News That Matters

Tag: ​हड़ताल

सरकार ने हड़ताल में शामिल प्रोबेशन पर चल रहे कंडक्टर और ड्राइवरों को हटाया, पलवल GM सस्पेंड

सरकार ने हड़ताल में शामिल प्रोबेशन पर चल रहे कंडक्टर और ड्राइवरों को हटाया, पलवल GM सस्पेंड

Haryana
चंडीगढ़/पानीपत। 720 प्राइवेट बसों को किलोमीटर स्कीम के तहत परमिट जारी करने के विरोध में रोडवेज यूनियनें की हड़ताल के दूसरे दिन सीएम मनोहर लाल खट्टर की अध्यक्षता में बैठक हुई। इसमें सख्त फैसला लेते हुए पलवल के महाप्रबंधक और बहादुरगढ़ के वर्कस मैनेजर को सस्पेंड कर दिया है। वहीं हड़ताल में शामिल प्रोबेशन पर चल रहे ड्राइवर व कंडक्टरों की सेवाएं बिना कारण बताओ नोटिस जारी कर समाप्त कर दी है।सरकार ने हड़ताल में शामिल प्रोबेशन पर चल रहे नवनियुक्त लिपिकों को भी सस्पेंड करने के आदेश दिए हैं। वहीं आउटसोर्सिंग पॉलिसी-II के तहत 252 ड्राइवर भी सस्पेंड कर दिए गए हैं। इसके साथ-साथ 930 कंडक्टर और 500 नए ड्राइवर पद भरने के लिए आउटसोर्सिंग पॉलिसी-II के तहत विज्ञापन जारी होगा।हरियाणा परिवहन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव धनपत सिंह ने कहा है कि हड़ताल पर गए कर्मचारियों पर आज-आज का समय है। यदि
रोडवेज कर्मचारियों की दो दिवसीय हड़ताल आज से

रोडवेज कर्मचारियों की दो दिवसीय हड़ताल आज से

Haryana
सोमवार रात को ही बस स्टैंड पर पहुंचे कर्मचारी नेता नारेबाजी करते हुए। भास्कर न्यूज | हांसी रोडवेज बसों में सफर के लिए घर से निकल रहे हैं तो सोच-समझकर फैसला कीजिए। आपको रोडवेज की बसें नहीं मिलेंगी। रोडवेज कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर दो दिन की हड़ताल पर जा रहे हैं। हड़ताल मंगलवार सुबह से शुरू होगी। हड़ताली कर्मचारियों का कहना है कि सुबह चार बजे दिल्ली के लिए चलने वाली पहली बस को रोककर चक्का जाम किया जाएगा। हड़ताल को सफल बनाने के लिए कर्मचारियों ने सोमवार रात्रि को ही बस स्टैंड पर डेरा डाल लिया। सरकार द्वारा निजी बसों को ठेके पर लेने के विरोध में हरियाणा रोडवेज कर्मचारी तालमेल कमेटी के आह्वान पर जिलेभर में 16 व 17 अक्टूबर को रोडवेज बसों का चक्का जाम रहेगा। दो दिन तक हड़ताल की तैयारियों को लेकर रोडवेज कर्मचारी तालमेल कमेटी द्वारा सोमवार को रोडवेज सबडिपू प्रांगण में गेट मी
मंत्रालयिक कर्मचारी हड़ताल पर, शिक्षा विभाग के ढांचे का पुनर्गठन अटका

मंत्रालयिक कर्मचारी हड़ताल पर, शिक्षा विभाग के ढांचे का पुनर्गठन अटका

Rajasthan
जयपुर। मंत्रालयिक कर्मचारियों की हड़ताल का असर शिक्षा विभाग पर भी पड़ रहा है। यहां निदेशालय, उपनिदेशक, जिला शिक्षा अधिकारी और ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय और स्कूलों सहित शिक्षा विभाग में 15 हजार मंत्रालयिक कर्मचारी कार्यरत हैं। इनमें से जयपुर जिले में करीब 800 हैं। ये कर्मचारी 10 दिन से हड़ताल पर हैं।महापड़ाव के कारण सभी जगह कामकाज ठप पड़ा है। प्रदेशभर में शिक्षा विभाग के ढांचे में परिवर्तन की कवायद चल रही है। विभाग के इतिहास में पहली बार जिले में डीडी और ब्लॉक में डीईओ कैडर के अफसर लगाने का काम किया जा रहा है।पिछले दिनों विभाग ने अधिकारियों का पदस्थापन तो कर दिया, लेकिन हड़ताल के कारण इनके कार्यालयों में मंत्रालयिक कर्मचारियों की पदस्थापन नहीं हो पा रहा है। इससे कार्यालयों के पुनर्गठन की प्रक्रिया लगभग बंद पड़ी है और केवल नए लगाए गए अफसरों के भरोसे कुछ जरूरी काम ही सं
दूसरे दिन में पहुंची सफाई कर्मचारियों की हड़ताल, सरकार ने बातचीत के लिए चंडीगढ़ बुलाया

दूसरे दिन में पहुंची सफाई कर्मचारियों की हड़ताल, सरकार ने बातचीत के लिए चंडीगढ़ बुलाया

Haryana
पानीपत/चंडीगढ़। प्रदेशभर में सफाई कर्मचारियों की हड़ताल दूसरे दिन में प्रवेश कर गई, हालांकि सरकार ने गुरुवार को चंडीगढ़ में वार्ता के लिए न्यौता दे दिया है। इसके लिए विभाग के निदेशक की ओर से यूनियन अध्यक्ष नरेश शास्त्री को बुधवार को चिट्ठी भेजी गई है। वहीं शहरों में सफाई न होने से कूड़े के अंबार लग गया है। बता दें कि बुधवार को शहरी स्थानीय निकाय विभाग के 32 हजार कर्मचारी तीन दिवसीय प्रदेशव्यापी हड़ताल पर चले गए थे।10 नगर निगमों, 16 नगर परिषदों व 61 पालिकाओं में काम काज ठप है। बड़ी बात यह है कि कर्मचारियों को ऑन रोल करने की फाइल नगर निकाय विभाग से वित्त विभाग के पास भेजी जा चुकी है लेकिन वहां से अभी पास न होने की वजह से कर्मचारियों की यह मांग अटकी हुई है। सरकार फायर ब्रिगेड के ठेके पर लगे कर्मचारियों को मंगलवार को ही एस्मा लगा चुकी है। नगर निकाय मंत्री कविता जैन ने बताया
Rs.10 हजार वेतन कटने पर 1200 रेजीडेंट डॉक्टर हड़ताल पर गए, सीनियर व नर्सों के भरोसे व्यवस्था

Rs.10 हजार वेतन कटने पर 1200 रेजीडेंट डॉक्टर हड़ताल पर गए, सीनियर व नर्सों के भरोसे व्यवस्था

Haryana
वेतन से 10 हजार रुपए काटे जाने के विरोध में पीजीआईएमएस के रेजीडेंट डॉक्टर बुधवार सायं साढ़े 6 बजे हड़ताल पर चले गए। रेजीडेंट डॉक्टरों ने चेतावनी दी कि जब तक 7वें वेतन आयोग के हिसाब से उनका वेतन नहीं आता और सैलरी काटने की समस्या का स्थायी समाधान नहीं होता, तब तक हड़ताल करेंगे। डॉक्टरों के बुधवार शाम साढ़े 6 बजे अचानक हड़ताल पर जाने से पीजीआईएमएस में स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गईं। ऐसे में कंसलटेंट और नर्सों को हालात संभालने के लिए काम में जुटना पड़ा। रात 10 बजे इमरजेंसी में ज्यादा गंभीर मरीजों के ही कार्ड बनाए गए। इलाज के लिए लंबा इंतजार करना पड़ा। रात साढ़े 10 बजे रेजीडेंट डॉक्टर हॉस्टल लौट गए हैं और अब गुरुवार सुबह विजय पार्क में एकत्र होकर धरना शुरू किया जाएगा। अप्रैल में पीजीआई के इंटर्न डॉक्टरों ने स्टाइपेंड बढ़ाने को लेकर हड़ताल की थी। लगातार इस तरह के मुद्दे पीजीआई में
4 माह बाद निगम कर्मी आज से फिर 3 दिन की हड़ताल पर आधे शहर में सफाई होगी प्रभावित, काउंटर बंद रहने के आसार

