News That Matters

Tag: रिटायरमेंट

MS Dhoni के रिटायरमेंट को लेकर बड़ा ऐलान, CSK ने किया खुलासा

Indian Sports
टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी वर्ल्ड कप के बाद संन्यास नहीं ले रहे। इस बात का ऐलान हो गया है। Jagran Hindi News - cricket:headlines
महेंद्र सिंह धौनी की रिटायरमेंट की खबरें सुनकर लता मंगेशकर ने क्रिकेटर से कहा- आप ऐसा मत सोचिए

महेंद्र सिंह धौनी की रिटायरमेंट की खबरें सुनकर लता मंगेशकर ने क्रिकेटर से कहा- आप ऐसा मत सोचिए

Entertainment
आईसीसी क्रिकेट वर्ल्डकप के सेमीफाइनल मुकाबले में न्यूजीलैंड से भारतीय टीम की हार के बाद भले ही सब निराश हो गए हों, लेकिन सभी ने टीम इंडिया की अब तक की जर्नी की तारीफ की है। वहीं इसी बीच धौनी के... Live Hindustan Rss feed
खुद अभावों में जिए इसलिए अब रिटायरमेंट के बाद जरूरतमंद बच्चों को दे रहे हैं मुफ्त शिक्षा, पेंशन से निकालते हैं खर्च

खुद अभावों में जिए इसलिए अब रिटायरमेंट के बाद जरूरतमंद बच्चों को दे रहे हैं मुफ्त शिक्षा, पेंशन से निकालते हैं खर्च

Delhi
वेस्ट विनोद नगर में रहने वाले लालाराम वर्मा 2011 में सर्वोदय बाल विद्यालय से रिटायर हुए थे। बुलंदशहर (यूपी) के मूल निवासी लालाराम वर्मा के माता-पिता दूसरों के खेत में काम करते थे। उन्होंने बड़ी मुश्किल से अपनी पढ़ाई पूर कर नौकरी हासिल की। ऐसे में पढ़ाई की अहमियत को वह बहुत अच्छे से समझते हैं। ऐसे में उन्होंने तय किया कि रिटायरमेंट के बाद भी वह जरूरतमंद बच्चों को पढ़ाएंगे। लालाराम अपने आसपास की 7 कॉलोनियों से हर साल ऐसे जरूरतमंद बच्चे चुनते हैं और उन्हें मुफ्त पढ़ाते हैं। वह 8 साल में अब तक 250 से ज्यादा गरीब बच्चों को पढ़ा चुके हैं। खास बात यह बच्चों के लिए कॉपी-किताब और स्टेशनरी का भी इंतजाम करते हैं। खर्च वह अपनी पेंशन से निकालते हैं। रिटायर होने के बाद भी बच्चों को पढ़ा रहे हैं वेस्ट विनोद नगर निवासी लालाराम वर्मा 8 साल में 7 कॉलोनियों के 250 बच्चों को पढ़ा चुके अंग्रेजी, ग
रिटायरमेंट की अटकलों के बीच धोनी ने कहा- मुझे खुद नहीं पता कब संन्यास लूंगा

रिटायरमेंट की अटकलों के बीच धोनी ने कहा- मुझे खुद नहीं पता कब संन्यास लूंगा

Indian Sports
लंदन. वर्ल्ड कप में शनिवार को भारतीय टीम श्रीलंका के खिलाफ मुकाबले से अपने ग्रुप स्टेज सफर का अंत करेगी। माना जा रहा था कि वर्ल्ड कप में भारत का आखिरी मैच धोनी के अंतरराष्ट्रीय करिअर का भी आखिरी मैच होगा। इसके बाद वे संन्यास की घोषणा कर देंगे। हालांकि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, धोनी वर्ल्ड कप के बाद आगे भी खेलना जारी रख सकते हैं।एक न्यूज चैनल ने दावा किया है कि धोनी ने उन्हें रिटायरमेंट पर पहली बार प्रतिक्रिया दी। इसमें उन्होंने कहा, “मुझे खुद नहीं पता कि मैं कब संन्यास लूंगा, लेकिन कुछ लोग मुझे श्रीलंका के खिलाफ मैच से पहले ही रिटायर करना चाहते हैं।”रिपोर्ट्स के मुताबिक, धोनी के इस बयान का टीम प्रबंधन से कोई लेना-देना नहीं था। वह इससे सिर्फ मीडिया को निशाना बना रहे थे, जो उनके भविष्य के बारे में लगातार टिप्पणियां कर रही है।न्यूज एजेंसी का दावा- वर्ल्ड कप में धोनी का

धुरंधर धोनी ने बताया अपना रिटायरमेंट प्लान, वीडियो हुआ वायरल

Indian Sports
नई दिल्ली। इंग्लैंड में इस महीने 30 मई से शुरू होने जा रहे आईसीसी विश्वकप में कुछ ही दिनों का ही समय बचा है, लेकिन पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के इस टूर्नामेंट के बाद संन्यास लेने की अटकलें लंबे अर्से से जारी हैं, जिसे उनके एक वायरल वीडियो ... खेल-संसार
रिटायरमेंट के बाद दोबारा नौकरी ज्वाइन करने वाले पटवारी और कानूनगाे का करेंगे बायकॉट

रिटायरमेंट के बाद दोबारा नौकरी ज्वाइन करने वाले पटवारी और कानूनगाे का करेंगे बायकॉट

