News That Matters

Tag: पानी

पहले 24 घंटे बीसलपुर बांध से पानी, अब होगा बंद

पहले 24 घंटे बीसलपुर बांध से पानी, अब होगा बंद

Rajasthan
कस्बे में करीब डेढ़ साल पहले मिलने वाला बीसलपुर का पानी उनियारा को बंद होने वाला है। क्योंकि वर्तमान में करीब एक महीने से सिर्फ पांच घंटे ही बीसलपुर का पानी मिल रहा है, जबकि पहले 24 घंटे पानी मिला करता था। कस्बे में 1970 में जलदाय विभाग का कार्यालय खुलने के बाद कस्बे में पाइप लाइन बिछाई गई, उस समय उपभोक्ता कम होने के कारण एवं सडक़ कच्ची होने के कारण चार पंाच फीट नीचे ही 3, 4, 6, 8 इंची पाइप लाइन अलग अलग वार्डो में डाल दी गई। जिसके बाद पानी अधिक होने व उपभोक्ता कम होने के कारण कस्बे में जलदाय विभाग द्वारा सुबह व शाम को दोनों समय में ही पानी की सप्लाई दी जाती थी। मगर पानी की मांग अधिक होने के साथ साथ नल कनेक्शन अधिक हो गए एवं पानी कम पडऩे के बाद करीब 1985 के बाद से ही जलदाय विभाग ने पानी 24 घंटे में एक घंटे ही देने लगे। वहीं कस्बे में पानी का स्रोत कम होने पर पुर्व गृहमंत्
पब्लिक प्लेस पर पानी जमा तो निगम अफसरों पर हो पर्चा

पब्लिक प्लेस पर पानी जमा तो निगम अफसरों पर हो पर्चा

Punjabi Politics
लुधियाना| किसी के घर या कारोबारी परिसर से डेंगू का लारवा मिलने पर प्रशासन उनके खिलाफ केस दर्ज करने की धमकी दे रहा है, लेकिन सड़कों, चौराहों समेत तमाम पब्लिक प्लेसेज पर जमा पानी में डेंगू मच्छर पनपने पर किसी की जिम्मेदारी फिक्स नहीं की गई है। इसे देखते हुए समाज सेवी गुरपाल गरेवाल ने पुलिस कमिश्नर दफ्तर के नजदीक फिरोज गांधी मार्केट की तरफ खड़े पानी की फोटो निगम अफसरों को भेजते हुए मांग उठाई कि जिसकी लापरवाही से यह पानी खड़ा है, उनके खिलाफ भी पर्चा दर्ज किया जाए। इस पानी में भी डेंगू मच्छर पनपने का खतरा है। उन्होंने पानी खड़े की फोटो निगम अफसरों और हेल्थ अफसरों को भी भेजी और इस मामले में जिम्मेदार अफसरों पर कार्रवाई की मांग की, ताकि किसी तरह की बीमारी से बचा जा सके। सीपी ऑफिस के बाहर जमा गंदा पानी। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
मंडियों में की जाए बिजली, पानी व शौचालयों की व्यवस्था

मंडियों में की जाए बिजली, पानी व शौचालयों की व्यवस्था

Punjab
जम्हूरी किसान सभा का वफद बलदेव राज भोआ, बलवंत सिंह घो और रघुबीर सिंह की अध्यक्षता में मंडी बोर्ड के सेक्रेटरी बलबीर सिंह बाजवा से मिला। उन्हें किसानों की मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा और उन्हें मंडी संबंधी समस्याओं से अवगत कराया। किसान नेताओं ने मंडी में कच्चे फड़ को पक्का करने, हर किसान को जे फार्म देने, बारदाना पूरा करने और मंडी में गेहूं का स्टाक उठाने, सील का स्तर 22 फीसदी करने, फसल बेचने पर बिना वजह कट न लगाने, सड़कों की मरम्मत कराने और किसानों को जरूरी बिजली, पानी और शौचालयों का विशेष प्रबंध करने की मांग की। इस मौके पर दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे किसानों पर जोर जबरदस्ती का भी विरोध जताया गया। सरकार की ओर से घोषित किए गए भाव को कम करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार स्वामीनाथन कमिशन की सिफारिशों को लागू न करके उनसे धोखा कर रहा है। उन्होंने सभी फसलो
पहले जंगली जानवरों के पानी पीने के लिए बनाया था झेर का झरना, आगे निकल रहा था नाला, भू-माफिया ने मिट्‌टी से पाटा

पहले जंगली जानवरों के पानी पीने के लिए बनाया था झेर का झरना, आगे निकल रहा था नाला, भू-माफिया ने मिट्‌टी से पाटा

