News That Matters

Tag: येदियुरप्पा

भाजपा में शामिल होना चाह रहे हैं कांग्रेस और जदएस के कई विधायक: येदियुरप्पा

भाजपा में शामिल होना चाह रहे हैं कांग्रेस और जदएस के कई विधायक: येदियुरप्पा

India
भाजपा नेता बी. एस. येदियुरप्पा ने शनिवार को यह दावा किया कि सत्ताधारी कांग्रेस और जदएस के कई असंतुष्ट नेता उनकी पार्टी में शामिल होने के लिए उत्सुक हैं। येदियुरप्पा की टिप्पणी ऐसे समय में... Live Hindustan Rss feed
कर्नाटक भाजपा चाहती थी कि कांग्रेस-जेडीएस सरकार बनाएं; दिल्ली के अड़ने पर बनी थी येदियुरप्पा की सरकार

कर्नाटक भाजपा चाहती थी कि कांग्रेस-जेडीएस सरकार बनाएं; दिल्ली के अड़ने पर बनी थी येदियुरप्पा की सरकार

India
भाजपा के रणनीतिकार अल्पमत सरकार के पक्ष में नहीं थे। लेकिन दिल्ली में शीर्ष नेतृत्व के अड़ने पर येद्दियुरप्पा ने शपथ ली। सूत्रों के मुताबिक चुनाव में अहम भूमिका में रहे राज्यसभा सदस्य राजीव चंद्रशेखर का मत था कि बहुमत का जुगाड़ जल्दी संभव नहीं है। पहले कांग्रेस-जेडीएस को सरकार बनाने दें। फ्लोर टेस्ट के लिए राज्यपाल उन्हें 10-15 दिन देंगे। उस दौरान विधायक तोड़कर कांग्रेस-जेडीएस सरकार गिरा सकते हैं। नहीं तो 5-6 माह में गठबंधन सरकार में विवाद जरूर होंगे। ऐसे में लोकसभा चुनाव के करीब कुमारस्वामी की सरकार गिरा सकते हैं। लेकिन शीर्ष नेतृत्व सरकार बनाना चाहता था। विधायक जुटाने का काम येद्दि के विरोधी सोमशेखर रेड्‌डी को सौंपा। लेकिन विपक्ष की घेराबंदी और सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने सारी रणनीति पर पानी फेर दिया। और तो और तुमकुर मठ के धर्मगुरु शिवकुमार स्वामी भी लिंगायत विधायकों से संपर्क नहीं कर पाए थे।
कर्नाटक का रण LIVE: येदियुरप्पा सरकार रहेगी या जाएगी, आज शाम 4 बजे होगा शक्ति परीक्षण

कर्नाटक का रण LIVE: येदियुरप्पा सरकार रहेगी या जाएगी, आज शाम 4 बजे होगा शक्ति परीक्षण

India
कर्नाटक में भाजपा की सरकार रहेगी या जाएगी, इसका फैसला आज को होगा। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को राज्यपाल का फैसला पलटते हुए कहा कि शनिवार शाम चार बजे विधानसभा में शक्ति परीक्षण कराया जाए ताकि यह पता... Live Hindustan Rss feed
बोपैया आज कराएंगे येदियुरप्पा का फ्लोर टेस्ट, 8 साल पहले 16 विधायकों को अयोग्य घोषित कर बचा दी थी सरकार

बोपैया आज कराएंगे येदियुरप्पा का फ्लोर टेस्ट, 8 साल पहले 16 विधायकों को अयोग्य घोषित कर बचा दी थी सरकार

India
कर्नाटक के सीएम बीएस येद्दियुरप्पा के लिए आज करो या मरो का दिन है। उन्हें शनिवार शाम 4 बजे सदन में बहुमत साबित करना है। इसे देखते हुए कांग्रेस और जेडीएस के विधायक हैदराबाद से बेंगलुरु पहुंच गए हैं। दोनों पार्टियों का दावा है कि उनके सभी विधायक उनके साथ हैं। इससे पहले भाजपा विधायक केजी बोपैया को प्रोटेम स्पीकर बनाने के खिलाफ कांग्रेस शुक्रवार रात को फिर सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई। शनिवार सुबह 10.30 बजे इस पर सुनवाई होगी। हालांकि, भाजपा का दावा है कि 10 साल पहले 2008 में भी वह प्रोटेम स्पीकर बन चुके हैं। सामान्यत: सबसे सीनियर विधायक प्रोटेम स्पीकर बनता है। बता दें कि अक्टूबर 2010 में स्पीकर रहने के दौरान उन्होंने भाजपा के 11 बागियों और पांच निर्दलीयों को अयोग्य घोषित कर सरकार बचाने में येद्दि की मदद की थी। बाद में सुप्रीम कोर्ट ने तल्ख टिप्पणियों के साथ उनका फैसला रद्द कर दिया था। आज की ताज़ा ख़ब
येदियुरप्पा के सीएम बनते ही इगलटन रिजॉर्ट से पुलिस हटी, कांग्रेस-जेडीएस विधायकों के लिए सुरक्षित जगह खोज रही

येदियुरप्पा के सीएम बनते ही इगलटन रिजॉर्ट से पुलिस हटी, कांग्रेस-जेडीएस विधायकों के लिए सुरक्षित जगह खोज रही

Delhi
कर्नाटक में भाजपा के बीएस येद्दियुरप्पा ने सीएम पद की शपथ ले ली है, लेकिन अभी विधानसभा में बहुमत साबित करना बाकी है। इसके लिए राज्यपाल ने 15 दिन की मोहलत दी है। अब राज्य में जोड़-तोड़ की राजनीति शुरू हो गई है। कांग्रेस और जेडीएस ने अपने विधायकों को भाजपा से बचाने के लिए सुरक्षित रिजॉर्ट की तलाश में हैं। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें दैनिक भास्कर
कर्नाटक LIVE: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर येदियुरप्पा ने कहा-साबित कर देंगे बहुमत

