News That Matters

Tag: फ्लू

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को स्वाइन फ्लू, एम्स में भर्ती

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को स्वाइन फ्लू, एम्स में भर्ती

Delhi
नई दिल्ली| भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को स्वाइन फ्लू की पुष्टि होने के बाद एम्स में भर्ती कराया गया है। स्वाइन फ्लू होने की जानकारी शाह ने ट्वीट करके भी दी है। सीने में दर्द और फीवर के बाद उन्हें एम्स लाया गया। एम्स निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया के नेतृत्व में डॉक्टर्स की टीम इलाज में जुटी है। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
कांग्रेस सांसद ने कहा- अमित शाह राज्य की तरफ न देखें वरना स्वाइन फ्लू से बुरी बीमारी होगी

कांग्रेस सांसद ने कहा- अमित शाह राज्य की तरफ न देखें वरना स्वाइन फ्लू से बुरी बीमारी होगी

India
बेंगलुरु. कर्नाटक से कांग्रेस के सांसद बीके हरिप्रसाद ने भाजपा अध्यक्ष पर विवादित बयान दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हरिप्रसाद ने कहा कि अमित शाह को सुअर का बुखार हुआ है। वह राज्य की तरफ न देखें वरना उन्हें इससे बुरी बीमारी होगी। इससे पहले उन्होंने विधायकों के टूटने की खबर को झुठलाते हुए कहा था कि कर्नाटक सरकार काफी मजबूत है और भाजपा सिर्फ राफेल डील से ध्यान भटकाना चाहती है। हालांकि, वे इसमें सफल नहीं होंगे।शाह कोसीने में दर्द और सांस लेने में तकलीफथीशाहकोरात करीब नौबजे सीने में दर्द और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत थी। फिरउन्हें अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती कराया गया है।केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा, बिहार से लोकसभा सांसद रामकृपाल यादव ने शाह के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है।कांग्रेस का बेंदलुरु में प्रदर्श
स्वाइन फ्लू बेकाबू : पिछले 9 साल का रिकार्ड ,जयपुर में हर तीसरे दिन एक मौत

स्वाइन फ्लू बेकाबू : पिछले 9 साल का रिकार्ड ,जयपुर में हर तीसरे दिन एक मौत

Rajasthan
जयपुर। एक तरफ स्वाइन फ्लू बेकाबू होने के साथ ही लोगों की जिन्दगी पर भारी पड़ रहा है, वहीं दूसरी तरफ चिकित्सा विभाग मौत के आंकड़ों को छिपाने में लगा है। जयपुर में पिछले 15 दिन में 5 लोग मौत के मुंह में जा चुके है। यानी हर तीसरे दिन एक मौत हो रही है। विभाग 15 जनवरी तक जयपुर में स्वाइन फ्लू से दो ही मौत बताता रहा है जबकि पांच मौत हो चुकी है। इसी से साफ नजर आ रहा है कि बीमारी रोकने में विभाग कितना सचेत है।विभाग की ओर से वेबसाइट पर 16 जनवरी को जारी रिपोर्ट में 4 लोगों की मौत बताई जा रही है। 75 पॉजिटिव और एक मौत का मामला सामने आया है। इनमें जयपुर में 29, बाड़मेर में 8, जोधपुर में 7, कोटा, उदयपुर व नागौर में तीन-तीन, अजमेर में दो तथा श्रीगंगानगर, जैसलमेर, प्रतापगढ़ व पाली में एक -एक पॉजिटिव मिला है। प्रदेश में नए साल में अब तक 990 पॉजिटिव मिल चुके है। इनमें से 40 मौत हो चुकी है।
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को हुआ स्वाइन फ्लू

