News That Matters

Tag: बना

पैरोल से फरार हत्या का दोषी 14 साल बाद गिरफ्तार, पंजाब के मोगा में बना बैठा था मंदिर का पुजारी

पैरोल से फरार हत्या का दोषी 14 साल बाद गिरफ्तार, पंजाब के मोगा में बना बैठा था मंदिर का पुजारी

Haryana
जींद। जींद पुलिस ने रविवार को उम्रकैद के एक दोषी को गिरफ्तार किया है, जो 14 साल पहले पैरोल पर आया था और फिर वापिस नहीं लौटा। पकड़ा गया अपराधी हत्या के मामले में दोषी था, वह पंजाब के मोगा में एक मंदिर में पुजारी बनकर छिपा बैठा था। उसे नरवाना की अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।उचाना थाना प्रभारी राजकुमार ने बताया कि 26 नवंबर 2002 को सतपाल व उसके अन्य 9 साथियों राजेन्द्र, राजा, अमृत, शिवनारायण, रणधीर, विजय, मनोज, लखमी, राजेन्द्र ने पुरानी पारिवारिक रंजिश के कारण गांव के ही लक्ष्मण की गोली मारकर हत्या कर दी थी ।जिसकी शिकायत राजमल ने पुलिस को दी। अदालत ने 2004 में सभी आरोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाई । वहीं सतपाल उर्फ पाला को भी उम्रकैद हुई । 5 नवंबर 2004 को पाला 6 सप्ताह के लिए पेरोल पर जेल से बाहर आया था । 18 दिसंबर 2004 को मुजरिम पाल
कैंब्रिज का रूपल बना जालंधर लॉन टेनिस टीम का कैप्टन

कैंब्रिज का रूपल बना जालंधर लॉन टेनिस टीम का कैप्टन

Punjab
कैंब्रिज इंटरनेशनल में 12वीं क्लास का स्टूडेंट रूपल शर्मा लगातार तीसरी बार स्टेट लॉन टेनिस चैंपियनशिप में जालंधर का प्रतिनिधित्व करेगा। शनिवार को मॉयर वर्ल्ड स्कूल में अंडर-19 स्टेट टीम के ट्रायल हुए जिसमें जिले भर से लॉन टेनिस के खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया। इन ट्रायल में रूपल शर्मा ने पहला स्थान हासिल किया। इससे पहले भी रूपल डिस्ट्रिक्ट स्कूल गेम्स में सिल्वर हासिल कर चुका है। रूपल की मदर हरप्रीत कौर सरकारी प्राइमरी स्कूल आदर्श नगर में अध्यापिका और फादर विक्रम शर्मा विक्की खुद का बिजनेस करते हैं। रूपल शर्मा ने पिछले साल भी स्टेट चैंपियनशिप में गोल्ड हासिल किया था। रूपल ने अपनी इस जीत का श्रेय अपने फिटनेस कोच सर्बजीत सिंह हैप्पी, टेनिस कोच मनदीप सिंह सन्नी व रोहित वर्मा को दिया। इस मौके पर कैंब्रिज स्कूल की प्रिंसिपल किरनजोत कौर, एएस सिकंद, एचओडी स्पोर्ट्स अनुराग भारद्व
जीका से जंग: जीका वायरस पांच साल में ऐसे बना पिद्दी से पहलवान

जीका से जंग: जीका वायरस पांच साल में ऐसे बना पिद्दी से पहलवान

Health
  दो साल पहले लगभग 2016 में जब जीका वायरस के संक्रमण ने विदेशों में दस्तक दी थी तो उस समय कुछ गर्भवती महिलाओं के शिशुओं में जन्म के साथ ही कुछ विकार देखे गए थे। वैज्ञानिक हैरान थे और उन्होंने आने वाले खतरे की थाह लेना शुरू कर दिया था। करीब पचास साल से शांत बैठे किसी वायरस ने कैसे खतरनाक रूप ले लिया? दुनियाभर के वैज्ञानिकों के मन में यही सवाल खटक रहा था। अफ्रीकी देशों से दक्षिण अमरीका के हिस्सों और ब्राजील से भारत तक आखिर ये कैसे फैला? आखिरकार चीन के वैज्ञानिकों ने इस गुत्थी को सुलझाया। वर्ष 2017 में साइंस जर्नल में प्रकाशित इस रिसर्च में चीनी वैज्ञानिकों ने माना था कि जीका वायरस की जीन संरचना में कुछ इस तरह के बदलाव हुए जिनकी वजह से उसने खतरनाक रूप ले लिया। एक साल तक हुई रिसर्च में ये पता चला जीका वायरस के एमिनो एसिड के एकल अणु में वर्ष 2013 केे दौरान कुछ संरचनात्मक परिवर्तन हुए और इस
सीमाओं की रखवाली के लिए 14 हजार गांवों को बना रहे हैं स्मार्ट

