News That Matters

Tag: बारिश”

तेज हवाओं और बारिश ने दी गर्मी से राहत

तेज हवाओं और बारिश ने दी गर्मी से राहत

Delhi
दिल्ली कैपिटल्स की टीम आईपीएल में आज के मैच के लिए बुधवार को फिरोजशाह कोटला मैदान में प्रैक्टिस कर रही थी। इसी दौरान बादल छा गए। बदले मौसम ने यहां का नजारा बेहद खूबसूरत कर दिया। भास्कर न्यूज | नई दिल्ली दिल्ली-एनसीआर में बुधवार को बिगड़ा मौसम गुरुवार को भी दिनभर उसी तरह बना रहा। तड़के बारिश हुई और दिनभर बादलों की आवाजाही के बीच शाम को हल्की बारिश के साथ द्वारका सहित एक-दो जगह ओले गिरने की सूचना है। दो दिन से तेज हवा और हल्की बारिश के बीच अधिकतम तापमान में गिरावट आई है। पूरे दिल्ली में अधिकतम तापमान 28-29 डिग्री और न्यूनतम 18-19 डिग्री के बीच दर्ज हुआ। मौसम विभाग के अनुसार 48 घंटे में दिन का तापमान 11 डिग्री नीचे गिरकर 29.5 डिग्री दर्ज किया गया जो सामान्य से 7 डिग्री नीचे है। बुधवार को बारिश एक मिमी हुई। मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार को हल्की बारिश हो सकती है। लेकिन तापमा

Heavy Rainfall in hyderabad: बारिश ने मचाया कोहराम, एक व्यक्ति की मौत, 10 घायल

India
Heavy Rainfall in hyderabad हैदराबाद में बारिश के कारण पेड़ गिरने से एक व्यक्ति की मौत हो गई है। राज्य सरकार ने मृतकों को परिवार को 5 लाख मुआवजा देने का एलान किया है। Jagran Hindi News - news:national
पहली ही बारिश से शहर की सड़कों पर पड़े गड्‌ढे, आज से फिर शुरू होगा पैचवर्क

पहली ही बारिश से शहर की सड़कों पर पड़े गड्‌ढे, आज से फिर शुरू होगा पैचवर्क

Punjab
शहर में जनवरी-फरवरी के बाद पिछले दो दिनों में भारी बारिश हुई, इस दौरान नगर निगम के लगाए गए पैचवर्क फिर से उखड़ गए हैं। अब सड़कों पर इस समय बड़े-बड़े गड्ढे देखे जा सकते हैं। हालांकि दैनिक भास्कर ने शहर में हो रहे पैचवर्क के बारे में असलियत बता दी थी कि जिस प्रकार से जल्दबाजी में ये पैचवर्क मोटी क्रेशर के साथ लगाए जा रहे हैं, वो एक ही भारी बारिश को भी नहीं झेल पाएंगे। वीरवार को बीआरएस नगर, लोधी क्लब रोड, राजगुरु नगर रोड समेत कई मुख्य सड़कों को देखा, जहां पर फिर गड्ढे बने हुए थे। ऐसे में नगर निगम ने भी मौसम खराब होने के चलते मंगलवार को सिर्फ दो घंटे हॉटमिक्स प्लांट चलाकर बंद कर दिया था। इसी अब शुक्रवार को चलाने की बात की जा रही है। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
घिराय, उकलाना, बालसमंद और सिवानी की मंडियों में अनाज की ढेरियां भीगी, बारिश से बचाव के लिए घिराय मंडी में न शेड और न ही तिरपाल

घिराय, उकलाना, बालसमंद और सिवानी की मंडियों में अनाज की ढेरियां भीगी, बारिश से बचाव के लिए घिराय मंडी में न शेड और न ही तिरपाल

