News That Matters

Tag: भी

जल्द ही रेलवे स्टेशन के अलावा एयरपोर्ट और मॉल्स में भी कुल्हड़ में मिल सकती है चाय

जल्द ही रेलवे स्टेशन के अलावा एयरपोर्ट और मॉल्स में भी कुल्हड़ में मिल सकती है चाय

India
नई दिल्ली. जल्द ही रेलवे स्टेशनों के साथ-साथ एयरपोर्ट, बस अड्डों और मॉल्स में भी आपको कुल्हड़ में चाय मिल सकती है। केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने रेल मंत्री पीयूष गोयल को इस संबंध में पत्र लिखा है। गडकरी ने पत्र में कहा कि 100 स्टेशनों पर कुल्हड़ अनिवार्य किए जाएं। अभी वाराणसी और रायबरेली रेलवे स्टेशन पर कैटरर्स टेराकोटा से बने कुल्हड़ों, गिलास और प्लेटों का इस्तेमाल करते हैं।गडकरी ने कहा- मैं पीयूष गोयल को यह भी सुझाव दिया है कि एयरपोर्ट और बस डिपो में भी चाय के स्टालों पर कुल्हड़ अनिवार्य किए जाएं। हम मॉल्स को भी कुल्हड़ के इस्तेमाल के लिए प्रोत्साहित करेंगे। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें प्रतीकात्मक फोटो Dainik Bhaskar
एटीएम से ठगी: एटीएम कार्ड जेब में था, फिर भी खाते से निकल गए 1.20 लाख, 5 केस पहले ही अनसुलझे

एटीएम से ठगी: एटीएम कार्ड जेब में था, फिर भी खाते से निकल गए 1.20 लाख, 5 केस पहले ही अनसुलझे

Haryana
एटीएम नंबर पूछे बिना और कार्ड बदले बिना ही खाते से पैसे निकालने का खेल जारी है। आठ माह में इस तरह के छह केस सामने आ चुके हैं। ठगी का यह खेल एसबीआई के एटीएम और खाताधारकों से ही हो रहा है। इस बार गांव खेड़ा का किसान लखविंद्र सिंह शिकार बना। ठगों ने उसके खाते से 1.20 लाख रुपए निकाले गए। जिसके खाते में ये पैसे ट्रांसफर किए गए उसका पता चल चुका है, लेकिन हर केस की तरफ इस केस में भी पुलिस उस तक नहीं पहुंची है। इस तरह के जितने भी केस हुए हैं उनमें जिनके खाते में पैसा ट्रांसफर हुआ है उनका नाम और पता पुलिस को पता है। इसके बाद भी पुलिस उन्हें नहीं पकड़ रही है। जिनसे ठगी हुई है वे पुलिस के चक्कर लगाकर थक चुके हैं। ज्यादातर के खाते से पंजाब से पैसे निकले हैं। माना जा रहा है कि हरियाणा से ठग एटीएम की जानकारी जुटाकर वहां से पैसे निकालते हैं। उधर, एसपी कुलदीप सिंह का कहना है कि इन मामल
फैलोपियन ट्यूब खराब होने के बाद भी मां बनना है संभव, जानें इसके बारे में

फैलोपियन ट्यूब खराब होने के बाद भी मां बनना है संभव, जानें इसके बारे में

Health
अक्सर ऐसे मामले सामने आते हैं कि महिला में हर माह अंडे बनने की प्रक्रिया तो हो रही है लेकिन तब भी वह मां नहीं बन पाती। इसका कारण फैलोपियन ट्यूब का न होना या इसमें खराबी होना हो सकता है। इंफर्टिलिटी से पीड़ित 20 महिलाओं में से 10-12 में इस ट्यूब से जुड़ी परेशानी सामने आती है। चिकित्सा जगत में इलाज के कई नए तरीके ऐसे हैं जिनसे इस अवस्था के बावजूद महिला मां बन सकती है। इसलिए जरूरी ट्यूब : ओवरी से अंडा फैलोपियन ट्यूब (यहीं स्पर्म व अंडे का फर्टिलाइजेशन होता है) के बाद गर्भाशय में जाता है। यहां शिशु का विकास शुरू होता है। ट्यूब न होने पर: ज्यादातर मामलों में फैलोपियन ट्यूब के न होने पर अंडाशय व गर्भाशय में भी विकृति पाई जाती है। यह समस्या जन्मजात या फिर प्यूबर्टी के समय से उभरती है। इस कारण माहवारी के शुरू होने से लेकर इसके सुचारू बने रहने में भी दिक्कत आती है। ऐसे में 11-12 साल की उम्र के दौरा

डेविड वार्नर ने सुपरमैन बनकर पकड़ा हैरतअंगेज कैच, कमेंटेटर भी रह गए हैरान, देखें Video

Indian Sports
Ashes 2019 England vs Australia 3rd Test डेविड वार्नर ने लीड्स टेस्ट के चौथे दिन सुपरमैन बनकर एक हैरतअंगेज कैच पकड़ा और जो रूट को चलता किया। Jagran Hindi News - cricket:headlines
जन्माष्टमी पर धोनी बांसुरी बजाने वाला पुराना वीडियो वायरल, अंबाती रायडू भी दिखाई दे रहे

जन्माष्टमी पर धोनी बांसुरी बजाने वाला पुराना वीडियो वायरल, अंबाती रायडू भी दिखाई दे रहे

