News That Matters

Tag: वे

अश्विन ने पहली बार नहीं किया ‘मांकडिंग’ तरीके से रन आउट, 7 साल पहले भी वे कर चुके हैं बिल्कुल ऐसा

अश्विन ने पहली बार नहीं किया ‘मांकडिंग’ तरीके से रन आउट, 7 साल पहले भी वे कर चुके हैं बिल्कुल ऐसा

Indian Sports
स्पोर्ट्स डेस्क. IPL 2019 में सोमवार (25 मार्च) को किंग्स इलेवन पंजाब और राजस्थान रॉयल्स के बीच मैच खेला गया। इस मैच में जोस बटलर जिस तरीके से आउट हुए, उसे लेकर जबरदस्त विवाद हो गया है। नॉन स्ट्राइक एंड पर खड़े बटलर को अश्विन ने उस वक्त रन आउट कर दिया, जब वे बॉल डालने से पहले ही क्रीज से बाहर निकल गए थे। आउट होने के इस तरीके को 'मांकडिंग' कहा जाता है। हालांकि ये पहला मौका नहीं है जब अश्विन ने इस तरह से किसी बैट्समैन को रन आउट किया हो। 7 साल पहले हुए एक इंटरनेशनल मैच में भी उन्होंने एक बैट्समैन को इसी तरह आउट किया था, लेकिन तब मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर ने उन्हें ऐसा करने से रोक दिया था और टीम की किरकिरी होने से बचा लिया था।सचिन ने गलती करने से रोक दिया था...- साल 2012 में टीम इंडिया ऑस्ट्रेलियाई धरती पर एक ट्राई सीरीज खेल रही थी। जिसकी तीसरी टीम श्रीलंका थी।
युवक का परिवार से झगड़ा हुआ तो वे थाने गए, पीछे से उसने फंदा लगाया

युवक का परिवार से झगड़ा हुआ तो वे थाने गए, पीछे से उसने फंदा लगाया

Punjab
नशे की आदत के चलते एक 22 वर्षीय युवक ने पारिवारिक झगड़े के बाद परिवार की अनुपस्थिति में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। थाना अजीतवाल के एएसआई कुलदीप सिंह ने बताया कि गांव कोकरी बुटरां निवासी कुलदीप कौर ने पुलिस को बयान दिया है कि उसका 22 साल का बेटा सुखबीर सिंह उर्फ हैप्पी नशा करने का आदी होने के चलते आए दिन किसी न किसी बात पर उनसे झगड़ा करता रहता था। 24 मार्च को वह परिवार के लोगों के साथ विवाद कर रहा था। उन्होंने उसे नशा करने का विरोध किया तो वह झगड़ा करने लगा। इसके बाद वह लोग थाना अजीतवाल में बेटे के नशे की आदत की शिकायत करने के लिए गए थे। लेकिन कुछ देर बाद वापस घर पहुंचे तो देखा कि घर का दरवाजा खुला था। कमरे में जाकर देखा तो पंखे से बेटे सुखबीर का शव लटक रहा था। शराब पीने के आदी व्यक्ति ने नहर में कूद की आत्महत्या मोगा | शराब पीने के आदी व्यक्ति से पांच दिन पहले नहर मे

पाक का संघर्ष विराम का उल्लंघन: हम खेल रहे थे होली, वे झेल रहे थे गोली

India
पाकिस्तान ने गुरुवार से लेकर शुक्रवार दोपहर तक जम्मू के केरी बट्टल (अखनूर) से लेकर राजौरी-पुंछ तक नियंत्रण रेखा तक भारी गोलाबारी की। Jagran Hindi News - news:national
सुविचार जिन्हें खुद पर भरोसा होता है वे शांत रहते हैं, जो आशंकाओं से घिरे होते हैं वे चीखते-चिल्लाते हैं।

सुविचार जिन्हें खुद पर भरोसा होता है वे शांत रहते हैं, जो आशंकाओं से घिरे होते हैं वे चीखते-चिल्लाते हैं।

