News That Matters

Tag: लेते

बेंगलुरू के राम मंदिर की साफ-सफाई में जुटे हैं सद्दाम, यहां आने वाला हर कोई करता है उनकी तारीफ और इसी से प्रेरणा लेते हैं हुसैन

बेंगलुरू के राम मंदिर की साफ-सफाई में जुटे हैं सद्दाम, यहां आने वाला हर कोई करता है उनकी तारीफ और इसी से प्रेरणा लेते हैं हुसैन

India
वीडियो डेस्क. हिंदू-मुस्लिम एकता की बेहतरीन मिसाल पेश करती एक तस्वीर बेंगलुरू से सामने आई है। यहां के राजाजीनगर स्थित राम मंदिर की साफ-सफाई 27 साल के सद्दाम हुसैन कर रहे हैं। फिलहाल वे आने वाली राम नवमी की तैयारियों में व्यस्त हैं।न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए वे बताते हैं- 'बीते 2-3 साल से मुझे ये जिम्मेदारी मिल रही है। यहां आने वाली भी मदद के साथ मेरे काम की तारीफ करते हैं जिससे मुझे प्रेरणा मिलती है।' बता दें सद्दामलोगों की मदद के लिए पूरे इलाके में मशहूर हैं। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें Bengaluru: Saddam Hussein, a local has taken up the responsibility of keeping the Ram Temple in Rajajinagar clean, ahead of RamNavmi: Dainik Bhaskar News Dainik Bhaskar
कैंसर मरीज की मौत हादसे में दिखा लेते थे बीमा क्लेम, सरगना समेत 3 लोग गिरफ्तार

कैंसर मरीज की मौत हादसे में दिखा लेते थे बीमा क्लेम, सरगना समेत 3 लोग गिरफ्तार

Haryana
सोनीपत.एसटीएफ ने एक ऐसे गैंग का पर्दाफार्श किया है, जो कैंसर की अंतिम स्टेज के मरीजों की मौत को सड़क हादसे में दिखाकर बीमा का क्लेम लेता था। एसटीएफ के डीएसपी राहुल देव ने इसके मास्टरमाइंड पवन भाैरिया समेत तीन लोगों को गुरुवार देर शाम सोनीपत-रोहतक मार्ग से गिरफ्तार किया है।इस गैंग मंे 15 लोग काम करते हैं। भारती एक्सा बीमा कंपनी के पास पिछले चार माह में ऐसे 8 मामले सामने आए, जिनमें क्लेम लेने के लिए कहानी का प्लॉट एक जैसा था। इसमें कैंसर के लास्ट स्टेज के मरीज को हादसे में मौत का शिकार दिखाया जाता था, फिर कंपनी से 30 लाख रुपए प्रति मरीज क्लेम मांगा गया।बीमा कंपनी ने इसकी शिकायत डीजीपी क्राइम से की। एसटीएफ ने मामले की जांच शुरू कर दी है। शुक्रवार देर रात दो बीमा कंपनियों बजाज बीमा और एचडीएफसी लाइस इंश्योरेंस कंपनी के अधिकारी एसटीएफ थाना सोनीपत पहुंचे। इन्होंने कई केसों की ज
सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया के हैड कैशियर को 15 हजार रूपये की रिश्वत लेते किया गिरफ्तार

सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया के हैड कैशियर को 15 हजार रूपये की रिश्वत लेते किया गिरफ्तार

Rajasthan
जयपुर.भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) सवाईमाधोपुर टीम ने गुरूवार को कार्रवाई करते हुये सेन्ट्रल बैंक ऑफइंडिया शाखा सवाई माधोपुर के हेड कैशियर राजेश प्रजापति को 15 हजार रूपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के एडीजी सौरभ श्रीवास्तव ने बताया कि एक परिवादी ने एसीबी सवाईमाधोपुर चौकी में शिकायत दी थीकी मुख्यमंत्री विशेषयोग्यजन स्वरोजगार योजनान्तर्गत परचूनी की दुकान के लिए सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया, शाखा सवाईमाधोपुर से 1 लाख रूपये ऋण स्वीकृत करने व समाज कल्याण विभाग से मिलने वाली 50 हजार रूपये की सब्सिडी मर्ज करने की एवज में हैड कैशियर राजेश प्रजापतिउससे 15हजार रूपये की रिश्वत राशि की मांग कर रहा है।तब एसीबी सवाईमाधोपुर के उपाधीक्षकभैरूंलाल के नेतृत्व में शिकायत का सत्यापन करवाया गया। इसके बाद गुरुवार कोट्रैप कार्रवाई रची गई। जिसमें एसीबी टी
आरएएस अधिकारी नाहटा कलेक्ट्रेट के अपने कार्यालय में दस हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार

आरएएस अधिकारी नाहटा कलेक्ट्रेट के अपने कार्यालय में दस हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार

Rajasthan
जोधपुर. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो(एसीबी) ने गुरुवार दोपहर जोधपुर के एडीएम तृतीय आरएएस अधिकारी विजय सिंह नाहटा को दस हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ लिया। एडीएम के रिश्वत लेते पकड़े जाने से कलेक्ट्रेट में हड़कंप मच गया। एसीबी के अधिकारी अब बंद कमरे में नाहटा से पूछताछ कर रहे है। जोधपुर कलेक्ट्रेट में किसी अधिकारी के इस तरह रिश्वत लेते पकड़े जाने का यह पहला मामला है।एसीबी के अधिकारी सवाई सिंह गोदारा ने बताया कि पप्पू दास ने शिकायत दर्ज कराई की पत्थरगढ़ी का काम करने के लिए पीपाड़ तहसीलदार को आदेश देने के लिए नाहटा ने दस हजार रुपए की मांग की। शिकायत का सत्यापन होने पर आज होने पर एसीबी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नरेन्द्र चौधरी ने पप्पूराम को दस हजार रुपए लेकर नाहटा के पास भेजा। कलेक्ट्रेट में एडीएम तृतीय के कार्यालय में नाहटा को दस हजार रुपए थमाते ही वहां पहले से तैयार एसीब
सप्लीमेंट्स लेते समय रखें इन बातों का ध्यान

सप्लीमेंट्स लेते समय रखें इन बातों का ध्यान

Health
ज्यादा मात्रा में लेते हैं कैल्शियम तो दो भागों में करें विभाजित कैल्शियम आपके शरीर के आयरन, जिंक और मैग्नीशियम के अवशोषण को प्रभावित कर सकता है। डायटीशियन आयरन की खुराक या मल्टीविटामिन की तुलना में भोजन में कैल्शियम की खुराक लेने की सलाह देते हैं। जब आप एक बार में 600 मिलीग्राम या उससे कम कैल्शियम लेते हैं, तो आपका शरीर कैल्शियम को अधिक प्रभावी ढंग से अवशोषित करता है। यदि आप प्रति दिन कैल्शियम अधिक मात्रा में ले रहे हैं, तो इसे सुबह और शाम दो भागों में विभाजित करना पड़ेगा। फाइबर ऐसा पोषक तत्व है जिसे अन्य सप्लीमेंट्स व दवाओं के अलावा लेना चाहिए।मल्टीविटामिन और अन्य सप्लीमेंट्स को लेना आवश्यक है? यह बहस का मुद्दा है। कई स्थितियों में पूरक आहार (सप्लीमेंट) की सलाह दी जाती है। गर्भवती महिला के न्यूरल ट्यूब दोष के जोखिम को कम करने के लिए फोलिक एसिड दिया जाता है। विकासशील देशों में बच्चे जिन्ह
30 हजार की रिश्वत लेते सब इंस्पेक्टर ट्रैप, दो दलाला भी किए गए गिरफ्तार

30 हजार की रिश्वत लेते सब इंस्पेक्टर ट्रैप, दो दलाला भी किए गए गिरफ्तार

Rajasthan
कोटा. एसीबी ने गुरुवार को कोटा शहर के जवाहर नगर थाने में कार्रवाई करते हुए एक सब इंस्पेक्टर सुबना वर्मा को 30 हजार की रिश्वत लेते ट्रैप किया। उसके साथ दो दलाल राकेश कुमार और आकाश राठोड़ को भी गिरफ्तार किया गया। परिवादी का आरोप था उसके रिश्तेदारों का किसी चोरी के मुकदमें से नाम हटाने की एवज में 50 हजार रुपए की रिश्वत मांगी गई थी।परिवादी द्वारा मामले की जानकारी एसीबी को देने के बाद उसका सत्यापन करवाया गया। सत्यापन के वक्त 20 हजार की राशि रिश्वत के रूप में दी गई। जिसके बाद आज सुबह बाकी 30 हजार रुपए की रिश्वत देते वक्त ट्रैप की कार्रवाई की गई। एसीबी स्टेशल यूनिट द्वारा इस कार्रवाई को अंजाम दिया गया। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today All inspector trap taking 30 thousand bribe Dainik Bhaskar
खांसी का सिरप लेते समय इन बातों का रखें ध्यान

खांसी का सिरप लेते समय इन बातों का रखें ध्यान

Health
जब हमें खांसी होती है तो सामान्यत: हम कैमिस्ट से कफ सिरप लेकर बिना डॉक्टरी सलाह के ही पी लेते हैं। लेकिन कफ सीरप का प्रयोग विशेषज्ञ की सलाहानुसार ही किया जाना चाहिए क्योंकि यह अलग-अलग कारणों से विभिन्न प्रकार की हो सकती है। एंटीबायोटिक : बैक्टीरिया के संक्रमण से खांसी होने पर इसे एंटीबायोटिक से नियंत्रित किया जाता है। कफ सप्रेसेंट्स : ये दवाएं कफ के लिए असरदार हैं। एंटी-हिस्टामाइन्स : एलर्जी, खाने की चीज या दवा के रिएक्शन से खांसी होने पर एंटी-हिस्टामाइन्स कारगर मानी जाती है। एक्सपेक्टोरैंट्स : वैट-कफ से परेशानी होने पर एक्सपेक्टोरैंट्स टैबलेट या सिरप उपयोगी हैं। ये भी जानना है जरूरी - ब्रोंकोडाइलेटर्स : ये अस्थमा के रोगियों को दी जाती हैं। खांसी की वजह से प्रभावित श्वासनली को आराम पहुंचाती हैं।डीकंजेस्टेंट : नाक बंद होकर खांसी होने पर डीकंजेस्टेंट दवाएं काम करती हैं। ये सूजी हुई रक्त वाहि
दिल्ली के 6 युवाओं ने नौकरी छोड़ शुरू किया रेस्त्रां, यहां मूक-बधिर लोग देते हैं सर्विस, गेस्ट से इशारों में लेते हैं ऑर्डर

दिल्ली के 6 युवाओं ने नौकरी छोड़ शुरू किया रेस्त्रां, यहां मूक-बधिर लोग देते हैं सर्विस, गेस्ट से इशारों में लेते हैं ऑर्डर

Delhi
मशहूर शायर दुष्यंत कुमार की पंक्तियां ‘कौन कहता है कि आसमां में सुराख नहीं हो सकता। एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारों।’ साउथ दिल्ली के सत्यनिकेतन स्थित ‘एकोज’ कैफे में काम करने वाले मूक-बधिर लोगों पर सटीक बैठती दिखाई देती हैं। सत्यनिकेतन के अलावा एेसा ही एक रेस्टोरेंट नॉर्थ कैंपस में हडसन लेन में भी है। मूक-बधिर लोगों की जिंदगी बदलने वाले इस रेस्त्रां की शुरुआत दिसंबर, 2015 में दिल्ली के 6 युवाओं ने की थी। राजौरी गार्डन इलाके में रहने वाले यह सभी युवा उस वक्त मैनेजमेंट और होटल इंडस्ट्री में कार्यरत थे। रेस्त्रां में इस समय 5 मूक-बधिर काम (बतौर वेटर) कर रहे हैं। साउथ दिल्ली के सत्यनिकेतन में ‘एकोज’ नाम के रेस्टोरेंट में काम करते हैं बोलने-सुनने में असमर्थ लोग तीन राज्यों में चार जगह चल रहे रेस्त्रां, बोलने-सुनने में असमर्थ 40 लोग कर रहे इन रेस्त्रां में काम यहां बजर दब
इन 6 युवाओं ने नौकरी छोड़ शुरू किया रेस्त्रां; यहां मूक-बधिर लोग देते हैं सर्विस, गेस्ट से इशारों में लेते हैं ऑर्डर

इन 6 युवाओं ने नौकरी छोड़ शुरू किया रेस्त्रां; यहां मूक-बधिर लोग देते हैं सर्विस, गेस्ट से इशारों में लेते हैं ऑर्डर

Delhi
तरुण सिसोदिया, नई दिल्ली. मशहूर शायर दुष्यंत कुमार की पंक्तियां 'कौन कहता है कि आसमां में सुराख नहीं हो सकता। एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारों।' साउथ दिल्ली के सत्यनिकेतन स्थित 'एकोज' कैफे में काम करने वाले मूक-बधिर लोगों पर सटीक बैठती दिखाई देती हैं। सत्यनिकेतन के अलावा ऐसाही एक रेस्टोरेंट नॉर्थ कैंपस में हडसन लेन में भी है। मूक-बधिर लोगों की जिंदगी बदलने वाले इस रेस्त्रां की शुरुआत दिसंबर, 2015 में दिल्ली के 6 युवाओं ने की थी। राजौरी गार्डन इलाके में रहने वाले यह सभी युवा उस वक्त मैनेजमेंट और होटल इंडस्ट्री में कार्यरत थे। रेस्त्रां में इस समय 5 मूक-बधिर काम (बतौर वेटर) कर रहे हैं।यहां बजर दबाते ही वेटर ऑर्डर लेने पहुंच जाते हैंडेढ़ साल से यहां सर्विस देने वाले मूक-बधिर कैसले से भास्कर ने रेस्त्रां के मैनेजर रामजीत के जरिए बात की। कैसले ने बताया, परिवार
रणवीर को कपिल देव से ट्रेनिंग लेते देख दीपिका पादुकोण ने किया ये कमेंट

रणवीर को कपिल देव से ट्रेनिंग लेते देख दीपिका पादुकोण ने किया ये कमेंट

Entertainment
रणवीर सिंह आज कल अपनी अपकमिंग फिल्म 83 की शूटिंग में बिजी हैं। रणवीर ने हाल ही में एक वीडियो शेयर किया जिसमें कपिल देव उन्हें क्रिकेट सिखा रहे हैं। रणवीर के इस वीडियो को सभी ने लाइक किया, लेकिन पत्नी... Live Hindustan Rss feed