News That Matters

Tag: लक्ष्य

लक्ष्य हर मैच की कमियों को डायरी में लिखते हैं; पिता बैडमिंटन कोच, भाई इंटरनेशनल कोच

लक्ष्य हर मैच की कमियों को डायरी में लिखते हैं; पिता बैडमिंटन कोच, भाई इंटरनेशनल कोच

Indian Sports
खेल डेस्क. भारतीय शटलर लक्ष्य सेन ने यूथ ओलिंपिक में शनिवार को पुरुष सिंगल्स में सिल्वर मेडल जीता। भारत को आठ साल बाद इस खेल में पदक मिला। लक्ष्य ने इसी साल जूनियर एशियन चैम्पियनशिप के पुरुष वर्ग में हमें 53 साल बाद स्वर्ण पदक दिलाया। दो बार के ओलिंपिक गोल्ड मेडलिस्ट और पांच बार के वर्ल्ड चैम्पियन चीन के लिन डैन भी जूनियर एशियन चैम्पियनशिप से ही स्वर्ण पदक जीतकर सबकी नजर में आए थे। अब 17 साल के लक्ष्य से भविष्य अन्य बड़े टूर्नामेंट में भी अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद की जा रही है।लक्ष्य सेन का पूरा परिवार बैडमिंटन से जुड़ा है। पिता डीके सेन बैडमिंटन कोच हैं, जबकि बड़े भाई चिराग सेन भी बैडमिंटन के इंटरनेशनल खिलाड़ी हैं। चिराग जूनियर रैंकिंग में वर्ल्ड नंबर-2 रह चुके हैं। उनके दादा भी बैडमिंटन खिलाड़ी थे।लक्ष्य ने तीन साल की उम्र में बैडमिंटन खेलना शुरू किया। 2011 में नौ साल की उम
शटलर लक्ष्य ने रजत जीता, आठ साल बाद किसी भारतीय शटलर को पदक मिला

शटलर लक्ष्य ने रजत जीता, आठ साल बाद किसी भारतीय शटलर को पदक मिला

Indian Sports
ब्यूनस आयर्स. भारत के युवा बैडमिंटन खिलाड़ी लक्ष्य सेन ने यूथ ओलिंपिक में पुरुष सिंगल्स का रजत पदक जीता। वे खिताबी मुकाबले में चीन के ली शिफेंग से हार गए। चीनी खिलाड़ी ने उन्हें 21-15, 21-19 से मात दी। 42 मिनट तक चले इस मुकाबले के पहले गेम में शिफेंग ने लक्ष्य को आसानी से हराया। हालांकि,दूसरे गेम में लक्ष्य ने शिफेंग को कड़ी टक्कर दी, लेकिन आखिर में वे जरूरी दो अंकों की बढ़त बना नहीं पाए और स्वर्ण पदक से चूक गए। इस इवेंट में किसी भारतीय ने आठ साल बाद पदक जीता है। उनसे पहले एचएस प्रणय ने 2010 सिंगापुर यूथ ओलिंपिक में रजत पदक जीता था।मैच के बाद लक्ष्य ने चीनी प्रतिद्वंद्वी के बारे में कहा, ‘उन्होंने शानदार खेल खेला और अहम अंक जीतने में सफल रहे। मैं खुद को ज्यादा आगे नहीं ले जा पाया। हालांकि, मैं इस इवेंट में पदक जीतने वाला दूसरा भारतीय बनकर खुश हूं।’लक्ष्य की जीत पर भारती
केवल इच्छाओं से लक्ष्य नहीं मिलता : पीयूष मुनि

केवल इच्छाओं से लक्ष्य नहीं मिलता : पीयूष मुनि

Punjabi Politics
लुधियाना। उपप्रवर्तक पीयूष मुनि महाराज ने महावीर भवन, सिविल लाइन में दैनिक प्रवचन सभा में कहा कि प्रतिदिन मानव के मन में एक ही बात आती है कि वह किसी तरह प्रगति पथ पर आगे बढ़ता जाए। प्रत्येक प्राणी यह कामना करता है कि वह किसी से दौड़ पीछे ना रह जाए। दूसरों के कदमों से कदम मिला कर वह भी आगे अग्रसर होता जाए। केवल इच्छाएं करते रहने से लक्ष्य नहीं मिलता।हवाई किले बनाने से फायदा नहीं होता। यह विश्व एक बगीचा है जिसमें प्रत्येक प्रकार के पुष्प खिलते हैं। परंतु पुष्प वही सार्थक है जो विश्व में अपनी महक फैला जाए। मनिंदरजीत सिंह ने पीयूष मुनि से लिया आशीर्वाद लुधियाना। शुक्रवार को ऑल इंडिया एंटी टेररिस्ट फ्रंट के नेशनल प्रेसिडेंट स. मनिंदरजीत सिंह बिट्टा पीयूष मुनि जी महाराज का आशीर्वाद लेने जैन स्थानक, सिविल लाइन में उपस्थित हुए। इस अवसर पर चातुर्मास कमेटी के चेयरमैन रजनीश जैन ग
Youth Olympics 2018: लक्ष्य सेन ने बैडमिंटन के फाइनल में पहुंचकर रचा इतिहास