Delhi
देश में अब नॉर्मल डिलीवरी कराने की जिम्मेदारी मिडवाइव्स पर ही होगी पवन कुमार | नई दिल्ली .देशभर के सरकारी स्वास्थ्य केंद्राें में गर्भवती माताअाें की नॉर्मल डिलीवरी कराने की जिम्मेदारी मिडवाइव्स पर होगी। प्रसव के जटिल मामलाें काे ही मेडिकल अाॅफिसर अाैर विशेषज्ञ डाॅक्टराें काे रेफर किया जाएगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस बारे में बड़े बदलाव का निर्णय लिया है। चार वर्ष की बीएससी नर्सिंग करने वाली महिलाअाें के लिए डेढ़ वर्ष का अलग से ट्रेनिंग कोर्स कराया जाएगा। ट्रेनिंग कोर्स पूरा होने के बाद उन्हें मिडवाइव्स कहा जाएगा। फिलहाल इन मिडवाइव्स की तैनाती सिर्फ सरकारी स्वास्थ्य सेवा�”ं के लिए होगी। मिडवाइव्स के लिए काेर्स की शुरुअात के लिए मई-जून 2019 से मिडवाइव ट्यूटर की ट्रेनिंग शुरू की जाएगी। इसके लिए देश में छह से सात राष्ट्रीय और क्षेत्रीय इंस्टीट्यूट की पहचान की गई
अमेरिका की करेन को गणित में भूमिका के लिए अबेल पुरस्कार, सम्मान पाने वाली वे पहली महिला

अमेरिका की करेन को गणित में भूमिका के लिए अबेल पुरस्कार, सम्मान पाने वाली वे पहली महिला

Delhi
ओस्लो| अमेरिका की शिक्षक करेन उलेनबेक को गणित का विख्यात अबेल पुरस्कार मिलेगा। यह सम्मान पाने वाली वे पहली महिला हैं। नॉर्वे की एकेडमी ऑफ साइंस एंड लेटर के मुताबिक करेन को जियोमैट्रिक एनालिसिस में किए गए काम के लिए पुरस्कार के रुप में 4.88 करोड़ रुपए मिलेंगे। करेन को सम्मानित करने पर लंदन मैथमेटिकल सोसाइटी के अध्यक्ष कैरोलीन ने कहा कि ऐसी महिला को सम्मान मिला है, जिसने 40 साल से गणित के क्षेत्र में बड़ा बदलाव किया है। ओस्लो| अमेरिका की शिक्षक करेन उलेनबेक को गणित का विख्यात अबेल पुरस्कार मिलेगा। यह सम्मान पाने वाली वे पहली महिला हैं। नॉर्वे की एकेडमी ऑफ साइंस एंड लेटर के मुताबिक करेन को जियोमैट्रिक एनालिसिस में किए गए काम के लिए पुरस्कार के रुप में 4.88 करोड़ रुपए मिलेंगे। करेन को सम्मानित करने पर लंदन मैथमेटिकल सोसाइटी के अध्यक्ष कैरोलीन ने कहा कि ऐसी महिला को सम्मान मिल
भारतीय खिलाड़ियों के मैच की संख्या तय नहीं, लेकिन वे अपनी फिटनेस खुद आंके : विराट

भारतीय खिलाड़ियों के मैच की संख्या तय नहीं, लेकिन वे अपनी फिटनेस खुद आंके : विराट

Indian Sports
बेंगलुरु. इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2019 के मैच 23 मार्च से होने हैं।वहीं, 30 मई से वनडेवर्ल्ड कप के मुकाबले शुरू हो जाएंगे। ऐसे में भारतीय क्रिकेटर्स के लिए वर्कलोड प्रबंधन एक प्रमुख मुद्दा है। कप्तान विराट कोहली का मानना है कि किसी भी खिलाड़ी को इससे निपटने के लिए बहुत ज्यादा स्मार्ट होना चाहिए। हालांकि, उन्होंने कहा कि घरेलू टी-20 लीग में भारतीय खिलाड़ियों के मैच खेलने की संख्या तय नहीं है, लेकिन क्रिकेटर्स को अपनी फिटनेस का खुद आंकलन करना चाहिए।विराट आईपीएल फ्रेंचाइजी रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) के भी कप्तान हैं।खिलाड़ियों को लेकर फ्रेंचाइजी को कोई निर्देश नहीं दिए गए : विराटविराट ने कहा, ‘अगर मैं 10, 12 या 15 मैच खेल सकता हूं तो हो सकता है कि दूसरा खिलाड़ी मुझसे ज्यादा गेम खेल सकता है। आप किसी चीज पर पाबंदी नहीं लगा सकते। आईपीएल फ्रेंचाइजी को वर्ल्ड कप के स
वडक्कन के BJP में शामिल होने पर बोले राहुल, ना-ना… वे कोई बड़े नेता नहीं हैं

वडक्कन के BJP में शामिल होने पर बोले राहुल, ना-ना… वे कोई बड़े नेता नहीं हैं

India
वरिष्ठ कांग्रेसी नेता टॉम वडक्कन के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल होने को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ज्यादा तवज्जो नहीं दिया। इस बारे में मीडिया द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने... Live Hindustan Rss feed
अशोक गहलोत बोले- मोदी जी मन की बात कहते नहीं थोपते हैं, वे घमंडी