सीमाओं की रखवाली के लिए 14 हजार गांवों को बना रहे हैं स्मार्ट

Delhi
देश में बन रहीं 100 स्मार्ट सिटीज़ की चर्चा खूब रहती है। लेकिन अब अंतरराष्ट्रीय सीमा को चाक चौबंद करने के लिए करीब 14 हजार गांवों को स्मार्ट बनाने का काम शुरू हो गया है। इस योजना के तहत पूरे देश में जहां भी अंतरराष्ट्रीय सीमा है, उसके दस किलोमीटर के दायरे में पड़ने वाले गांवों की तस्वीर बदली जा रही है। गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि योजना का मकसद यह सुनिश्चित करना है कि सीमा का कोई भी गांव ऐसा न रहे जहां रोड, कनेक्टिविटी, बिजली-पानी आदि की कोई परेशानी हो। शेष | पेज 9 पर Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
सीमाओं की रखवाली के लिए 14 हजार गांवों को बना रहे हैं स्मार्ट

सीमाओं की रखवाली के लिए 14 हजार गांवों को बना रहे हैं स्मार्ट

Delhi
मुकेश कौशिक, नई दिल्ली.देश में बन रहीं 100 स्मार्ट सिटीज़ की चर्चा खूब रहती है। लेकिन अब अंतरराष्ट्रीय सीमा को चाक चौबंद करने के लिए करीब 14 हजार गांवों को स्मार्ट बनाने का काम शुरू हो गया है। इस योजना के तहत पूरे देश में जहां भी अंतरराष्ट्रीय सीमा है, उसके दस किलोमीटर के दायरे में पड़ने वाले गांवों की तस्वीर बदली जा रही है।गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि योजना का मकसद यह सुनिश्चित करना है कि सीमा का कोई भी गांव ऐसा न रहे जहां रोड, कनेक्टिविटी, बिजली-पानी आदि की कोई परेशानी हो।यह सब इसलिए किया जा रहा है ताकि यहां से पलायन रुके। अक्सर बुनियादी सुविधाओं के अभाव में लोगों के शहरों की ओर चले जाने से सीमावर्ती इलाके खाली हो रहे हैं जिसकी वजह से सुरक्षा बलों के लिए रहने वाला सपोर्ट सिस्टम खत्म हो रहा है।इस परियोजना के लिए अभी तक केंद्र की ओर से जारी किए गए 126 करोड़ रु
पंचकूला में आज खड़ा हो जाएगा 30 लाख रुपए से बना 210 फीट ऊंचा रावण

पंचकूला में आज खड़ा हो जाएगा 30 लाख रुपए से बना 210 फीट ऊंचा रावण

Haryana
पानीपत.पंचकूला के सेक्टर-5 में शालीमार के पास हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) का 12 एकड़ का खाली ग्राउंड है। यहीं पर दशहरा उत्सव की तैयारी चल रही है। यहां पर 13 अक्टूबर को 210 फीट ऊंचा रावण का पुतला खड़ा कर दिया जाएगा। यह लगभग तैयार है।रामलीला क्लब बराड़ा अंबाला के अध्यक्ष राणा तेजिंद्र सिंह चौहान ने बताया कि रावण के पुतले पर 30 लाख खर्च अाएगा।50 फुटका रावण का मुकुट48 फुटकी मूंछे होंगी दोनों तरफ10 फुटका एक कान, इसमें 4 फुट का कुंडल50 फुटकी तलवार होगी हाथ में Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today फोटो: अशोक कुमार Dainik Bhaskar
दशहरे की तैयारी: आज खड़ा होगा 30 लाख रु. से बना 21 मंजिला ऊंचा रावण का पुतला, दोनों ओर होंगी 48 फुट की मूंछें

दशहरे की तैयारी: आज खड़ा होगा 30 लाख रु. से बना 21 मंजिला ऊंचा रावण का पुतला, दोनों ओर होंगी 48 फुट की मूंछें