Rajasthan
शहर के पातेला तालाब के पीछे पहाड़ी को काट कर समतल मैदान बनाकर वहां पर निर्माण कार्य करने की जुगाड़ में फिर रहे भू माफियाओं ने रियासतकालीन झेर के झरने को भी नहीं छोड़ा है। पहले की राजा महाराजाओं के समय में यहां पर वन्य जीवों के पानी पीने के लिए बनाए गए इस जगह के आगे नाले पर मिट्टी से पाटकर भू माफियाओं द्वारा समतल मैदान बना दिया गया है। हालांकि यह इस अवैध कब्जे को लेकर अब तक प्रशासन और नगर परिषद दोनों ही अनजान थे, लेकिन भास्कर की खबर प्रकाशित होने के दूसरे दिन नगर परिषद ने इस मामले में जांच के आदेश अपने अधीनस्थ निर्माण शाखा को दिए है। साथ ही जांच की रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई करने की बात कहीं है। खास बात तो यह है कि शहर से करीब 2 किमी की दूरी पर ही तीन पहाडिय़ों का संगम होता है। बीच में झेर का झरना पानी की जगह है। इसके आगे पूरा झरना बहता था। लेकिन पिछले 6 माह से गुपचुप त
यूएस में भी गंभीर समस्या है गिर रहा जमीनी पानी का स्तर

यूएस में भी गंभीर समस्या है गिर रहा जमीनी पानी का स्तर

Punjabi Politics
एजुकेशन रिपोर्टर | लुधियाना पंजाब एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी में कनसास स्टेट यूनिवर्सिटी यूएसए के डेलीगेट्स ने दौरा किया। विभिन्न क्षेत्रों में सहकारिता के लिए यूनिवर्सिटी के चार डेलीगेट्स ने डॉ. स्टेसी एल हकिंसन की अध्यक्षता में दौरा किया। डॉ. हकिंसन ने कहा कि कनसास यूनिवर्सिटी सामाजिक आर्थिक नजरिए से भोजन, ऊर्जा और पानी के क्षेत्र में सहभागिता करना चाहती है। उन्होंने कहा कि स्टूडेंट एक्सचेंज प्रोग्राम के जरिए दोनों ही यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स को काफी फायदा मिलेगा। उन्होंने कहा कि जमीनी पानी का गिर रहा स्तर और घास जलाने की घटनाएं यूएस के लिए काफी गंभीर समस्याएं हैं। डायरेक्टर रिसर्च डॉ. नवतेज सिंह बैंस ने कहा कि कनसास यूनिवर्सिटी के साथ पीएयू की लंबे समय से एसोसिएशन चल रही है। नए क्षेत्रों में सहभागिता बढ़ाने से काफी फायदा मिलेगा। उन्होंने कहा कि पंजाब में पानी का बहुत
गगन नगर में महीने से आ रहा गंदा पानी, कौंसलर ने जताया विरोध

गगन नगर में महीने से आ रहा गंदा पानी, कौंसलर ने जताया विरोध

Punjabi Politics
लुधियाना| वाॅर्ड 31 के मोहल्ले गगन नगर में पिछले एक महीने से दूषित पानी की सप्लाई हो रही है। इस बारे में कई बार कंप्लेंट करने के बावजूद सुनवाई न हुई तो कौंसलर सोनिया शर्मा ने इलाके के लोगों के साथ विरोध जताया। उन्होंने कहा कि वो बार-बार निगम अफसरों को बता चुकी हैं, लेकिन अफसरों के कानों पर जूं नहीं सरकती। उन्होंने आरोप लगाया कि उनके वाॅर्ड में तैनात बेलदार ड्यूटी पर नहीं आते, लेकिन उनकी हाजिरी पूरी लग रही है। उन्होंने कहा कि उनके साथ लगते वाॅर्ड 29 में गंदे पानी से एक लड़की की मौत हो गई, लेकिन अफसर तब भी गंभीर नहीं हुए। निगम के अफसर और लोगों के मरने का इंतजार कर रहे हैं। कौंसलर होने के बावजूद अफसर उनकी सुनवाई नहीं कर रहे तो ऐसे अफसर पब्लिक की क्या सुनवाई करेंगे। बता दें कि इससे पहले भी वाॅर्ड की समस्याएं दूर न होने पर कौंसलर सोनिया शर्मा पूर्व कमिश्नर जसकिरन सिंह के दफ्त
अब घरों में जाकर पानी बचाने की शपथ दिलाएंगे इंजीनियर,भेजनी होगी फोटो व सेल्फी

