News That Matters

Tag: मस्जिदों

फेसबुक पोस्ट पर विवाद के बाद तीन मस्जिदों पर हमला, चिलाऊ इलाके में कल तक कर्फ्यू

फेसबुक पोस्ट पर विवाद के बाद तीन मस्जिदों पर हमला, चिलाऊ इलाके में कल तक कर्फ्यू

India
कोलंबो. चिलाऊ कस्बे में फेसबुक पोस्ट पर शुरू हुए विवाद के बाद स्थानीय लोगों ने तीन मस्जिदों और मुस्लिम नागरिक की दुकान पर पत्थरों से हमला किया। पत्थरबाजी से पहले लोगों ने एक व्यक्ति को पीटा भी। इस घटना के बाद प्रशासन ने इलाके में सोमवार सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू लागू कर दिया है। श्रीलंका में 21 अप्रैल को ईस्टर के दिन हुए सिलसिलेवार धमाकों में 251 लोगों की जान गई थी। तभी से मुस्लिम समुदाय का कहना है कि हमें पूरे देश से मुस्लिम नागरिकों को प्रताड़ित किए जाने की दर्जनों शिकायतें मिल चुकी हैं।श्रीलंका पुलिस प्रवक्ता रुवान गुणशेखर ने कहा- चिलाऊ में तनाव को देखते हुए तुरंत कर्फ्यू लागू कर दिया गया है। फेसबुक पोस्ट लिखने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है।फेसबुक पोस्ट में लिखा- ज्यादा मत हंसो, एक दिन तुम रोओगेन्यूज एजेंसी ने एक फेसबुक पोस्ट का हवाला देते हुए बताया कि इस पोस्ट
धमाकों के बाद सरकार का आदेश- मस्जिदों में दिए जाने वाले उपदेशों की कॉपी दिखाएं

धमाकों के बाद सरकार का आदेश- मस्जिदों में दिए जाने वाले उपदेशों की कॉपी दिखाएं

India
कोलंबो.श्रीलंका में पिछले महीने हुए सीरियल धमाकोंके बाद सरकार सुरक्षा मजबूत करने के लिए लगातार कदम उठा रही है। सरकार ने शुक्रवार को दिए नए आदेश में कहा कि देश में मौजूद सभी मस्जिदों में जो उपदेश सुनाए जाते हैं, उनकी एक कॉपी जमा कराना जरूरी है। बताया जा रहा है कि आईएस के हमलों की जिम्मेदारी लेने के बाद से ही श्रीलंका मेंइस्लामी कट्टरपंथ खत्म करने के लिए ऐसे फैसले लिए जा रहे हैं।श्रीलंका के धर्म और सांस्कृतिक मामलों के मंत्रालय ने कहा है कि मस्जिदों का इस्तेमाल कट्टरपंथी विचार फैलाने के लिए नहीं होना चाहिए। ऐसे में देश की स्थिति को देखते हुए सभी मस्जिदों के ट्रस्टियों को निर्देश दिए जाते हैं कि वह मस्जिद को कट्टरपंथी गतिविधि या नफरत फैलाने का केंद्र न बनने दें।चेहरा ढंकने पर भी लग चुका है प्रतिबंधइससे पहले श्रीलंका में महिलाओं के चेहरा ढकने पर भी प्रतिबंध लग चुका है। राष्
मस्जिदों में महिलाओं को नमाज का हक मिले जैसे सबरीमाला में दिया गया: याचिकाकर्ता

मस्जिदों में महिलाओं को नमाज का हक मिले जैसे सबरीमाला में दिया गया: याचिकाकर्ता

Delhi
नई दिल्ली.सबरीमाला मंदिर की तर्ज पर मुस्लिम महिलाओं को भी देशभर की मस्जिदाें में जाकर नमाज पढ़ने देने की मांग पर सुप्रीम काेर्ट ने मंगलवार काे केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया। केंद्र के अलावा राष्ट्रीय महिला आयोग, मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड और वक्फ बोर्ड से भी चार सप्ताह में जवाब मांगा गया है। काेर्ट ने कहा कि सिर्फ सबरीमाला मंदिर पर सुप्रीम काेर्ट के फैसले की वजह से ही इस मांग पर सुनवाई की जा रही है।ये भी पढ़ेंपबुभा माणेक ने हाईकोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौतीसुप्रीम काेर्ट के 5 जजाें की संविधान पीठ ने 28 सितंबर 2018 काे 4:1 के बहुमत से दिए फैसले में हर आयु वर्ग की महिलाओं के सबरीमाला मंदिर में प्रवेश का रास्ता खाेला था। 10 से 50 साल तक की महिलाअाें के मंदिर में प्रवेश पर लगी पाबंदी काे काेर्ट ने लैंगिक भेदभाव करार दिया था। महाराष्ट्र के दंपती यास्मीन और जुबेर
सबरीमाला के बाद मस्जिदों में प्रवेश के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंची महिला, केंद्र को नोटिस