Indian Sports
खेल डेस्क. जन्माष्टमी पर पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें वे बांसुरी बजा रहे हैं। धोनी का यह वीडियो सात सेकंड का है। वे एक मंझे हुए कलाकार की तरह बांसुरी बजा रहे हैं। इस दौरान उन्होंने काला चश्मा पहना हुआ है। यह वीडियो पुराना है, क्योंकि इसमें अंबाती रायूडू भी नजर आ रहे हैं। साथ ही धोनी ने भारतीय टीम के जिस जर्सी को पहना है वह भी पुराना ही है।पूर्व कप्तान लेफ्टिनेंट कर्नल धोनी 30 जुलाई से 15 अगस्त तक कश्मीर में आतंकवाद विरोधी यूनिट में तैनात थे। उन्होंने पैरा कमांडो की बटालियन में 15 दिन ड्यूटी की। 15 अगस्त भी वहीं मनाया था। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today MS Dhoni Plays The Flute In A Viral old Video Dainik Bhaskar
अतिक्रमण हटाने गई टीम पर हमला; पथराव में जेसीबी चालक की मौत, हाइवे भी जाम

अतिक्रमण हटाने गई टीम पर हमला; पथराव में जेसीबी चालक की मौत, हाइवे भी जाम

Rajasthan
नागौर (दीनानाथ योगी). सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाने गईटीमपर ग्रामीणों ने हमला कर दिया। प्रशासन की टीम के कर्मचारियों के साथ मारपीट की गई। भीड़ के हमले मेंजेसीबी के ड्राइवर की मौत हो गई। कई अन्य लोग भी पथराव मेंघायल हुए हैं।भीड़ ने नागौर-बीकानेर हाइवे पर जाम लगा दिया। सूचना मिलनेपर पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। हल्का बल प्रयोग कर भीड़ को खदेड़ा। घटनाताऊसर गांव की है।पिछले दिनों हाईकोर्ट ने नागौर के ताऊसर गांव में बंजारा बास स्थित सरकारी जमीनसे अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए थे। इस जमीन पर बंजारा समाज के लोग अस्थाई औरकच्चे-पक्के मकान बनाकर रह रहे थे।रविवार को यहां पहुंचीप्रशासनिक टीमजेसीबी से अतिक्रमण हटाने लगी। तभी मौके पर पहुंचे बंजारा बस्ती के लोगों ने विरोध करना शुरू कर दिया।इस परप्रशासनिक टीमनेहल्का बल प्रयोग किया।भीड़ में फंस गया था जेसीबी का ड्राइवरबताया जाता है कि प्रशा
KBC 11: पहली कंटेस्टेंट जो खेलेंगी 1 करोड़ का सवाल, अमिताभ बच्चन भी दिखे एक्साइटेड

KBC 11: पहली कंटेस्टेंट जो खेलेंगी 1 करोड़ का सवाल, अमिताभ बच्चन भी दिखे एक्साइटेड

Entertainment
KBC 11: कौन बनेगा करोड़पति 11 में इस बार के आने वाले एपिसोड में एक ऐसी कंटेस्टेंट आने वाली हैं जो 1 करोड़ का सवाल खेलती नजर आएंगी। वे इस सवाल का सही जवाब देती हैं या नहीं, या क्विट करती हैं ये कहना... Live Hindustan Rss feed

इंग्लैंड की टीम ने 2 साल में 4 बार बनाया है ये शर्मनाक रिकॉर्ड, आप भी जानिए

Indian Sports
Ashes 2019 England vs Australia इंग्लैंड की टीम ने हाल ही में वर्ल्ड कप का खिताब अपने नाम किया था लेकिन टेस्ट क्रिकेट में कदम रखते ही मेजबान इंग्लैंड की नाव डगमगाने लगी है। Jagran Hindi News - cricket:headlines

अपने रटने की आदत में कर लें सुधार, याद करने के और भी हैं तरीके, IAS इरा ने बताएं कुछ राज

Indian Education
कहा जाता है कि अपने जीवन में किसी भी लक्ष्य को पाने के लिए आपको जी-तोड़ मेहनत और कठोर परिश्रम करने की जरूरत होती है। Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala
एक कलेक्टर, 86 लाख आबादी, 84 समितियों के अध्यक्ष, मीटिंग और प्रोटोकॉल में भी देते हैं हाजिरी

एक कलेक्टर, 86 लाख आबादी, 84 समितियों के अध्यक्ष, मीटिंग और प्रोटोकॉल में भी देते हैं हाजिरी

Rajasthan
जयपुर.कलेक्टर... जितना बड़ा ओहदा उससे भी कहीं ज्यादा जिम्मेदारियां। कलेक्टर 86 लाख की आबादी वाले शहर की मॉनीटरिंग के साथ-साथ जिले में सरकार की 84 कमेटियों का अध्यक्ष भी है। हर दिन करीब दो समितियों की मीटिंग होती है, जिनमें कलेक्टर को ही अध्यक्षता करनी होती है।कलेक्टर के पास न्यायिक शक्तियां भी होती हैं इसलिए उसे राजस्व संबंधित मामलों के निपटारे के लिए सप्ताह में तीन दिन अदालत लगानी हाेती है। केंद्र व राज्य सरकार की याेजनाअाें काे जनता तक पहुंचाने की जिम्मेदारी से लेकर जिले में चलने वाली तमाम सरकारी योजनाओं के कॉर्डिनेटर का काम भी कलेक्टर ही करता है।इसके अलावा मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव और विभागों के मुखिया की बैठकों और वीडियो कॉन्फ्रेंस में ज्यादातर कलेक्टर को ही बुलाया जाता है। जिले का मुख्य प्राेटाेकाॅल अधिकारी होने की वजह से वीवीआईपी विजिट में भी कलेक्टर को जाना पड़ता है।