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को हुआ स्वाइन फ्लू

Rajasthan
नयी दिल्ली। स्वाइन फ्लू एक संक्रामक बीमारी है अगर इस बीमारी का वक्त रहते इलाज नहीं करा जाये तो यह बीमारी जानलेवा भी हो सकती है। यह बीमारी सर्दियों में ज्यादा होती है क्योंकी स्वाइन फ्लू का बायरस सर्दियों में ज्यादा फैलता है। यह बीमारी बहुत ही खतरनाक है इसकी चपेट में ज्यादातर छोटे बच्चे, बुजुर्ग आते है। लेकिन अब आपको बता दें की इस बीमारी की चपेट में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह आ गये है इसलिए उनका इलाज एम्स मे चल रहा है। आपको बता दें की इस बात की जानकारी अमित शाह ने खुद दी है। अमित शाह ने ट्विटर पर इसकी जानकारी देते हुए कहा की, '' मुझे स्वाइन फ्लू हुआ है, जिसका उपचार चल रहा है। ईश्वर की कृपा, आप सभी के प्रेम और शुभकामनाओं से शीघ्र ही स्वस्थ हो जाऊंगा। मिली जानकारी के अनुसार एम्स के सूत्रों के मुताबिक, भाजपा पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को सीने मे
जेटली को कैंसर, दावा- अंतरिम बजट पेश नहीं कर सकेंगे; शाह को हुआ स्वाइन फ्लू

जेटली को कैंसर, दावा- अंतरिम बजट पेश नहीं कर सकेंगे; शाह को हुआ स्वाइन फ्लू

India
नई दिल्ली. केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को सॉफ्ट टिश्यू सरकोमा नाम का एक दुर्लभ किस्म का कैंसर होने का पता चला है।वे इलाज के लिए अमेरिका गए हैं।जेटली को ऐसे समय में इलाज के लिए जाना पड़ा है, जब वित्त मंत्रालय में अंतरिम बजट की तैयारियां जोरों पर हैं। यह मोदी सरकार के कार्यकाल का अंतिम बजट है। एक सूत्र ने बुधवार को बताया कि जेटली संभवत: 1 फरवरी को अंतरिम बजट पेश नहीं कर पाएंगे। 31 जनवरी से बजट सत्र शुरू हो रहा है। उधर,भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को स्वाइन फ्लू होने के कारण बुधवार को दिल्ली एम्स में भर्ती कराया गया। शाह ने यह जानकारी ट्वीट करके दी।66 साल के जेटली का पिछले साल 14 मई को एम्स में गुर्दा प्रत्यारोपण हुआ था। रविवार को उनके अमेरिका रवाना होते वक्त माना गया था कि वह गुर्दे की बीमारी से जुड़ी जांच के लिए ही गए हैं। उनकी वापसी की तारीख को लेकर अभी कोई जानकारी साफ नही
जानिए क्या है स्वाइन फ्लू और क्या है इसके लक्षण

जानिए क्या है स्वाइन फ्लू और क्या है इसके लक्षण

India
स्वाइन फ्लू एक ऐसी संक्रामक बीमारी है जिसकी अनदेखी करने पर उसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं। पिछले साल इसके कई मामले देशभर में आए थे। डॉक्टर नवल विक्रम का कहना है कि मुताबिक स्वाइन फ्लू का इलाज न होने... Live Hindustan Rss feed
निजी अस्पताल में स्वाइन फ्लू से एक और महिला रोगी की मौत

निजी अस्पताल में स्वाइन फ्लू से एक और महिला रोगी की मौत

Haryana
शहर के निजी अस्पताल में उपचाराधीन स्वाइन फ्लू पॉजिटिव एक और मरीज ने दम तोड़ दिया। उसके स्वैब सैंपल की जांच रिपोर्ट मंगलवार को आई है। निजी अस्पताल के संचालक ने बताया कि महिला 10 जनवरी को अस्पताल में दाखिल हुई थी। डॉक्टरों ने उसका स्वैब सैंपल जांच के लिए लैब में भिजवा दिया था। गत दिवस उपचार के दौरान उसकी मृत्यु हो गई। मंगलवार देर शाम को उसकी रिपोर्ट प्राप्त हुई है, जिसमें स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई है। डॉक्टर के अनुसार महिला फतेहाबाद जिले की थी। बता दें कि स्वास्थ्य विभाग ने पहले खुद रोग व रोगियों संबंधित सूचनाएं साझा करने से इनकार कर दिया और अब प्राइवेट प्रैक्टिशनर्स को सूचनाएं साझा करने से रोक दिया है। एेसे में प्राइवेट प्रैक्टिशनर्स भी कुछ बताने से बच रहे हैं। फिलहाल स्वाइन फ्लू पॉजिटिव महिला की मौत होने की जानकारी स्वास्थ्य विभाग को दी है, इसके बाद मृतका के परिजनों को
कबीर कॉलोनी में मिला स्वाइन फ्लू पॉजीटिव पीजीआई में आए 61 मरीजों में मिले लक्षण

