News That Matters

Tag: पूजापाठ

जिंदा समाधि का तमाशा: 5 फीट गहरे गड्ढे में जा बैठा शख्स, खुशी-खुशी पूजा-पाठ देख रहे थे पत्नी और बच्चे

जिंदा समाधि का तमाशा: 5 फीट गहरे गड्ढे में जा बैठा शख्स, खुशी-खुशी पूजा-पाठ देख रहे थे पत्नी और बच्चे

Rajasthan
भीलवाड़ा, राजस्थान। राजस्थान के भीलवाड़ा में अंधविश्वास का चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां एक बाबा ने नवरात्र के पहले दिन समाधि लेने की कोशिश की। हालांकि जैसे ही घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, पुलिस मौके पर जा पहुंची और गड्ढे में बेसुध पड़े शख्स को हॉस्पिटल में भर्ती कराया।-आसींद थाना क्षेत्र के कुराछो का खेड़ा गांव के रहने वाले 35 साल के भोपा श्रवण उर्फ धीरज खारोल कई साल पहले घर-गृहस्थी छोड़कर संन्यास ले चुके हैं। उन्होंने कुछ दिन पहले ही समाधि लेने की इच्छा गांववालों के सामने जाहिर की थी। अंधविश्वास में डूबे गांववालों ने डिंगोड़िया माता मंदिर के पास पांच फीट गहरे और सवा फीट चौड़े ईंटों के पक्के गड्ढे का निर्माण कराया। इसके बाद बाबा 10 अक्टूबर की सुबह गड्ढे में उतरकर बैठ गए।-वीडियो सामने आने के बाद एसएचओ मनीष देव मौके पर पहुंचे और बाबा को बाहर निकालकर स

सिर्फ पूजा-पाठ में ही नहीं, कपूर के ये भी हैं 7 कमाल के फायदे

India
कपूर के जरिए आप कई तरह की बीमारियों को दूर रख सकते हैं। इसका उपयोग औषधि के रूप में किया जाता है और साथ ही इसका तेल भी बहुत ही फायदेमंद होता है। Jagran Hindi News - news:national
योगी आदित्यनाथ को मंदिरों में पूजा-पाठ करने से फुर्सत मिले तो देंगे ना प्रदेश पर ध्यान: मायावती

योगी आदित्यनाथ को मंदिरों में पूजा-पाठ करने से फुर्सत मिले तो देंगे ना प्रदेश पर ध्यान: मायावती

Rajasthan
आजमगढ़। बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती ने उत्तर प्रदेश सरकार के मुखिया पर तंज करते हुए कहा कि योगी आदित्यनाथ को मंदिरों में पूजा-पाठ करने से फुर्सत मिले तो वह प्रदेश का ध्यान रखें। मायावती ने यहां आयोजित पार्टी कार्यकर्ता सम्मेलन में आरोप लगाया कि वर्तमान मुख्यमंत्री योगी पिछड़ेपन से गुजर रहे पूर्वांचल का प्रतिनिधि होने के बावजूद इस क्षेत्र को विकसित करने की तरफ ध्यान नहीं दे रहे हैं। GST को लेकर राहुल गांधी ने एक बार फिर लगाया गब्बर सिंह टैक्स शुरू करने का आरोप उन्होंने कटाक्ष किया, वह ध्यान क्या रखें, उनको मंदिरों में पूजा-पाठ से फुरसत तो मिले, कभी अपने गोरखनाथ मंदिर में, कभी अयोध्या में तो कभी चित्रकूट में। ऐसी स्थिति में पूर्वांचल तो छोड़ो पूरे प्रदेश का विकास नहीं हो सकता। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा एण्ड कम्पनी अपनी कमियों पर पर्दा डालने के लिए अयोध्या, काशी और मथुरा में