News That Matters

Tag: फिट

अंगूठे में प्लास्टर के बाद भी शिखर धवन खुद को फिट रखने के लिए जिम में बहा रहे हैं पसीना

Indian Sports
मैनचेस्टर। भारत के करोड़ों क्रिकेटप्रेमी यही जानना चाहतें हैं कि आखिर सलामी बल्लेबाज शिखर धवन के अंगूठे का क्या हाल है और वह कब तक ठीक होकर मैदान में जांबाज प्रदर्शन करते नजर आएंगे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बल्लेबाजी करते हुए धवन के अंगूठे में चोट लग गई ... खेल-संसार
मिलेगी पूरी मस्ती, जल्दी नहीं होगी थकान, शरीर रहेगा फिट, जानें ये खास टिप्स

मिलेगी पूरी मस्ती, जल्दी नहीं होगी थकान, शरीर रहेगा फिट, जानें ये खास टिप्स

Health
शरीर के लिए एक्सरसाइज जरूरी है, लेकिन रोज-रोज एक ही जैसे वर्कआउट से बोरियत महसूस होने लगती है। अगर फुल मस्ती के साथ रोजाना वर्कआउट कर बॉडी फिट रखना चाहते हैं तो बहुत सारे ऐसे विकल्प हैं, जिन्हें बदल-बदल कर आजमा सकते हैं- जुम्बा-90 के दशक में कोलंबियन फिटनेस एक्सपर्ट द्वारा शुरू किया गया यह वर्कआउट भारत में भी लोकप्रिय है। लैटिन म्यूजिक के साथ इसमें तरह-तरह के डांस फॉम्र्स जैसे सालसा, बेली डांसिंग, सोका, रिगेटन आदि शामिल हैं। जुम्बा कई प्रकार का होता है। जिसमें बच्चों के लिए जुम्बा किड्स और बुजुर्गों के लिए जुम्बा गोल्ड शामिल हैं। पिलेट्स-कमजोर घुटनों और पीठ के लिए यह बेहतरीन वर्कआउट है जिसे चटाई पर लेटकर म्यूजिक के साथ किया जाता है। इससे शरीर मजबूत और लचीला बनता है। इसे एक जर्मन फिटनेस एक्सपर्ट ने शुरू किया था और 2005 में यह पूरी दुनिया में लोकप्रिय हो गया। बीते कुछ सालों से पिलेट्स सेलिब्
शहजाद ने कहा- मैं पूरी तरह फिट, अफगानिस्तान बोर्ड में कुछ लोग मेरे खिलाफ साजिश कर रहे

शहजाद ने कहा- मैं पूरी तरह फिट, अफगानिस्तान बोर्ड में कुछ लोग मेरे खिलाफ साजिश कर रहे

Indian Sports
नई दिल्ली. अफगानिस्तान के विकेटकपीर मोहम्मद शहजाद चोट के कारण वर्ल्ड कप से बाहर हो गए थे। चोट के कारण आठ जून को वे न्यूजीलैंड के खिलाफ नहीं खेल सके थे। अब शहजाद ने कहा कि वे खेलने के लिए पूरी तरह फिट हैं। अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड (एसीबी) में शामिल कुछ लोगों ने उनके साथ साजिश करके टीम से बाहर कर दिया। शहजाद के बाएं घुटने में पाकिस्तान के खिलाफ वॉर्म अप मैच के दौरान ही चोट लग गई थी। इसके बाद फिट होकर वे ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के खिलाफ वर्ल्ड कप के मुकाबले में उतरे थे।32 साल के शहजाद ने काबुल में न्यूज एजेंसी से बात करते हुए शहजाद ने कहा, ‘मुझे अब भी नहीं पता कि जब मैं खेलने के लिए फिट हूं तो अनफिट क्यों घोषित कर दिया गया? बोर्ड में कोई मेरे खिलाफ कुछ लोग साजिश कर रहे हैं। सिर्फ मैनेजर, चिकित्सक और कप्तान को पता था कि मुझे टीम से बाहर किया जा रहा है। यहां तक कि कोच (फिल
25 मिनट की एक्सरसाइज पूरे शरीर को रखेगी फिट

