News That Matters

Tag: लेते

स्वतंत्रता दिवस पर मिला ‘बेस्ट कांस्टेबल’ का अवॉर्ड, अगले दिन रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार

स्वतंत्रता दिवस पर मिला ‘बेस्ट कांस्टेबल’ का अवॉर्ड, अगले दिन रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार

India
स्वतंत्रता दिवस पर अपने जिले में 'बेस्ट कांस्टेबल' अवॉर्ड पाने के एक दिन बाद इस पुलिस कांस्टेबल को यहां रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया गया। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने... Live Hindustan Rss feed
विजिलेंंस ने जुलाई में 14 मुलाजिम रिश्वत लेते पकड़े

विजिलेंंस ने जुलाई में 14 मुलाजिम रिश्वत लेते पकड़े

Punjabi Politics
चंडीगढ़ | विजिलेंस ने जुलाई महीने में 12 जगह छापे मारकर 14 सरकारी मुलाजिम और 1 प्राइवेट कारिंदे को रिश्वत लेते पकड़ा है। इनमें पुलिस के 4, राजस्व विभाग के 3 और अन्य विभागों के 7 मुलाजिम शामिल हैं। चीफ डायरेक्टर बीके उप्पल ने कहा कि पिछले महीने दो सरकारी मुलाजिमाें को सजाएं और जुर्माने किए हैं जिनमें सेंट्रल जेल पटियाला में तैनात सिपाही मनजीत सिंह को पटियाला कोर्ट में 7 साल की कैद और दूसरे केस में पीएसपीसीएल मानसा में तैनात जेई पवन कुमार को मानसा कोर्ट ने 4 साल कैद और 30,000 हजार का जुर्माना किया है। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
ड्रग इंस्पेक्टर को सीबीअाई ने अमृतसर में रिश्वत लेते पकड़ा

ड्रग इंस्पेक्टर को सीबीअाई ने अमृतसर में रिश्वत लेते पकड़ा

Punjabi Politics
भास्कर न्यूज | सोलन/नालागढ़ सीबीआई ने सेंट्रल ड्रग स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन (सीडीएससीओ) के बद्दी में कार्यरत ड्रग इंस्पेक्टर अंकुर बंसल को अमृतसर में रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। वो बुधवार को एक नामी दवा कंपनी में इंस्पेक्शन के लिए गया था। इस दौरान कंपनी और ड्रग इंस्पेक्टर के बीच लेनदेन हुआ। सीबीआई ने अंकुर को रिश्वत के पैसे के साथ पकड़ा है। इसके साथ ही कंपनी के दो सदस्यों को भी रिश्वत देने के आराेप में गिरफ्तार किया गया है। सीबीआई की नजर पंजाब, चंडीगढ़ और हिमाचल जोन के बद्दी कार्यालय में कार्यरत ड्रग इंस्पेक्टर अंकुर बंसल पर पहले से थी। जानकारी के मुताबिक एजेंसी की एक टीम ने ड्रग इंस्पेक्टर के बद्दी निवास पर भी तलाशी ली। सीडीएससीओ के बद्दी के शीतलपुर स्थित कार्यालय के डिप्टी ड्रग कंट्रोलर बीके समांत्रे ने कहा कि मंगलवार रात सीबीआई की एक टीम ऑफिस आई
ड्रग इंस्पेक्टर को सीबीअाई ने अमृतसर में रिश्वत लेते पकड़ा

ड्रग इंस्पेक्टर को सीबीअाई ने अमृतसर में रिश्वत लेते पकड़ा

Punjab
भास्कर न्यूज | सोलन/नालागढ़ सीबीआई ने सेंट्रल ड्रग स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन (सीडीएससीओ) के बद्दी में कार्यरत ड्रग इंस्पेक्टर अंकुर बंसल को अमृतसर में रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। वो बुधवार को एक नामी दवा कंपनी में इंस्पेक्शन के लिए गया था। इस दौरान कंपनी और ड्रग इंस्पेक्टर के बीच लेनदेन हुआ। सीबीआई ने अंकुर को रिश्वत के पैसे के साथ पकड़ा है। इसके साथ ही कंपनी के दो सदस्यों को भी रिश्वत देने के आराेप में गिरफ्तार किया गया है। सीबीआई की नजर पंजाब, चंडीगढ़ और हिमाचल जोन के बद्दी कार्यालय में कार्यरत ड्रग इंस्पेक्टर अंकुर बंसल पर पहले से थी। जानकारी के मुताबिक एजेंसी की एक टीम ने ड्रग इंस्पेक्टर के बद्दी निवास पर भी तलाशी ली। सीडीएससीओ के बद्दी के शीतलपुर स्थित कार्यालय के डिप्टी ड्रग कंट्रोलर बीके समांत्रे ने कहा कि मंगलवार रात सीबीआई की एक टीम ऑफिस आई
ड्रग इंस्पेक्टर को सीबीअाई ने अमृतसर में रिश्वत लेते पकड़ा