अब घरों में जाकर पानी बचाने की शपथ दिलाएंगे इंजीनियर,भेजनी होगी फोटो व सेल्फी

Rajasthan
जयपुर.शहर की लाइफलाइन बीसलपुर बांध में मानसून के दौरान पानी कम आने के कारण जलदाय विभाग ने अब आम जनता को जागरूक करने का फैसला किया है। इसके लिए विभाग के जेईएन व एईएन फील्ड में जाकर लोगों को समझाएंगे, इसके साथ ही पानी बचाने व कम खर्च करने के लिए शपथ भी दिलाएंंगे। ताकि मौजूदा पानी से आगामी मानसून तक रूटीन पेयजल सप्लाई की जा सके।पानी नहीं बचाया गया और कटौती नहीं की गई तो मौजूदा पानी से केवल मार्च तक ही पेयजल सप्लाई हो सकेगी। जेईएन लोगों को समझाते व शपथ दिलाते हुए की फोटो या सेल्फी करके अपने आला अधिकारियों को भेजेंगे।पेयजल की बचत को लेकर जनजागरूकता करवाने की जिम्मेदारी डब्ल्यूएसएसओ विंग की है, लेकिन विंग के अफसरों की लापरवाही के कारण शहर में लोगों को जागरूक करने के लिए अभी तक सही तरीके से कोई अभियान शुरु नहीं किया है।ऐसे में रोजाना लाखों लीटर पानी व्यर्थ बह रहा है। डब्ल्यूएस
20 देशों के डेलीगेट्स पंजाब के पर्यावरण, पानी के गिर रहे स्तर अौर मक्की की खेती के फायदे के बारे में करेंगे चर्चा

20 देशों के डेलीगेट्स पंजाब के पर्यावरण, पानी के गिर रहे स्तर अौर मक्की की खेती के फायदे के बारे में करेंगे चर्चा

Punjab
धान की पराली जलाने से जहां पंजाब के पर्यावरण को नुकसान पहुंच रहा है। वहीं, जमीनी पानी का स्तर भी लगातार गिर रहा है। इसको देखते हुए फसलों की विविधता को अपनाना जरूरत बनती जा रही है। धान की रोपाई की जगह मक्की को किसान रोपाई करते हैं तो इससे उन्हें भी फायदा होगा। मौसम में बदलाव के लिए फसलों की विविधता लाने के लिए मक्की, फलों, सब्जियों और कपास की खेती को अपनाना अहम होता जा रहा है। स्टोरेज की समस्या के कारण मक्की की रोपाई किसानों से करनी छोड़ी और धान की रोपाई की तरफ ज्यादा प्रेरित हुए। लेकिन अब हम धान को मक्की के साथ बदलने की भी कोशिश कर रहे हैं। तीन दिवसीय इंटरनेशनल वर्कशॉप में एक्सपर्ट्स मक्की की वर्तमान, मुश्किलें और भविष्य के अवसरों पर चर्चा करेंगे। ये कहना था पंजाब एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर डॉ. बलदेव सिंह ढिल्लों का। होटल रेडिसन ब्लू में सोमवार से शुरु होने
10 मिनट अाया पानी, दावा 1 घंटा सप्लाई का

10 मिनट अाया पानी, दावा 1 घंटा सप्लाई का

Haryana
नहरी पानी मिलने के बावजूद पुराने शहर में पेयजल का संकट बरकरार है। बुधवार को पब्लिक हेल्थ विभाग ने दावा किया कि सभी मोहल्लों में रुटीन 1 घंटे की पेयजल आपूर्ति की गई। वहीं लोगों का कहना है कि पुराने शहर के ही करीब एक दर्जन मोहल्लों में महज 10 मिनट ही पानी की सप्लाई मिल पाई है। दरअसल मंगलवार दोपहर जेएलएन नहर में पानी रोहतक पहुंचने के बाद जल संकट खत्म होने की उम्मीद की जा रही थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। सोनीपत रोड स्थित वाटर वर्क्स फर्स्ट से जुड़े मोहल्लों और कॉलोनियों में पेयजल संकट बना रहा। महावीर कॉलोनी के लोगों ने लगाया जाम पेयजल समस्या को लेकर महावीर कॉलोनी के निवासियों ने बुधवार शाम 6 बजे 20 मिनट के लिए रोड जाम किया। पुलिस ने समझाकर जाम खुलवाया। वहीं, गोहाना अड्डा बूस्टर, पाड़ा मोहल्ला बूस्टर, जुलाहा चौक बूस्टर व डेरी मोहल्ला बूस्टर से जिन मोहल्लों में पानी की सप्लाई हो