25 मिनट की एक्सरसाइज पूरे शरीर को रखेगी फिट

Health
योग का कैप्सूल कही जाने वाली सूक्ष्म योगिक क्रियाएं बॉडी फिट रखने के साथ आंतरिक कोशिकाओं को मजबूत बनाती हैं। 25 मिनट की ये क्रियाएं योगाभ्यास से पहले शरीर को वार्मअप करती हैं। हाथों का व्यायाम - हाथों को सीधा रखकर अंगुलियों में खिंचाव देते हुए मुट्ठी को 10 बार खोलते व बंद करते हैं।हथेलियों को सामने की ओर ऊपर-नीचे करना।हाथों को सीधा कर हथेलियों की मुट्ठी बनाकर 10 बार दाएं-बाएं व गोल घुमाना।हाथों को कंधों पर रखकर कंधों को आगे-पीछे घुमाना और कोहनी की तरफ से हाथ को गोल घुमाना। स्थिर दौड़: दो मिनट के लिए एक ही स्थान पर दौड़ना। गति बढ़ाकर घुटनों को सीने की ओर उठाकर पंजों को नितंबों से लगाते हैं। पंजों को दाएं-बाएं कर गति को धीरे-धीरे कम करते हैं।मुख धौति: घुटनों पर हाथ रखकर झुकते हुए 3-4 बार तेज सांस (कार्बन डाई ऑक्साइड) लेने व छोड़ने की क्रिया करना।समपादासन: मुख धौति के बाद इस स्थिति में खड़े ह
बॉडी को फिट व लचीला बनाता जिम्नास्टिक्स

बॉडी को फिट व लचीला बनाता जिम्नास्टिक्स

Health
खुद को कैसे इस खेल के लिए तैयार करेंरियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय महिला दीपा करमाकर ने जिम्नास्ट कैटेगरी में इतिहास रचा है। 'फ्लैट फीट' की दिक्कत होने के बावजूद रोजाना कई घंटों की लगातार मेहनत से दीपा ने यह मुकाम हासिल किया है। जानिए खुद को कैसे इस खेल के लिए तैयार करें।तीन लेवल जो बनाएंगे परफेक्ट जिम्नास्ट1 बिगनरइस स्तर पर 8 साल की उम्र से ही तैयारी शुरू की जाती है। वॉर्मअप से शुरुआत कर एक्सरसाइज में रोलिंग, जंपिंग, बैलेंसिंग को शामिल किया जाता है।समय : छह माह तक रोजाना तीन घंटे ये व्यायाम जरूरी हैं। इस समयावधि का घटना-बढऩा खिलाड़ी की इच्छाशक्ति पर निर्भर करता है।बदलाव : शरीर में लचीलापन आने से अगले स्तर के लिए खिलाड़ी फिट हो जाता है।2 एडवांससमय: 4 साल।बदलाव : जिम्नास्ट के लिए शरीर तैयार।इस लेवल पर महिला को 4 और पुरुष को 6 तरह के व्यायाम कराए जाते हैं। दोनों वर्ग में
मेडिकल कॉलेज में स्टूडेंट्स फिजिकली फिट रहें इसलिए ‘पीडोमीटर सॉफ्टवेयर’ से मूल्यांकन और मॉनिटरिंग होगी

मेडिकल कॉलेज में स्टूडेंट्स फिजिकली फिट रहें इसलिए ‘पीडोमीटर सॉफ्टवेयर’ से मूल्यांकन और मॉनिटरिंग होगी

