News That Matters

Tag: रखना

त्वचा, दिल और पाचन को ठीक रखना है तो ये खाएं

त्वचा, दिल और पाचन को ठीक रखना है तो ये खाएं

Health
स्वीट पोटैटो के नाम से भी जाना जाता हैशकरकंद को स्वीट पोटैटो के नाम से भी जाना जाता है। पोषक तत्वों और स्वास्थ्य के लिहाज से इसके कई फायदे हैं। शकरकंद को कच्चे एवं पक्के दोनों तरह से खाया जा सकता है। ये मधुमेय जैसी बीमारी में भी काफी फायदेमंद साबित होता है। शकरकंद में पाए जाने वाले तत्व शरीर में इंसुलिन के उचित स्राव को बनाए रखते हैं। जिससे शरीर में शुगर की मात्रा नियंत्रित रहती है।पोषक तत्व: 100 ग्राम शकरकंद में सोडियम 55 मिलीग्राम, मैग्नेशियम 25 मिलीग्राम, कार्बोहाइड्रेट 20 मिलीग्राम, पोटैशियम 337 मिलीग्राम व कई विटामिन आदि कई पोषक तत्व होते हैं।पाचन: शंकरकंद में फाइबर और कार्बोहाइड्रेट होता है। इससे पाचन सही रहता है। कैरोटीनॉयड ब्लड शुगर को नियंत्रित करता है। विटामिन बी6 डायबीटिक हार्ट डिजीज के लिए फायदेमंद है।हड्डियों: इसमें विटामिन डी होता है जो दांतों, हड्डियों, त्वचा के लिए जरूरी है
लोकसभा चुनावः 25 में 25 सीटें मोदी की झोली में डालकर राजस्थान में अपना वजूद कायम रखना चाहेंगी वसुंधरा राजे

लोकसभा चुनावः 25 में 25 सीटें मोदी की झोली में डालकर राजस्थान में अपना वजूद कायम रखना चाहेंगी वसुंधरा राजे

Rajasthan
इंटरनेट डेस्क। लोकसभा चुनावों के पहले चरण का मतदान कल हो चुका है। इन चुनावों में 20 राज्यों कि 91 सीटों पर मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। हालांकि अभी देश में छह चरणों में चुनाव होने बाकी है। इधर चुनावों से पहले पार्टियों के वरिष्ठ नेता अपने अपने प्रत्याशियों के समर्थन में चुनावी सभाए कर रहे है। निजी पब्लिक स्कूलों की मनमानी फीस को लेकर खाचरियावास ने दे दिया ऐसा बयान कि लोकसभा चुनाव में... इधर आज राजस्थान में करौली धौलपुर से भाजपा के प्रत्याशी मनोज राजोरिया के समर्थन में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे रैली करने पहुंची। उनके साथ भाजपा के कई वरिष्ठ नेता भी मौजूद रहे। उधर जो सबसे बड़ी बात रही वो यह कि वसुंधरा के साथ गुर्जर नेता किरोड़ी बैसला ने भी मंच शेयर किया। आपकों बता दें कि कर्नल किरोड़ी बैंसला और उनके बेटे विजय बैंसला ने हाल ही में दिल्ली में भाजपा कि दूसरी बार सदस्यता ग
भक्त बोले-प्रभु हम पर अपनी कृपा दृष्टि बनाए रखना, अपने चरणों से लगाए रखना

भक्त बोले-प्रभु हम पर अपनी कृपा दृष्टि बनाए रखना, अपने चरणों से लगाए रखना

Punjab
तपोस्थली कुटिया श्री दंडी स्वामी महाराज नत्त गांव, साहनेवाल में मुख्य सेवक भूषण गुप्ता की अध्यक्षता में साप्ताहिक भंडारा एंव हरिनाम संकीर्तन का आयोजन हुआ। श्री अतुल कृष्ण गोस्वामी सेवा संस्था के सोमनाथ बाबू एवं साथियों ने हरे कृष्णा और राधे-राधे महामंत्र का गुणगान कर संगत को मंत्र मुग्ध कर दिया। मुख्य भूषण गुप्ता ने संगत को संबोधित करते हुए कहा कि हम भगवान का दर्शन करने मंदिर जाते हैं। परंतु भगवान की कृपा उस दिन होगी जिस दिन उसकी दृष्टि हम पर पड़ेगी, जब हम उसकी निगाहों में आएंंगें। भगवान से यही प्रार्थना करनी है कि हे प्रभु हम पर अपनी कृपा दृष्टि बनाए रखना और हमें अपने चरणों से लगाए रखना। उन्होंने बताया कि इस सप्ताह के भंडारे की सेवा का लाभ सेवक विनोद गुप्ता, सुभाष खुराना, रमन कुमार, इंदु पराशर समस्त परिवार द्वारा लिया गया। इस दौरान भक्तों को छ: ठाकुर जी के दर्शन भी हुए।
वीनू मांकड के बेटे ने कहा- ‘रनआउट का नाम मेरे पिता के नाम पर रखना गलत’