Punjab
जिला मानसा यूनियन ने किया समर्थन, 27 की मीटिंग में अन्य जिले भी करेंगे समर्थन पटियाला | दी रेवेन्यू पटवार यूनियन पंजाब ने फैसला लिया है कि जो पटवारी/काननूगाे सेवामुक्त हाेने के बाद दाेबारा नाैकरी ज्वाइन करेगा, उसका यूनियन बायकॉट करेगी। इसे लेकर सर्वसम्मति से प्रस्ताव पास किया गया है। पटवारी चतिंदर शर्मा का कहना है कि मुलाजिम का 58 साल उम्र तक नाैकरी से दिल नहीं भरा ताे दाे साल में क्या कर लेगा। दाे साल अतिरिक्त नाैकरी करने के फैसले से अन्य मुलाजिमाें की जहां प्रमाेशन पर सीधा असर पड़ता है, वहीं हजाराें की संख्या में नाैकरी के इंतजार में बैठे नाैजवानाें की लाइन और बढ़ी हा़े रही है। बेरोजगारी के चलते बढ़े लिखे नवजवान चेरी लूटपाट जैसे क्राइम करने तक से परहेज नहीं करते। इन सभी बातें काने ध्यान में रखते हुए यूनियन ने उपरोक्त फैसला लिया है। उन्हींने बताया कि अभी जिला मानसा य
प्रमोशन से पहले दी थी चार्जशीट, रिटायरमेंट के आठ महीने बाद चीफ इंजीनियर बने कुमावत

प्रमोशन से पहले दी थी चार्जशीट, रिटायरमेंट के आठ महीने बाद चीफ इंजीनियर बने कुमावत

Rajasthan
जयपुर.जयपुर डिस्कॉम में एडिशनल चीफ इंजीनियर आरएन कुमावत को रिटायरमेंट के आठ महीने बाद चीफ इंजीनियर पोस्ट पर प्रमोशन मिला है। कुमावत की डेढ़ साल पहले डीपीसी होने के बाद चीफ इंजीनियर प्रमोशन से पहले कुछ शिकायतों के आधार पर तीन चार्जशीट दी गई थी और जवाब देने के बावजूद चार्जशीट को पेडिंग रखा गया।कुमावत को उस समय डिस्कॉम में बोर्ड में डायरेक्टर का प्रबल दावेदार माना जा रहा था। तभी प्रमोशन व रिटायरमेंट से पहले हुई शिकायतों की जांच में कुमावत को क्लीनचिट दे दी।मामले मेंजांच पूरी होने पर मौजूदा प्रबंधन ने मामले को निष्क्षता से से देखते हुए सभी चार्जशीटों को गलत मानते हुए मेरिट पर खत्म किया है। हालांकि कुमावत रिटायरमेंट होने से इन्हे पोस्ट का फायदा नहीं मिलेगा, लेकिन परिलाभ व पेंशन अब चीफ इंजीनियर पोस्ट के ही मिलेंगे। इसके साथ ही बिजली कंपनियों के प्रबंधन में अब कुमावत को महत्वपू

एवेंजर्स एंडगेम: कुछ सुपरहीरोज़ मारे जाएंगे तो कुछ लेंगे रिटायरमेंट!

Entertainment
जब भी कोई बड़ी फिल्म रिलीज होने वाली रहती है तो उसकी रिलीज के पहले कई तरह की बातें शुरू हो जाती हैं। 26 अप्रैल को 'एवेंजर्स एंडगेम' रिलीज हो रही है जिसका इंतजार दुनिया भर में किया जा रहा है। मनोरंजन

प्राइवेट सेक्‍टर के कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, अब इतनी मिलेगी रिटायरमेंट के बाद पेंशन

India
सुप्रीम कोर्ट ने निजी क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए ज्‍यादा पेंशन का रास्‍ता साफ कर दिया है। केरल हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ दर्ज की गई EPFO की विशेष अपील को खारिज कर दिया है। Jagran Hindi News - news:national
आईएलएफएस में पीएफ और रिटायरमेंट फंडों के पैसे भी फंसे

आईएलएफएस में पीएफ और रिटायरमेंट फंडों के पैसे भी फंसे

Delhi
पिछले साल पेमेंट में डिफॉल्ट करने वाली कंपनी इन्फ्रास्ट्रक्चर लीजिंग एंड फाइनेंशियल सर्विसेज (आईएलएंडएफएस) में लाखों लोगों के पीएफ और रिटायरमेंट के पैसे भी दांव पर लगे हैं। पैसे लेने के लिए नेशनल कंपनी लॉ अपीलेट ट्रिब्यूनल (एनसीएलएटी) के पास करीब 100 याचिकाएं लगाई गई हैं। इनमें से आधी पीएफ, ग्रेच्युटी, रिटायरमेंट फंड और ट्रस्टों की हैं। हालांकि अभी यह साफ नहीं हो सका है कि इनमें कितने लोगों का कितना पैसा लगा है। ट्रिब्यूनल में शुक्रवार, 29 मार्च को इसकी सुनवाई होने वाली है। सूत्रों के अनुसार जिन संगठनों ने आईएलएंडएफएस में पैसा लगाया था, उनमें निजी, सरकारी और बहुराष्ट्रीय कंपनियों के फंड भी हैं। आईएलएंडएफएस के एसेट बेचकर बकाया चुकाने में ये फंड समान अधिकार चाहते हैं। एक संगठन के प्रमुख ने कहा, ‘आईएलएंडएफएस में लोगों की जीवनभर की कमाई लगी है। हम इसकी रिकवरी में सरकार से