News That Matters

Tag: भी

विवादों के चलते ओहदा छोड़ने को मजबूर होने वाले जत्थेदारों में ज्ञानी गुरबचन सिंह का नाम भी जुड़ा

विवादों के चलते ओहदा छोड़ने को मजबूर होने वाले जत्थेदारों में ज्ञानी गुरबचन सिंह का नाम भी जुड़ा

Punjabi Politics
परमिंदर बरियाणा, होशियारपुर.विवादों के चलते ओहदा छोड़ने वाले अकाल तख्त के जत्थेदारों में ज्ञानी गुरबचन सिंह का नाम भी शामिल हो गया है। डेरा सिरसा के मुखी गुरमीत राम रहीम को 2015 में माफ करने के बाद श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह लगातार तीन साल से विवाद में थे और उन पर लगातार पद छोड़ने का दबाव बना हुआ था।कुछ दिन पहले यह बात सामने आई थी कि तख्त श्री केसगढ़ साहिब के जत्थेदार ज्ञानी रघुवीर सिंह और फतेहगढ साहिब के हैड ग्रंथी हरपाल सिंह में से किसी एक को श्री अकाल तख्त साहिब का जत्थेदार नियुक्त किया जा सकता है लेकिन एसजीपीसी से जुड़े सूत्रों के मुताबिक इस नाजुक दौर में बेहद सोच समझकर ही फैसला लिया जाएगा। यही नहीं उक्त दोनों के नाम पर कभी चर्चा तक नहीं हुई है। सूत्रों का कहना है कि इससे पहले यह चर्चा भी चली थी कि किसी राजनीतिक व्यक्ति को जत्थेदार नियुक्त कि

एमबीबीएस के बाद अब विदेश से बीडीएस करने के लिए भी नीट पास करना अनिवार्य

Indian Education
दंत चिकित्सा में अपना भविष्य देख रहे विद्यार्थियों को अब विदेश में बीडीएस करने के लिए भी नीट परीक्षा देना अनिवार्य होगा। Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala
हरियाणा का मामला : कंपनी ने झूठा वादा करके ग्राहक को बेचा था मोबाइल, ग्राहक ने ऐसा सबक सिखाया कि अब या तो 56,900 रु. लौटाना होंगे या फोन ठीक करके देना होगा, आपको भी कोई ठगे तो तुरंत यहां करें शिकायत

हरियाणा का मामला : कंपनी ने झूठा वादा करके ग्राहक को बेचा था मोबाइल, ग्राहक ने ऐसा सबक सिखाया कि अब या तो 56,900 रु. लौटाना होंगे या फोन ठीक करके देना होगा, आपको भी कोई ठगे तो तुरंत यहां करें शिकायत

India
न्यूज डेस्क। कई कंपनियां झूठे विज्ञापन और वादे करके अपने प्रोडक्ट बेचती हैं। कई कंपनियां मोबाइल के वॉटरप्रूफ होने का दावा करती हैं लेकिन कई बार फोन पानी लगते ही खराब हो जाता है। हरियाणा के झज्जर में कंज्यूमर कोर्ट ने एक ऐसे ही मामले में कंपनी पर हर्जाना लगाया है। साथ ही उपभोक्ता को फोन ठीक करके देने या नया देने के आदेश दिए हैं। फोन नहीं देने पर कंपनी को 56900 रुपए उपभोक्ता को लौटाना होंगे। साथ ही 7500 रुपए हर्जाना के तौर पर देना होंगे।क्या था मामलासाहिल जसवाल ने 2 मई 2017 को झज्जर की एक शॉप से 56 हजार 900 रुपए में मोबाइल खरीदा था। कुछ महीने बाद ही फोन खराब हो गया। उसमें मेन्युफैक्चरिंग डिफाल्ट आ गया। बाद में ग्राहक ने कंज्यूमर कोर्ट में इसकी शिकायत कर दी। उपभोक्ता ने तर्क दिया कि कंपनी का फोन वाटरप्रूफ होने के बाद भी पानी से खराब हो गया। कंपनी का वादा झूठा है। जबकि कंपन

