News That Matters

Tag: बैठे

INDvsPAK: मैच के इंतजार में बैठे हैं शाहरुख खान, बेटे के साथ टीम इंडिया को कर रहे हैं चीयर

INDvsPAK: मैच के इंतजार में बैठे हैं शाहरुख खान, बेटे के साथ टीम इंडिया को कर रहे हैं चीयर

Entertainment
भारत और पाकिस्तान के बीच आज इंग्लैंड के मैनचेस्टर में कड़ा महामुकाबला होने वाला है। सभी इस मैच का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं फिर चाहे आम जनता हो या बॉलीवुड सेलेब्स। इतना ही नहीं शाहरुख खान भी इस... Live Hindustan Rss feed
शवों में गोलियों के निशान ऊपर से नीचे की तरफ यानी बैठे लोगों को मारीं गोलियां, स्पॉट भी बदला

शवों में गोलियों के निशान ऊपर से नीचे की तरफ यानी बैठे लोगों को मारीं गोलियां, स्पॉट भी बदला

Punjabi Politics
बठिंडा.बहबलकलां और कोटकपूरा गोलीकांड में जिन पुलिस अफसरों को जांच का जिम्मा सौंपा गया, उन्हाेंने आरोपी पुलिस अफसरों से मिलकर जांच की आड़ में सबूत मिटा दिए। घटनाक्रम का नक्शा तक बदल दिया। फायरिंग में इस्तेमाल हथियार अगले दिन मोगा पुलिस कोत में जमा करवाकर नए इश्यू करवाए गए। पोस्टमार्टम में शवों में गोलियों के निशान ऊपर से नीचे की तरफ थे यानी बैठे लोगों को गोलियां मारीं गई थी, फायरिंग स्पॉट भी बदला गया।पोस्टमार्टम में मृतकों के शवों से निकली गोलियां तक टेंपर की गईं ताकि पता न चल सके कि गाेली किस राइफल से चली? मगर एसआईटी की जांच में मृतकों के पोस्टमार्टम में उनको लगी गोलियों की दिशा, जमा करवाए हथियारों की चालू रजिस्टरों की बजाए नए पर एंट्री और जिप्सी पर हुई फायरिंग की फाॅरेंसिक लैब की रिपोर्ट ने पूरी कहानी पलट दी।बहबलकलां और कोटकपूरा गोलीकांड में पुलिस अफसरों को बचाने के लिए
इमरान ने प्रोटोकॉल तोड़ा; जब मोदी समेत सभी नेता खड़े थे, तब पाक पीएम कुर्सी पर बैठे रहे

इमरान ने प्रोटोकॉल तोड़ा; जब मोदी समेत सभी नेता खड़े थे, तब पाक पीएम कुर्सी पर बैठे रहे

India
बिश्केक (किर्गिस्तान). शंघाई सहयोग सम्मेलन (एससीओ) का उद्धाटन समारोह गुरुवार को हुआ। इस दौरान नरेंद्र मोदी, शी जिनपिंग और व्लादिमीर पुतिन समेत तमाम नेताओं का परिचय दिया गया। क्रमानुसार इन्होंने समिट हॉल में प्रवेश किया। सभी प्रतिनिधी परंपरा के अनुसार खड़े थे, लेकिन पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान बैठे रहे। इमरान की यह हरकत कैमरों में कैद हो गई और कुछ ही देर में सोशल मीडिया पर वीडियो भी वायरल हो गया। अब यूजर्स इमरान के रवैये को अशोभनीय और अहंकारी बता रहे हैं।समिट हॉल में सभी नेताओं ने क्रमानुसार प्रवेश किया। इसके बाद सभी का परिचय दिया गया। परंपरा और प्रोटोकॉल के मुताबिक, सभी नेता और दूसरे प्रतिनिधिखड़े रहे। लेकिन, इमरान खान को या तो परंपरा की जानकारी नहीं थी या फिर उन्होंने जानबूझकर इसका पालन नहीं किया। वो सिर्फ दो सेकंड के लिए तब उठे जब उनका नाम पुकारा गया। इसके बाद
बिना नाम लिए मनोहर लाल का विपक्षियों पर तंज, कुछ जेल चले गए, कुछ जेल जाने को तैयार बैठे हैं

बिना नाम लिए मनोहर लाल का विपक्षियों पर तंज, कुछ जेल चले गए, कुछ जेल जाने को तैयार बैठे हैं

Haryana
पानीपत। भ्रष्टाचार के मुद्दे पर विपक्षियों पर निशाना साधने में सीएम मनोहर लाल कतई पीछे नहीं हटते। गुरुवार को पानीपत अनाज मंडी में आयोजित कार्यकर्ता सम्मान समारोह में मनोहर लाल ने विपक्षी नेताओं पर बिना नाम लिए तंज किया। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने बिना भेदभाव के नौकरियां दी। जबकि दूसरी विपक्षी पार्टियां रेवड़ी बांटती हैं और अपनों-अपनों को देती हैं। चाहे भ्रष्टाचार करके देनी पड़े। वे अलग बात है फिर जेल के रास्ते देखने पड़ते हैं। कोई जेल जा चुका है और कोई जेल जाने के लिए तैयार बैठा है। उन्हें जाने से कोई नहीं रोक सकता।मनोहर लाल खट्टर ने कार्यकर्ताओं को लोकसभा चुनाव के लिए बधाई दी और विधानसभा चुनाव में दोबारा मेहनत करने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि बीजेपी ऐसी करामाती पार्टी है, जो लोग आज मंच के नीचे बैठे हैं, वे कब मंच के ऊपर आ जाएं किसी को पता नहीं है।उन्हो
पहचान छिपाकर चीफ जस्टिस ने लिया कोर्टों का जायजा, कोर्टरूम में बैंच पर बैठे, देखी कार्यवाही

पहचान छिपाकर चीफ जस्टिस ने लिया कोर्टों का जायजा, कोर्टरूम में बैंच पर बैठे, देखी कार्यवाही

Rajasthan
अलवर.राजस्थान के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस एस रविंद्र भट्ट मंगलवार सुबह 11 बजे आम आदमी की तरह अलवर में कचहरी परिसर पहुंचे और काेर्ट रूम में बैंच पर बैठकर कार्यवाही देखी। उनके साथ रजिस्ट्रार जनरल सतीश कुमार शर्मा व पीपीएस राजेंद्र टुटेजा भी थे, लेकिन जस्टिस भट्‌ट ने पहचान उजागर नहीं हाेने दी।वे कार काे भी कचहरी परिसर के बाहर खड़ी कर बिना सुरक्षाकर्मी के काेर्टमें पहुंचे।उन्हाेंने एसीडी कोर्ट, एडीजे कोर्ट व मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में बैंच पर बैठकर कार्रवाई देखी। इस निरीक्षण का किसी भी न्यायिक अधिकारी को भनक तक नहीं लगी। एसपी परिस देशमुख ने कहा कि उनके पास भी चीफ जस्टिस के दाैरे की काेई आधिकारिक सूचना नहीं थी।निरीक्षण के दाैरान जिला जज मनोज कुमार व्यास की नजर चीफ जस्टिस पर पड़ी ताे वे उन्हें पहचान गए और सम्मान देने के लिए कुर्सी से खड़े हुए। इस पर चीफ जस्टिस ने कहा
गर्मी के कारण ट्रेन से उतरकर ट्रैक पर बैठे 4 यात्रियों की राजधानी एक्सप्रेस की चपेट में आकर मौत

गर्मी के कारण ट्रेन से उतरकर ट्रैक पर बैठे 4 यात्रियों की राजधानी एक्सप्रेस की चपेट में आकर मौत

India
इटावा.उत्तर प्रदेश के इटावा में सोमवार सुबह राजधानी एक्सप्रेस की चपेट में आकर चार यात्रियों की मौत हो गई। घटना बलराई स्टेशन पर हुई। छह लोग गंभीर रूप से जख्मी हुए, जिन्हें सैफई के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। चारों मृतक कौशांबी के रहने वाले थे और सूरत जा रहे थे। वे ट्रेन रुकने परगर्मी की वजह से ट्रैक पर बैठे हुए थे।रेलवे सूत्रों के मुताबिक, मुजफ्फरपुर से मुंबई जा रहीअवध एक्सप्रेस करीब छह बजे बलराई स्टेशन पहुंची थी। इसी दौरान कानपुर की ओर से दिल्ली जा रही राजधानी एक्सप्रेस को पास कराने के लिए ट्रेन को लूप लाइन पर रोका गया था। अवध एक्सप्रेस के यात्री गर्मी से बचने के लिए रेलवे ट्रैक पर छांव में बैठेथे। तभी राजधानी एक्सप्रेस गुजरी और कई यात्री इसकी चपेट में आ गए।मारे गए सभी लोग कानपुर से ट्रेन में चढ़े थेइस हादसे में कौशांबी जिले के जीतू (20), पिंटू (21), सुरेंद्र कुमार

बिना इंटरनेट के भी घर बैठे पा सकते हैं सरकारी नौकरी, बेरोजगारों के लिए तोहफा

Indian Education
आज के समय में इंटरनेट के बिना जीवन जीना असंभव सा लगता है। हां अगर पुराने समय की बात की जाए तो इंटरनेट का प्रयोग मात्र कुछ ही लोग जानते थे, इसलिए जिंदगी आराम से कट जाती थी। Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala
राजस्थान में अपनी ही सरकार के खिलाफ भूख हड़ताल पर बैठे विधायक ने आश्वासन के बाद तोड़ा अपना हट