ड्रग इंस्पेक्टर को सीबीअाई ने अमृतसर में रिश्वत लेते पकड़ा

Punjabi Politics
भास्कर न्यूज | सोलन/नालागढ़ सीबीआई ने सेंट्रल ड्रग स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन (सीडीएससीओ) के बद्दी में कार्यरत ड्रग इंस्पेक्टर अंकुर बंसल को अमृतसर में रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। वो बुधवार को एक नामी दवा कंपनी में इंस्पेक्शन के लिए गया था। इस दौरान कंपनी और ड्रग इंस्पेक्टर के बीच लेनदेन हुआ। सीबीआई ने अंकुर को रिश्वत के पैसे के साथ पकड़ा है। इसके साथ ही कंपनी के दो सदस्यों को भी रिश्वत देने के आराेप में गिरफ्तार किया गया है। सीबीआई की नजर पंजाब, चंडीगढ़ और हिमाचल जोन के बद्दी कार्यालय में कार्यरत ड्रग इंस्पेक्टर अंकुर बंसल पर पहले से थी। जानकारी के मुताबिक एजेंसी की एक टीम ने ड्रग इंस्पेक्टर के बद्दी निवास पर भी तलाशी ली। सीडीएससीओ के बद्दी के शीतलपुर स्थित कार्यालय के डिप्टी ड्रग कंट्रोलर बीके समांत्रे ने कहा कि मंगलवार रात सीबीआई की एक टीम ऑफिस आई

12 दिन पूर्व घूस लेते गिरफ्तार हुई आबकारी निरीक्षक के विदाई समारोह में शराब ठेकेदारों ने मालाएं पहनाकर गिफ्ट भी दिए

Rajasthan
जोधपुर. तस्वीर में हंसते हुए गिफ्ट स्वीकारती और माल्यार्पण करवाती ये हैं मूमल बूब। ओसियां आबकारी थाने की निरीक्षक। वही मूमल जिन्हें 30 जुलाई को रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। शुक्रवार को ही मूमल को जमानत मिली और रविवार को वे हाजिर थी अपने सम्मान समारोह में। इस समारोह में शराब ठेकेदारों ने उन्हें विदाई दी। मूमल को मालाएं पहनाई गई और गिफ्ट भी दिए गए।मूमल ने भी अपने संबोधन में पूरे आत्मविश्वास से कहा आपको चिंता करने की जरुरत नहीं है, मैं केवल एपीओ हुई हूं। मूमल का बारा जिले के अंता में स्थानांतरण हुआ है। शराब ठेकेदार स्वरूप सिंह बारा ने बताया कि मूमल ने ओसियां आबकारी विभाग में अच्छा कार्य किया है। इस माैके पर भरत बिड़ला, बलवीर सिंह तापू, श्यामलाल मथानिया, रतनसिंह भाटी आदि माैजूद थे।निलंबित नहीं हुईगौरतलब है कि कोई भी सरकारी कर्मचारी 24 घंटे जेल में रहते है तो
बदला लेने के लिए होमगार्ड ने वाहन चालकों से पैसे लेते का वीडियो बना वायरल किया, ट्रैफिक ईएएसआई सस्पेंड

बदला लेने के लिए होमगार्ड ने वाहन चालकों से पैसे लेते का वीडियो बना वायरल किया, ट्रैफिक ईएएसआई सस्पेंड

Haryana
वाहन चालकों से पैसे वसूलने के आरोप में ट्रैफिक पुलिस के ईएएसआई सलिंद्र सिंह को सस्पेंड कर दिया गया है। उसकी पैसे लेते का वीडियो वायरल हो रहा था। वायरल वीडियाे के साथ ही लिखा था कि कि इसे इतना वायरल करो कि यह कर्मचारी सस्पेंड हो जाए। शुक्रवार को यह वीडियो वायरल हुअा और शनिवार को पुलिस कर्मी सस्पेंड हो गया। बताया जा रहा है कि यह वीडियो 8 अगस्त को बनाया गया है। कर्मचारी को शनिवार को सस्पेंड कर लाइन में भेज दिया गया। वहीं उसकी डिपार्टमेंट इंक्वायरी भी शुरू हो गई है। पैसे लेने का वीडियो वायरल होने के बाद मामला पुलिस अधिकारियों तक पहुंचा था। शनिवार सुबह ही एसपी ने उसे तलब कर लिया। डीएसपी हेडक्वार्टर के सामने वह पेश हुआ। उसने अपनी दलील दी कि उस पर लगे आरोप गलत हैं। उसने कोई पैसा नहीं लिया। डीएसपी हेडक्वार्टर सुभाष चंद ने बताया कि इस मामले में ट्रैफिक पुलिस कर्मी को सस्पेंड कर
ट्रैफिक पुलिसकर्मी का पैसे लेते हुए वीडियो वायरल