सबरीमाला मंदिरः दूसरे दिन भी महिलाओं को ‘नो एंट्री’, विरोध में हड़ताल-प्रदर्शन जारी

India
सबरीमाला मंदिर में महिलाएं बुधवार को प्रवेश नहीं कर पाई। वहीं महिलाओं की एंट्री को लेकर जारी विरोध थम नहीं रहा है। Jagran Hindi News - news:national
दो साल में एक भी बच्चा दाखिल नहीं, 5 सरकारी स्कूल बंद होंगे

दो साल में एक भी बच्चा दाखिल नहीं, 5 सरकारी स्कूल बंद होंगे

Haryana
लगातार दूसरे साल भी एक भी दाखिला न होने पर जिले के पांच सरकारी प्राइमरी स्कूलों को बंद करने की तैयारी है। इनमें 4 स्कूल खंड छछरौली तो एक मुस्तफाबाद में है। इन स्कूलों पर विभाग की ओर से ताला लगाने के साथ दो स्कूलों में दूसरे साल भी बच्चों के इंतजार में लगे दो टीचर्स को भी अन्य स्कूलों में शिफ्ट कर दिया जाएगा। इस संदर्भ में प्राथमिक शिक्षा विभाग निदेशक ने डीईईओ के नाम पत्र जारी किया है। बता दें कि प्रदेश में कुल 62 प्राइमरी स्कूलों की सूची भेजकर उनके टीचर्स को दूसरे स्कूलों में शिफ्ट कर उन स्कूलों को बंद किए जाने के निर्देश हैं। सूची में जिले से पांच स्कूल शामिल हैं। इनमें चार छछरौली और एक सरस्वती नगर ब्लॉक का स्कूल हैं। छछरौली ब्लॉक में कोट खालसा, खिजराबाद, रागडमाजरा, डांडीपुर स्कूल ओर सरस्वती नगर ब्लॉक में मंसुरपुर का स्कूल है। जबकि इन स्कूलों में डांडीपुर व मंसुरपुर स
कुख्यात शराब तस्कर के गोदाम पर छापा, 40 लाख की अवैध शराब पकड़ी और 46 मोबाइल भी जब्त

कुख्यात शराब तस्कर के गोदाम पर छापा, 40 लाख की अवैध शराब पकड़ी और 46 मोबाइल भी जब्त

Rajasthan
चुरू. जिले में पुलिस ने गुरुवार को इलाके के कुख्यात शराब तस्कर बिजेंद्र जाट उर्फ टिलीया के खेत में बना रखेगोदाम में छापा मारकर भारी मात्रा मेंअवैध शराब का जखीरा पकड़ा।जिसकी बाजार कीमत करीब 40 लाख रुपए आंकी जा रही है। मामले में पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर के ऑफिस पर छापा मारकर 46 मोबाइल फोन भी जब्त किए। इसके अलावा एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। यह कार्रवाई आईजी दिनेश एमएन के निर्देशन में की गई।आईजी बीकानेर रेंज आईजी दिनेश एमएन ने बताया कि चुरु जिले में मलसीसर, बालु की ढाणी निवासी कुख्यात तस्कर बिजेंद्र उर्फ टिलीया के हमीरवास इलाके में रोही डाबली ढाणी स्थित खेत में बने अवैध शराब का गोदाम होने और तस्करी की सूचना मिली थी।एसपी राममूर्ति जोशी की स्पेशल टीम के प्रभारी एएसआई जाेगेंद्र सिंह ने हमीरवास थानाधिकारी को इसकी सूचना दी। इसके बाद एसपी राममूर्ति के निर्देशन में भारी पुलिस जाब्
अगर आप भी दांतों की समस्याओं को लेकर भ्रम में हैं तो जानें सच्चाई