राजस्थान में अपनी ही सरकार के खिलाफ भूख हड़ताल पर बैठे विधायक ने आश्वासन के बाद तोड़ा अपना हट

Rajasthan
इंटरनेट डेस्क। राजस्थान के टोंक जिलें में पिछलेदो तीन दिन से चल रही विधायकों की भूख हड़ताल समाप्त हो गई है। विधायकों ने टोंक जिले में एक ट्रेक्टर चालक की कथित तौर पर पुलिस पिटाई में मौत के खिलाफ भूख हड़ताल शुरू की थी। इन विधायकों में एक तो कांग्रेस के हरीश मीणा है और दूसरे भाजपा से गोपीचंद मीणा है। राज्य में उत्तम स्वास्थ्य सेवाओं के लिए राजस्थान सरकार जल्द ही लाने जा रही है ये महत्वपूर्ण बिल इन दोनों विधायकों की भूख हड़ताल सोमवार को सरकार द्वारा मांगें मान लेने के आश्वासन के बाद खत्म हो गयी। आपकों बता दें की कांग्रेस विधायक और पूर्व पुलिस महानिदेशक हरीश मीणा तथा भाजपा विधायक गोपीचंद मीणा टोंक के नगर फोर्ट इलाके में शनिवार से अनशन पर बैठे थे। इस मामले को सुलझाने के लिए राज्य के खाद्य मंत्री रमेश मीणा सोमवार को टोंक पहुंचे और वहांमृतक चालक के परिवार वालों से मिलने के बाद आंदोलनकारी
कार में बैठे पिता ने पी रखी थी शराब पुलिस ने गाड़ी चला रहे बेटे को पीटा

कार में बैठे पिता ने पी रखी थी शराब पुलिस ने गाड़ी चला रहे बेटे को पीटा

Punjab
मोहाली.फेज-6 स्थित गुरुद्वारा साहिब के पास पुलिस चौकी इंचार्ज विक्रम सिंह ने नाका लगाया था। चंडीगढ़ की तरफ से एक ऑल्टो कार निकली। इंचार्ज ने इसकोरोककर कार के कागज चेक किए और गाड़ी में बैठे लोगों से पूछताछ की।चालक बडाला निवासी मनीष कुमार ने बताया कि उनके साथ सीट पर दादा और पिछली सीट पर पिता राकेश व मौसा बैठे थे। पिता व मौसा ने शराब पी रखी थी और वह घर जा रहे थे। पुलिस ने पिता व मौसा से पूछा कि गाड़ी में शराब पी रहे हो। इस पर पिता ने जवाब दिया घर पर पी थी।पुलिस ने दोनों को गाड़ी से बाहर आने को कहा कि तभी राकेश बोला कि वह गाड़ी में शराब नहीं पी रहे। इसी बात को लेकर बहस हो गई और पुलिस वाले ने राकेश को बाहर निकाल पीटा। इंचार्ज राकेश को पुलिस की वर्दी पर हाथ डालने के आरोप में केस दर्ज करने की धमकियां देता रहा। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
धरने पर बैठे किसानों की सीएम से होगी मुलाकात किसान बोले- बात नहीं बनी तो 6 को आंदोलन

धरने पर बैठे किसानों की सीएम से होगी मुलाकात किसान बोले- बात नहीं बनी तो 6 को आंदोलन

Haryana
बाईपास हाईवे में अधिग्रहित जमीन के बढ़े मुआवजे की मांग को लेकर धरने पर बैठे किसानों के बीच शनिवार को भाकियू प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी पहुंचे। उन्होंने कहा कि प्रशासन की तरफ से उन्हें सूचना दी गई है कि जो भी उनकी मांग है कि वे इसको लेकर उनकी सीएम से मुलाकात करा देेंगे। ताकि वे अपनी बात सीएम के सामने रखे सके। सीएम से मिलने को किसान तैयार हैं। चढूनी ने कहा कि अभी सीएम से मिलने का समय तय नहीं हुआ है। जल्द ही प्रशासनिक अधिकारी सीएम आफिस में बात कर सीएम से समय लेकर उनकी मुलाकात कराएंगे। उनका कहना है कि अगर सीएम से मुलाकात और बातचीत सिरे चढ़ती है तो ठीक है। अगर बात नहीं बनती तो वे आंदोलन को और तेज कर देंगे। उनका कहना है कि किसानों मुआवजा मिलने पर ही यहां से उठेंगे। भाकियू नेता हरपाल सुढैल का कहना है कि किसान एकजुट हैं। गमी के मौसम में भी किसान धरने पर बैठे हैं। प्रति एक