News That Matters

Tag: बोले

अपने ही उतरे चंदूमाजरा के खिलाफ, अकाली वर्कर बोले- हमारे सांसद काम में रहे जीरो

अपने ही उतरे चंदूमाजरा के खिलाफ, अकाली वर्कर बोले- हमारे सांसद काम में रहे जीरो

Punjab
भास्कर संवाददाता नूरपुरबेदी आनंदपुर साहिब से सांसद प्रो. प्रेम सिंह चंदूमाजरा के चुनाव को लेकर अकाली दल द्वारा की जा रही धड़ाधड़ बैठकों में सांसद चंदूमाजरा के प्रति वर्कर खुलेआम डॉ. दलजीत सिंह चीमा समक्ष विरोध जता रहे हैं। पूरी तस्वीर आज उस समय सनराइज पैलेस में दिखाई दी जब डॉ. दलजीत सिंह चीमा ने 31 मार्च को नूरपुरबेदी ट्रक यूनियन में रखी गई विशाल रैली के संबंध में एक वर्कर मीटिंग बुलाई। इसमें 200 से ज्यादा वर्कर्स ने हिस्सा लिया। समारोह के दौरान जब मंच पर एक-एक करके वर्करों को बुलाया गया तो ज्यादातर वर्करों ने सरेआम कहा कि वह आगामी विधानसभा लोकसभा की वोट सिर्फ डॉ. दलजीत सिंह चीमा की बेदाग छवि तथा नरेंद्र मोदी को समर्पित कर डालेंगे। उनसे इस नाराजगी के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि सांसद प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने अकाली वर्करों को बिल्कुल दरकिनार रखा तथा ज्यादातर गांव म
जयपुर में राहुल गांधी बोले- 2014 में तुक्का लग गया, इतिहास देखें जो नफरत करता है वो हारता है

जयपुर में राहुल गांधी बोले- 2014 में तुक्का लग गया, इतिहास देखें जो नफरत करता है वो हारता है

Rajasthan
जयपुर. मंगलवार को राहुल गांधी राजस्थान के दौरे पर रहे। इस दौरान देरशाम वे जयपुर में कार्यकर्ता शक्ति सम्मेलन में भी पहुंचे। इस दौरान उन्होंने संबोधन में कहा कि ये विचारधारा की लड़ाई है। हम उन्हे खत्म नहीं करेंगे, लड़ेंगे। ठीक है एक बार तुक्का लग गया 2014 में। हिंदुस्तान की इतिहास देखें तो उन्हे पता चलेगा की जो नफरत करता है वो हारता है।राहुल गांधी ने कहा कि चुनाव का समय है दो विचारधाराओं की लड़ाई है। यहां हाफ पैंट पहनकर हाथ में लाठी लेकर नफरत से काम नहीं लिया जाता है। भाषण में कोई कुछ बोल देता है तो कोई फर्क नहीं पड़ता है। वो कांग्रेस पार्टी को खत्म करना चाहते हैं। विचारधारा की लड़ाई है। हम खत्म नहीं करेंगे उन्हे लड़ेंगे। ठीक है एक बार तुक्का लग गया 2014 में। हिंदुस्तान की इतिहास देखें तो उन्हे पता चलेगा की जो नफरत करता है वो हारता है। ये अपने जाल में भी फंस जाते हैं। पह
आज कांग्रेस का हाथ थामेंगे घनश्याम तिवाड़ी, बोले- लोकतंत्र बचाने की जरूरत

आज कांग्रेस का हाथ थामेंगे घनश्याम तिवाड़ी, बोले- लोकतंत्र बचाने की जरूरत

Rajasthan
जयपुर. भारत वाहिनी पार्टी के प्रमुख घनश्याम तिवाड़ी ने कांग्रेस में शामिल होने का ऐलान कियाहै। उन्होंने कहा कि वे आज (मंगलवार) राहुल गांधी की मौजूदगी में कांग्रेस का दामन थाम लेंगे। उनके साथसुरेंद्र गोयल (पूर्व कैबिनेट मंत्री), जनार्दन गहलोत (पूर्व कैबिनेट मंत्री), बलजीत यादव (निर्दलिय), सुरेश टाक (निर्दलीय विधायक), खुशवीर सिंह जोझावर (निर्दलीय विधायक),बाबूलाल नागर, रमेश मीणाभी कांग्रेस से जुड़ेंगे।इस दौरान घनश्याम तिवाड़ी ने कहाकि इस वक्त लोकतंत्र को बचाने की जरूरत है। इसलिए वहकांग्रेस से जुड़ रहे हैं। तिवाड़ी भाजपा के वरिष्ठ नेता रह चुके हैं। वे कई बारविधानसभा के सदस्य भी रहे हैं। विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने भाजपा छोड़ दी थी और भारत वाहिनी पार्टी से चुनाव लड़ा था। जिसमें उन्हे हार का सामना करना पड़ा था।तिवाड़ी ने कहा कि जिन सिंद्धांतों के साथ भाजपा में और भारत वाह
बटलर को रनआउट कर विवादों में आए अश्विन, कहा- यह सहज प्रतिक्रिया; वार्न बोले- मैं निराश हुआ

