News That Matters

Tag: याददाश्त

एक्सपर्ट से जानिए कमजाेरी, याददाश्त आैर जोड़ दर्द जैसी समस्या से जुड़े सवालों के जवाब

एक्सपर्ट से जानिए कमजाेरी, याददाश्त आैर जोड़ दर्द जैसी समस्या से जुड़े सवालों के जवाब

Health
सवाल - कुछ दिनाें से कमजाेरी महसूस हाे रही है। इलाज कराने पर काेर्इ फायदा नहीं हुआ ताे डाॅॅॅक्टर बदल लिया। फिर भी अच्छा महसूस नहीं कर रहा हूं।काेर्इ उपाय बताएं। - पवन जवाब - कमजाेरी का संबंध कर्इ वजहाें से हाेता है।यदि बुखार के बाद की कमजाेरी है ताे यूनानी में खमीरा मरमरीज या खमीरा राउजबान सादा ले सकते हैं। ये दाेनाें खमीरे कमजाेरी दूर करने में बहुत अच्छा काम करते हैं।इसके साथ अलावा उन्नाब का शरबत लेना भी फायदेमंद रहता है। सवाल - अच्छी तरह से पढ़ार्इ हाे इसके लिए मुझे क्या करना चाहिए?- दर्शक जवाब- दिमागी ताैर पर काम करने वालाें आैर पढ़ार्इ करने वालाें की याददाश्त अच्छी हाेनी चाहिए। याददाश्त बढ़ाने के लिए अखराेट का हलावा, बादाम का हलवा, काजू, खसखास(अफीम के बीज)लाभदायक हाेते हैं। अगर आपकाे अपनी याददाश्त तेज करनी है ताे ये नुस्खा आजमा सकते हैं:-एक चम्मच खसखास,दाे चम्मच गेंहू, तीन बादाम, काजू
अश्वगंधा की किस्में ब्रेन स्ट्रोक और याददाश्त बढ़ाने में कारगर

अश्वगंधा की किस्में ब्रेन स्ट्रोक और याददाश्त बढ़ाने में कारगर

Haryana
हिसार(सुभाष चंद्र).अश्वगंधा की निमटली 101-118 किस्में ब्रेन स्ट्रोक, 101 रोग प्रतिरोधक क्षमता और याददाश्त बढ़ाने में लाभकारी हैं। अगर स्ट्रोक के 5-6 घंटे के अंदर इनका इस्तेमाल किया जाए तो यह काफी लाभकारी हैं, जो याददाश्त पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव को रोकती है।यह जानकारी जीजेयू में पहुंचे गाजियाबाद स्थित वैज्ञानिक एवं नवीकृत अनुसंधान अकादमी के निदेशक प्रोफेसर डाॅ. राजेंद्र सांगवान ने दी। वह जीजेयू में ग्लोबल इनिशिएटिव ऑफ एकेडमिक नेटवर्क (ज्ञान) के तहत ‘जिनोम मेनीपुलेशन, एडिटिंग एंड इंटरफ्रेंस बाय वीआईजीएस, सीआरआईएसपीआर एंड आरएनएआई’ विषय पर शुरू हुई 10 दिवसीय कार्यशाला में पहुंचे थे। डाॅ. राजेंद्र ने बताया कि उन्होंने नीम पर भी रिसर्च की है। इस पौधे की जड़ें काम आती हैं, जो न्यूरो से रिलेटेड जोड़ों के दर्द में लाभकारी है। इसकी जड़ की क्वालिटी भी बहुत अच्छी है।अश्वगंधा आयुर्
शंखपुष्पी का रस याददाश्त करे तेज, अल्सर से दिलाए छुटकारा

शंखपुष्पी का रस याददाश्त करे तेज, अल्सर से दिलाए छुटकारा

Health
शंखपुष्पी एक प्रकार की जड़ी-बूटी है जो सामान्य तौर पर गर्म और नमी वाले इलाकों में ज्यादा पाई जाती है। इसकी हरी पत्तियों और फूलों से बने पाउडर व रस का प्रयोग कई रोगों में लाभदायक होता है।आइए जानते हैं इसके फायदाें के बारे में :- बीमारियां : अल्सर, एसिडिटी, हाई ब्लड प्रेशर, याददाश्त में कमी, गुस्सा, चिड़चिड़ापन और तनाव जैसी समस्याओं में शंखपुष्पी फायदेमंद होती है। इसके इस्तेमाल से एकाग्रता भी बढ़ती है। उपयोग : इसकी पत्तियों से तैयार रस सुबह खाली पेट ठंडे दूध और मिश्री के साथ लेने से एकाग्रता बढ़ती है, अल्सर व एसिडिटी में लाभ होता है। डायबिटीज के मरीज इसमें मिश्री न मिलाएं। ये भी उपयोगी- इसकी सूखी पत्तियों का पाउडर सुबह खाली पेट ठंडे दूध और मिश्री के साथ लेने से गुस्सा, चिड़चिड़ापन, तनाव और बेचैनी दूर होती है। - शंखपुष्पी के फूलों से तैयार रस का प्रयोग आयुर्वेद में सिरप के रूप में किया जाता ह

न हारने की जिद: याददाश्त से लड़े, कैंसर को भी हराया और बने सिविल जज

India
जबलपुर के दो होनहारों ने मिसाल कायम की है। जबलपुर के दो होनहारों ने मिसाल कायम की है। याददाश्त से लड़कर सिविल जज बने तो, स्वाति चौहान ने खुद बच्चों को पढ़ाकर अपनी पढ़ाई की फीस जमा करके सिविल जज बनीं। Jagran Hindi News - news:national
अच्छी याददाश्त के लिए रोज करें चक्रासन, पढ़ें चक्रासन की अभ्यास विधि और सीमाएं

