News That Matters

Tag: रक्तस्राव

महिलाओं को अधिक रक्तस्राव, संक्रमण से खराब होती है किडनी

महिलाओं को अधिक रक्तस्राव, संक्रमण से खराब होती है किडनी

Health
महिलाओं में अधिक रक्तस्राव से ब्लड प्रेशर कम हो जाता है। इससे किडनी में रक्त प्रवाह धीमा होता है। यह शरीर में प्रवाहित 20 से 25 फीसदी रक्त को शुद्ध करने का काम करती है। यह प्रक्रिया बंद होने पर किडनी डेड हो जाती है। गर्भपात का खतरा ज्यादा गर्भावस्था के दौरान क्रॉनिक किडनी डिजीज होने पर गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है। गर्भावस्था के दौरान बीमारी से गर्भस्थ शिशु का सही तरीके से विकास नहीं हो पाता है। बच्चे को स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याएं हो सकती हैं। शादी से पहले यह बीमारी होने पर महिलाओं में नि:संतानता की आशंका रहती है।एंटीबॉडीज भी बड़ी वजह ल्यूपस नेफ्रोपैथी किडनी रोग से जुड़ी बीमारी है। महिला के शरीर में एंटीबॉडीज बनने लगती है जो किडनी की स्वस्थ कोशिकाओं को खत्म करने का काम करने लगता है जिसका सीधा असर किडनी की कार्यक्षमता पर पड़ता है। नेफ्रॉन्स खराब होने लगते हैं। इसका समय रहते इलाज कराया जाए
सर्जरी के दौरान रक्तस्राव का जोखिम घटाता है मछली का तेल – शाेध

सर्जरी के दौरान रक्तस्राव का जोखिम घटाता है मछली का तेल – शाेध

Health
मछली का तेल सर्जरी के दौरान घटाता है रक्तस्राव का जोखिममछली के तेल में पाया जानेवाला ओमेगा-3एस सर्जरी के दौरान रक्तस्त्राव के जोखिम को कम करता है। वर्तमान में मान्यता यह है कि सर्जरी से पहले मछली का तेल खाना बंद कर देना चाहिए। शोधकर्ताओं ने यह जानकारी दी है। मछली का तेल हाइपरट्रिग्लीसेरीडेमिया या कार्डियोवैस्कुलर (हृदय संबंधी) बीमारी की रोकथाम के लिए सबसे आम प्राकृतिक पूरक है। हालांकि सर्जरी के दौरान रक्तस्त्राव के जोखिम को कम करने के लिए मरीजों को सर्जरी से पहले मछली का तेल लेने से मना करने की सिफारिश की जाती है या जो मरीज मछली का तेल रहे हैं, उनकी सर्जरी में देरी करने की सिफारिश की जाती है। यह शोध सर्कुलेशन नाम के जर्नल में प्रकाशित किया गया है, जिसमें बताया गया है कि रक्त में ओमेगा-3 की उच्च मात्रा - ईपीए और डीएचए मिलकर रक्तस्त्राव के जोखिम को कम करता है। यह शोध कुल 1,516 मरीजों पर किया