रुपए ले गए

Haryana
पानीपत | रजापुर गांव में बदमाश एक घर से 47 हजार रुपए कैश चोरी करके ले गए। पीड़ित ने सदर थाने में अज्ञात के खिलाफ चोरी का केस दर्ज कराया है। रजापुर के लेखराज पुत्र सुधीर चंद्र ने पुलिस को शिकायत दी कि 17 मार्च की रात को वह घर पर परिवार सहित सो रहे थे। सुबह करीब 6 बजे जगे तो घर का सामान बिखरा पड़ा था। बदमाश संदूक का ताला तोड़कर 27 हजार रुपए की नोटों की माला, 20 हजार रुपए कैश चोरी करके ले गए। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar