News That Matters

Tag: लोकतंत्र

अगर तीन तलाक की कुप्रथा नहीं हटाते तो यह भारतीय लोकतंत्र पर सबसे बड़ा धब्बा होता: अमित शाह

अगर तीन तलाक की कुप्रथा नहीं हटाते तो यह भारतीय लोकतंत्र पर सबसे बड़ा धब्बा होता: अमित शाह

India
नई दिल्ली. दिल्ली केकॉन्स्टिट्यूशन क्लब में रविवार को हुए कार्यक्रम मेंगृह मंत्री अमित शाह ने तीन तलाक मामले परकहा,''कुछ राजनीतिक पार्टियों को वोट बैंक की आदत पड़ गई थी। तुष्टिकरण की राजनीति के चलते तीन तलाक इतने साल तक चलता रहा। जब हम पूरे समाज की परिकल्पना लेकर चलते हैं तो हमें संवेदनाओं के बारे में सोचना पड़ता है।’’शाह ने कहा, ''वोटों के लालच में तुष्टिकरण जरूरी नहीं है। जो पिछड़ा है, गरीब है उसे साथ लेकर चलना पड़ता है। गरीब कोई भी हो उसका धर्म नहीं होता है। विकास ही उसे मुख्यधारा में सामने लाकर खड़ा करता है। तुष्टिकरण भारत के विभाजन का कारण बना था। वोट बैंक की वजह से देश के विकास में बाधा आई।''बहुमत के आधार पर सरकार तीन तलाक खत्म कर पाईउन्होंने कहा,''मुझे लगता है कि जनता ने मोदीजी को दूसरी बार पूर्ण बहुमत देकर तुष्टिकरण की राजनीति को पूरी तरह से खत्म कर दिया। उसी बह
शहीद दिवस रैली में ममता ने कहा- देश में लोकतंत्र की बहाली हो, बैलेट से चुनाव करवाए जाएं

शहीद दिवस रैली में ममता ने कहा- देश में लोकतंत्र की बहाली हो, बैलेट से चुनाव करवाए जाएं

India
कोलकाता. ममता बनर्जी ने रविवार को शहीद दिवस रैली में कहा कि देश में लोकतंत्र बहाल करने की जरूरत है। चुनाव मशीन (ईवीएम) नहीं बल्कि बैलेट से कराए जाने चाहिए।तृणमूल कांग्रेस हर साल 21 जुलाईको कोलकाता में शहीद दिवस रैली कराती है। 1993 में इसी दिन पश्चिम बंगाल की तत्कालीन कम्युनिस्ट सरकार ने प्रदर्शनकारियों पर गोली चलाने का आदेश दिया था। इसमें 13 यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं की मौत हो गई थी। ममता उस वक्त युवा कांग्रेस की नेता थीं।‘मेरी शहीदों कोश्रद्धांजलि’ममता ने कहा- 21 जुलाई शहीद दिवस ऐतिहासिक है। 26 साल पहले आज के ही दिन 13 युवा कार्यकर्ताओं की पुलिस फायरिंग में मौत हो गई थी। तब से इस दिन को हम शहीद दिवस के रूप में मनाते हैं। मैं उन सभी शहीदों को श्रद्धांजलि देती हूं, जो 34 साल के लेफ्ट के शासनकाल में मारे गए।‘बैलेट पेपर वापस लाओ’बंगाल की मुख्यमंत्री ने ईवीएम पर भी निशाना स
कर्नाटक-गोवा के राजनीतिक हालात पर सोनिया-राहुल का प्रदर्शन, लोकतंत्र बचाओ के नारे लगाए

कर्नाटक-गोवा के राजनीतिक हालात पर सोनिया-राहुल का प्रदर्शन, लोकतंत्र बचाओ के नारे लगाए

India
नई दिल्ली.कर्नाटक और गोवा के राजनीतिक हालात को लेकर गुरुवार को राज्यसभा में हंगामा हुआ। कांग्रेस नेता पीचिदंबरम ने कहा कि राजनीतिक अस्थिरता का असर राज्यों में निवेश पर पड़ेगा और इससे देश की अर्थव्यवस्था नीचे जाएगी। आए दिन लोकतंत्र पर खतरा बढ़ता जा रहा है। इससे पहले यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुआई में विपक्ष ने संसद परिसर में गांधी प्रतिमा के सामने प्रदर्शन और नारेबाजी की। विपक्षी नेताओं के हाथों में ‘लोकतंत्र बचाओ’ लिखी तख्तियां थीं।कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस के 16 विधायकों के इस्तीफे की वजह से मुख्यमंत्री कुमारस्वामी की गठबंधन सरकार मुश्किल में है। सुप्रीम कोर्ट ने बागी विधायकों को निर्देश दिया है कि वे गुरुवार शाम 6 बजे विधानसभा स्पीकर से मिलें और आज ही स्पीकर इस्तीफों पर फैसला लेकर अपना निर्णय कोर्ट को बताएं। दूसरी ओर, बुध
मनमोहन सिंह बोले, विधायिका की ताकत संसदीय लोकतंत्र का अनुपम उदाहरण

