News That Matters

Tag: मन

मन काे शांत व तनाव काे कम करती है बिंदी

मन काे शांत व तनाव काे कम करती है बिंदी

Health
हजारों वर्षों से हमारे देश में पुरुष माथे पर तिलक और महिलाएं, बिंदी लगाती आ रही हैं। इससे हमारी सेहत भी जुड़ी हुई है। आइए जानते हैं इसके बारे में:- - भौंह के बीच दाएं शरीर की सभी नसें मिलती हैं। इसे अग्निचक्र या तृतीय नेत्र भी कहते हैं। बिंदी लगाने से मन शांत व तनाव कम होता है।एक्यूप्रेशर के अनुसार इस बिंदु पर मसाज करने से सिरदर्द में राहत मिलती है। नसें और रक्त कोशिकाएं रिलेक्स हो जाती हैं। - इस पॉइंट पर मसाज करने से रक्त का संचालन नाक के आसपास अच्छी तरह से होने लगता है। साइनस से होने वाली सूजन कम हो जाती है और बंद नाक खुल जाती है। चेहरे की मांसपेशियां मजबूत होती हैं जिससे झुर्रियों का आना कम होता है। बिंदी रक्त का प्रवाह बढ़ाकर मांसपेशियों को लचीला बनाती है। - इस पॉइंट पर मसाज करने से चेहरे की नसें सक्रिय होती हैं और चेहरे के पक्षाघात का खतरा घटता है। आयुर्वेद में इसे 'शिरोधारा' कहते हैं
तन ही नहीं आपका मन भी रंगते हैं रंग

तन ही नहीं आपका मन भी रंगते हैं रंग

Health
रंगों के अपने मायने और प्रभाव होते हैं। चिकित्सा की दुनिया में लाल, पीले, नीले और हरे रंग को साइकोलॉजिकल प्राइमरी कलर माना गया है। ये रंग तन, मन और भावनाओं के बीच सही संतुलन बनाते हैं।आइए जानते हैं इनके बारे में :- लाल रंग: यह रंग शारीरिक साहस, मजबूती, ऊर्जा, उत्तेजना और रोमांच से जुड़ा है। यह रंग तेजी से आगे बढऩे का अहसास भी कराता है इसलिए इसे मित्र रंग भी माना गया है। नीला रंग: यह रंग बुद्धिमानी, सकारात्मकता, विश्वास और मन को शांति देने वाला है। गाढ़ा नीला रंग तनाव दूर करता है। वहीं हल्का नीला ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखता है। पीला और हरापीला रंग: यह रंग आत्मसम्मान, दृढ़ता, विश्वास, मित्रभाव व सृजनात्मकता को बढ़ाता है लेकिन इसका गलत प्रभाव भय या चिंता बढ़ाकर आत्मविश्वास पर असर डाल सकता है। हरा रंग: यह सौहार्द, आत्मीयता, संतुलन, आराम व शांति देता है। इस रंग को देखने से सुकून का अहसास होता
अशोक गहलोत बोले- मोदी जी मन की बात कहते नहीं थोपते हैं, वे घमंडी

अशोक गहलोत बोले- मोदी जी मन की बात कहते नहीं थोपते हैं, वे घमंडी

Rajasthan
बीकानेर. लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस में जनसभाओं का दौर शुरू हो चुका है। बुधवार को फैसला हुआ कि नामांकन से पूर्व प्रत्येक विधानसभा स्तर पर पार्टी की जनसभाएं हों। जिसके चलते शुक्रवार को सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट श्रीडूंगरगढ़ में सभा करने पहुंचे। इस दौरान अशोक गहलोत ने कहा कि मोदी जी मन की बात कहते नहीं थोपते हैं। राहुल गांधी कहते हैं कि जनता की बात सुनों। लोगों से मिलें।गहलोत ने कहा कि एक दिन के नोटिस पर इतनी बड़ी संख्या में जनसभा में आने के लिए आप सही धन्यवाद। हमने पिछली सरकार में भी अच्छे काम किए थे। जिसे वसुंधरा सरकार ने रोक दिए।उन्होंने कहा कि इंदिरा गांधी ने पाकिस्तान के दो टुकड़े कर दिए। हमे गर्व है कि हमारी सेनाओं ने सर्जिकल स्ट्राइक की। आपने सर्जिकल स्ट्राइक की 15 मिनट वहां जा के आ गए। इंदिरा गांधी ने तो बांग्लादेश आजाद करा दिया। वहां के जनरल कर्
जीवन को बना या बिगाड़ सकता है मन

जीवन को बना या बिगाड़ सकता है मन

Rajasthan
खिचड़ी अधपकी हो तो रसोइये का महत्व और बढ़ जाता है। समझदार लोग आधे भोजन में रसोइये से झगड़ा नहीं करते, क्योंकि उन्हें मालूम होता है कि इसे पूरा वही बना सकता है। देश में कई बार ऐसी स्थिति हो जाती है। हो सकता है इस वाक्य को लोग राजनीतिक दृष्टि से देखें कि देश इस समय अधपकी खिचड़ी की तरह है। तो क्या रसोइया बदलने से खतरा हो सकता है? पुराने संत-महात्मा कहा करते थे कि अधपकी खिचड़ी और रसोइये का मतलब है हमारा जीवन और हमारा मन। मन एक ऐसे रसोइये की तरह है, जो जानता है कि भोजन को उस स्थिति में ले आओ कि फिर कोई रसोइये को बदल न सके। इसीलिए वह अपने भीतर नए-नए पकवान बनाता है और इतना उलझा देता है कि आप छोड़ भी नहीं सकते। मन को ऐसे-ऐसे निर्णय लेने की आदत है कि कोई सोच भी नहीं सकता। फिर यही आपकी ताकत भी बन जाता है और यही कमजोरी भी। इसलिए मन के प्रति सावधान रहिए। वह जो निर्णय ले उसे बुद्धि
सिर दर्द, डाइट, कोहनी का कालापन, पढ़ाई मेें कैसे लगाए मन व घुटने के दर्द का जानें इलाज

सिर दर्द, डाइट, कोहनी का कालापन, पढ़ाई मेें कैसे लगाए मन व घुटने के दर्द का जानें इलाज

Health
सवाल: मेरे सिर में दर्द रहता है। तेल लगाने पर ये झड़ते हैं। कोई आयुर्वेदिक उपाय बताए? पूजा ठाकुर, श्रीगंगानगर जवाब: सिर दर्द के कई कारण हो सकते हैं। एसिडिटी, कब्ज, गर्दन में दर्द, आंखों में चश्मा होने, काफी समय तक जुकाम रहने, टेंशन आदि कारणों से ये हो सकता है। स्किल ऑयली हो। ज्यादा मात्रा में तेल लगाया जा रहा हो या फिर तेल में कपूर की मात्रा ज्यादा होने पर बाल झड़ते हैं। सिर दर्द की जांच करवाएं। विशेषज्ञ की सलाह लें। बीमारी के हिसाब से दवा दी जाती है। सवाल: मेरे हाथों के कोहनी काली हो गई है। कोई घरेलु उपाय बताए? एक दर्शक जवाब: हाथों की कोहनी काली गई है तो इसे ठीक करने के लिए मलाई को दही, या फिर बेसन में डालकर कोहनी पर स्क्रब करें। शहद व नींबू को मिलाकर भी लगाया जा सकता है। आलू को घिसे और स्क्रब करने से भी फायदा मिलेगा। डॉ. गोपेश मंगल, आयुर्वेद विशेषज्ञ सवाल: मेरा पढ़ाई में ध्यान नहीं लगता
मन काे फील गुड कराने के लिए बेहतरीन डोज हैं ये आहार

मन काे फील गुड कराने के लिए बेहतरीन डोज हैं ये आहार

Health
कुदरत ने भी कुछ ऐसे तरीके बना रखे हैं जो आपको खुशियां दे सकते हैं। सेहत विशेषज्ञ कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों का सुझाव देते हैं जिनके सेवन से मन को खुशी मिल सकती है। इनमें केला, बादाम, अखरोट, दूध, अंगूर और संतरे जैसे फल भी हैं। सुबह की शुरुआत इनसे करके आप खुशगवार सेहत पा सकते हैं। केला देता है ऊर्जा केला कॉम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट्स के प्रमुख स्रोतों में से एक है। इससे तुरंत ऊर्जा तो मिलती ही है, इसमें मौजूद 'ट्रिप्टोफैन' से फील गुड हार्मोन सेरोटोनिन भी बढ़ता है। तनाव दूर करने के लिए विटामिन बी-12 के साथ फोलिक अम्ल (मटर, हरी पत्तेदार सब्जियां, खट्टे फल जैसे सतंरा) लेना जरूरी है। इसीलिए डॉक्टर एंटी-डिप्रेसेंट दवाओं के साथ फोलिक अम्ल भी देते हैं। जिससे खुशी का एहसास होता है। सूखे मेवों से पोषणअखरोट, बादाम आदि में पोषक तत्व तो होते ही हैं। साथ ही इनमें मौजूद सेलेनियम और ओमेगा-3 फैटी एसिड ब्रेन को त
Pulwama Terrorist Attack: गिरफ्तार आतंकी ने फोन पर कहा था, ‘मन कर रहा कि सबको मार डालूं’

Pulwama Terrorist Attack: गिरफ्तार आतंकी ने फोन पर कहा था, ‘मन कर रहा कि सबको मार डालूं’

India
देवबंद से गिरफ्तार आतंकी शाहनवाज तेली ने पुलवामा हमले के बाद जम्मू-कश्मीर में किसी से फोन पर लम्बी बात की थी। इस दौरान यह कॉल दो बार कटी थी। इसमें डेढ़ मिनट की एक कॉल में उसने कहा था कि मन कर रहा... Live Hindustan Rss feed
मोदी ने कहा- लोकसभा चुनाव के बाद मई में फिर करूंगा मन की बात

मोदी ने कहा- लोकसभा चुनाव के बाद मई में फिर करूंगा मन की बात

India
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नेरविवार कोमन की बात कार्यक्रम के 53वें एपिसोडमें देश को संबोधित किया। उन्होंने आगामी लोकसभा चुनाव में जीत का भरोसा जताया। मोदी ने कहा कि मई में फिर से मन की बात करूंगा।पुलवामा के शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कियह शहादत आतंक को समूल नष्ट करने के लिए हमें निरंतर प्रेरित और हमारे संकल्प को मजबूत करेगी।इससे पहले उन्होंनेशो से जुड़ा एक ट्वीट किया। इसमें उन्होंने कहा कि आज कीमन की बात स्पेशल होगी। बाद में मत कहिएगा कि मैंने आपको पहले नहीं बताया।'अबकी बात दो महीने बाद'मोदी ने कहा, "मन की बात कार्यक्रम के माध्यम से आप सब से जुड़ना मेरे लिए एक अनोखा अनुभव रहा है। रेडियो के माध्यम से मैं एक तरह से करोड़ों परिवारों से हर महीने रूबरू होता हूं। कई बार तो आप सब से बात करते, आपकी चिठ्ठियां पढ़ते या आपके फोन पर भेजे गए विचार सुनते मुझे ऐसा प्
मन की शांति के लिए फायदेमंद है शिरोधारा, जानें इसके बारे में

मन की शांति के लिए फायदेमंद है शिरोधारा, जानें इसके बारे में

Health
शिरोधारा दो शब्दों से बना है शिरो (सिर), धारा (प्रवाह) यानी भू्र के मध्य स्थान से थोड़ा ऊपर ललाट पर किसी तरल पदार्थ को जब धारा के रूप में कुछ समय तक बिना रुके गिराया जाता है तो इसे शिरोधारा कहते हैं। शिरोधारा के लिए रोगी एवं रोग की प्रकृति के अनुसार औषधीय तेल, दूध या केवल पानी की धार का प्रयोग किया जाता है। शिरोधरा प्राकृतिक चिकित्सा विधि है। प्रमुख लाभ : तनाव, अनिद्रा, बेचैनी, चिड़चिड़ापन, मूड स्विंग होने जैसी तकलीफों में शिरोधारा बहुत लाभकारी है। इससे मन को शांति मिलती है। स्नायु से संबंधित रोग : कमजोर याददाश्त, चेहरे का लकवा, पुराना सिरदर्द, माइग्रेन, गहरी नींद न आना जैसी परेशानियों में यह बहुत फायदेमंद है। इससे मस्तिष्क की कार्यक्षमता में सुधार होकर रूसी, बाल झड़ना या जल्दी सफेद होना, सिर की त्वचा का संक्रमण आदि में आराम मिलता है। लेकिन इस प्रक्रिया को विशेषज्ञ की सलाह के बाद ही करें।
विद्यार्थियों के मन से अंकों का डर दूर करने को टीचर्स ने बनाया ‘मैथ पार्क’

विद्यार्थियों के मन से अंकों का डर दूर करने को टीचर्स ने बनाया ‘मैथ पार्क’

Punjab
स्टूडेंट्स के मन से मैथ का डर दूर करने के लिए मैथ पार्क बनाया गया है। इसमें बैठकर बच्चे खेल-खेल में मैथ के मुश्किल लगने वाले फार्मूले आसानी से समझ सकेंगे। पार्क में हर फार्मूले को जमीनी स्तर पर बच्चों को जानकारी देने के लिए ‘शेप्स’ का रूप दिया गया है ताकि वे नंबर देख घबराएं नहीं, उनको अच्छे से समझ सकें। क्लासरूम के सामने ही इस पार्क को तैयार करने का उद्देश्य यही था कि बच्चों की नजर आते-जाते पड़ती रही। इस पार्क में 10वीं व 12वीं क्लास तक का सिलेबस है। सवालों के हल में इस्तेमाल होने वाले फार्मूले के साथ-साथ छोटी क्लास के बच्चों के लिए बेसिक नाॅलेज और कंपीटिटिव एग्जाम की तैयारी के लिए आईक्यू लेवल को ध्यान में रखकर हर छोटी-बड़ी चीज, दीवारों और पिल्लर्स पर आकृतियां उकेरकर जानकारी दी गई है। 23 फरवरी को सालाना फंक्शन में होगा उद्‌घाटन, बेसिक नाॅलेज और कंपीटीटिव एग्जाम की तैया