News That Matters

Tag: रहा

दिन-रात का पारा सामान्य से चल रहा 2-3 डिग्री नीचे

दिन-रात का पारा सामान्य से चल रहा 2-3 डिग्री नीचे

Punjab
लुधियाना| मौसम अगले 24 घंटों तक ड्राई रहेगा। इस दौरान दिन-रात में हल्की हवाएं रोजाना की तरह चलेंगी। इसी के चलते सोमवार को भी मैक्सिमम पारा ज्यादा न बढ़ते हुए 30 डिग्री और मिनिमम पारा भी सीधे 16 डिग्री तक नीचे जा गिरा। इस दौरान मौसम तकरीबन ठंडा रहा। अगर हवा में नमी की मात्रा की बात करें तो इस समय सामान्य के मुकाबले प्लस में चलते हुए सुबह के समय 95 फीसदी रिकॉर्ड हो चुकी है। अगर बारिश की बात करें तो इस समय उत्तर-पश्चिमी पाकिस्तान पर एक वेस्टर्न डिस्टरबेंस बना हुआ है और इसके असर से चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र मध्य पाकिस्तान पर स्थित है। जो पहाड़ी इलाकों में आने वाले दिनों में बारिश करेगा। इसी से हल्का बदलाव पंजाब में देखने को मिल सकता है। हालांकि बारिश के आसार बहुत कम हैं। पहाड़ों में बारिश होने से मैदानी इलाकों में ठंड बढ़ेगी। कुल मिलाकर सुहावना मौसम बना हुआ है। लेकिन इस मौसम मे
घायल-बेसहारा पशुओं की देखभाल के लिए सरकार के पास कोई इंतजाम नहीं, एनजीओ 200 से ज्यादा पशुओं की कर रहा संभाल

घायल-बेसहारा पशुओं की देखभाल के लिए सरकार के पास कोई इंतजाम नहीं, एनजीओ 200 से ज्यादा पशुओं की कर रहा संभाल

Punjabi Politics
जब कोई पशु किसी काम का नहीं रह जाता और मालिक द्वारा छोड़ दिया जाता है। सड़क या किसी अन्य हादसे में घायल होकर आखिरी सांसें गिन रहा होता है तो उसकी देखभाल के लिए निगम, पशुपालन विभाग और जिला प्रशासन किसी के पास न तो उनकी देखभाल के लिए कोई जगह है और न ही कोई विभाग इस पर काम कर रहा है। पूरे जिले में सिर्फ पीएफए (पीपल फॉर एनिमल) का पुलिस लाइन स्थित कंपाउंड ही एक मात्र स्थान है जहां घायल और बेसहारा जानवरों की देखभाल की जा रही है। इसे चलाने वाले चंदर भूषण पूरे जिले के सभी जानवरों को अपने कंपाउंड में नहीं ला सकते। यहां 30 कुत्ते, 50 के करीब गाय भैंस, भेड़, बंदर, तोता, कबूतर, चिड़िया जैसे कई जानवरों की देखभाल दानी लोगों की सहायता से की जा रही है। जिले में 200 से ज्यादा डिस्पेंसरियां और पशु अस्पताल, एक में भी बेसहारा पशु दाखिल नहीं लकवे के मारे पशु हैं भर्ती... पीपल फॉर एनिमल एक ए
45 मिनट बंद रहा ब्लड बैंक का दरवाजा, लोग होते रहे परेशान

45 मिनट बंद रहा ब्लड बैंक का दरवाजा, लोग होते रहे परेशान

Punjab
जालंधर | शनिवार रात कुछ लोग जब सिविल अस्पताल के ब्लड बैंक में सेल लेने गए तो उन्हें काफी देर तक इंतजार करना पड़ा। उन्होंने कर्मचारी पर सोए रहने का आरोप लगाया और कहा कि ब्लड बैंक का दरवाजा 45 मिनट बंद रहा। जब इसका विरोध किया तो लैब टेक्नीशियन ने उनसे कह दिया कि मशीन खराब है। सेल नहीं मिल सकते। फगवाड़ा गेट इलेक्ट्रॉनिक मार्केट के प्रधान बलजीत सिंह आहलूवालिया शनिवार रात 11 बजे सिविल अस्पताल के ब्लड बैंक गए। उनकी मार्केट में काम करने वाला 30 साल का अशोक कुमार अस्पताल में दाखिल था। सेल कम थे तो डॉक्टर ने कहा एक यूनिट सिंगल डोनर ब्लड प्लेटलेट्स चढ़ाने पड़ेंगे। वह ब्लड बैंक पहुंचे तो दरवाजा अंदर से बंद था। आधा घंटा खटखटाने के बाद टेक्नीशियन सन्नी ने दरवाजा खोला और कहा कि मशीन खराब है। आहलूवालिया ने बताया कि उन्हें पता लगा है कि दोपहर में मशीन चल रही थी। सिविल में सेल निकालने व

अमेजन ग्रेट इंडियन फेस्टिवल सेल: स्मार्टफोन्स पर मिल रहा 30000 रुपये तक का डिस्काउंट

Indian Technology
अगर आप नया स्मार्टफोन खरीदने के बारे में सोच रहे हैं तो आज अच्छा मौका है Jagran Hindi News - technology:tech-news

