News That Matters

Tag: बांध

खोह में बनेगा बांध, बजट सत्र में घोषणा

खोह में बनेगा बांध, बजट सत्र में घोषणा

Rajasthan
भास्कर न्यूज | गुढ़ागौड़जी ग्रामीण खोह गांव में टांका के पास बांध का निर्माण होगा। खोह एवं आसपास के गांवों के ग्रामीण बांध बनाने की मांग दस वर्षों से करते आ रहे हैं। उदयपुरवाटी विधायक राजेन्द्र सिंह गुढ़ा ने मंगलवार को विधानसभा में बजट सत्र में बांध बनाने की मांग का मुद्दा उठाया था जिस पर गहलोत सरकार ने इस बांध के निर्माण के लिए दस करोड़ रुपए की मंजूरी दी है। गुढ़ा ने बताया की खोह बांध के लिए कांग्रेस के पिछले कार्यकाल में स्वीकृति हुई थी मगर सरकार बदलने के बाद भाजपा सरकार ने स्वीकृति निरस्त कर दी थी। अब सरकार ने स्वीकृति दे दी है। यहां बांध का निर्माण होने से मनसा माता की पहाड़ियों का पानी एकत्र हो सकेगा। इससे पहाड़ी क्षेत्र के खोह, मणकसास, कांकरिया, गुड़ा पौंख नेवरी, किशोरपुरा सहित काफी गांवों का जलस्तर बढ़ेगा। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Toda
तीन साल के बेटे को सीने से बांध नहर में कूदा पशु चिकित्सक, दोनों की मौत

तीन साल के बेटे को सीने से बांध नहर में कूदा पशु चिकित्सक, दोनों की मौत

Punjabi Politics
फाजिल्का.पंजाब के फाजिल्काजिले के सजराणा में वेटनरीडाॅक्टर को पत्नी ने इतना परेशान किया कि उसने अपने तीन साल के बेटे को छाती के साथ बांधकर गंग नहर में छलांग लगा आत्महत्या कर ली। पुलिस ने पत्नी सहित पांच लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है।मृतक की पहचानछिन्दर पाल (27) निवासी माछीराम लाहोरिया गांव के तौर पर हुई। मृतक के भाईरेशम सिंह ने बताया कि छिंदरपाल की शादी 5 वर्ष पूर्व राजपाल सिंह के साथ हुई थी। उनके 3 साल का लड़का व2 महीने की बेटी है।। पति-पत्नी का पिछले काफी समय से झगड़ा रहता था तथा उनकी कई बार पंचायतें भी हुईं, जिसके बाद वह वापिस घर आ जाते थे। मई माह में उसकी पत्नी फिर से छिंदरपाल के साथ झगड़ा कर मायके चली गई।महिला के परिजनोंद्वारा छिंदरपाल को लगातार धमकियां दी जा रही थीं कि वह उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराएंगे।इससे परेशान होकरछिन्दरपाल ने शुक्रवारदोपहर लगभग ढाई बजे अपने 3
पुरुष साथी को पेड़ से बांध 4 युवकों ने महिला से छेड़छाड़ की, ग्रामीणों ने बचाया

पुरुष साथी को पेड़ से बांध 4 युवकों ने महिला से छेड़छाड़ की, ग्रामीणों ने बचाया

Rajasthan
रैणी (अलवर).थानागाजी जैसी एक और घटना ग्रामीणों के समय पर पहुंच जाने से टल गई। रैणी थाना क्षेत्र के गांव रामनगर के पास सबडावली रोड पर चार जनों ने एक पुरुष को पेड़ से बांध दिया व उसके साथ जा रही महिला से छेड़छाड़ की। महिला का शोर सुन पहुंचे दो ग्रामीणों ने महिला को बचाया। पीड़िता की ओर से रैणी थाना में छेड़छाड़ का मामला दर्ज कराया है।थाना प्रभारी किशन लाल यादव ने बताया कि मंडावर (दौसा) थाना क्षेत्र के उकडून्द निवासी महिला शुक्रवार को रैणी के प्रागपुरा निवासी बबलेश मीणा के साथ बाइक से मजदूरी के रुपए लेने गुवाड़ा गई थी। वहां से लौटते वक्त रात करीब 8 बजे छींड के तिबारे पर बाइक खड़ी कर पानी पी रहे थे,तभी गुर्जर गुवाड़ा रामनगर निवासी विकास पुत्र छीतरमल गुर्जर, सुशील पुत्र रूगनाथ, रूपसिंह पुत्र लक्ष्मणसिंह गुर्जर व कैलाशचंद पुत्र नानगराम गुर्जर वहां आ गए। उक्त लोगों ने बबलेश को
महाराष्ट्र: बांध टूटने से 7 गांवाें में बाढ़, 23 लाेग बहे, 11 के शव मिले, एनडीआरएफ का रेस्क्यू शुरू

महाराष्ट्र: बांध टूटने से 7 गांवाें में बाढ़, 23 लाेग बहे, 11 के शव मिले, एनडीआरएफ का रेस्क्यू शुरू

Punjab
मुंबई |महाराष्ट्र के तटीय काेंकण इलाके र|ागिरि जिले के चिपलुन में स्थित तिवरे बांध का तटबंध मंगलवार रात काे अाेवरफ्लाे हाेने से टूट गया। इससे सात गांवाें में अचानक बाढ़ अा गई। इसमें 12 घर के साथ ही 23 लाेग बह गए। सूचना पर पहुंचे एनडीअारएफ जवानों अाैर पुलिस के जवानाें ने बचाव अभियान शुरू किया। बाढ़ में बहे 11 लाेगाें के शव मिल गए हैं। 14 साल पहले बनाए गए इस तिवरे बांध की क्षमता 20 लाख क्यूबिक मीटर पानी की है। पटरी पर लाैट रही जिंदगी, स्कूल-काॅलेज खुले मुंबई में पिछले दिनाें से हाे रही भारी बारिश बुधवार काे कुछ थम गई, जिससे लाेगाें काे थाेड़ी राहत मिली। बारिश थमने से हालात सामान्य हाेने लगे हैं। स्कूल-काॅलेज खुले अाैर अांशिक रूप से लाेकल ट्रेनें भी चली, लेकिन इनमें लाेगाें काे भारी भीड़ का सामना करना पड़ा। भीड़ काे देखते हुए बेस्ट ने 2950 से 2303 बसाें काे सड़काें पर चला
रत्नागिरी में तिवरे बांध टूटा: 3 की मौत, 23 लापता; मुंबई में तेज बारिश का अलर्ट

रत्नागिरी में तिवरे बांध टूटा: 3 की मौत, 23 लापता; मुंबई में तेज बारिश का अलर्ट

India
12 से ज्यादा गांवों को नुकसान, 7 गांव पूरी तरह से डूब गए मुंबई समेत महाराष्ट्र के कई इलाकों में आज भी तेज बारिश का अलर्टरत्नागिरी.महाराष्ट्र के मुंबई, पुणे, ठाणे, नासिक, रत्नागिरी समेत कई इलाकों में बुधवार को तेज बारिश हो रही है। रत्नागिरीजिलेमें पानी के ओवरफ्लो की वजह से देर रात तिवरे बांधटूटगया। इससे पास बसे 7 गांव डूब गए हैं।तीनलोगों की मौत हो गई और 23लापता बताए जा रहे हैं। स्थानीय प्रशासन का कहना है कि बांधके पास बने 12 घर पानी में बह गए।स्थानीय प्रशासन, पुलिस और वॉलंटियर्स के अलावा नेशनल डिजास्टररिस्पांसफोर्स (एनडीआरएफ) बचाव और राहत कार्य में जुटी है। इनका कहना है कि मरने वालों की तादाद बढ़ सकती है। तिवरे बांध साल 2000 में बना था। स्थानीय लोगों का दावा है कि उन्होंने दो साल पहले जिला प्रशासन को इसमें पानी रिसने की जानकारीदी थी, लेकिन कोई मरम्मत नहीं हुई।उधर, मौसम व
ताजेवाला-लाल टोपी बांध की मरम्मत शुरू, Rs.74 लाख होंगे खर्च

ताजेवाला-लाल टोपी बांध की मरम्मत शुरू, Rs.74 लाख होंगे खर्च

Haryana
यमुनानगर| नियमों को ताक पर रखकर रात-दिन किए गए अवैध खनन के कारण जर्जर हुए ताजेवाला-लाल टोपी (आरएलडीएसई) बांध की मरम्मत का काम बुधवार को सिंचाई विभाग ने शुरू करा दिया। अवैध खनन के चलते बरसात के सीजन में इस बांध के टूटने से दर्जन भर गांव में पानी भरने की आशंका जताई गई थी। इस काम पर करीब 74 लाख रुपए खर्च होंगे। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
अवैध खनन से डैमेज हुए ताजेवाला बांध की मरम्मत को 1.27 करोड़ के बजट पर सीएम मनोहर लाल नाराज

अवैध खनन से डैमेज हुए ताजेवाला बांध की मरम्मत को 1.27 करोड़ के बजट पर सीएम मनोहर लाल नाराज