Youth Olympics 2018: लक्ष्य सेन ने बैडमिंटन के फाइनल में पहुंचकर रचा इतिहास

Indian Sports
लैटिन अमेरिकी देश अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स में चल रहे यूथ ओलंपिक में भारत के सुवा बैडमिंटन खिलाड़ी लक्ष्य सेन ने इतिहास रच दिया है। खिताब के प्रबल दावेदार भारतीय शटलर लक्ष्य सेन ने गुरुवार... Live Hindustan Rss feed
लक्ष्य निर्धारण व लक्ष्य प्राप्ति पर विद्यार्थियों को दिया व्यवहारिक प्रशिक्षण

लक्ष्य निर्धारण व लक्ष्य प्राप्ति पर विद्यार्थियों को दिया व्यवहारिक प्रशिक्षण

Haryana
गुरु नानक गर्ल्स कॉलेज संतपुरा में अर्थशास्त्र विभाग द्वारा एमआरपाई फाउंडेशन व फोरम ऑफ फ्री इंटरप्राइजेज मुंबई के सहयोग से दो दिवसीय लीडरशिप ट्रेनिंग कैंप का शुभारंभ हुआ। इसमें प्रदेश के महाविद्यालयों के छात्र-छात्राओं ने बड़ी संख्या में हिस्सा लिया। मुंबई से आए विवेक पटकी व सचिन कामथ ने प्रतिभागियों को लक्ष्य निर्धारण, लक्ष्य प्राप्ति के लिए योग्यता तथा प्रभावशाली संचार कुशलता को जागृत तथा उत्पन्न करने का व्यावहारिक प्रशिक्षण दिया। कॉलेज प्रिंसिपल डॉ. वरिंदर गांधी ने कहा कि इस कैंप से विद्यार्थियों में आत्मविश्वास तथा लक्ष्य निर्धारण की क्षमता विकसित होगी। संचालन रितु कंग ने किया। जीएनजी कॉलेज में कार्यक्रम का दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ करते । Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Yamunanagar - लक्ष्य निर्धारण व लक्ष्य
रोड सेफ्टी के लिए वॉकाथन: 1 करोड़ कदम का लक्ष्य लेकर निकली टीम के 11 करोड़ कदम पूरे, कन्याकुमारी से कश्मीर जा रही है टोली

रोड सेफ्टी के लिए वॉकाथन: 1 करोड़ कदम का लक्ष्य लेकर निकली टीम के 11 करोड़ कदम पूरे, कन्याकुमारी से कश्मीर जा रही है टोली

Delhi
नई दिल्ली।कन्याकुमारी से 28 जुलाई को रोड सेफ्टी के लिए 1 करोड़ कदम का लक्ष्य लेकर चली क्लब डी2एस की टीम शुक्रवार को दिल्ली पहुंची। रोड सेफ्टी वॉक की अगुवाई करने वाले सुब्रमण्यम नारायण ने 70 दिन में 2930 किमी वॉक पूरी कर ली है। यह टीम 16 अक्टूबर को कश्मीर पहुंचेंगी। साथी रमाशंकर पांडेय और मुंबई हमले के हीरो नेवी कमांडो शौर्य चक्र विजेता प्रवीण तेवतिया समेत पूरी टीम ने एक करोड़ कदम पूरा करने के लक्ष्य की जगह 11 करोड़ कदम पूरे होने और 15 करोड़ कदम ऑडिट में होने का दावा किया है।अब 25 करोड़ कदम का रखा हैलक्ष्यशुक्रवार को दिल्ली में सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल्स मैन्युफैक्चरर्स और दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के साथ मिलकर रोड सेफ्टी के लिए लोधी रोड पर वॉकाथन आयोजित किया जिसमें स्कूली बच्चे शामिल हुए। रमाशंकर ने बताया कि अब नया लक्ष्य सड़क सुरक्षा के लिए 125 करोड़ कदम का रखा है। इसे पूरा करन
1 करोड़ कदम का लक्ष्य लेकर निकली टीम केे 11 करोड़ कदम पूरे, 125 करोड़ नया टारगेट

