News That Matters

Tag: वायु

वायु प्रदूषण और जल प्रदूषण है गंभीर समस्या : डाॅ. राजेंद्र

वायु प्रदूषण और जल प्रदूषण है गंभीर समस्या : डाॅ. राजेंद्र

Haryana
हरियाणा विज्ञान मंच की राज्य कमेटी के सदस्य डाॅ. राजिंदर सिंह ने आधा दर्जन गांवों के किसानों को फसल अवशेष प्रबंधन जन अभियान का हिस्सा बनने के लिए जागरूक किया। गांव कैमला, अलीपुर खालसा, कोहंड, पुंडरी, हरिसिंहपुरा, बरसत, फरीदपुर में वायु प्रदूषण व भूमिगत जल प्रदूषण, गांव के लोगों के स्वास्थ्य के लिए गंभीर समस्या बनता जा रहा है, लेकिन बड़े खेद का विषय है कि किसी भी राजनीतिक पार्टी ने इस लोकसभा चुनाव के दौरान इसका जिक्र भी नहीं किया। हरियाणा विज्ञान मंच की राज्य कमेटी सदस्य डाॅ. राजिंदर सिंह ने उपस्थित किसानों को इस विषय को आगे बढ़ाते हुए बताया कि ऑस्ट्रेलिया में 18 मई को होने वाले चुनाव में पर्यावरण संरक्षण प्रमुख मुद्दा है। यूरोप, अमरीका, कैनेडा में पर्यावरण संरक्षण को मुख्य स्थान दिया जाता है। हमारे देश में वायु प्रदूषण व जल प्रदूषण जितनी तेजी से बढ़ रहा है व लगातार मानव

पराली के धुएं ने राजधानी में दी दस्तक, वायु प्रदूषण के स्तर में हो सकती है बढ़ोतरी, अलर्ट जारी

India
वायु प्रदूषण पर नजर रखने वाली केंद्र सरकार की एजेंसी सफर इंडिया ने इसे लेकर अलर्ट जारी किया है। साथ ही अगले कुछ दिनों तक प्रदूषण के स्तर में वृद्धि की संभावना भी जताई है। Jagran Hindi News - news:national
कांग्रेस ने देश की जल, थल एवं वायु तीनों सेनाओं का दुरुपयोग किया: सीतारमण

कांग्रेस ने देश की जल, थल एवं वायु तीनों सेनाओं का दुरुपयोग किया: सीतारमण

India
पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर अपनी ससुराल के लोगों के साथ एक द्वीप पर सैर सपाटा करने के लिए आईएनएस विराट का दुरुपयोग किये जाने के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बयान का समर्थन करते हुए रक्षा... Live Hindustan Rss feed

पाक का झूठ बेनकाब, भारतीय वायु सेना ने पेश किए पाकिस्‍तानी एफ-16 मार गिराने के सुबूत

India
भारतीय वायुसेना ने अमेरिकी पत्रिका में छपे दावे को खारिज करते हुए बीते 27 फरवरी को भारत-पाक के बीच हुई हवाई झड़प के सुबूत पेश किए हैं। Jagran Hindi News - news:national
अवंतीपुरा में वायु स्टेशन के पास दुर्घटना में शहीद जवान का पार्थिव शरीर आज पहुंचेगा गांव

अवंतीपुरा में वायु स्टेशन के पास दुर्घटना में शहीद जवान का पार्थिव शरीर आज पहुंचेगा गांव

Haryana
रेवाड़ी। कश्मीर के अवंतीपुरा में वायुसेना स्टेशन के पास गुरुवार तड़के हुई सड़क दुर्घटना में रेवाड़ी के जैनाबाद गांव के नायक अजय कुमार शहीद हो गए। शुक्रवार को अजय का पार्थिव शरीर को गांव लाया जाएगा और अंतिम संस्कार किया जाएगा। एसएसबी में तैनात अजय के भाई सुनील ने बताया कि 30 वर्षीय अजय वर्ष 2007 में एयरफोर्स में भर्ती हुआ था।वह अपने पीछे पत्नी, 5 वर्षीय बेटी तथा करीब 2 वर्षीय बेटा छोड़ गए हैं। मेहनतकश पिता विक्रम सिंह और चाचा सेवानिवृत सुबेदार जसवंत सिंह के मार्गदर्शन में अजय आईएएफ में भर्ती हुआ था। अजय कुमार तीन दिन पहले ही छुट्टी काटकर ड्यूटी पर लौटे थे। घटना के बाद से परिवार में मातम छाया हुआ है। Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today शहीद अजय। (फाइल) Dainik Bhaskar
भारत में वायु प्रदूषण से 2017 में 12 लाख लोगों की मौत हुई, दक्षिण एशिया में बच्चों की उम्र ढाई साल तक घट गई

भारत में वायु प्रदूषण से 2017 में 12 लाख लोगों की मौत हुई, दक्षिण एशिया में बच्चों की उम्र ढाई साल तक घट गई