Haryana
ताजेवाला लाल टोपी एरिया में सालों चले अवैध खनन से खोखले हुए बाढ़ बचाओ के लिए बनाए गए बांध को खतरा पैदा हो गया है। इसकी मरम्मत के िलए सिंचाई विभाग ने एक करोड़ 27 लाख की ग्रांट मांगी है। गुरुवार को प्रदेश के मुखिया मनोहर लाल चंडीगढ़ में वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के माध्यम से प्रदेशभर के डीसी से बाढ़ प्रबंधन एवं सूखे जैसी स्थिति से निपटने के लिए किए जाने वाले कार्यों एवं प्रबंधों बारे समीक्षा कर रहे थे तो ये मामला उठा। इस पर सीएम ने नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि खनन से इतना तो राजस्व नहीं आ रहा िजतना इससे नुकसान हो रहा है। अवैध खनन रोकने के लिए पहले से ही कड़े कदम उठाए जाने चाहिए थे। इतना नुकसान हो गया और किसी को पता नहीं चला। सीएम ने कहा कि उन्हें हिमाचल के स्पीकर ने भी शिकायत की है कि उनकी साइड भी अवैध खनन किया जा रहा है। इस पर तत्काल रोक लगानी है। इस पर डीसी आमना तस्नीम ने ब

ऑनलाइन शॉपिंग: ठगी से बचना है तो इन 5 बातों को गांठ बांध लें, नहीं होगी आपके साथ धोखाधड़ी

Indian Technology
ई-कॉमर्स वेबसाइट पर कर रहे हैं शॉपिंग, तो इन बातों का रखें ख्याल। वरना उड़ सकते हैं आपके अकाउंट के सारे पैसे। Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala
हाड़ौती के 23 गांवों की लाइफ लाइन माना जाने वाला बरधा बांध सूखा

हाड़ौती के 23 गांवों की लाइफ लाइन माना जाने वाला बरधा बांध सूखा

Rajasthan
कोटा। हाड़ौती के गोवा के नाम से प्रसिद्ध बरधा बांध अभी सूख चुका है। यहां पानी की जगह सूखा पैंदा नजर आ रहा है। जबकि बारिश में इस बांध में पानी से भरने के बाद चादर चलती है। उस समय हाड़ौती समेत प्रदेशभर से सैलानियों की पिकनिक के लिए भीड़ उमड़ती है। जबकि अभी यह पूरी तरह से खाली हो चुका है। इस बांध के पानी से क्षेत्र के 23 गांवों की 4257 हैक्टेयर जमीन सिंचित होती है। इसे इन 23 गांवों की लाइफ लाइन माना जाता है। बांध की भराव क्षमता 21.3 फीट है। इसमें 28.8 (एमसीएफटी) मिलियन क्यूबिक घन मीटर पानी का कुल भराव हाेता है।डेड स्टॉरेज है बरधा बांधपरियोजना खंड सिंचाई बूंदी के एक्सईएन हेमंत शर्मा ने बताया कि इस बांध से अक्टूबर से फरवरी तक सिंचाई के लिए नहरों में पानी छोड़ा जाता है। यह डेड स्टोरेज होने से पानी का इसमें पानी नहीं रहता है। पैंदे में चट्टानें भी हैं। उन्होंने बताया कि अब इनके
बकरियां चराने गए 3 भाई बांध में नहाने को उतरे, डूबने से मौत

बकरियां चराने गए 3 भाई बांध में नहाने को उतरे, डूबने से मौत

Rajasthan
बालेसर.बेलवा राणाजी गांव में चडायत नगर भीलों की ढाणियों में बकरियां चराने गए दो सगे भाइयों व एक चचेरे भाई की डूबने से मौत हो गई। दो बच्चे पांचवीं व एक चौथी कक्षा में पढ़ाई कर रहे थे।ग्रामीणों ने बताया कि भीलों की ढाणियों के 10 से 15 साल की उम्र के छह बच्चे बकरियां चराने के लिए अपनी ढाणियों से थोड़ी दूरी पर बने बंधे एरिया में गए थे। बकरियां चर रही थी, तब सभी बच्चे पेड़ के नीचे बैठे थे। इनमें से राजूराम (12) पुत्र भंवराराम, उसका भाई रूपाराम (10) पुत्र भंवराराम व उसके चाचा का लड़का सांगाराम (10) पुत्र पाबूराम भील बंधे में नहाने का कहकर चले गए। जहां चिकनी मिट्टी से पैर फिसलने से वहां पर बने गड्ढों में फंस गए। काफी समय बाद भी तीनों नहाकर नहीं लौटे तो बाहर बैठे तीन बच्चे बंधे की तरफ भागे। तब तक तीनों डूब गए थे। बच्चों ढाणी में जाकर बताया तब लोग पहुंचे, लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुक