News That Matters

Tag: मरीजों

शव को नहीं रोक पाएंगे अस्‍पताल, जानिये मरीजों को और कितने मिलेंगे अधिकार

India
रोगियों को कई बार अक्सर शुल्क, प्रक्रियाओं में अपर्याप्तता की शिकायत होती है। यहां तक कि इस क्षेत्र में सरकार विनियमन चाहती है। Jagran Hindi News - news:national
अगले 20 वर्षों में डिमेंशिया के मरीजों की संख्या होगी 10 करोड़

अगले 20 वर्षों में डिमेंशिया के मरीजों की संख्या होगी 10 करोड़

Health
स्ट्रोक का सामना कर चुके मरीजों में डिमेंशिया होने की अधिक संभावना रहती है। विश्वस्तर पर लगभग 1.5 करोड़ लोग सालाना स्ट्रोक से ग्रस्त होते हैं। डिमेंशिया से पांच करोड़ लोग पीडि़त हैं, यह संख्या अगले 20 वर्षों में लगभग दोगुनी होने की उम्मीद है। नए अध्ययन में इस बात का खुलासा हुआ है। स्ट्रोक या सेरेब्रोवास्कुलर एक्सीडेंट (सीवीए) के परिणाम स्वरूप मस्तिष्क में अचानक रक्त की कमी या मस्तिष्क के भीतर रक्त स्राव होता है, जिसके परिणाम स्व रूप न्यूरोलॉजिकल फंक्शन की हानि होती है। मोटापे, धूम्र पान, उच्च रक्तचाप, शराब की ल त, मधुमेह और पारिवारिक इतिहास आदि पर स्ट्रोक के लिए विचार किया जाता है। स्ट्रोक के कुछ चेतावनी संकेतों में बांह, हाथ या पैर में कमजोरी शामिल होती है। शरीर के एक तरफ धुंध लापन, नजर में यकायक कम जोरी, खास कर एक आंख में, बोलने में अचानक कठिनाई, समझने में असमर्थता, चक्कर आना या संतुलन क
डायबिटीज के कुछ मरीजों में हार्ट अटैक आने पर हाथ-पैर ठंडे व सीने में दर्द नहीं होता

डायबिटीज के कुछ मरीजों में हार्ट अटैक आने पर हाथ-पैर ठंडे व सीने में दर्द नहीं होता

Health
हृदय धमनियों और नसों के जरिए शरीर के विभिन्न भागों में पंप कर रक्त पहुंचाने का कार्य करता है। यदि आप मधुमेह (डायबिटीज) के मरीज हैं तो सावधान हो जाइए। मधुमेह के कुछ मरीजों में हार्ट अटैक के वक्त सीने में दर्द व हाथ-पैर ठंडे पडऩे जैसे लक्षण दिखते नहीं हैं। ऐसे में उन्हें साइलेंट हार्ट अटैक आता है। एक स्वस्थ व्यक्ति का हृदय उसकी मुठ्ठी के बराबर होता है। औसतन 13 सेमी. लंबा, 9 सेमी. चौड़ा और भार 300 ग्राम के करीब होता है। सामान्यत: स्वस्थ व्यक्ति का दिल एक मिनट में लगभग 72-80 बार धडक़ता है। जब हृदय को रक्त नहीं मिलता है तो हार्ट अटैक होता है। यदि समय पर डॉक्टर के पास मरीज को ले जाया जाए तो उसके बचने की संभावना बढ़ जाती है। दिल के दौरे के प्रमुख लक्षणसीने के बीच में दर्द, बेचैनी, जकडऩ, पसीना आना और घबराहट महसूस होती है। पसीना आने के साथ हाथ-पैर ठंडे हो जाते हैं। धमनियों में रक्त प्रवाह में रुकावट
नए सेंसर की मदद से डॉक्टर दूर रहकर भी रख सकेंगे मरीजों पर करीबी नजर

नए सेंसर की मदद से डॉक्टर दूर रहकर भी रख सकेंगे मरीजों पर करीबी नजर

Health
वैज्ञानिकों ने ऐसा सेंसर विकसित किया है जिससे डॉक्टर सर्जरी से गुजरने वाले मरीजों के स्वास्थ्य पर करीबी नजर रख सकते हैं। यह सेंसर अपनी ऊर्जा खुद तैयार कर लेगा और सूचनाएं भेजने का काम करेगा। बिना किसी... Live Hindustan Rss feed
‘GTB अस्पताल में दिल्ली के मरीजों को मिलेगा 80 फीसदी आरक्षण’

‘GTB अस्पताल में दिल्ली के मरीजों को मिलेगा 80 फीसदी आरक्षण’

Health
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को कहा कि उनकी सरकार गुरु तेग बहादुर अस्पताल के दिल्ली राज्य कैंसर संस्थान में राष्ट्रीय राजधानी के मरीजों का आरक्षण दोगुना करेगी।केजरीवाल ने... Live Hindustan Rss feed

डायबिटीज मरीजों के लिए खुशखबरी, अब पेड़ पर लगेंगे शुगर फ्री अमरूद

India
वैज्ञानिकों का दावा है कि एक ही पेड़ पर शुगर फ्री व मीठे अमरूद लगाए जा सकते हैं। शुगर फ्री अमरूद का वजन सामान्य अमरूद से ज्यादा होता है। Jagran Hindi News - news:national
कैंसर के मरीजों की उम्र बढ़ा सकती है ये भांग, जानें कैसे

कैंसर के मरीजों की उम्र बढ़ा सकती है ये भांग, जानें कैसे

Health
औषधीय भांग में पाया जाने वाला एक प्राकृतिक पदार्थ अग्नाश्य के कैंसर से पीड़ित उन मरीजों को लंबा जीवन जीने में मदद कर सकता है जो कीमोथैरेपी के जरिए इलाज करा रहे हों। चूहों पर किए गए एक अध्ययन में यह... Live Hindustan Rss feed

ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल से लेकर दिल के मरीजों तक के लिए अचूक औषधि है फालसे

India
गर्मी के मौसम में स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने के लिए फालसा बहुत लाभदायक होता है। इसमें मौजूद विटामिन और खनिज तत्व हमारे शरीर को स्वस्थ रखते हैं। Jagran Hindi News - news:national

दिल, निमोनिया के मरीजों के लिए रामबाण है ये वृक्ष, धरती पर इच्‍छाओं की करता है पूर्ति

India
पौराणिक धारणा है कि समुद्र मंथन से प्राप्त 14 रत्नों में से एक कल्पवृक्ष को देवगण स्वर्ग ले गए थे और यह बाद मेंं इंद्र के नंदन वन की शोभा बना था। पांडवों ने अज्ञातवास के समय अपने तपोबल से इसे स्वर्ग से पृथ्वी पर उतारा था। Jagran Hindi News - news:national
खून पतला करने वाली दवा से किडनी मरीजों के लिए खतरा

खून पतला करने वाली दवा से किडनी मरीजों के लिए खतरा

Health
खून का थक्का जमने की प्रक्रिया को कम करने वाली, यानी खून को पतला करने वाली कुछ दवाइयों से किडनी की पुरानी बीमारी (सीकेडी) के मरीजों में रक्तस्राव का खतरा ज्यादा होता है। ऐसी दवा अक्सर दिल के रोगियों... Live Hindustan Rss feed