1 करोड़ कदम का लक्ष्य लेकर निकली टीम केे 11 करोड़ कदम पूरे, 125 करोड़ नया टारगेट

Delhi
नई दिल्ली.कन्याकुमारी से 28 जुलाई को रोड सेफ्टी के लिए 1 करोड़ कदम का लक्ष्य लेकर चली क्लब डी2एस की टीम शुक्रवार को दिल्ली पहुंची। रोड सेफ्टी वॉक की अगुवाई करने वाले सुब्रमण्यम नारायण ने 70 दिन में 2930 किमी वॉक पूरी कर ली है। यह टीम 16 अक्टूबर को कश्मीर पहुंचेंगी।साथी रमाशंकर पांडेय और मुंबई हमले के हीरो नेवी कमांडो शौर्य चक्र विजेता प्रवीण तेवतिया समेत पूरी टीम ने एक करोड़ कदम पूरा करने के लक्ष्य की जगह 11 करोड़ कदम पूरे होने और 15 करोड़ कदम ऑडिट में होने का दावा किया है। शुक्रवार को दिल्ली में सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल्स मैन्युफैक्चरर्स और दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के साथ मिलकर रोड सेफ्टी के लिए लोधी रोड पर वॉकाथन आयोजित किया, जिसमें स्कूली बच्चे शामिल हुए।रमाशंकर ने बताया कि अब नया लक्ष्य सड़क सुरक्षा के लिए 125 करोड़ कदम का रखा है। इसे पूरा करने के लिए स्कूल, कॉलेज, कारपोरे

डबल ट्रैप निशानेबाज श्रेयसी सिंह का लक्ष्य ओलंपिक पदक और खेल रत्न

Indian Sports
नई दिल्ली। टोक्यो में दो साल बाद होने वाले ओलंपिक खेलों तक फिटनेस और खेल दोनों में परफेक्ट बनने के लिए प्रतिबद्ध डबल ट्रैप की निशानेबाज श्रेयसी सिंह ने अपने लिए लक्ष्य भी तय कर दिए हैं- 2020 में ओलंपिक पदक और उसके दम पर राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार ... खेल-संसार
सबको 2022 तक 50 एमबीपीएस का ब्रॉडबैंड कनेक्शन देने का लक्ष्य

सबको 2022 तक 50 एमबीपीएस का ब्रॉडबैंड कनेक्शन देने का लक्ष्य

Delhi
गलत डिक्लेरेशन, मूल्य कम दिखाना और गलत तथ्य देना तस्करी के नए तरीकों के रूप में उभर रहे हैं। 2016 में गलत डिक्लेरेशन वाले जब्त किए गए प्रोडक्ट्स का मूल्य 1,187 करोड़ रुपए है। वहीं, कम मूल्यांकन वाले जब्त प्रोडक्ट्स का मूल्य 254 करोड़ रुपए रहा। यह जानकारी उद्योग चैंबर फिक्की कैस्केड की रिपोर्ट से सामने आई है। कैस्केड फिक्की की एंटी-स्मगलिंग और एंटी काउंटरफिटिंग इकाई है। रिपोर्ट के मुताबिक अन्य तरीकों से जब्त प्रोडक्ट्स का मूल्य 2,780 करोड़ रुपए रहा। यह 2015 के 953 करोड़ रुपए की तुलना में 191% अधिक है। कैस्केड ने कहा है कि भारत में तस्करी के लिए नए-नए तरीके अपनाए जा रहे हैं। इनसे निपटने के लिए प्रभावी नीतियों की जरूरत है। एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार भारत में ऑनलाइन बिकने वाले 60 फीसदी स्पोर्ट्स गुड्स नकली होते हैं। फिक्स्ड ब्रॉडबैंड स्पीड में दुनिया में भारत 61वें और मोबाइल

टोकियो ओलंपिक में दोहरी पदक संख्या का लक्ष्य रखें : बत्रा

Indian Sports
नई दिल्ली। भारतीय ओलंपिक संघ आईओए के अध्यक्ष डॉ. नरेन्द्र ध्रुव बत्रा ने 18वें एशियाई खेलों में भारत के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के बाद खिलाड़ियों के सामने अब 2020 के टोकियो ओलंपिक में दोहरी संख्या में पदक जीतने का लक्ष्य रख दिया है। खेल-संसार