बटलर को रनआउट कर विवादों में आए अश्विन, कहा- यह सहज प्रतिक्रिया; वार्न बोले- मैं निराश हुआ

India
नई दिल्ली.राजस्थान रॉयल्स और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच खेले गए मैच में जोस बटलर के रनआउट को लेकर रविचंद्रन अश्विन की आलोचना की जा रही है। अश्विन की बॉलिंग के दौरान बटलर क्रीज से आगे निकल गए। अश्विन ने इसी दौरान उन्हें रनआउट कर दिया था। इस तरह के रनआउट को 'मांकड़िंग' कहा जाता है। आईपीएल के चेयरमैन राजीव शुक्ला ने कहा कि आईपीएल की टीमों के कप्तान और मैच रेफरी इस तरह से रनआउट के खिलाफ थे। यह एक मीटिंग में तय हुआ था और इसमें विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी भी मौजूद थे। हालांकि, अश्विन ने कहा कि यह सहज प्रतिक्रिया थी, इसमें खेलभावना कहां से आ गई?राजीव शुक्ला ने ट्वीट किया- कप्तानों, मैच रेफरी के बीच मीटिंग हुई थी। यहां मैं भी आईपीएल चेयरमैन के तौर पर मौजूद था। यहां तय हुआ था कि अगर कोई नॉन स्ट्राइक बल्लेबाज गेंदबाजी के वक्त क्रीज से आगे निकल जाता है, तो उसे रनआउट नहीं किया
बटलर को रनआउट कर विवादों में आए अश्विन, कहा- यह सहज प्रतिक्रिया; वार्न बोले- मैं निराश हुआ

बटलर को रनआउट कर विवादों में आए अश्विन, कहा- यह सहज प्रतिक्रिया; वार्न बोले- मैं निराश हुआ

India
नई दिल्ली.राजस्थान रॉयल्स और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच खेले गए मैच में जोस बटलर के रनआउट को लेकर रविचंद्रन अश्विन की आलोचना की जा रही है। अश्विन की बॉलिंग के दौरान बटलर क्रीज से आगे निकल गए। अश्विन ने इसी दौरान उन्हें रनआउट कर दिया था। इस तरह के रनआउट को 'मांकड़िंग' कहा जाता है। आईपीएल के चेयरमैन राजीव शुक्ला ने कहा कि आईपीएल की टीमों के कप्तान और मैच रेफरी इस तरह से रनआउट के खिलाफ थे। यह एक मीटिंग में तय हुआ था और इसमें विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी भी मौजूद थे। हालांकि, अश्विन ने कहा कि यह सहज प्रतिक्रिया थी, इसमें खेलभावना कहां से आ गई?राजीव शुक्ला ने ट्वीट किया- कप्तानों, मैच रेफरी के बीच मीटिंग हुई थी। यहां मैं भी आईपीएल चेयरमैन के तौर पर मौजूद था। यहां तय हुआ था कि अगर कोई नॉन स्ट्राइक बल्लेबाज गेंदबाजी के वक्त क्रीज से आगे निकल जाता है, तो उसे रनआउट नहीं किया
20 मार्च को जाना था आस्ट्रेलिया, लेकिन 11 दिन बाद इस हालत में मिली महिला की डेडबॉडी, पिता बोले- मेरी बेटी पति से फोन पर बात कर रही थी वो आए और उसे उठाकर ले गए

20 मार्च को जाना था आस्ट्रेलिया, लेकिन 11 दिन बाद इस हालत में मिली महिला की डेडबॉडी, पिता बोले- मेरी बेटी पति से फोन पर बात कर रही थी वो आए और उसे उठाकर ले गए

Punjabi Politics
फिरोजपुर/जालंधर(पंजाब)बीती 14 मार्च को गांव बग्गे के पीपल से अगवा एनआरआई महिला रवनीत कौर का सोमवार को शव लहरा गागा क्षेत्र से एक नहर से बरामद हुआ है। बेटी की मौत की खबर सुनकर परिवार में शोक की लहर है। रवनीत के अगवा होने के बाद पुलिस की सुस्त कार्रवाई के खिलाफ लोगों ने 19 मार्च को फिरोजपुर मुख्यालय पर प्रदर्शन भी किया था। भाई नरेंद्र केसर ने बताया कि रवनीत ने 20 मार्च को वापिस आस्ट्रेलिया जाना था। लेकिन वह लापता हो गई। उधर, पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।30 वर्षीय महिला रवनीत कौर के पिता हरजिंदर सिंह ने बताया कि पुलिस को शिकायत दी थी कि उनकी बेटी रवनीत आस्ट्रेलिया में पीआर है और उसकी शादी चंडीगढ़ के जसप्रीत सिंह से हुई थी। करीब 15 दिन पहले वह उससे मिलने आई थी। इस दौरान वह उनके पास गांव बग्गे के पीपल आई थी। 14 मार्च सुबह 11 बजे रवनीत को उसके पति जसप्रीत का फोन आया
बाल सुधार गृह बच्चे भागकर विधायक के पास पहुंचे, रोते हुए बोले- बासी खाना देते हैं, स्टाफ करता है प्रताड़ित