कर्नाटक LIVE: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर येदियुरप्पा ने कहा-साबित कर देंगे बहुमत

India
उच्चतम न्यायालय ने कनार्टक विधानसभा में शनिवार को चार बजे शक्ति परीक्षण कराने का आदेश दिया है।  न्यायमूर्ति ए के सिकरी, न्यायमूर्ति एस ए बोबडे और न्यायमूर्ति अशोक भूषण की पीठ ने कांग्रेस-जद... Live Hindustan Rss feed
चावल मिल में क्लर्क थे येदियुरप्पा, आरोप लगने के बाद पार्टी-सीएम पद छोड़ा; तीसरी बार संभाली कुर्सी

चावल मिल में क्लर्क थे येदियुरप्पा, आरोप लगने के बाद पार्टी-सीएम पद छोड़ा; तीसरी बार संभाली कुर्सी

India
बीएस येदियुरप्पा (75) ने गुरुवार को तीसरी बार कर्नाटक के मुख्यमंत्री शपथ ली। हालांकि उनके साथ किसी भी मंत्री ने शपथ नहीं ली है। उन्होंने चावल मिल के क्लर्क के रूप में नौकरी शुरू की शुरुआत की। 1970 में जनसंघ से उन्होंने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की। नवंबर 2007 को पहली बार कर्नाटक के मुख्यमंत्री चुने गए। 4 साल बाद उन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे। येदियुरप्पा ने केवल मुख्यमंत्री पद ही नहीं, भाजपा से भी इस्तीफा दे दिया। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें दैनिक भास्कर
येदियुरप्पा का सियासी सफर: क्लर्क से मुख्यमंत्री पद तक

येदियुरप्पा का सियासी सफर: क्लर्क से मुख्यमंत्री पद तक

India
कर्नाटक में सियासी खींचतान के बीच बीजेपी नेता येदियुरप्पा तीसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री बने। बुधवार, 17 मई को सुबह 9 बजे उन्होंने कर्नाटक राजभवन में मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। मुख्यमंत्री पद पर काबिज... Live Hindustan Rss feed
येदियुरप्पा के मुख्यमंत्री बनने का रास्ता साफ, सुप्रीम कोर्ट ने नहीं लगाई रोक, सुबह 9 बजे लेंगे शपथ

येदियुरप्पा के मुख्यमंत्री बनने का रास्ता साफ, सुप्रीम कोर्ट ने नहीं लगाई रोक, सुबह 9 बजे लेंगे शपथ

Delhi
नई दिल्ली. कर्नाटक के राज्यपाल वजूभाई वाला ने 104 सीटों वाले सबसे बड़े दल भाजपा को सरकार बनाने का न्योता दिया है। राज्यपाल के भाजपा को बहुमत साबित करने 15 दिन का वक्त दिए जाने के फैसले के खिलाफ रात 11 बजे कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई और अर्जी दाखिल की। कांग्रेस ने रात को ही इस पर सुनवाई का आग्रह किया था। जिसके बाद सीजेअाई दीपक मिश्रा की बनाई 3 जजों की बेंच ने रात सुप्रीम कोर्ट में रात 02:10 पर शुरु हुई सुनवाई में घंटों की जिरह के बाद येदियुरप्पा के शपथ ग्रहण को नहीं रोके जाने से इंकार किया है। हालांकि, मामले में कोर्ट ने दोनों पक्षों की दलीले सुनने के बाद सुनवाई कल तक के लिए टाल दी है। अब इस मामले की अगली सुनवाई शुक्रवार 10:30 बजे से होगी। मामले में कोर्ट ने कांग्रेस की अर्जी को पूरी तरह से खारिज न करते हुए कहा, 'इस अर्जी पर बाद में भी सुनवाई की जा सकती है।' सुप्रीम कोर्ट ने येदियुरप्पा
येदियुरप्पा ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, सुबह 4:20 बजे सुप्रीम कोर्ट ने राज्यपाल के फैसले पर रोक से किया था इनकार

येदियुरप्पा ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, सुबह 4:20 बजे सुप्रीम कोर्ट ने राज्यपाल के फैसले पर रोक से किया था इनकार

India
कर्नाटक में तीन दिन से जारी राजनीतिक उठा-पटक के बीच बीएस येदियुरप्पा ने गुरुवार सुबह 9 बजे मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली। इससे पहले बुधवार रात 11 बजे कांग्रेस-जेडीएस ने राज्यपाल वजूभाई वाला की ओर से भाजपा को सरकार बनाने का न्योता देने के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट ने अर्जी लगाई गई। 2:10 बजे सुनवाई शुरू हुई। लंबी जिरह के बाद सुबह 4:20 पर सुप्रीम कोर्ट ने राज्यपाल के फैसले पर रोक से इनकार कर दिया। राज्यपाल ने येदियुरप्पा को बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का वक्त दिया है। हालांकि, बहुमत तभी साबित हो सकता है, जब सदन में 14 विधायक मौजूद न रहें। कोर्ट इस मामले में गुरुवार को सुनवाई कर सकता है। शीर्ष अदालत ने भाजपा से बहुमत के लिए जरूरी विधायकों की संख्या वाली लिस्ट मांगी है। बता दें कि भाजपा विधानसभा चुनाव में 104 सीटें हासिल करके सबसे बड़ी पार्टी है, जबकि कांग्रेस (78 सीटें) ने जेडीएस (38 सीटें