अच्छी याददाश्त के लिए रोज करें चक्रासन, पढ़ें चक्रासन की अभ्यास विधि और सीमाएं

Health
स्मरण शक्ति की कमी आज प्राय: हर आयु के लोगों में गंभीर स्वास्थ्य समस्या का रूप धारण कर चुकी है। मनुष्य के सर्वांगीण विकास में स्मरण शक्ति की विशिष्ट भूमिका होती है, किन्तु आज की इस तनावपूर्ण जीवनशैली... Live Hindustan Rss feed
याददाश्त बढ़ाने को खिलाए बादाम, च्यवनप्राश

याददाश्त बढ़ाने को खिलाए बादाम, च्यवनप्राश

Punjabi Politics
लुधियाना| ढाई साल से बंद पड़े जगराओं पुल के भारत नगर चौक जाते हिस्से का काम जल्द पूरा कर खाेलने के लिए समाज सेवी संगठनों ने नुक्कड़ नाटक के जरिए रेलवे के खिलाफ प्रदर्शन किया। उन्होंने वहां रेल अफसर बने समाज सेवक अनूप गर्ग को याददाश्त बढ़ाने के लिए बादाम-च्यवनप्राश और ताकत के लिए ओमेगा कैप्सूल खिलाए। बदले में रेल अफसर से समाज सेवकों को लॉलीपॉप मिले। उन्होंने रेलवे पर कटाक्ष किया कि शहर जगराओं पुल पर जाम से परेशान है, लेकिन रेलवे अफसर जल्द काम कराने की जगह लारे लगा रहे हैं। नाटक में रेलवे के जल्द काम कराने के दावों के ढोंग का भी पर्दाफाश किया गया। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Ludhiana News - almonds chyavanprash to increase memory enhancement Dainik Bhaskar
आॅॅॅवला के साथ शहद का यूं करें इस्तेमाल, याददाश्त रहेगी बेमिसाल

आॅॅॅवला के साथ शहद का यूं करें इस्तेमाल, याददाश्त रहेगी बेमिसाल

Health
बढ़ती उम्र के साथ याददाश्त कमजोर हो जाना एक आम समस्या है। लेकिन कुछ उपाय अपनाकर याददाश्त को दुरुस्त रखा जा सकता है - आंवला खाएंमेमोरी शार्प करने के लिए 1 किलो आंवलों को वर्गाकार काटकर इसमेें आधा किलो शहद डालकर मिला लें। पंद्रह दिनों तक रोज तेज धूप में रखें। नाश्ते और डिनर के बाद थोड़े दूध के साथ इसके दो-तीन पीस खाएं। हर रोज कुछ नया सीखेंयाददाश्त बढ़ाने के लिए रोजाना कुछ नया सीखें। एक शोध में पता लगाया कि ये बात सामने आई कि आसान कामों की जगह डिजिटल फोटोग्राफी, ड्राइविंग, संगीत आदि सीखने से याददाश्त में बेहतर बदलाव आता है और दिमाग तेज होता है। डाइट का खास ख्याल रखेंयाददाश्त बढ़ाने के लिए डाइट में हरी सब्जियों का भरपूर सेवन करें और खूब पानी पीएं। इसके अलावा नॉनवेज में मछली और मछली के तेल से बनी चीजों का सेवन करें, इससे दिमाग को काफी फायदा मिलता है। रेड मीट, डेयरी उत्पादों और मीठी चीजों का सेव
Blinking Eyes से तेज होता है दिमाग और बढ़ती है याददाश्त, यहां जानें कैसे?

Blinking Eyes से तेज होता है दिमाग और बढ़ती है याददाश्त, यहां जानें कैसे?

Health
इस जगत में भला ऐसा कौन प्राणी होगा, जो तेज दिमाग न चाहता हो। सच तो यह है कि हर कोई तेज दिमाग चाहता है, शार्प मेमोरी चाहता है। इतना ही नहीं पैरेंट्स के लिए हमेशा इस बात की चिंता सताती है कि उनके बच्चों का दिमाग तेज कैसे हो? याददाश्त क्षमता में वृद्धि कैसे हो। यहां हम आपको बताना चाहते हैं कि दिमाग को तेज करने और याददाश्त क्षमता में वृद्धि करने के अनेकों तरीके हैं। इनमें सबसे ज्यादा बादाम पर जोर दिया जाता है। सवाल यह उठता है कि क्या वाकई बादाम से दिमाग को तेज और याददाश्त को बढ़ाया जा सकता है। हम आपको बता दें कि बादाम को भले ही दिमाग को तेज करने व मेमोरी बढ़ाने का अचूक नुस्खा माना जाता है, लेकिन इस बारे में वैज्ञानिकों का कहीं कोई उल्लेख नहीं मिलता है। इसके अलावा भी ढेरों ऐसे उपाय बताए जाते हैं, जो हैल्दी दिगाग के लिए कितने उपयुक्त है, इसे बारे में कुछ भी कहना सही नहीं होगा। हां, हम यहां दिमाग
विश्व अल्जाइमर दिवस आज, हर तीसरे सेकंड एक शख्स खो रहा अपनी याददाश्त

विश्व अल्जाइमर दिवस आज, हर तीसरे सेकंड एक शख्स खो रहा अपनी याददाश्त

Health
दुनिया में हर तीसरे सेकंड एक शख्स भुलक्कड़ बनता जा रहा है। भागती-दौड़ती जिंदगी के तनाव, सही खानपान व कसरत की कमी और बढ़ती उम्र जैसे कई कारण हमारी याददाश्त छीनने में लगे हुए हैं। डिमेंशिया के ही एक... Live Hindustan Rss feed