सबरीमाला के बाद मस्जिदों में प्रवेश के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंची महिला, केंद्र को नोटिस

Delhi
सबरीमाला मंदिर की तर्ज पर मुस्लिम महिलाओं को भी देशभर की मस्जिदाें में जाकर नमाज पढ़ने देने की मांग पर सुप्रीम काेर्ट ने मंगलवार काे केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया। केंद्र के अलावा राष्ट्रीय महिला आयोग, मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड और वक्फ बोर्ड से भी 4 सप्ताह में जवाब मांगा है। काेर्ट ने कहा कि सिर्फ सबरीमाला मंदिर पर सुप्रीम काेर्ट के फैसले की वजह से ही इस मांग पर सुनवाई की जा रही है। महाराष्ट्र के दंपती यास्मीन और जुबेर अहमद पीरजादा ने इसी फैसले के अाधार पर याचिका दायर कर मांग की है कि महिलाअाें काे मस्जिदों में नमाज पढ़ने की इजाजत दी जाए। याचिका के अनुसार भारत में जमात-ए-इस्लामी के तहत अाती मस्जिदों में महिलाएं प्रवेश कर सकती हैं। लेकिन सुन्नी अाैर अन्य पंथों की मस्जिदों में पाबंदी है। सुप्रीम काेर्ट लाइव... मस्जिदों में महिलाओं को नमाज पढ़ने की इजाजत न देना समानता केे अधि
सुप्रीम कोर्ट में याचिका, मुस्लिम महिलाओं को मस्जिदों में नमाज अदा करने की अनुमति दिलाएं

सुप्रीम कोर्ट में याचिका, मुस्लिम महिलाओं को मस्जिदों में नमाज अदा करने की अनुमति दिलाएं

Delhi
मुस्लिम महिलाओं ने मस्जिदों में प्रवेश कर नमाज अता करने की मांग काे लेकर सुप्रीम काेर्ट में याचिका दायर की है। सोमवार को दाखिल इस याचिका में मस्जिदाें में महिलाओं काे प्रवेश नहीं देने की परंपरा को असंवैधानिक और गैर-कानूनी करार देने का आग्रह किया गया है। इसमें कहा गया है कि यह महिलाओं के माैलिक अधिकारियाें का हनन है। यह महिलाओं की गरिमा के लिए भी निंदनीय है। एक मुस्लिम दंपती ने यह याचिका दाखिल की है। याचिकाकर्ता दंपती के वकील अाशुताेष दूबे ने कहा कि कुरान या हदीथ में महिला अाैर पुरुष में काेई भेदभाव नहीं है। याचिका में केंद्र सरकार, अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय, केंद्रीय वक्फ बाेर्ड, मुस्लिम पर्सनल लाॅ बाेर्ड अाैर महाराष्ट्र राज्य सरकार काे पक्ष बनाया गया है। भारत में दिल्ली की जामा मस्जिद समेत कई मस्जिदों में महिलाओं के प्रवेश की तो अनुमति है, लेकिन वह पुरुषों की तरह स
प्रधानमंत्री आर्डर्न ने कहा- मस्जिदों में गोलीबारी के बाद सभी तरह के हथियारों पर प्रतिबंध लगेगा

प्रधानमंत्री आर्डर्न ने कहा- मस्जिदों में गोलीबारी के बाद सभी तरह के हथियारों पर प्रतिबंध लगेगा

India
क्राइस्टचर्च.न्यूजीलैंड की दो मस्जिदों में पिछले दिनों हुए कत्लेआम के बाद सरकार ने हथियार नीति में बदलाव करने का फैसला किया है। गुरुवार को प्रधानमंत्री जेसिंडा आर्डर्न ने कहा कि न्यूजीलैंड में सभी तरह के सेमी ऑटोमैटिक हथियारों पर प्रतिबंध लगेगा। इसके अलावा सभी असॉल्ट राइफलों पर रोक लगेगी। जेसिंडा ने कहा कि इनमें ऐसे हथियार भी फायर आर्म्स भी शामिल हैं, जिन्हें सेमी ऑटोमैटिक हथियारों में बदला जा सकता है।क्राइस्टचर्च स्थित अल-नूर और लिनवुड मस्जिद में बीते शुक्रवार (15 मार्च) को हुए हमले में 50 लोगो मारे गए थे। इनमें 8 भारतीय थे। हमलावर ब्रेंटन टैरेंट (28) ने नमाज के दौरान लोगों पर अंधाधुंध गोलियां बरसाई थीं। इस दौरान 50 से ज्यादा लोग जख्मी भी हुए थे। इसमें बांग्लादेश क्रिकेट टीम के खिलाड़ी भी बाल-बाल बच गए थे। दुनियाभर में हमले की निंदा की गई।पहली पेशी में कोर्ट में हंस रह
मस्जिदों में फायरिंग करने वाला टैरेंट खुद लड़ेगा अपना केस, वकील को हटाया