Haryana
उकलाना की अनाज मंडी में जगह के अभाव में खुले में पड़ा किसानों का गेहंू। बुधवार को हुई बेमोसमी बारिश ने प्रशासन की पोल खोल दी। दोपहर बाद अनाज मंडी में किसानों की खुली पड़ी गेहूं की काफी ढेरियां भीग गईं। किसानों का कहना था कि धीमी गति से हो रही गेहूं की खरीद के कारण अधिकतर किसानों का गेहूं खुले में पड़ा है। बुधवार को आई बारिश से कई किसानों की खुली पड़ी गेहूं भीग गई। किसानों का कहना था कि अब भीगे हुए गेहूं को सुखाने के लिए उन्हें चार-पांच दिन तक सूखने का इंतजार करना पड़ेगा। किसानों ने बताया कि अगर प्रशासन की ओर से प्रयुक्त संसाधन होते तो उन्हें गेहूं सुखाने की मशक्कत नहीं करनी पड़ती और वे समय पर अपना अनाज बेच देते। सुलखनी. बारिश अाैर अंधड़ के कारण खेताें में पकने काे तैयार गेहूं की फसल काे भी नुकसान हुअा है। तेज हवाअाें में गेहूं की फसल बिछ गई है। सुलखनी. बारिश अाैर अंधड़
बारिश और तूफान की वजह से 4 राज्याें में 50 से ज्यादा माैतें

बारिश और तूफान की वजह से 4 राज्याें में 50 से ज्यादा माैतें

Delhi
दिल्ली|ओलों ने बदला मौसम का मिजाज, तापमान तेजी से गिरा नई दिल्ली| राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, पंजाब और हरियाणा में मंगलवार शाम से बुधवार शाम तक आंधी-तूफान, ओलावृष्टि और धूल भरी चक्रवाती तूफान से हुए हादसाें में 50 से ज्यादा लोग मारे गए हैं। राजस्थान से सबसे ज्यादा 25 लाेगाें की माैत हुई। पश्चिमी विक्षाेभ से उत्तर भारत सहित देश के अधिकांश भागाें में तूफान के साथ बारिश हुई है अाैर अाेले गिरे। निजी माैसम एजेंसी स्काइमेट के अनुसार उत्तरी पाकिस्तान में एक पश्चिमी विक्षोभ बना है। इससे चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र पश्चिमी राजस्थान पर स्थित है। बुधवार को दिल्ली का मौसम खुशगवार बना रहा। दिल्ली में कई जगह बारिश हुई और कुछ जगहों पर ओले भी गिरे। इसकी वजह से तापमान में तेजी से गिरावट महसूस की गई। दिल्ली में अधिकतम तापमान 28-29 डिग्री और न्यूनतम तापमान 18-19 डिग्री के बी
फिरोजपुर जिले मेंं 10 एमएम हुई बारिश, फसलें बिछीं 1400 एकड़ गेहूं की फसल खराब होने का अनुमान

फिरोजपुर जिले मेंं 10 एमएम हुई बारिश, फसलें बिछीं 1400 एकड़ गेहूं की फसल खराब होने का अनुमान

Punjab
फिरोजपुर.जिले में हुई जोरदार बारिश से किसानों की फसल बिछने से नुकसान का सामना करना पड़ा। जिले में औसतन 10 एमएम बारिश हुई है। फिरोजपुर जिले में करीब 5 लाख एकड़ तो मुक्तसर में 5.30 लाख एकड़ मेंं गेहूं की फसल बोई गई है। किसानों के अनुसार तेज बारिश और आंंधी के कारण करीब 10 से 20 प्रतिशत तक फसल के उत्पादन में नुकसान होने का अनुमान है। किसान संगठनों ने खराब हुई फसलों के मुआवजे की मांग की है। मौसम विभाग के अनुसार एक-दो दिन औरबरसात आंधी की संभावनाएं हैं।शहर के नजदीकी गांव मधरे के किसान बलवीर सिंह उर्फ बावा ने कहा कि उन्होंने अपनी 35 एकड़ जमीन में गेहूं की फसल की बिजाई की थी जोकि तेज बारिश के कारण पूरी की पूरी जमीन पर बिछ गई है। किसान ने कहा कि उसकी 35 एकड़ में बिजाई की गई फसल में अब करीब 50 प्रतिशत का नुकसान हुआ है जिसके चलते उसे अब चिंता सताने लगी है। वहीं गांव गोखीवाला के किसान सत
बारिश से बिछी फसलें देख किसानों ने की रब्ब से अरदास