अशोक गहलोत बोले- मोदी जी मन की बात कहते नहीं थोपते हैं, वे घमंडी

Rajasthan
बीकानेर. लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस में जनसभाओं का दौर शुरू हो चुका है। बुधवार को फैसला हुआ कि नामांकन से पूर्व प्रत्येक विधानसभा स्तर पर पार्टी की जनसभाएं हों। जिसके चलते शुक्रवार को सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट श्रीडूंगरगढ़ में सभा करने पहुंचे। इस दौरान अशोक गहलोत ने कहा कि मोदी जी मन की बात कहते नहीं थोपते हैं। राहुल गांधी कहते हैं कि जनता की बात सुनों। लोगों से मिलें।गहलोत ने कहा कि एक दिन के नोटिस पर इतनी बड़ी संख्या में जनसभा में आने के लिए आप सही धन्यवाद। हमने पिछली सरकार में भी अच्छे काम किए थे। जिसे वसुंधरा सरकार ने रोक दिए।उन्होंने कहा कि इंदिरा गांधी ने पाकिस्तान के दो टुकड़े कर दिए। हमे गर्व है कि हमारी सेनाओं ने सर्जिकल स्ट्राइक की। आपने सर्जिकल स्ट्राइक की 15 मिनट वहां जा के आ गए। इंदिरा गांधी ने तो बांग्लादेश आजाद करा दिया। वहां के जनरल कर्
गरीब नवाज के 807 वे उर्स के कुल की रस्म में उमड़े अकीदतमंद

गरीब नवाज के 807 वे उर्स के कुल की रस्म में उमड़े अकीदतमंद

Rajasthan
आरिफ कुरेशी. अजमेर.महान सूफी संत हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती के 807 में सालाना उर्स के मौके पर गुरुवार को कुल की रस्म अदा की गई। इस रस्म में जायरीन की भीड़ उमड़ी। आस्ताना शरीफ की दरों दीवार को आशिका ने ख्वाजा ने केवड़ा और गुलाब जल से धुलाई कर अकीदत का इजहार किया। अंजुमन सैयदजादगान ने चादर पेश की और खादिमों ने आस्ताना शरीफ में जियारत कर एक दूसरे की दस्तारबंदी की। उर्स में आए जायरीन शुक्रवार को जुमे की नमाज अदा करेंगे।सालाना उर्स मैं शिरकत करने के लिए देश भर से और बांग्लादेश के विभिन्न हिस्सों से गरीब नवाज के अकीदत मंद पहुंचे। आज सुबह 8:00 बजे से ही आस्ताना शरीफ में जायरीन का जियारत के लिए सिलसिला रोक दिया गया। आस्ताना शरीफ में केवल खादिम परिवार मौजूद रहे। खादिमों ने आस्ताना शरीफ में देश में अमन और खुशहाली के लिए दुआ की। साल में एक बार सालाना उर्स के मौके पर खादिभ ज
स्मृति ने कहा- आर्म्स डीलर भंडारी से राहुल के रिश्ते, वे बताएं कि हथियार सौदों में इतनी रुचि क्यों?

स्मृति ने कहा- आर्म्स डीलर भंडारी से राहुल के रिश्ते, वे बताएं कि हथियार सौदों में इतनी रुचि क्यों?

India
नई दिल्ली. भाजपा ने आरोप लगाया कि सीबीआई, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और आयकर विभाग के रडार पर आए आर्म्स डीलर संजय भंडारी के साथ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के रिश्ते होने का आरोप लगाया। स्मृति ईरानी ने बुधवार को कहा कि मीडिया रिपोर्ट्स में सामने आया कि जीजा (रॉबर्ट वाड्रा) और साले साहब (राहुल गांधी) पारिवारिक भ्रष्टाचार में फंसे हैं। संजय भंडारी के साथ राहुल के रिश्ते सामने आए हैं। स्मृति ने कहा कि अब राहुल खुद देश को बताएं कि उन्हें रक्षा सौदों में इतनी रुचि क्यों है। कांग्रेस ने ईरानी परपलटवार करते हुए तमाम आरोपों को झूठा बताया है।रॉबर्ट वाड्रा के पीछे छिप रहे हैं राहुल- स्मृति स्मृति ने कहा कि राहुल गांधी जो अब रॉबर्ट वाड्रा के पीछे छिप रहे हैं, वे जनता को खुद बताएं कि रक्षा सौदों में उनकी इतनी रुचि क्यों है। वो बताएं कि क्या चंद रुपयों के लिए, जमीन के लिए उन्होंने देश