Delhi
दावा- दुर्घटनाओं और मलेरिया की तुलना में वायु प्रदूषण से ज्यादा मौतें हो रहीं हैं एजेंसी | नई दिल्ली वायु प्रदूषण की वजह से 2017 के दौरान भारत में 12 लाख लोगों की मौत हुई। अमेरिका के हेल्थ इफेक्ट्स इंस्टीट्यूट ने अपनी रिपोर्ट ‘स्टेट ऑफ ग्लोबल एयर 2019’ में यह दावा किया है। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि 2017 के दौरान हार्टअटैक, लंग कैंसर, डायबिटीज जैसे रोगों की वजह से दुनियाभर में 50 लाख लोगों की मौत हुई। इनमें से 30 लाख लोगों की मौत सीधे तौर पर पीएम 2.5 कणों की वजह से हुई। रिपोर्ट के मुताबिक प्रदूषण की वजह से दक्षिण एशिया में जन्म लेने वाले बच्चों की आयु ढाई साल तक घट गई है। वैश्विक स्तर पर इसकी वजह से बच्चों की आयु के 20 माह तक घटने के आसार हैं। इंस्टीट्यूट का कहना है कि विश्व में सड़क दुर्घटनाओं, मलेरिया की तुलना में प्रदूषण से ज्यादा लोगों की मौत हो रही है। इंस्टी

सावधान! भारत में वायु प्रदूषण का बड़ा खतरा, केवल एक साल में 12 लाख लोगों की मौत

India
ग्लोबल रिपोर्ट के अनुसार पड़ोसी चीन की स्थिति भी भारत जैसी है। पाकिस्तान बांग्लादेश और नेपाल दक्षिण एशिया में सबसे प्रदूषित देश। Jagran Hindi News - news:national
भारत में वायु प्रदूषण की वजह से 2017 में 12 लाख लोगों की मौत हुई

भारत में वायु प्रदूषण की वजह से 2017 में 12 लाख लोगों की मौत हुई

India
नई दिल्ली. वायु प्रदूषण की वजह से 2017 के दौरान भारत में 12 लाख लोगों की मौत हुई। अमेरिका के हेल्थ इफेक्ट्स इंस्टीट्यूट ने अपनी रिपोर्ट ‘स्टेट ऑफ ग्लोबल एयर 2019’ में यह दावा किया। इसमें बताया गया कि 2017 के दौरान हार्टअटैक, लंग कैंसर, डायबिटीज जैसे रोगों की वजह से विश्व में 50 लाख लोगों की मौत हुई। इनमें से 30 लाख लोगों की मौत सीधे तौर पर पीएम 2.5 की वजह से हुई। आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें वायु प्रदूषण (फाइल फोटो) Dainik Bhaskar
बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर वायु सेना के हमले का असर

बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर वायु सेना के हमले का असर

Delhi
पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर वायु सेना की कार्रवाई के बाद भारतीय शेयर बाजारों में लगातार तेजी का रुख बना हुआ है। दरअसल, इस हमले के बाद हुए सर्वे के अनुसार आम चुनाव में मोदी सरकार की वापसी की संभावना बढ़ी है। इसलिए घरेलू निवेशकों के साथ विदेशी निवेशक भी काफी निवेश कर रहे हैं। सेंसेक्स ने शुक्रवार को 6 महीने बाद 38,000 का स्तर पार किया। पुलवामा में 14 फरवरी को आतंकी हमले में 40 जवानों के शहीद होने के बाद वायुसेना ने 26 फरवरी को बालाकोट में आतंकियों के ठिकानों पर हमला किया था। इसके बाद मार्च के दो हफ्ते में इंडेक्स में करीब 6% की तेजी आई है। इससे पहले 1 जनवरी से 28 फरवरी के दौरान सेंसेक्स में 0.5% और निफ्टी में 0.6% गिरावट आई थी। शुक्रवार को सेंसेक्स 269.43 अंक बढ़कर 38,024.32 और निफ्टी 83.60 अंक बढ़कर 11,426.85 पर पहुंच गया। इस रैली में निजी क्षेत्र के बैंक, इ
क्रोनिक किडनी रोगों काे बढ़ा रहा है वायु प्रदूषण

क्रोनिक किडनी रोगों काे बढ़ा रहा है वायु प्रदूषण

Health
बढ़ती जीवन प्रत्याशा व जीवनशैली की बीमारियों के प्रसार के साथ भारत में क्रोनिक किडनी रोग (सीकेडी) में उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई है। चिकित्सकों का कहना है कि बढ़ता वायु प्रदूषण भी क्रोनिक किडनी रोगों के बढ़ते जोखिम का एक कारक है। विशेषज्ञों के मुताबिक, सीकेडी की बढ़ती घटनाओं के साथ भारत में डायलिसिस से गुजरने वाले रोगियों की संख्या में भी हर साल 10 से 15 प्रतिशत की वृद्धि हो रही है। इस प्रतिशत में कई बच्चे भी शामिल हैं।दुर्भाग्य से, लगातार बढ़ती घटनाओं के बावजूद, गुर्दे की बीमारी को अभी भी भारत में उच्च प्राथमिकता नहीं दी जाती है। सीकेडी के उपचार और प्रबंधन का आर्थिक कारक भी रोगियों और उनके परिवारों के लिए एक प्रमुख चिंता का विषय है। आकाश हेल्थकेयर में नेफ्रोलॉजी और रीनल प्रत्यारोपण के वरिष्ठ सलाहकार और निदेशक डॉ उमेश गुप्ता ने कहा, ''सीकेडी लाइलाज और बढ़ने वाली बीमारी है जो समय के साथ गुर्द