बारिश से बिछी फसलें देख किसानों ने की रब्ब से अरदास

Punjabi Politics
‘मुक गयी फसलां दी राखी, जट्टा आई बैसाखी..’ ये पंजाबी गीत बैसाखी के संबंध में बनाया गया था, क्योंकि इन दिनों गेहूं की फसल की कटाई किसानों द्वारा शुरू कर दी जाती है और यही समय उनकी मेहनत का मूल्य वापस आने का समय होता है। ये खुशी के लम्हे होतें हैं लेकिन इन दिनाें बिन मौसम बारिश, तूफान और हलके गड़ों ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। खेतों में लहलहाती पकी फसलों की दुहाई देते हुए किसान रब्ब से अरदास कर रहे हैं कि फसलों की कटाई तक बारिश न हो ताकि वह अपने सोने जैसे फसल को काट कर संभाल सकें। इस संबंध में जानकारी देते हुए किसाने हरचरन सिंह, सुखवंत सिंह और सतनाम सिंह आदि ने बताया कि दो दिन से बारिश और तेज हवा चल रही है, जिसके कारण खड़ी गेहूं की फसल कई जगहों पर बिछ गई। उन्होंने कहा कि बैसाखी जाने के बाद अप्रैल का महीना फसल काटने का महीना था, लेकिन बिन मौसम की बरसात ने उनकी मेहनत पर पान
आंधी और बारिश से 3.5 लाख हेक्टेयर फसल बिछी, 21 तक तूफान व ओलावृष्टि का अंदेशा

आंधी और बारिश से 3.5 लाख हेक्टेयर फसल बिछी, 21 तक तूफान व ओलावृष्टि का अंदेशा

Punjabi Politics
जालंधर\अमृतसर.सूबे में दो दिन में हुई बारिश से 3.5 हेक्टेयर में गेहंू की फसल खेतों में बिछ गई है। इस बार 35 लाख हेक्टेयर रकबे में फसल की बिजाई की गई। सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अधिकारियों को फसल के नुकसान की गिरदावरी करने के निर्देश दिए हैं, ताकि किसानों को जल्द मुआवजा दिया जा सके। वहीं, मौसम विभाग ने 21 अप्रैल तक मौसम खराब रहने का अलर्ट जारी किया है। इस दौरान आंधी व बारिश के साथ ओलावृष्टि की संभावना जताई गई है। वहीं, लोगों को वाहन तेज न चलाने व सुरक्षित जगहों पर खड़े करने की हिदायत दी है। आने वाले दिनों में 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आंधी भी चल सकती है। बुधवार को सूबे में पूरा दिन बारिश हुई। इससे पारा सामान्य से 8 डिग्री कम दर्ज किया गया।किसानों से अपील : मुख्य खेतीबाड़ी अफसर डॉ. डीएस छीना ने किसानों को हिदायत दी है कि अगले 10 दिन तक गेहंू की कटाई न करें। Dow

बेमौसम बारिश बनी जान की दुश्मन, 35 लोगों की गई जान, सरकार ने किया मुआवजे का ऐलान

India
राजस्थान मध्य प्रदेश और गुजरात के कई हिस्सों में बेमौसम बारिश और बिजली गिरने से 35 लोग अपनी जान गंवा चुके है जबकि कई अन्य घायल हो गए। Jagran Hindi News - news:national
राजस्थान में दस लोगों के लिए काल बनकर आई आंधी और बारिश

राजस्थान में दस लोगों के लिए काल बनकर आई आंधी और बारिश

Rajasthan
जयपुर। राजस्थान में मंगलवार की रात आई आंधी, ओलावृष्टि और बारिश कई लोगों के लिए काल का कारण बनी। इसके कारण प्रदेश में लगभग दस लोगों की मौत हो गई। राहत सचिव आशुतोष एटी पेडनेकर से इस प्रकार की जानकारी मिली है। उनके अनुसार, जयपुर और झालावाड़ में चार-चार, जबकि बारां और उदयपुर में एक-एक व्यक्ति की इस मौसम के कारण मौत हो चुकी है। कांग्रेस के शासन में राज्य में जंगल राज शुरू हो गया है: गुलाबचंद कटारिया राहत सचिव आशुतोष ए टी पेडनेकर ने बताया कि आंधी, ओलावृष्टि और बारिश के कारण मारे गए लोगों के परिवार को चार-चार लाख रुपए के मुआवजे की घोषणा की गई है।इस दौरान उन्होंने कहा कि तीन-चार अन्य लोगों की मौत की भी खबरें सामने आ रही है हालांकि अभी इस बात की पुष्ठि नहीं हो सकी है कि इन लोगों की मौत किस कारण से हुई है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी आंधी, ओलावृष्टि और बारिश से सभी प्रभावितों