4 माह बाद निगम कर्मी आज से फिर 3 दिन की हड़ताल पर आधे शहर में सफाई होगी प्रभावित, काउंटर बंद रहने के आसार

Haryana
रोहतक में गांधी जयंती पर भाजपाइयों की जागरूकता रैली के पीछे-पीछे सफाई कर्मचारी कचरा उठाने को चले। लोगों से अपील- सड़काें पर न फेंकंे कूड़ा, कलेक्शन सेंटर या गाड़ियों में ही डालें या घर पर गीला-सूखा कूड़ा अलग कर स्टोर करें भास्कर न्यूज | रोहतक नगर निगम कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर बुधवार से 3 दिवसीय हड़ताल पर जाएंगे। इस दौरान शहर की सफाई व्यवस्था संभालना प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती हो सकती है। लगभग 4 माह पहले 16 दिन तक चली हड़ताल के कारण शहर में सफाई व्यवस्था का बुरा हाल हो गया था। बाद में पुलिस पहरे में सफाई करवाई गई थी। वहीं, नगर निगम में भी हाउस टैक्स, जन्म-मृत्यु प्रमाणपत्र आदि का काम ठप हो गया था। पिछली बार से सबक लेते हुए नगर निगम ने वैकल्पिक इंतजाम का दावा किया है। सबसे ज्यादा दिक्कत शहर की कॉलोनियों के अंदर सफाई की है क्योंकि मुख्य सड़कों का सफाई ठेके पर हो रही
हरियाणा के 32 हजार सफाई कर्मचारी एक बार फिर 3 दिन की हड़ताल पर, मांगे नहीं मानी तो होगी बेमियादी

हरियाणा के 32 हजार सफाई कर्मचारी एक बार फिर 3 दिन की हड़ताल पर, मांगे नहीं मानी तो होगी बेमियादी

Haryana
चंडीगढ़। नगर पालिका के 32 हजार कर्मचारी एक बार फिर तीन दिन की हड़ताल पर चले गए हैं। उन्होंने चेतावनी दी है कि यदि मांगें नहीं मानी तो यह हड़ताल अनिश्चतकालीन भी हो सकती है। इन कर्मचारियों में फायर ब्रिगेड के कर्मचारी भी शामिल हैं, सरकार ने इसे आपातकाल सेवा बताते हुए ठेके पर लगे कर्मचारियों पर एस्मा लगा दिया है। यदि वे हड़ताल पर गए तो उनके खिलाफ एस्मा के तहत कार्रवाई होगी।नगर निकायों में दोनों पॉलिसी के तहत करीब 20 हजार कर्मचारी काम कर रहे हैं, जबकि फायर ब्रिगेड में 1346 कर्मचारी ठेके पर लगे हुए हैं। हालांकि नगर पालिका कर्मचारी संघ का दावा है कि यह कर्मचारी हड़ताल में शामिल होंगे लेकिन कहीं कोई घटना होती है तो काम भी करेंगे।नगर पालिका कर्मचारी संघ के प्रदेशाध्यक्ष नरेश शास्त्री ने बताया कि सरकार को 13 अगस्त को ही हड़ताल का नोटिस दे दिया गया था। इसके बाद भी लगातार अधिकारियों स
हड़ताल को सफल बनाने के लिए घूमते रहे केमिस्ट एसोसिएशन के ओहदेदार