कबीर कॉलोनी में मिला स्वाइन फ्लू पॉजीटिव पीजीआई में आए 61 मरीजों में मिले लक्षण

Haryana
स्वाइन फ्लू थमने का नाम नहीं ले रहा है। अभी तक पीजीआईएमएस में इसके 119 मरीज पहुंच चुके हैं। इनमें से 61 मरीजों में स्वाइन फ्लू के लक्षण पाए गए हैं। ठंड के कारण इसके मरीजों में लगातार इजाफा हो रहा है। अभी तक शहर में 5 मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। इसमें चार सुभाष नगर के एक ही घर से हैं तो एक कबीर कॉलोनी से है। इनकी पुष्टि होने के बाद अब स्वास्थ्य विभाग ने लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए भी प्रयास शुरू कर दिए हैं। चूंकि स्वाइन फ्लू के लक्षणों का पता लगाने में लोग देरी बरत रहे हैं और समस्याएं शुरू होने के बाद ही इलाज के लिए पहुंच रहे हैं। इससे हालत बिगड़ने पर इलाज में भी दिक्कत आ रही है। ऐसे में मरीजों के समय से इलाज करवाने के चलते हालात ज्यादा बिगड़ रहे हैं। पीजीआईएमएस में शनिवार को पांच मरीजों को वेंटिलेटर पर रखा गया है। इसके अलावा आईसीयू में भी स्वाइन फ्लू के ही मरीजों
नाक, गले के कुछ जीवाणुओं से फ्लू होने की संभावना बेहद कम

नाक, गले के कुछ जीवाणुओं से फ्लू होने की संभावना बेहद कम

Health
अमेरिकी शोधकतार्ओं ने नाक व गले के जीवाणुओं के एक ऐसे समूह की पहचान की है, जो अपने पोषक (होस्ट) में फ्लू (संक्रामक जुकाम) होने की संभावना को कम करता है। मिशिगन विश्वविद्यालय के शोधकतार्ओं ने नाक व... Live Hindustan Rss feed
जानिए कैसे फैलता है आई फ्लू, कितने तरह का होता है ये, कैसे करें इससे बचाव

जानिए कैसे फैलता है आई फ्लू, कितने तरह का होता है ये, कैसे करें इससे बचाव

Health
संक्रमण और आंखों में ड्राइनेस की वजह से आंखों में कंजक्टिवाइटिस का डर रहता है। आई फ्लू पीड़ित की आंखों में देखने से नहीं संक्रमित हाथों से आंख को छूने से फैलता है। आइये जानते हैं आई फ्लू से जुड़ी कुछ खास बातों के बारे में... एलर्जी कंजक्टिवाइटिस - धूल व धूएं, फूलों के परागकण, कार्बन के कण और कई बार कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल से यह रोग होता है।लक्षण : आंखों में लालिमा, खुजली, जलन, भारीपन और पलकों में सूजन होने लगती है।इलाज : सामान्य एलर्जी है तो लुब्रिकेटिंग आई ड्रॉप और एंटी एलर्जिक (सॉफ्ट स्टेरॉइड) आई ड्रॉप डालने से 2-3 दिन और गंभीर है तो एक हफ्ते में आराम मिल पाता है। बैक्टीरियल कंजक्टिवाइटिस - बैक्टीरियल कंजक्टिवाइटिस को बैक्टीरियल आई फ्लू भी कहा जाता है जो कि पहली बरसात के समय स्टेफायलोकोकस, न्यूमोकोकस, हीमोफिलस इन्फ्लूएन्जा आदि जीवाणुओं के संक्रमण से होता है।लक्षण : आंखों में लाल