मनमोहन सिंह बोले, विधायिका की ताकत संसदीय लोकतंत्र का अनुपम उदाहरण

Rajasthan
जयपुर। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि विधायिका की ताकत संसदीय लोकतंत्र का अनुपम उदाहरण है, हमें इसकी उपयोगिता को समझकर जनता की सेवा करनी चाहिए, विधायक अपनी जबावदेही निभाएं, विधानसभा के जरिए प्रदेश और देश की प्रगति में सहायक बने। प्रत्येक विधायक अपनी-अपनी विधानसभा के डवलपमेंट पर फोकस करें, नियमों और मर्यादाओं के तहत सदन में अपनी बात कहें, उसकी प्राथमिकता है कि जनहित, संवेदनशील विषयों को सदन के सामने लाए।पूर्व प्रधानमंत्री एक दिवसीय प्रबोधन कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। पंद्रहवीं विधानसभा के निर्वाचित सदस्यों को संसदीय प्रक्रिया एवं कार्य व्यवहार की जानकारी उपलब्ध कराने के लिए एक दिवसीय प्रबोधन कार्यक्रम रविवार को राजस्थान विधानसभा में आयोजित किया गया था। इसका उद्घाटन लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने किया तथा समापन कार्यक्रमम के मुख्य अतिथि पूर्व प्रधानमंत्री मन
आपातकाल भारतीय लोकतंत्र के इतिहास की कलंक गाथा : श्याम जाजू

आपातकाल भारतीय लोकतंत्र के इतिहास की कलंक गाथा : श्याम जाजू

Delhi
नई दिल्ली| भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्याम जाजू ने आपातकाल को भारतीय लोकतांत्रिक इतिहास में कांग्रेस की कलंक-गाथा करार दिया। उन्होंने प्रदेश भाजपा कार्यालय में मंगलवार को आयोजित समारोह में उन मीसाबंदियों (आपातकाल के दौरान बंदी) को लोकतंत्र के सेनानियों का सम्मान देने की अपील की, जो आज भी आपातकाल के दंश की पीड़ा सह रहे हैं। जाजू ने कहा तत्कालीन पीएम इंदिरा गांधी ने अे 25 जून, 1975 को देश पर आपातकाल थोपा था। कार्यक्रम में मौजूद प्रदेश संगठन मंत्री सिद्धार्थन ने कहा कि आपातकाल के दौरान नागरिकों को बेवजह प्रताड़ित किया गया। लोकतंत्र में विश्वास रखने वाले सभी लोगों का दायित्व है कि वे इतिहास के काले पन्ने के बारे में नई पीढ़ी को बताया जाना चाहिए। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today Dainik Bhaskar
स्मृति ने काफिले की एंबुलेंस से युवती को अस्पताल भेजा, कहा- लोकतंत्र सिर्फ एक नामदार के लिए नहीं बना

स्मृति ने काफिले की एंबुलेंस से युवती को अस्पताल भेजा, कहा- लोकतंत्र सिर्फ एक नामदार के लिए नहीं बना

India
अमेठी.केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी शनिवार को दो दिवसीय दौरे पर अमेठी पहुंचीं। रास्ते में उन्होंने एक बीमार युवती को देखा और काफिले की एंबुलेंस से उसे अस्पताल पहुंचाया। इसके बाद स्मृति ने सभा में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अमेठी नामदार का मजबूत क्षेत्र था, वेसमझते थे कि 5 साल भी यहां न आएं तो जनता स्वीकार कर लेगी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ और जनता ने कमल का बटन दबाकर उन्हें बता दिया कि लोकतंत्र केवल एक नामदार के लिए नहीं बना है। लोकसभा चुनाव में स्मृति ने राहुल गांधी को हराया था।स्मृति के साथ गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत भी अमेठी पहुंचे। दोनों ने बरौलिया गांव पहुंचकर पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह के परिजन से मुलाकात की। सुरेंद्र की कुछ महीने पहले गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी।गोवा के सीएम बोले- 2014 में सुरेंद्र सिंह के साथ काम किया थासावंत
गहलोत बोले- कांग्रेस ने लोकतंत्र की जड़ को मजबूत किया, इसलिए मोदी दूसरी बार पीएम बन पाए

गहलोत बोले- कांग्रेस ने लोकतंत्र की जड़ को मजबूत किया, इसलिए मोदी दूसरी बार पीएम बन पाए

Rajasthan
जयपुर. सोमवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भानपुर कलां जिला में राष्ट्रीय एकता शिविर को संबोधित करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कहा कि आज मोदी जी इसलिए प्रधानमंत्री बने है क्योंकिकांग्रेस ने लोकतंत्र की जड़ों को मजबूत किया, कमजोरनहीं होने दिया।सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि डॉ. अंबेडकर के बनाए संविधान उस जमाने के अंदर आज हमारे मुल्क में 70 साल बाद में भी लोकतंत्र मजबूत रहा है। पाकिस्तान में तो कई बार सैनिकों का शासन हो गया। हमारे यहां पर राजबदलते है लोकशाही के माध्यम से। आप लोग मायी बाप बैठे हो, तय कर लेते हो कौन जीतेगा कौन हारेगा। जो जीतता है राज करता है, यह जनता को ताकत किसने दी है ?यह कांग्रेस के नेताओं ने दी थी, 76 साल पहले। आलोचना करना तो बहुत छोटी बात है, कोई कर सकता है। ताकत मिली है मुल्क को , आज मोदी जी प्रधानमंत्री बने है दूसरी बार तो इसलिए बन पाए है कि 76 साल के बाद भी
मोदी ने कहा- लोकतंत्र में विपक्ष का सशक्त होना अनिवार्य, वे सदन में अपने नंबरों की संख्या छोड़ दें

मोदी ने कहा- लोकतंत्र में विपक्ष का सशक्त होना अनिवार्य, वे सदन में अपने नंबरों की संख्या छोड़ दें

India
नई दिल्ली.17वीं लोकसभा के पहले सत्र में साेमवार और मंगलवार कोनवनिर्वाचित सांसदशपथ लेंगे। कार्यवाही शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि लोकतंत्र में विपक्ष का सशक्त होना जरूरी है। उनका हर शब्द मूल्यवान है, वे लोकसभा में अपने नंबरों की चिंता छोड़ दें। उम्मीद है कि सभी दलसदन में उत्तम चर्चा करेंगे। इससे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद नेवीरेंद्र कुमार को प्राेटेम स्पीकर पद की शपथ दिलाई। कुमार मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ से सांसद हैं।अब 19 जून को लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव हाेगा। 20 जून को राष्ट्रपति लोकसभा और राज्यसभा दोनों सदनाें की संयुक्त बैठक को संबोधित करेंगे। इसी दिन राज्यसभा के सत्र की शुरुआत हाेगी। संसद का यह सत्र 26 जुलाई तक चलेगा।5 जुलाई को पहली बार महिला वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बजट पेश करेंगी।मोदी ने कहा, ''इस चुनाव में पहले की तुलना में अधिक मात्रा
कांग्रेस के 12 विधायक टीआरएस में शामिल, कांग्रेस ने कहा- यह लोकतंत्र की हत्या

कांग्रेस के 12 विधायक टीआरएस में शामिल, कांग्रेस ने कहा- यह लोकतंत्र की हत्या

India
हैदराबाद. तेलंगाना में कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। विधानसभा स्पीकर पी श्रीनिवास रेड्डी ने गुरुवार को पार्टी के 12 विधायकों के दल को सत्ताधारी तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) में विलय की अनुमति दे दी है। इन विधायकों ने स्पीकर से मुलाकात कर टीआरएस में विलय की मांग की थी।उधर, कांग्रेस ने इसे लोकतंत्र की हत्या बताया। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि जिस तरह से राज्य में लोगों के जनादेश और नियमों को कुचला जा रहा है, यह दिन-दहाड़े लोकतंत्र की हत्या है। देश इसे कभी नहीं भूलेगा। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें कांग्रेस के 12 विधायकों ने विधानसभा स्पीकर से गुरुवार को मुलाकात की। Dainik Bhaskar
शाह ने कहा- ईवीएम का विरोध जनादेश का अनादर, लोकतंत्र की छवि धूमिल कर रहे विपक्षी दल

शाह ने कहा- ईवीएम का विरोध जनादेश का अनादर, लोकतंत्र की छवि धूमिल कर रहे विपक्षी दल

India
नई दिल्ली. ईवीएम पर सवाल और वीवीपैट मिलान की मांग के बीच भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने विपक्षी पार्टियों पर निशाना साधा है। शाह ने कहा कि ईवीएम का विरोध जनादेश का अनादर है। हार से बौखलाई पार्टियां देश की लोकतांत्रिक प्रक्रिया पर सवाल उठाकर विश्व में देश और लोकतंत्र की छवि धूमिल कर रही हैं।22 विपक्षी दलों ने चुनाव आयोग से मांग की थी कि वीवीपैट पर्चियों का मिलान वोटिंग प्रक्रिया से पहले हो, ना कि बाद में। चुनाव आयोग ने यह प्रक्रिया पहले जैसी रखने का फैसला किया है।गिनती की प्रक्रिया बदलने की मांग असंवैधानिक- शाहशाह ने कहा कि वोटों की गिनती से ऐन पहले विपक्षी पार्टियां चुनाव और वोटों की गिनती की प्रक्रिया बदलने के लिए कह रही हैं। यह असंवैधानिक है, क्योंकि ऐसे फैसले केवल सभी की सहमति होने पर ही लिए जा सकते हैं। हमें विपक्षियों के भ्रम फैलाने की कोशिशों से प्रभावित हुए बिना अपने