वीनू मांकड के बेटे ने कहा- ‘रनआउट का नाम मेरे पिता के नाम पर रखना गलत’

Delhi
नई दिल्ली | पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीनू मांकड के बेटे राहुल मांकड का कहना है कि रनआउट करने के एक तरीके को उनके पिता के नाम पर ‘मांकडिंग’ कहना गलत है। उनके पिता इस तरह से रनआउट करने वाले पहले और आखिरी क्रिकेटर नहीं थे। रनआउट को रनआउट ही कहना चाहिए। 2 दिन पहले आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स बनाम किंग्स इलेवन पंजाब मैच में अश्विन ने जोस बटलर को माकंडिंग आउट किया था। वीनू मांकड ने सबसे पहले 1947 में ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज बिल ब्राउन को इस तरह से रनआउट किया था। तभी से इस तरह से रनआउट को माकंडिंग कहते हैं। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
हरियाणा इस जवान ने अपनी जान देकर लिया पुलवामा अटैक का बदला, रात तक पत्नी और मां से छिपाई शहादत की बात, आखिर बार पत्नी से कहा था- अपना और बेटे का ख्याल रखना

हरियाणा इस जवान ने अपनी जान देकर लिया पुलवामा अटैक का बदला, रात तक पत्नी और मां से छिपाई शहादत की बात, आखिर बार पत्नी से कहा था- अपना और बेटे का ख्याल रखना

Haryana
रेवाड़ी (हरियाणा)।जम्मू-कश्मीर के पिंगलेना में पुलवामा हमले के जिम्मेदार आतंकियों पर कार्रवाई के दौरान मेजर समेत 5 जवान शहीद हो गए। इनमें रेवाड़ी के राजगढ़ निवासी हरी सिंह राजपूत भी शामिल हैं। 26 वर्षीय हरी 2011 में बतौर ग्रेनेडियर भर्ती हुए थे। हाल ही में वे नायक पद पर प्रमोट हुए थे। हरि के पिता अगड़ी राम भी सेना से रिटायर्ड थे। 2 साल पहले ही उनका निधन हुआ था। हरि तीन बहनों के इकलौते भाई थे। उनकी दो साल पहले शादी हुई थी।परिवार में मां पिस्ता देवी, पत्नी राधा और 10 माह का बेटा लक्ष्य है। वे 28 दिसंबर को 1 माह की छुट्टी के बाद कश्मीर गए थे। सुबह 6 बजे प्रशासनिक अधिकारियों ने पंचायत को सूचना दी। खबर से गांव-इलाका गमगीन हो गया। ग्रामीणों ने कहा कि हमें गर्व है कि हरि ने पुलवामा के शहीदों का बदला लेते हुए जान गंवाई है। देर रात तक लोगों ने पत्नी और मां को जवान के घायल होने की
जानिए क्यों जमीन पर नहीं रखना चाहिए तांबे का लोटा

जानिए क्यों जमीन पर नहीं रखना चाहिए तांबे का लोटा

Health
आयुर्वेद में तांबे के लोटे में रखा पानी अमृत के समान माना गया है। जानते हैं इसके फायदों के बारे में। उपयोग : तांबा या कोई भी लोटा जिससे पानी पीना है उसे जमीन पर रखने की बजाय लकड़ी की मेज या पट्टे पर रखें क्योंकि गुरुत्वाकर्षण से तांबे में मौजूद गुणकारी तत्व पानी में अवशोषित नहीं हो पाते। तांबे के लोटे में रखे पानी को सर्दी और गर्मी दोनों मौसम में पी सकते हैं। लाभ : तांबे के लोटे में पानी रातभर रखें। सुबह कुल्ला करने के बाद खाली पेट पीने से कब्ज, एसिडिटी, गॉलब्लैडर की सिकुड़न, कुष्ठ, दाद, खुजली, एग्जिमा, हृदय, लिवर व किडनी रोगों में लाभ होता है। मात्रा व सावधानी -इस पानी को रोजाना एक गिलास या इससे अधिक मात्रा में पी सकते हैं।ध्यान रहे कि पानी को थोड़ा-थोड़ा कर पिएं वर्ना पेटदर्द भी हो सकता है। लोटे को रोजाना धोकर भरें। तांबे के गिलास या जग का भी प्रयोग किया जा सकता है। Patrika : India's Le
ISL: FC गोवा को हरा अपनी उम्मीदें जिंदा रखना चाहेगा एटीके