Haryana
पानीपत. पंचकूला के सेक्टर-5 में शालीमार के पास हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) का 12 एकड़ का खाली ग्राउंड है। यहीं पर दशहरा उत्सव की तैयारी चल रही है। यहां पर 13 अक्टूबर को 210 फीट ऊंचा रावण का पुतला खड़ा कर दिया जाएगा। यह लगभग तैयार है। रामलीला क्लब बराड़ा अंबाला के अध्यक्ष राणा तेजिंद्र सिंह चौहान ने बताया कि रावण के पुतले पर 30 लाख खर्च आएगा।एक नजर में पुतला21 मंजिल तक होगी रावण के पुतले की हाइट10 फुट का मुकुट के ऊपर छत्र50 फुट का रावण का मुकुट48 फुट की मूंछे होंगी दोनों तरफ10 फुट का एक कान, इसमें 4 फुट का कुंडल50 फुट की तलवार होगी हाथ में Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today 210 Feet Ravana Made in Panchkula Dainik Bhaskar
शर्मनाक: शादी के बाद से ही कांस्टेबल पति ने नर्क बना दी जिंदगी, पत्नी बोली- सिर्फ इस वजह से लास्ट टाइम तक बर्दाश्त करती रही सबकुछ

शर्मनाक: शादी के बाद से ही कांस्टेबल पति ने नर्क बना दी जिंदगी, पत्नी बोली- सिर्फ इस वजह से लास्ट टाइम तक बर्दाश्त करती रही सबकुछ

Delhi
नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस में एक कांस्टेबल के खिलाफ अप्राकृतिक संबंध बनाने का केस दर्ज किया गया है। पीड़िता कोई और नहीं बल्कि आरोपी की पत्नी है। कोर्ट के आदेश पर यह मुकदमा मानसरोवर पार्क थाने में दर्ज हुआ है। इसी पुलिस थाने में आरोपी तैनात है।महिला बोली- पुलिसवाले नंही की कोईकार्रवाईपीड़ित महिला की तरफ से कहा गया- जब उसकी शिकायत पर कोई उचित कार्रवाई नहीं हुई तो उसे परेशान होकर कड़कड़डूमा कोर्ट जाना पड़ा। वहीं, दूसरी तरफ मामले में पुलिस का तर्क है कि इस दंपती के बीच विवाद चल रहा है, जिस कारण महिला की शिकायत को पेडिंग में डाला गया था।रिश्ते को बचाने के लिए केस दर्ज कराने में की देरीमहिला ने कहा- शादी के बाद से पति ने जिंदगी नर्क कर रखी थी। घर बचाने के लिए वह काफी समय तक पति की गंदी हरकत को बर्दाश्त करती रही। वह उसके साथ अप्राकृतिक रूप से शारीरिक संबंध बनाता था, जिस कारण उसे पीड़ा
डेढ़ करोड़ से 3.8 एकड़ में बना पार्क, 25 हजार लोगों को मिली सौगात

डेढ़ करोड़ से 3.8 एकड़ में बना पार्क, 25 हजार लोगों को मिली सौगात

Haryana
शहर के बीच सिटी एरिया में रहने वाले लोगों के लिए रेलवे की जमीन पर बड़ा पार्क अब जनता के लिए तैयार हो गया है। डेढ़ करोड़ लागत से सारंग रोड पर रेलवे लाइन के साथ साढ़े 3 एकड़ में बने पार्क का गुरुवार को शहरी निकाय मंत्री कविता जैन और सांसद रमेश कौशिक ने निगम व रेलवे अधिकारियों की मौजूदगी में उद‌्घाटन किया। पार्क में पौधरोपण हो चुका है। ओपन जिम व झूले भी लगाए जाएंगे। रेलवे यात्रियों ही नहीं शहर की नौ कॉलोनियों के लोगों के सुबह व शाम सैर सपाटे के लिए शानदार जगह तैयार हुई है। पार्क कि उद‌्घाटन अवसर पर उत्तर रेलवे डीआरएम आरएन सिंह, एडीआरएम धनखड़, नगर निगम कमिश्नर सुनीता वर्मा, भाजपा के मंडल अध्यक्ष नवीन मंगला, चरण सिंह जोगी, आजाद सिंह नेहरा, नगर निगम के एसई महीपाल सिंह, एक्सईएन बागवानी पीपी शर्मा, एक्सईएन राधेश्याम शर्मा, एक्सईएन फारूख खान, संजय सेहरा, सुनीता लोहचब, ईश्वर शर्मा,
हाई हील का टशन बना सकता है गठिया का रोगी, सर्दियों में बढ़ जाते हैं मामले

हाई हील का टशन बना सकता है गठिया का रोगी, सर्दियों में बढ़ जाते हैं मामले

India
हील वाले जूते लगातार पहनने से गठिया होने का खतरा बढ़ जाता है। एम्स के एक शोध में पता चला है कि ऊंची एड़ी की चप्पल या जूते पहनने वाली महिलाओं को गठिया का खतरा अधिक होता है। एम्स के रूमटालजी विभाग... Live Hindustan Rss feed