ट्रैफिक पुलिसकर्मी का पैसे लेते हुए वीडियो वायरल

Haryana
यमुनानगर | यमुनानगर ट्रैफिक पुलिस कर्मी की एक वीडियो वायरल हो रही है। वह इस वीडियो में चालान काटते समय वाहन चालकों से कुछ लेता नजर आ रहा है। ऐसा लग रहा है कि वह उनसे पैसे ले रहा है। यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। लोगों का कहना है कि इस मामले में अधिकारियों को कार्रवाई करनी चाहिए। यह वीडियो शहर के एक चौक की है। हालांकि वीडियो में नजर आ रहा है कि पुलिस कर्मी वहां पर कैशलैस मशीन का प्रयोग कर रहा है। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
एनडीपीएस एक्ट में जब्त ट्रक को छोड़ने की एवज में थानाप्रभारी 45 हजार रूपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार

एनडीपीएस एक्ट में जब्त ट्रक को छोड़ने की एवज में थानाप्रभारी 45 हजार रूपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार

Rajasthan
चुरू. जिले में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने शुक्रवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए रतनगढ़ थानाप्रभारी हरिजिंदर सिंह को 45 हजार रूपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। यह कार्रवाई एसीबी की जयपुर (प्रथम) के प्रभारी एडिशनल एसपी आलोक शर्मा के नेतृत्व मेंडीएसपी नीरज गुरनानी की टीम ने की।कार्रवाई के बाद थानाप्रभारी हरिजिंदर सिंह के सरकारी क्वार्टर में सर्च कार्रवाई के दौरान एसीबी टीम ने 7.35 लाख रूपए की रकम भी जब्त की। इस रकम के बारे में पूछताछ जारी थी। वहीं, रिश्वत के इस केस में थानाप्रभारी के रीडर की भूमिका भी सामने आई है। उससे भी एसीबी टीम पूछताछ कर रही है।एएसपी आलोक शर्मा ने बताया कि रतनगढ़ थानाप्रभारी हरिजिंदर सिंह के खिलाफ एक व्यक्ति ने जयपुर मुख्यालय एसीबी में शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसमें बताया कि परिवादी का एक ट्रक रतनगढ़ थाना पुलिस ने कुछ समय पहले पकड़ा था। तब
मुकदमे में से नाम हटाने की एवज में मांगी 70 हजार रूपए की रिश्वत, 10 हजार लेते कांस्टेबल गिरफ्तार

मुकदमे में से नाम हटाने की एवज में मांगी 70 हजार रूपए की रिश्वत, 10 हजार लेते कांस्टेबल गिरफ्तार

Rajasthan
कोटा. ग्रामीण जिले के अयाना थाने में तैनात कांस्टेबल रमेश कुमार को एसीबी बारां की टीम ने शुक्रवार को 10 हजार रूपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। रिश्वत की यह रकम अयाना थाने में दर्ज दहेज प्रताड़ना के मुकदमे में आरोपियों का नाम हटाने की एवज में मांगी जा रही थी। यह कार्रवाई एसीबी बारां के प्रभारी इंस्पेक्टर ज्ञानचंद के नेतृत्व में की गई।सीआई ज्ञानचंद ने बताया कि शाहबाद दरवाजा थाना कोतवाली बारां निवासी मोहन लाल बैरवा ने एसीबी में 23 जुलाई को शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसमें बताया कि उसके लड़के दीपक व अन्य परिवारजनों के खिलाफ अयाना थाने में दहेज प्रताड़ना के केस में मुकदमा दर्ज हुआ था। इस केस से आरोपियों का नाम हटाने की एवज में अयाना थाने के हैडकांस्टेबल उमर मोहम्मद ने परिवादी मोहन लाल से 70 हजार रुपए की रिश्वत की मांग की।तब एसीबी ने शिकायत का सत्यापन करवाया। जिसमें आ