News That Matters

Tag: बेहतर

ये है भारत का अपना GPS, सरकार ने बताया – गूगल मैप्स से भी बेहतर 

Indian Education
जीपीएस यानी ग्लोबल पोजिशनिगं सिस्टम (GPS - Global Positioning System) से तो हम सभी वाकिफ हैं। Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala

Realme XT Vs Vivo Z1x : Rs 20,000 के बजट में कौन आपकी जेब में फिट होने के लिए बेहतर

Indian Technology
Realme और Vivo के नए स्मार्टफोन 20K प्राइस सेगमेंट में भारतीय बाजार में आ गए हैं जानते हैं कौन बनाएगा यूजर्स को अपना... Jagran Hindi News - technology:tech-news
याददाश्त करनी है बेहतर तो रोजाना करें व्यायाम

याददाश्त करनी है बेहतर तो रोजाना करें व्यायाम

Health
आज तक आपने व्यायाम करने के अनेक फायदे सुने होंगे। व्यायाम न सिर्फ आपके शरीर को चुस्त-दुरुस्त रहता है, बल्कि आपकी मानसिक सेहत को भी बनाए रखने का काम करता है। हाल हा में व्यायाम और उससे जुड़े फायदों पर... Live Hindustan Rss feed
तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से पंजाब खेती में फिर पा सकता है खोया गौरव

तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से पंजाब खेती में फिर पा सकता है खोया गौरव

Punjabi Politics
जालंधर| राजनीति समझौता कर सकती है लेकिन अर्थशास्त्र नहीं। यह बात मुख्यमंत्री के चीफ प्रिंसीपल सेक्रेटरी सुरेश कुमार ने 13वीं इंडो-जापान वार्ता में कही। कृषि विश्वविद्यालय लुधियाना में उन्होंने कहा कि तीन दशक पहले सरकारें स्थिर थीं, नीतियां न्याय संगत थीं। खाद्यान्न में आत्मनिर्भरता हासिल करके भारत ने साबित किया है कि वह आर्थिक सबल है। यही कारण है कि भारत ने रूस को एक बिलियन डॉलर उधार देने की घोषणा की। पीएयू में इंडो-जापान वार्ता में अपने विचार रखे वीसी पद्मश्री डॉ. ढिल्लों। पंजाब के कृषि विकास पर प्रोफेसर डॉक्टर पीएस बिरथल ने कहा कि महंगाई के चलते फसली विभिन्नता हतोत्साहित हो रही है और प्राकृतिक साधन खत्म हो रहे हैं। कृषि क्षेत्र में तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से ही पंजाब के किसान खेती के सुनहरे गौरव को फिर से पा सकते हैं। Download Dainik Bhaskar App to read Latest
तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से पंजाब खेती में फिर पा सकता है खोया गौरव

तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से पंजाब खेती में फिर पा सकता है खोया गौरव

Punjabi Politics
जालंधर| राजनीति समझौता कर सकती है लेकिन अर्थशास्त्र नहीं। यह बात मुख्यमंत्री के चीफ प्रिंसीपल सेक्रेटरी सुरेश कुमार ने 13वीं इंडो-जापान वार्ता में कही। कृषि विश्वविद्यालय लुधियाना में उन्होंने कहा कि तीन दशक पहले सरकारें स्थिर थीं, नीतियां न्याय संगत थीं। खाद्यान्न में आत्मनिर्भरता हासिल करके भारत ने साबित किया है कि वह आर्थिक सबल है। यही कारण है कि भारत ने रूस को एक बिलियन डॉलर उधार देने की घोषणा की। पीएयू में इंडो-जापान वार्ता में अपने विचार रखे वीसी पद्मश्री डॉ. ढिल्लों। पंजाब के कृषि विकास पर प्रोफेसर डॉक्टर पीएस बिरथल ने कहा कि महंगाई के चलते फसली विभिन्नता हतोत्साहित हो रही है और प्राकृतिक साधन खत्म हो रहे हैं। कृषि क्षेत्र में तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से ही पंजाब के किसान खेती के सुनहरे गौरव को फिर से पा सकते हैं। Download Dainik Bhaskar App to read Latest
तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से पंजाब खेती में फिर पा सकता है खोया गौरव

तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से पंजाब खेती में फिर पा सकता है खोया गौरव

Punjabi Politics
जालंधर| राजनीति समझौता कर सकती है लेकिन अर्थशास्त्र नहीं। यह बात मुख्यमंत्री के चीफ प्रिंसीपल सेक्रेटरी सुरेश कुमार ने 13वीं इंडो-जापान वार्ता में कही। कृषि विश्वविद्यालय लुधियाना में उन्होंने कहा कि तीन दशक पहले सरकारें स्थिर थीं, नीतियां न्याय संगत थीं। खाद्यान्न में आत्मनिर्भरता हासिल करके भारत ने साबित किया है कि वह आर्थिक सबल है। यही कारण है कि भारत ने रूस को एक बिलियन डॉलर उधार देने की घोषणा की। पीएयू में इंडो-जापान वार्ता में अपने विचार रखे वीसी पद्मश्री डॉ. ढिल्लों। पंजाब के कृषि विकास पर प्रोफेसर डॉक्टर पीएस बिरथल ने कहा कि महंगाई के चलते फसली विभिन्नता हतोत्साहित हो रही है और प्राकृतिक साधन खत्म हो रहे हैं। कृषि क्षेत्र में तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से ही पंजाब के किसान खेती के सुनहरे गौरव को फिर से पा सकते हैं। Download Dainik Bhaskar App to read Latest
तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से पंजाब खेती में फिर पा सकता है खोया गौरव

तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से पंजाब खेती में फिर पा सकता है खोया गौरव

Punjabi Politics
जालंधर| राजनीति समझौता कर सकती है लेकिन अर्थशास्त्र नहीं। यह बात मुख्यमंत्री के चीफ प्रिंसीपल सेक्रेटरी सुरेश कुमार ने 13वीं इंडो-जापान वार्ता में कही। कृषि विश्वविद्यालय लुधियाना में उन्होंने कहा कि तीन दशक पहले सरकारें स्थिर थीं, नीतियां न्याय संगत थीं। खाद्यान्न में आत्मनिर्भरता हासिल करके भारत ने साबित किया है कि वह आर्थिक सबल है। यही कारण है कि भारत ने रूस को एक बिलियन डॉलर उधार देने की घोषणा की। पीएयू में इंडो-जापान वार्ता में अपने विचार रखे वीसी पद्मश्री डॉ. ढिल्लों। पंजाब के कृषि विकास पर प्रोफेसर डॉक्टर पीएस बिरथल ने कहा कि महंगाई के चलते फसली विभिन्नता हतोत्साहित हो रही है और प्राकृतिक साधन खत्म हो रहे हैं। कृषि क्षेत्र में तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से ही पंजाब के किसान खेती के सुनहरे गौरव को फिर से पा सकते हैं। Download Dainik Bhaskar App to read Latest
तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से पंजाब खेती में फिर पा सकता है खोया गौरव

तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से पंजाब खेती में फिर पा सकता है खोया गौरव

Punjabi Politics
जालंधर| राजनीति समझौता कर सकती है लेकिन अर्थशास्त्र नहीं। यह बात मुख्यमंत्री के चीफ प्रिंसीपल सेक्रेटरी सुरेश कुमार ने 13वीं इंडो-जापान वार्ता में कही। कृषि विश्वविद्यालय लुधियाना में उन्होंने कहा कि तीन दशक पहले सरकारें स्थिर थीं, नीतियां न्याय संगत थीं। खाद्यान्न में आत्मनिर्भरता हासिल करके भारत ने साबित किया है कि वह आर्थिक सबल है। यही कारण है कि भारत ने रूस को एक बिलियन डॉलर उधार देने की घोषणा की। पीएयू में इंडो-जापान वार्ता में अपने विचार रखे वीसी पद्मश्री डॉ. ढिल्लों। पंजाब के कृषि विकास पर प्रोफेसर डॉक्टर पीएस बिरथल ने कहा कि महंगाई के चलते फसली विभिन्नता हतोत्साहित हो रही है और प्राकृतिक साधन खत्म हो रहे हैं। कृषि क्षेत्र में तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से ही पंजाब के किसान खेती के सुनहरे गौरव को फिर से पा सकते हैं। Download Dainik Bhaskar App to read Latest
तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से पंजाब खेती में फिर पा सकता है खोया गौरव

तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से पंजाब खेती में फिर पा सकता है खोया गौरव

Punjabi Politics
जालंधर| राजनीति समझौता कर सकती है लेकिन अर्थशास्त्र नहीं। यह बात मुख्यमंत्री के चीफ प्रिंसीपल सेक्रेटरी सुरेश कुमार ने 13वीं इंडो-जापान वार्ता में कही। कृषि विश्वविद्यालय लुधियाना में उन्होंने कहा कि तीन दशक पहले सरकारें स्थिर थीं, नीतियां न्याय संगत थीं। खाद्यान्न में आत्मनिर्भरता हासिल करके भारत ने साबित किया है कि वह आर्थिक सबल है। यही कारण है कि भारत ने रूस को एक बिलियन डॉलर उधार देने की घोषणा की। पीएयू में इंडो-जापान वार्ता में अपने विचार रखे वीसी पद्मश्री डॉ. ढिल्लों। पंजाब के कृषि विकास पर प्रोफेसर डॉक्टर पीएस बिरथल ने कहा कि महंगाई के चलते फसली विभिन्नता हतोत्साहित हो रही है और प्राकृतिक साधन खत्म हो रहे हैं। कृषि क्षेत्र में तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से ही पंजाब के किसान खेती के सुनहरे गौरव को फिर से पा सकते हैं। Download Dainik Bhaskar App to read Latest
तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से पंजाब खेती में फिर पा सकता है खोया गौरव

तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से पंजाब खेती में फिर पा सकता है खोया गौरव

Punjabi Politics
जालंधर| राजनीति समझौता कर सकती है लेकिन अर्थशास्त्र नहीं। यह बात मुख्यमंत्री के चीफ प्रिंसीपल सेक्रेटरी सुरेश कुमार ने 13वीं इंडो-जापान वार्ता में कही। कृषि विश्वविद्यालय लुधियाना में उन्होंने कहा कि तीन दशक पहले सरकारें स्थिर थीं, नीतियां न्याय संगत थीं। खाद्यान्न में आत्मनिर्भरता हासिल करके भारत ने साबित किया है कि वह आर्थिक सबल है। यही कारण है कि भारत ने रूस को एक बिलियन डॉलर उधार देने की घोषणा की। पीएयू में इंडो-जापान वार्ता में अपने विचार रखे वीसी पद्मश्री डॉ. ढिल्लों। पंजाब के कृषि विकास पर प्रोफेसर डॉक्टर पीएस बिरथल ने कहा कि महंगाई के चलते फसली विभिन्नता हतोत्साहित हो रही है और प्राकृतिक साधन खत्म हो रहे हैं। कृषि क्षेत्र में तकनीकों के बेहतर इस्तेमाल से ही पंजाब के किसान खेती के सुनहरे गौरव को फिर से पा सकते हैं। Download Dainik Bhaskar App to read Latest