News That Matters

Tag: मोटापा

मोटापा घटाने को एक साल पुराना शहद लें,एंटी एजिंग में भी कारगर

मोटापा घटाने को एक साल पुराना शहद लें,एंटी एजिंग में भी कारगर

Health
शहद पाचन शक्ति मजबूत करता है। इसके सेवन से शरीर को ऊर्जा मिलती है। शुगर और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है। इसको हजम करने की आवश्यकता नहीं होती, यह स्वयं पचा हुआ एक पोषक आहार है। इसके प्रयोग से शरीर को सीधे तौर पर ऊर्जा मिलती है। इसे बच्चे, बूढ़े, जवान और रोगी सभी कर सकते हैं। शहद शुगर और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है। इसमें कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, फास्फोरस, पोटैशियम, सोडियम और जिंक आदि खनिज तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। टाइफाइड, निमोनिया में शहद लेने पर लिवर, आंतों की कार्यक्षमता बढ़ाता है। आयुर्वेद के अनुसार अलग-अलग पेड़ों पर पाए जाने वाले शहद की अपनी खासियत होती है। नीम के पेड़ का शहद आंखों के लिए, जामुन के पेड़ का डायबिटीज के लिए, सहजना के पेड़ का ब्लड-प्रेशर में लाभदायक होता है। कमल के फूलों की शहद सबसे अच्छी होती है। मधुमेह रोगियों को रात में सोने से पहले 10 ग्राम शहद
मोटापा घटाने की दवा जल्द होगी हकीकत : अध्ययन

मोटापा घटाने की दवा जल्द होगी हकीकत : अध्ययन

Health
मोटापे की समस्या से जूझ रहे लोगों को अब शायद लोगों की शर्मिंदगी का शिकार नहीं होना पड़े। विशेषज्ञों ने मोटापा बढ़ाने वाले वायरस की खोज करने का दावा किया है। यह वायरस फैट सेल्स को उत्तेजित कर उन्हें... Live Hindustan Rss feed
पेट के बैक्टीरिया से भी आर्थराइटिस, मोटापा व दिमाग के रोग

पेट के बैक्टीरिया से भी आर्थराइटिस, मोटापा व दिमाग के रोग

Health
दुनिया में जितनी आबादी है उससे ज्यादा सूक्ष्म बैक्टीरिया एक व्यक्ति के शरीर में पाए जाते हैं। वैज्ञानिकों ने रिसर्च में पाया कि हमारे पेट में पाए जाने वाले ये सूक्ष्मजीव सेहतमंद बने रहने में बड़ी भूमिका निभाते हैं। हालांकि ये मित्र भी हैं और शत्रु भी। जानिए ऐसे रोग जो पेट के किटाणुओं से जन्म लेते हैं। डिप्रेशन : डिप्रेशन के तीन मामलों में से एक का कारण बैक्टीरिया हो सकते हैं। जो आंत से निकलकर खून में मिल जाते हैं। इसके पीछे आंत का कहीं से क्षतिग्रस्त होना या झिल्ली का कमजोर पडऩा होता है। सिजोफे्रनिया : ये दिमागी दौरे से जुड़ी घातक बीमारी है। चूहों पर हुई रिसर्च के अनुसार बैक्टीरिया दिमाग के विकास पर असर डाल सकते हैं। इसी कारण सिजोफ्रेनिया जैसा मेंटल डिस्ऑर्डर होता है। पार्किंसन : वैज्ञानिक तंत्रिका तंत्र से जुड़ी इस दिमागी बीमारी के प्रकोप में भी बैक्टीरिया की भूमिका देखते हैं। उनके अनुसा
मोटापा घटाने के लिए कैसे-कैसे जतन

मोटापा घटाने के लिए कैसे-कैसे जतन

Health
मोटापा पूरी दुनिया के लिए आफत की पुडिय़ा बन गया है। दुनियाभर में लोग मोटापे से निजात पाने के लिए खानपान के कुछ सामान्य नियमों और एक्सरसाइज के अलावा कुछ खास उपाय भी आजमाते हैं। डायटीशियन डॉ. प्रीति विजयवर्गीय के मुताबिक, भारत उसी सूची में शामिल है जहां अधिक वजन वाले स्लिम होने के लिए काफी प्रयास करते हैं। इसके लिए यहां के ज्यादातर लोग डाइटिंग को वजन घटाने का जरिया बनाते हैं। इससे उनका वजन तो नियंत्रित होता है लेकिन शरीर में पोषक तत्त्वों की कमी भी हो जाती है। जानते हैं अन्य देशों में किस तरह की गतिविधियों को अपनाया जाता है। नीदरलैड्स नीदरलैड्स के 54 फीसदी लोग अपने दैनिक कार्यों, शॉपिंग व ऑफिस जाने के लिए साइकिल का प्रयोग करते हैं। नीदरलैंडवासी हर साल औसत 866 किलोमीटर की दूरी साइकिल से तय करते हैं। यही मोटापे से लडऩे का इनका मूल मंत्र है। सही स्पीड में साइकिल चलाकर हम प्रति घंटे 550 कैलोरी आ
लाल मिर्च से बनी दवाई घटाएगी मोटापा, बनेंगे स्वस्थ

लाल मिर्च से बनी दवाई घटाएगी मोटापा, बनेंगे स्वस्थ

Health
मोटापा एक शारीरिक समस्या है, जो कि रोकथाम ना किये जाने पर गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है। मोटापा के साथ शुगर, जोड़ों में दर्द और थायरॉइड जैसी समस्याएं भी शरीर को घेरने लगती है। अमेरिका... Live Hindustan Rss feed
बस एक इंजेक्शन से ठीक होगा मोटापा और डायबिटीज

बस एक इंजेक्शन से ठीक होगा मोटापा और डायबिटीज

Health
डायबिटीज और मोटापा एक दूसरे से काफी हद तक जुड़े हुए हैं। मोटापे को कई समस्याओं की जड़ माना जाता है। इसे ध्यान में रखते हुए विशेषज्ञों ने एक ऐसा इंजेक्शन बनाने का दावा किया है, जिससे मोटापे और... Live Hindustan Rss feed
मोटापा व हृदय रोगों से बचाता लौकी का रस

मोटापा व हृदय रोगों से बचाता लौकी का रस

Health
इन दिनों शरीर की बढ़ती चर्बी और हृदय रोगों के मामलों में बढ़ोतरी देखी जा रही है। इसका कारण खानपान में हैल्दी चीजों का न लेना है। ऐसे में लौकी का रस या जूस शरीर को कई तरह से फायदा पहुंचाता है। विशेषज्ञों के मुताबिक यह शरीर में पानी की कमी पूरी करने के साथ पोषक तत्व की भी पूर्ति करता है। जानते हैं इसे कैसे तैयार किया जाए और क्या हैं इसके फायदे.... ऐसे करें तैयारसबसे पहले लौकी को छीलकर धो लें। फिर उसके छोटे-छोटे टुकड़े कर लें। अब एक ब्लेंडर में लौकी के टुकड़े डाल कर साथ में पुदीने की पत्तियां मिलाकर ब्लेंड करें। जब जूस बन जाए तब उसमें जीरा पाउडर, नमक और काली मिर्च पाउडर डालकर अच्छी तरह मिलाएं। अब बर्फ डालकर सर्व करें। ये हैं फायदे पाचनतंत्र दुरुस्तलौकी में घुलनशील फाइबर अधिक पाया जाता है जो पाचन क्रिया को बेहतर बनाता है। इसे नियमित तौर पर पीने से कब्ज ठीक होता है और एसिडिटी जैसी समस्या से छ