हड़ताल को सफल बनाने के लिए घूमते रहे केमिस्ट एसोसिएशन के ओहदेदार

Punjabi Politics
चार साल पहले शुरू हुई ई-फॉर्मेसी सेवा (दवा की ऑनलाइन बिक्री) के खिलाफ शुक्रवार को जिले के सभी 3125 मेडिकल स्टोर बंद रहे। हड़ताल को सफल बनाने के लिए केमिस्ट एसोसिएशन के पदाधिकारी लगातार बाजारों में घूमते रहे। ताकि अगर कोई व्यक्ति दुकान खोले तो उसे निवेदन करके बंद करा सकें। आल इंडिया एसोसिएशन ऑफ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट (एआईएसीडी) के आह्वान पर वीरवार की रात 12 बजे से शुक्रवार की रात 12 बजे तक पूरे देश के 8.15 लाख मेडिकल स्टोर बंद रहे। लुधियाना के 3125 और पंजाब के 32 हजार 940 केमिस्टों ने अपनी दुकानें बंद रखीं। लुधियाना रिटेल केमिस्ट एसोसिएशन के प्रधान अमन आहूजा और पंजाब केमिस्ट एसोसिएशन के कार्यकारी प्रधान जीएस चावला ने बताया कि नवंबर 2014 में केंद्र सरकार ने ई-फार्मेसी को हरी झंडी दे दी थी। इसका सीधा असर दुकानों में होने वाली दवा की बिक्री पर पड़ा है। सरकार ने ऑनलाइन बिक्री
केमिस्टों की हड़ताल, 75 करोड़ का कारोबार प्रभावित

केमिस्टों की हड़ताल, 75 करोड़ का कारोबार प्रभावित

Punjab
लुधियाना|चार साल पहले शुरू हुई ई-फॉर्मेसी सेवा (दवा की ऑनलाइन बिक्री) के खिलाफ शुक्रवार को जिले के सभी 3125 मेडिकल स्टोर बंद रहे। एक दिन की इस हड़ताल के कारण सिर्फ लुधियाना में ही 75 करोड़ का दवा कारोबार प्रभावित रहा। आल इंडिया एसोसिएशन ऑफ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट (एआईएसीडी) के आह्वान पर वीरवार की रात 12 बजे से शुक्रवार की रात 12 बजे तक लुधियाना के 3125 और पंजाब के 32 हजार 940 केमिस्टों ने अपनी दुकानें बंद रखीं। लुधियाना रिटेल केमिस्ट एसोसिएशन के प्रधान अमन आहूजा और पंजाब केमिस्ट एसोसिएशन के कार्यकारी प्रधान जीएस चावला ने बताया कि अगर सरकार ने ई-फार्मेसी सेवी बंद नहीं की तो अगली रणनीति के तहत सभी केमिस्ट अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जा सकते हैं। इसके लिए एक अक्टूबर को शहर में होने वाली राज्यस्तरीय मीटिंग में अगली रणनीति तैयार की जाएगी।-संबंधित खबर पेज 2 पर Download Dainik
राज्य में पूर्व अर्धसैनिक का दर्जा नहीं मिलने से नाराज एक्स पैरामिलिट्री के जवान दिल्ली में करेंगे भूख हड़ताल

राज्य में पूर्व अर्धसैनिक का दर्जा नहीं मिलने से नाराज एक्स पैरामिलिट्री के जवान दिल्ली में करेंगे भूख हड़ताल

Haryana
ऑल इंडिया एक्स पैरामिलिट्री फोर्स वेलफेयर एसोसिएशन ने अपनी विभिन्न मांगों को लेकर 28 सितंबर से संसद मार्ग दिल्ली पर तीन दिन की भूख हड़ताल पर बैठने का निर्णय लिया है। एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष कृष्ण बगला ने बताया कि इस भूख हड़ताल के माध्यम से पैरा मिलिट्री जवानों की लंबित मांगों को प्रमुखता के साथ उठाया जाएगा। केंद्र सरकार के गृह मंत्रालय की ओर से 22 नवंबर 2012 को आदेश जारी हुए थे कि एक्स पैरामिलिट्री जवानों को भी पूर्व अर्धसैनिकों का दर्जा दिया गया था। इसके साथ ही सभी राज्यों को इस आदेश को सख्ती से लागू करने के निर्देश दिए गए थे लेकिन हरियाणा सरकार अभी तक एक्स पैरामिलिट्री जवानों को पूर्व अर्धसैनिकों का दर्जा नहीं दे रही है। इसके चलते हरियाणा प्रदेश में पूर्व अर्धसैनिकों को समुचित लाभ नहीं मिल रहे हैं। इसी मुद्दे को लेकर एसोसिएशन का एक प्रतिनिधिमंडल राष्ट्रीय महासचिव महा