बाल सुधार गृह बच्चे भागकर विधायक के पास पहुंचे, रोते हुए बोले- बासी खाना देते हैं, स्टाफ करता है प्रताड़ित

Haryana
घरौंडा.मधुबन बाल सुधार गृह से सोमवार रात को 24 बच्चे स्टाफ की प्रताड़ना से परेशान होकर भाग गए। सभी बच्चे वहां से निकलकर आपबीती बताने के लिए सीधे घरौंडा के विधायक हरविंदर कल्याण के कुटेल स्थित फाॅर्म हाउस पर पहुंच गए, जिस समय बच्चे फाॅर्म हाउस पहुंचे तो विधायक कल्याण संगठन से जुड़े कार्यकर्ताओं की बैठक ले रहे थे।बाल सुधार गृह से भागे सभी बच्चों को फाॅर्म पर आया देख कर विधायक ने बैठक छोड़कर उनसे बातचीत की। बच्चों ने विधायक के पूछते ही फूट-फूट कर रोना शुरू कर दिया। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि बाल सुधार गृह मधुबन में उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है। स्टाफ द्वारा प्रताड़ित कर उनसे शारीरिक श्रम कराया जाता है। समय पर भोजन नहीं मिलता, मिलता भी है तो वह रूखा-सूखा और बासी मिलता है। विधायक ने मधुबन थाना में बच्चों के बाल सुधार गृह से निकल कर आने की सूचना दी, जिसके चलते मधुबन था

अश्विन बोले, आईपीएल खेल रहे भारतीय क्रिकेटरों को भी मतदान का अधिकार मिले

Indian Sports
नई दिल्ली। सीनियर ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने सोमवार को कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों में मौजूदा आईपीएल मैचों में हिस्सा ले रहे भारतीय क्रिकेटरों को आगामी आम चुनावों के दौरान उनके क्षेत्रों में मतदान के दौरान उन्हीं शहरों में मतदान की स्वीकृति दी ... खेल-संसार

स्टीफन फ्लेमिंग बोले, नहीं पता धोनी विश्व कप के बाद क्या करेंगे?

Indian Sports
नई दिल्ली। चेन्नई सुपरकिंग्स के कोच स्टीफन फ्लेमिंग को पता है कि महेंद्र सिंह धोनी 2019 विश्व कप खेलना चाहते हैं लेकिन वे सुनिश्चित नहीं हैं कि यह पूर्व भारतीय कप्तान इसके बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलना जारी रखेगा या नहीं? खेल-संसार
लाश सड़ने से पहचान करना था मुश्किल, पिता ने बूट देखे तो बोले- यह मेरा बेटा हैप्पी है

लाश सड़ने से पहचान करना था मुश्किल, पिता ने बूट देखे तो बोले- यह मेरा बेटा हैप्पी है

Punjabi Politics
20 जनवरी को लापता हुए युवक का शव भाखड़ा नहर से मिलने के बाद परिजनों द्वारा उसके बूटों से पहचान कर ली गई है। उस बूट काे वह घर से जाते समय पहन कर निकाला था। वहीं एक अन्य युवक अभी भी लापता है, जिसका कुछ पता नहीं चला है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि नहर से मिला शव गांव रनियां निवासी गुलवंत सिंह उर्फ हैप्पी का है। वह शादीशुदा है और उसे दो बेटियां व एक बेटा है। मृत युवक के पिता तेजा सिंह ने बताया कि 20 जनवरी की रात को लगभग 8.30 बजे अचानक उनके घर का दरवाजा खटका तो आवाज देकर पूछा कौन है। इस पर दरवाजा खटकाने वाले ने कहा कि वह सुखपाल सिंह है गुलवंत सिंह उर्फ हैप्पी से मिलना है। इसके बाद सुखपाल सिंह उसके बेटे को अपने साथ ले गया। दूसरी ओर चड़िक निवासी सुखदेव सिंह ने कहा कि 20 जनवरी को ही उसका छोटा भाई दीपा सिंह भी लापता है। वह 24 साल का था और मजदूरी करता है। लेकिन उसे पता चला है कि ग