मस्जिदों में फायरिंग करने वाला टैरेंट खुद लड़ेगा अपना केस, वकील को हटाया

India
वेलिंगटन. न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में दो मस्जिदों पर हमला कर 50 लोगों की जान लेने के आरोपीब्रेंटन टैरेंट ने अपने वकील को हटा दिया है। अब वह खुद अपना केस लड़ेगा। सरकार ने पहले औपचारिक तौर पर उसे बचाव के लिए वकील दिया था। लेकिन, रविवार को ही टैरेंट ने खुद कोर्ट के सामने बात रखने का फैसला किया।टैरेंट की पहली पेशी में उसके साथ सरकारी वकील रिचर्ड पीटर्स भी मौजूद थे। हालांकि, सोमवार को पीटर्स ने न्यूज एजेंसी एएफपी को बताया कि टैरेंट कोर्ट में खुद ही अपनी बात रखना चाहता है। इसी बीच कुछ संगठनों ने आशंका जताई है कि टैरेंट कटघरे का इस्तेमाल अपने अतिवादी विचारों को पेश करने के लिए भी कर सकता है।पहली पेशी में कोर्ट में हंस रहा था टैरेंटक्राइस्टचर्च में दो मस्जिदों अल-नूर और लिनवुड में शुक्रवार को दोपहर की नमाज के दौरान हमलावर ने अंधाधुंध गोलीबारी की थी, जिसमें 49 लोग मारे गए। इस
मस्जिदों के लिए रखे जाएं पर्यवेक्षक

मस्जिदों के लिए रखे जाएं पर्यवेक्षक

Delhi
नई दिल्ली। दिल्ली भाजपा ने चुनाव आयोग से मांग की है कि मस्जिदों और मुस्लिम बहुल इलाकों में पर्यवेक्षक की नियुक्ति करे। दिल्ली भाजपा ने इसके लिए चुनाव आयोग को एक पत्र लिखा है। इसमें उसने कहा है कि रमजान के दौरान मुस्लिमों को धार्मिक आधार पर मतदान करने के लिए उकसाया जा सकता है, ऐसा ना हो इसके लिए जरूरी है कि चुनाव आयोग पर्यवेक्षकों की नियुक्ति करे। पत्र में आरोप लगाया गया है कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पिछले कुछ दिनों से मुस्लिम बहुल इलाकों में भड़काऊ भाषण और आधारहीन बयान दे रहे हैं। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
क्राइस्टचर्च की मस्जिदों में गोलीबारी के बाद बांग्लादेश का न्यूजीलैंड दौरा रद्द

क्राइस्टचर्च की मस्जिदों में गोलीबारी के बाद बांग्लादेश का न्यूजीलैंड दौरा रद्द

Indian Sports
न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड के मुताबिक, क्राइस्टचर्च में अल-नूर और एक अन्य मस्जिद में गोलीबारी की घटना के बाद बांग्लादेश टीम का न्यूजीलैंड दौरा रद्द हो गया है। खिलाड़ियों ने कहा- उन्होंने ऐसा भयावह मंजर पहले कभी नहीं देखा। हालांकि, बांग्लादेश क्रिकेट टीम के सभी खिलाड़ी सुरक्षित हैं। घटना में 40 की मौत हुई है। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Christchurch Mosque Shooting: After firing incident Bangladesh Cricket Team's New Zealand tour canceled Dainik Bhaskar
पुलवामा आतंकी हमले पर बोले लोग, भारत बदला ले; मस्जिदों में शहीद जवानों के लिए दुआ

पुलवामा आतंकी हमले पर बोले लोग, भारत बदला ले; मस्जिदों में शहीद जवानों के लिए दुआ

India
जुमे की नमाज के बाद शहर की तमाम मस्जिदों में आतंकी गतिविधियों के खिलाफ प्रदर्शन कर शहीद जवानों की आत्मा की शांति के लिए दुआ की गई। इसके अलावा पाकिस्तान का पुतला भी फूंका गया। दारूल उलूम फरंगी महल में... Live Hindustan Rss feed