अगर आप भी दांतों की समस्याओं को लेकर भ्रम में हैं तो जानें सच्चाई

Health
दांतों में कई तरह की परेशानियां होना एक आम बात है, लेकिन दांतों से जुड़ी कुछ बीमारियां गंभीर होती हैं। अगर सही समय पर इनका इलाज न किया जाए तो मुंह और दांतों को ज्यादा नुकसान हो सकता है। कई लोग दांतों में होने वाली समस्याओं के भ्रम की वजह से डॉक्टर के पास नहीं जाते और अपना नुकसान करते हैं। तो आइये जानते हैं दांतों की बीमारियों से जुड़े कुछ भ्रम और उनसे जुड़ी सच्चाई के बारे में। भ्रांति: दांतों की स्केलिंग (दांतों पर से फ्लाप) से दांत कमजोर होते हैं।तथ्य: दांत पर टारटर की परतें और फ्लाप जमा रहेगा, तो दांत एवं मसूड़ों के बीच खाली जगह बन जाती है जिसे पॉकेट कहते हैं। इससे मसूड़ों से खून व मवाद भी आने लगता है और जबड़े की हड्डी तक संक्रमण पहुंच जाता है जिससे दांत कमजोर होने लगते हैं।इलाज - साल में एक बार दांतों की स्केलिंग करवानी चाहिए। भ्रांति: बच्चों के दांत दूध के हैं, तो इलाज जरूरी नहीं होता।

अजीबोगरीब: बल्लेबाज़ को पता भी नहीं चला और इस तरह हो गया रन आउट, Video

Indian Sports
पाकिस्तानी टीम ने पहली पारी में 282 रन बनाने के बाद आॅस्ट्रेलिया की पहली पारी को 145 रन पर समेट दिया था। Jagran Hindi News - cricket:headlines
अगर आप भी कब्ज से हैं परेशान तो इन उपायों से करें करागर इलाज

अगर आप भी कब्ज से हैं परेशान तो इन उपायों से करें करागर इलाज

Health
कब्ज शरीर की सबसे आम बीमारियों में गिना जाता है। कब्ज की ज्यादातर समस्या खान-पान में गड़बड़ी व खराब जीवनशैली के कारण अधिकांश लोगों को होती है। शरीर में वात के बढ़ने से कब्ज की समस्या होती है। खान-पान की गलत आदतें, भूख से ज्यादा खाना, मीट और मुश्किल से पचने वाले भारी अन्न खाना और फल-सब्जियां-सलाद कम खाने से कब्ज होता है। नींद पूरी न होना, तनाव-भय-चिंता या शोक आदि में भी कब्ज की समस्या हो जाती है। आंत में गांठ या कोई अन्य रुकावट होने की वजह से भी कब्ज की समस्या होने लगती है। ये फल और सब्जियां खाएं फल : मौसमी, संतरा, नाशपाती, तरबूज, खरबूजा, आड़ू, अनानास, कीन्नू, अमरूद, पपीता व रसभरी, अनार।सब्जियां : आलू, बंदगोभी, फूलगोभी, मटर, शिमला मिर्च, तोरी, टिंडा, लौकी, परमल, गाजर, मैथी, मूली, खीरा, ककड़ी, पालक, नींबू, सरसों और बथुआ। कब्ज की समस्या के लिए रोटी बनाने के लिए गेहूं के आटे में पांच प्रतिशत त

भारत ही नहीं पाकिस्‍तान, नेपाल, बांग्‍लादेश और श्रीलंका में भी हैं शक्तिपीठ

India
देवी पुराण के मुताबिक, 51 शक्तिपीठ में से सिर्फ 42 भारत में स्थित हैं। इसके अलावा पांच देशों में 9 शक्तिपीठ है। Jagran Hindi News - news:national