ISL: FC गोवा को हरा अपनी उम्मीदें जिंदा रखना चाहेगा एटीके

Indian Sports
प्लेऑफ की रेस में संघर्ष कर रही एटीके होरी इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पांचवें सीजन के एक अहम मुकाबले में आज यहां जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में एफसी गोवा से भिड़ेगी।  दो बार की चैम्पियन को प्लेऑफ... Live Hindustan Rss feed
जानिए, सर्दी में कैंसर मरीजों के खानपान पर विशेष ध्यान रखना क्यों जरूरी है

जानिए, सर्दी में कैंसर मरीजों के खानपान पर विशेष ध्यान रखना क्यों जरूरी है

Health
सर्दी का मौसम कैंसर रोगियों के लिए खतरनाक हो सकता है। इसकी वजह इस मौसम में नमी अधिक होती है और कैंसर के मरीजों में कीमोथैरेपी या दूसरी दवाइयों के कारण इम्युनिटी घट जाती है। जिससे उनमें संक्रमण का खतरा अधिक हो जाता है। सावधानी बरतने की जरूरत अधिक रहती है। सामान्य लोगों की तुलना में कैंसर मरीजों के शरीर को अधिक गर्म रखने की जरूरत रहती है। इसके लिए ऊनी कपड़े पहनें। सिर, हाथ, पैरों को ढककर रखें। ठंडी हवाओं से खुद का बचाव करें। ठंडी चीजें जैसे आइसक्रीम, कुल्फी आदि से परहेज रखेंं। आप मरीज नहीं तो बरतें ये सावधानी भोजन को दोबारा गर्म करने और रेड मीट खाने से बचें। पोषण युक्त आहार से खतरा कम किया जा सकता है। सब्जियां, फल, फली, साबुत अनाज खानपान में शामिल करें। एंटीऑक्सीडेंट्स, विटामिन्स कैंसर कोशिकाओं को बढऩे से रोकते हैं। शक्कर कम लें। खानपान में हमेशा रखें : आहार में टमाटर, ब्रोकली, पत्तागोभी, लह
पापा का ध्यान रखना मम्मा, मैथ टीचर को बख्शना नहीं, सुसाइड नोट लिख छात्रा ने फंदा लगा दी जान

पापा का ध्यान रखना मम्मा, मैथ टीचर को बख्शना नहीं, सुसाइड नोट लिख छात्रा ने फंदा लगा दी जान

Punjab
जालंधर.जालंधर के केएमवी स्कूल की 10वीं की स्टूडेंट तन्वी मेहता ने बुधवार को अपने कपूर कॉलोनी स्थित घर के बेडरूम में फंदा लगाकर जान दे दी। उसके पास से तीन पेज का सुसाइड नोट मिला है, जिसमें उसने आरोप लगाया कि वह केएमवी संस्कृति स्कूल के मैथ टीचर नरेश कपूर से तंग आकर जान दे रही है।पुलिस ने रैनक बाजार के रहने वाले 32 साल के टीचर नरेश को गिरफ्तार कर लिया है। थाना रामामंडी में आरोपी के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का केस दर्ज हुआ है। एसएचओ जीवन सिंह ने कहा कि सुसाइड नोट को हैंड राइटिंग एक्सपर्ट के पास भेजा जा रहा है। उधर, स्कूल मैनेजमेंट ने टीचर को सस्पेंड कर दिया है।प्रॉपर्टी डीलर और फाइनांस का काम करते राजेश मेहता ने बताया कि उनकी बेटी ने मंगलवार रात साथ में डिनर किया। रात 11 बजे बेडरूम में गई। बुधवार सुबह 7 बजे देखा तो बेटी फंदा लगाकर लटकी हुई थी। बेटी को नीचे उतारा त
बच्चों को रखना है फिट तो केवल संगठित खेलकूद काफी नहीं

बच्चों को रखना है फिट तो केवल संगठित खेलकूद काफी नहीं

Health
वैज्ञानिकों का कहना है कि जो अभिभावक सोचते हैं कि संगठित खेल ही उनके बच्चों के फिट रहने के लिए काफी हैं, उन्हें अपनी राय बदलने की जरुरत है और उन्हें जान लेना चाहिए कि बच्चों को आसपास के अपने दोस्तों... Live Hindustan Rss feed