News That Matters

Tag: मोटापे

बच्‍चों को मोटापे और मानसिक समस्‍या का शिकार बना सकता है एनर्जी ड्रिंक

बच्‍चों को मोटापे और मानसिक समस्‍या का शिकार बना सकता है एनर्जी ड्रिंक

Health
बच्चों और युवाओं को मोटापा और मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी परेशानियों से बचाने के लिए उन्‍हें कैफीन वाले एनर्जी ड्रिंक से दूर रखने की जरूरत है। ब्रिटेन के स्‍वास्‍थ्‍य... Live Hindustan Rss feed

अगर आप भी अस्‍थमा से पीडि़त तो हो जाएं सावधान, हो सकती है मोटापे की समस्‍या

India
अध्ययन में एक भारतवंशी समेत वैज्ञानिकों के दल ने पाया है कि सांस संबंधी इस रोग के चलते मोटापे का भी खतरा हो सकता है। यह निष्कर्ष 8,618 लोगों पर किए गए अध्ययन के आधार पर निकाला गया है। Jagran Hindi News - news:national
अधिक दुबलेपन व मोटापे की वजह हो सकती है पाचनतंत्र की गड़बड़ी

अधिक दुबलेपन व मोटापे की वजह हो सकती है पाचनतंत्र की गड़बड़ी

Health
आपने अक्सर लोगों को यह शिकायत करते देखा होगा कि हम खाते तो हैं लेकिन खाना शरीर को नहीं लगता या फिर ज्यादा नहीं खाते फिर भी मोटे होते जा रहे हैं। ये दोनों परेशानियां ज्यादातर पाचनतंत्र में गड़बड़ी के कारण सामने आती हैं। हम चाहे कितना ही पौष्टिक भोजन क्यों न कर लें, जब तक पाचनतंत्र ठीक नहीं होगा, फिट नहीं हो सकते। जानते हैं इससे जुड़े तमाम पहलुओं के बारे में- क्यों होती है गड़बड़ीपाचन तंत्र हमारे शरीर का महत्त्वपूर्ण हिस्सा है। यह हमारे भोजन को पचाता है, फिर पौष्टिक तत्त्वों, जरूरी एंजाइम्स व रसायनों को शरीर के अन्य हिस्सों तक पहुंचाता है। अधिक भोजन करने, हड़बड़ी में या असमय खाने से, गरिष्ठ भोजन, व्यायाम का अभाव और रोजमर्रा का तनाव जैसी आदतों से पाचनतंत्र गड़बड़ा जाता है व जरूरी रसायन व एंजाइम्स शरीर को नहीं मिल पाते। एसिड रिफ्लेक्सपेट में अम्ल या पित्त के भोजन नली में पहुंचने के कारण होता ह
होने वाली संतान को मोटापे से रखना चाहते हैं महफूज तो खूब खाएं दाल-पालक

होने वाली संतान को मोटापे से रखना चाहते हैं महफूज तो खूब खाएं दाल-पालक

Health
मोटापा टाइप-2 डायबिटीज से लेकर हृदयरोग, स्ट्रोक और कैंसर तक का खतरा बढ़ाता है। पुरुष चाहें तो खाने में भरपूर मात्रा में दाल, पालक, चना, अंडा, चिकन, दूध-दही शामिल कर अपनी भावी संतान को मोटापे से महफूज... Live Hindustan Rss feed
अधिक मोटापे से भी होती है किडनी संबंधी समस्या

अधिक मोटापे से भी होती है किडनी संबंधी समस्या

Health
मोटापा केवल डायबिटीज और हाइपर टेंशन का कारण ही नहीं बनता बल्कि किडनी को भी नुकसान पहुंचाता है। इससे किडनी में फोकल सेगमेंटल ग्लोमेरूलोस्क्लेरोसिस (एफएसजीएस) बढ़ जाता है जिससे नेफ्रोटिक सिंड्रोम रोग होता है। डायबिटीज और ब्लड प्रेशर होने की स्थिति में क्रॉॅनिक किडनी डिजीज की आशंका रहती है जिसमें किडनी फेल हो सकती है। जब बढ़ता है खतराकिडनी में छोटे-छोटे छिद्र होते हैं जो फिल्टर का काम करते हैं। एफएसजीएस बढऩे से इन छिद्रों का आकार बढ़ जाता है। ऐसे में फिल्टर का काम ठीक से नहीं होता और शरीर के अन्य हिस्सों में जाने वाला प्रोटीन यूरिन से बाहर निकल जाता है। लक्षणशरीर में सूजन, भूख न लगना, यूरिन कम या न कर पाना आदि। इन्हें है अधिक खतराअधिक वजन वाले लोग, ब्लड प्रेशर और डायबिटीज के मरीज, मेडिकल हिस्ट्री व धूम्रपान करने वाले लोगों को इसका खतरा अधिक रहता है। जरूरी जांचेंसबसे पहले विशेषज्ञ यूरिन की रुट
शिशु को 4 माह से पहले ठोस आहार देने पर हो सकती मोटापे की दिक्कत

शिशु को 4 माह से पहले ठोस आहार देने पर हो सकती मोटापे की दिक्कत

Health
जन्म के शुरुआती माह में दिया जाने वाला ठोस आहार शिशु के मस्तिष्क और शरीर के विकास के लिए जरूरी है। आहार सही तरीके और समय पर देने से बच्चे को एलर्जी से भी दूर रख सकते हैं। प्रश्न : बच्चे का खानपान कब शुरू करना चाहिए?ज्यादातर बच्चे को 4 से 6 माह के बीच ठोस आहार दिया जाता है। शोध से पता चलता है कि बच्चे को 4 माह से पहले ठोस आहार शुरू करने से बच्चों में मोटापे का खतरा बढ़ सकता है। इस दौरान शिशु द्वारा सिर संभालना, आहार मुंह में अंदर ले जाने की क्षमता, स्तन या बोतल को खींचना और अन्य चीजों को करने या खाने के लिए चारों ओर देखने की क्षमताएं शामिल हैं। यदि बच्चा ठोस आहार खिलाने पर जीभ से बाहर निकाल देता है तो उसको ठोस पदार्थ देने के लिए एक सप्ताह बाद दोबारा प्रयास करें। प्रश्न : कौनसी चीजें खिलाकर शुरुआत करनी चाहिए?ठोस आहार के लिए वैसे कोई सख्त दिशा-निर्देश नहीं हैं। पहले 6 माह से अधिक उम्र के बच्च
मोटापे से अर्थराइटिस के इलाज में आती है रुकावट

मोटापे से अर्थराइटिस के इलाज में आती है रुकावट

Health
महिलाओं में मोटापा और पुरुषों में धूम्रपान की लत रियोमेटोइड अर्थराइटिस के इलाज में रुकावट पैदा कर सकती है। एक अध्ययन में इस बात का खुलासा हुआ है। रियोमेटोइड अर्थराइटिस के लक्षणों की जल्दी पहचान करने... Live Hindustan Rss feed
इन तरीकों से मोटापे को कहें गुडबाय

इन तरीकों से मोटापे को कहें गुडबाय

Health
मोटापा और पेट बढऩे की समस्या आजकल आम हो गई है। लेकिन कुछ बातों को ध्यान में रखकर इस परेशानी से छुटकारा पाया जा सकता है। रोजाना नींबू पानी लें : अपने दिन की शुरुआत नींबू पानी से करें। पेट पर जमा अतिरिक्त चर्बी को कम करने का यह कारगर उपाय है। रोज सुबह गुनगुने पानी में नींबू का रस और थोड़ा सा नमक मिलाकर लेने से आपका मेटाबॉलिज्म दुरुस्त रहता है साथ ही आपको वजन कम करने में भी मदद मिलती है। अगर आपको बीपी की शिकायत है तो नमक से परहेज करें। मीठे से रहें दूर : मिठाइयां, मीठे पेय पदार्थ और तैलीय खाद्य पदार्थ मोटापा बढ़ाते हैं। इनके अधिक सेवन से शरीर पर अतिरिक्त चर्बी जमा हो जाती है। ऐसे में इनसे दूरी बनाना ही बेहतर होगा। लहसुन आजमाएं : रोजाना सुबह खाली पेट लहसुन की 2-4 कलियां चबाकर ऊपर से नींबू पानी पीना भी फायदेमंद है। इससे वजन कम करने की प्रक्रिया दोगुनी हो जाएगी। साथ ही शरीर में रक्त का प्रवाह भी
अधिक दुबलेपन व मोटापे की वजह हो सकती है पाचनतंत्र की गड़बड़ी

अधिक दुबलेपन व मोटापे की वजह हो सकती है पाचनतंत्र की गड़बड़ी

Health
आपने अक्सर लोगों को यह शिकायत करते देखा होगा कि हम खाते तो हैं लेकिन खाना शरीर को नहीं लगता या फिर ज्यादा नहीं खाते फिर भी मोटे होते जा रहे हैं। ये दोनों परेशानियां ज्यादातर पाचनतंत्र में गड़बड़ी के कारण सामने आती हैं। हम चाहे कितना ही पौष्टिक भोजन क्यों न कर लें, जब तक पाचनतंत्र ठीक नहीं होगा, फिट नहीं हो सकते। जानते हैं इससे जुड़े तमाम पहलुओं के बारे में- क्यों होती है गड़बड़ीपाच? तंत्र ?? हमारे शरीर का महत्त्वपूर्ण हिस्सा है। यह हमारे भोजन को पचाता है, फिर पौष्टिक तत्त्वों, जरूरी एंजाइम्स व रसायनों को शरीर के अन्य हिस्सों तक पहुंचाता है। अधिक भोजन करने, हड़बड़ी में या असमय खाने से, गरिष्ठ भोजन, व्यायाम का अभाव और रोजमर्रा का तनाव जैसी आदतों से पाचनतंत्र गड़बड़ा जाता है व जरूरी रसायन व एंजाइम्स शरीर को नहीं मिल पाते। पाचनतंत्र से जुड़ी समस्याएं व उपायडायरियाशरीर में तेजी से पानी की कमी ह
पार्टनर के मोटापे से आपको हो सकता है डायबिटीज!

पार्टनर के मोटापे से आपको हो सकता है डायबिटीज!

Health
आपके साथी का बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) आपमें मधुमेह होने के खतरे का अनुमान जाहिर कर सकता है। एक अध्ययन के मुताबिक ऐसे पुरुषों में मधुमेह होने का खतरा ज्यादा होता है जिनकी पत्नियां मोटापे से ग्रस्त... Live Hindustan Rss feed