Rajasthan
जयपुर (सुरेन्द्र स्वामी).नींद नहीं आना, बैचेनी, थकान व तनाव से छुटकारा दिलवाने के लिए मेडिकल स्टूडेंटों को फिजिकली फिट रहने के लिए सॉफ्टवेयर के जरिए मूल्यांकन व मॉनिटरिंग होगी। साथ ही योगा भी कराया जाएगा। एसएमएस समेत अजमेर, जोधपुर, उदयपुर, बीकानेर, कोटा, आरयूएचएस कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंसेज जयपुर व झालावाड़ में इसी सत्र से एमबीबीएस में प्रवेश लेने वाले स्टूडेंटों को सॉफ्टवेयर अपलोड करना पड़ेगा।इसमें राज-मेस के तहत संचालित मेडिकल कॉलेज डूंगरपुर, पाली, भरतपुर, भीलवाड़ा , चूरू व बाड़मेर भी शामिल है। मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के नए नियमों के अनुसार फिजिकली फिट रहने के लिए राजस्थान पहला राज्य है, जहां ‘पीडोमीटर सॉफ्टवेयर’ के जरिए मूल्यांकन करेगा।ये है 32 पैरामीटर :सरकारी मेडिकल कॉलेज के 2 हजार स्टूडेंटों को दौड़ना, तैरना, वेट लिफ्टिंग, साईकिल चलाना, घूमना, ई-बाइक राइड, योगा, रॉक क्लाइ

ICC World Cup 2019 : भारत के खिलाफ मैच से पहले अमला के फिट होने की उम्मीद

Indian Sports
साउथेम्पटन। विश्व कप में लगातार 2 मैच हारकर संकट में पड़ चुके दक्षिण अफ्रीका को अनुभवी सलामी बल्लेबाज हाशिम अमला के 5 जून को भारत के साथ होने वाले मुकाबले से पहले फिट हो जाने की उम्मीद है। खेल-संसार

Cricket World Cup 2019 : हाशिम अमला के भारत के खिलाफ मैच के लिए फिट होने की उम्मीद

Indian Sports
लंदन। दक्षिण अफ्रीका के अनुभवी सलामी बल्लेबाज हाशिम अमला के भारत के खिलाफ साउथेम्पटन में होने वाले टीम के तीसरे मैच तक पूरी तरह से फिट होने की उम्मीद है जिन्हें विश्व कप के शुरुआती मैच में हेलमेट की ग्रिल पर गेंद लग गई थी। खेल-संसार
रोगों से दूर कर शरीर को फिट रखती है स्वीमिंग

रोगों से दूर कर शरीर को फिट रखती है स्वीमिंग

Health
स्वीमिंग एक थैरेपी की तरह काम करती है। तैराकी से शरीर पर जमी चर्बी कम होने लगती है और व्यक्ति कहीं ज्यादा ऊर्जावान महसूस करता है। आइये जानते हैं स्वीमिंग के बारे में। फायदे -मांसपेशियों की मजबूती -रेगुलर स्वीमिंग करने से अन्य व्यायाम की जरूरत नहीं पड़ती। इससे मांसपेशियां मजबूत होती हैं। जिमिंग के मुकाबले तैराकी में 10 गुना अधिक मेहनत करनी पड़ती है। इससे मांसपेशियों में खिंचाव होने से शरीर के जोड़ भी मजबूत होते हैं। दिल रहता दुरुस्त-स्वीमिंग से पूरी बॉडी का मूवमेंट होता है जिससे रक्तसंचार बेहतर होता है। ऐसे में हृदय का काम भी सुचारू होने से यह अंग सेहतमंद रहता है। हृदय व दिमाग से जुड़े रोगों की आशंका काफी हद तक कम होने से तनाव भी कम होता है। वजन पर नियंत्रण -यह शरीर की एक्सट्रा कैलोरी बर्न करने में मदद करती है। इससे व्यक्ति को डिहाइड्रेशन का सामना नहीं करना पड़ता और बॉडी शेप में रहती है। शर

World Cup 2019: टीम इंडिया के लिए बड़ी खुशखबरी, विजय शंकर और ये खिलाड़ी हुआ फिट

Indian Sports
World Cup 2019 बांग्लादेश के खिलाफ आज खेले जाने वाले वार्मअप मैच से पहले टीम इंडिया के लिए बड़ी खुशखबरी आई है। विजय शंकर और केदार जाधव फिट हो गए हैं। Jagran Hindi News - cricket:headlines