सावधान! आपके स्मार्टफोन पर नया मैलवेयर कर रहा है अटैक

Indian Technology
हाल ही में एक ऐसे ट्रोजन मैलवेयर के बारे में पता चला है जो ऐंड्रॉयड डिवाइसेस पर अटैक कर रहा है। बता दें कि ट्रोजन एक खास तरह का मैलवेयर या प्रोग्राम होता है, जो दिखने में सही लगता है, लेकिन जब इसे चलाया जाता है तो यह पूरे सिस्टम (कंप्यूटर/फोन) को खराब कर देता है। Tech News in Hindi:Latest Tech Hindi News,PC and Gadgets Launch,Reviews News,& Mobile Phones
जज का बेटा ब्रेन डेड, दिमाग के पार निकल गई थीं दो गोलियां; बार-बार बयान बदल रहा आरोपी

जज का बेटा ब्रेन डेड, दिमाग के पार निकल गई थीं दो गोलियां; बार-बार बयान बदल रहा आरोपी

Haryana
गुड़गांव/हिसार.गुड़गांव में सुरक्षा गार्डने जज के बेटेध्रुव को एक से दो फीट की दूरी से सिर में गोलीमारी थी। गोलीध्रुव के सिर से पार हो गई थी। उसकीस्थिति बेहद गंभीर है।ब्रेन डेड बताया जा रहा है। डॉक्टरों ने ध्रुव कोलाइफ सपोर्टसिस्टम पर रखा है। वहीं, जज की मृतक पत्नी रितुका सोमवार को हिसार में अंतिम संस्कार होगा। रविवार को मेदांता अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई थी।आरोपी सुरक्षा गार्ड महिपाल को गुड़गांव कोर्ट में पेश कर पुलिस ने 4 दिन की रिमांड पर लिया है। सूत्रों के मुताबिक,आरोपी बार-बार बयान बदल रहा है।हरियाणा पुलिस का हेड कांस्टेबल महिपाल जज की सुरक्षा में करीब 2 साल से लगा था। वह पूछताछ के दौरान भड़क भी जाता है। कभी कहता है कि निजी व पारिवारिक कारणों से हताश था। कभी कहता है, जज साहब बुरी तरह डांटते थे।सूत्रों के मुताबिक, घटना के दिन कार में रितु ने महिपाल कोफटक

वोडाफोन ने लंबी वैधता के साथ पेश किए दो प्लान, मिल रहा 252 जीबी डाटा समेत बहुत कुछ

Indian Technology
टेलिकॉम क्षेत्र की नई कंपनी वोडाफोन आइडिया ने दो नए प्रीपेड प्लान पेश किए हैं। यह प्लान लंबी वैधता के साथ पेश किए गए हैं Jagran Hindi News - technology:tech-news
लोगों का आरोप- नहीं दिया जा रहा गेहूं का हिसाब

लोगों का आरोप- नहीं दिया जा रहा गेहूं का हिसाब

Punjab
काजी मंडी और अमरीक नगर में नीले कार्ड धारकों को चार साल से गेहूं न मिलने के मामले को दबाने के लिए अधिकारी पूरा जोर लगा रहे हैं। इलाके के लोगों को चार साल के गेहूं का हिसाब नहीं दिया जा रहा है। लोग पूछ रहे हैं कि उन्हें गेहूं तो दी जा रही है, लेकिन उनके कार्ड कहां हैं? कार्ड के बिना कैसे गेहूं दी जा सकती है? नीले कार्ड धारकों ने बताया कि लिखित शिकायत डीएफएससी को सौंपी थी, लेकिन जब डीएफएससी को इस बारे में पूछा गया तो उनका साफ कहना था कि उनके पास कोई शिकायत नहीं आई। काजी मंडी और अमरीक नगर के रहने वाले सरबजीत सिंह, रीटा, दीपक, सोनी, नीरज, विष्णु ने कहा शिकायत देने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। अधिकारी कह रहे हैं कि कार्ड नए बने हैं लेकिन सवाल यही खड़ा हो रहा है कि अगर नए बने हैं तो नई सीरीज के बनने चाहिए। इसे लेकर वो फूड सप्लाई दफ्तर गए थे, लेकिन कोई जवाब नहीं मिल
स्टूडेंट्स को ऑर्गेनिक खेती करना सिखा रहा खेती विरासत मिशन

स्टूडेंट्स को ऑर्गेनिक खेती करना सिखा रहा खेती विरासत मिशन

Punjabi Politics
जालंधर | खेती विकास मिशन शैक्षणिक संस्थानों में जाकर उन्हें जैविक खेती करने की ट्रेनिंग दे रहा है। मिशन की जालंधर में एक्टिविस्ट लिपिका ने बताया कि जैविक खेती को बढ़ाने के लिए शुरुआत में ही छात्रों को जागरूक करना बेहद जरूरी है। इसलिए हम स्कूल और कॉलेजों में जाकर छात्रों को इसकी ट्रेनिंग दे रहे हैं। इसके तहत पालक, गोभी, गाजर, टमाटर और मूली जैसी सब्जियों को घर और अपने संस्थान में उगाने के सरल तरीके बताए जा रहे हैं। ताकि अगर एक-दो परिवार भी इस खेती में अपनी लगन लगाते हैं, तो धीरे-धीरे उनके आस-पड़ोस के भी किचन गार्डन बनाने लग जाएंगे। इन छोटे-छोटे बदलावों से बड़ी मुहिम शुरू हो सकती है। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar